“कैसे मुँहासे और pimples से छुटकारा पाने के लिए तेजी से -मुँहासे निशान से छुटकारा पा सकते हैं”

अपने आहार का मूल्यांकन करें और इसे करना शुरू करेंअधिक विविध, स्वस्थ, संतृप्त विटामिन इस कदम के बाद माथे पर मुँहासे का इलाज कैसे करें? एक त्वचाविज्ञानी और एक cosmetologist परामर्श करने के लिए सुनिश्चित करें

मुल्तानी मिट्टी और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

क्या आपको याद है आपकी दादी आपके घावों पर हल्दी छिड़कने के लिए कहती थीं? खैर, चिकित्सा शोधकर्ताओं ने अब पता किया है कि हल्दी में ऐसी सामग्री शामिल होती हैं जो उसे एक शक्तिशाली रोगाणुरोधी बनाती हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि भारत में महिलाओं ने अब तक अपनी त्वचा को स्वस्थ और दमकती रखने के लिए हल्दी के उबटन का उपयोग किया है। आप सीधे त्वचा पर हल्दी का पेस्ट लगा सकते हैं, गर्म दूध के साथ लेने से भी आप साफ़ त्वचा पा सकते हैं।

अगर अपनी अपने अब आज आप इन इस इसके इससे इसे उनके उस और कई कर करने करें कहानी का काम कार कि किया किसी की कुकर कुछ के बाद के लिए के लिये के साथ केक को कोई क्या खास गया घर घी घोंसले चम्मच चाहिए जब जा जाता है जाती जाने जो जोधपुर ज्यादा ठीक तक तथा तरह तो त्वचा थी थे थोड़ा दिन दिया दूध देखा द्वारा धर्म नमक नहीं ना नाना पाटेकर नीबू ने पर पहले पानी पीपल पुजारी जी पुरस्कार पेस्ट फिर फिल्म बड़ा बन बर्तन बस बहुत बार भी मिला मिलाकर मुंह में में एक मेदा मेरे मैं यह या ये रंग रम्भा रही रहीम रहे राजस्थानी रात रूप लगा लीजिये ले लें वाले विजयदान देथा वो शक्ति शिव सब सभी सा साड़ी साहित्य सी से सेवन हर हल्दी हिन्दी ही हुआ हुए है और हैं हो होता है होती होने होली

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में बताया कि कैसे आप अपने चेहरे से कील मुहांसों को दूर कर सकते हैं कील मुहासे किस चीज से होते हैं और उनसे बचने का उपाय यदि आपको यह पोस्ट पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं.

क्या आप foundation के तहत एक primer का उपयोग करते हैं? अगली बार, मेकअप लागू करने से पहले अपने चेहरे पर एक बर्फ के टुकडे से massage करे | यह trick आपकी त्वचा को एक चिकनी कैनवास में बदल सकता है! यह अस्थायी रूप से pores को कम कर देता है और मेकअप को flawless दिखने में मदद करता है ।

फिर ब्यूटीशियन पर जाएं एक अच्छा विशेषज्ञ या सिद्ध सैलून चुनना बेहतर है एक अनुभवी चिकित्सक, माथे पर मुँहासे को हटाने के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को सलाह देगा, और अपने चेहरे की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आगे की देखभाल के लिए साधन का चयन करने में भी मदद करेगा।

Pimples ko medicaly muhase kaha jata hai. Aajkal pimples hona aam samsya ho gayi hai. Pimples purusho or mahilao dono ko prbhawit karta hai or ye kisi bhi umar me ho sakta hai, or pimples koi chetawani dekkar nahi aata kabhi bhi ho sakta hai. Tamam kosiso ke bawjud kai bar chehre par pimples yani muhase ho jate hai. Khaskar teenage me yah samsya jayada hoti hai. Muhase chehre par kai karno se ho sakte hai, jaise chehre par jami gandagi ko saaf na karna ya chehre ka atyadhik tailiy hona aadi, muhase hone par hame coffee ya msaledar bhojan ka upyog kam karna chahiye or falo ka sewan adhik se adhik karna chahiye, pimples ko dur karne ka sabse aasan tarika aap ghar par rahkar aajma sakte hai.

इसके साथ ही कुछ लक्षण psoriasis के लक्षण हो सकता है। यह psoriasis vulgaris, जो रोग, guttate सोरायसिस छोटे धब्बे, जो बूंदों की तरह कर रहे हैं की विशेषता, व्युत्क्रम सोरायसिस underarms क्षेत्र, नाभि और नितम्बों, पास में एक नियम के रूप में की खोज की, और तरल अंदर के साथ छोटे फफोले द्वारा देखा pustular सोरायसिस का सबसे व्यापक प्रकार है शामिल हैं। इसके अलावा, एक अलग-अलग रोग हथेलियों और तलवों पर प्रकट होता palmoplantar सोरायसिस कहा जाता है।

बर्फ़ का प्रयोग करें: यह एक घरेलू उपचार है जो धब्बों को फीका करके सूजी हुई त्वचा को ठीक करता है | एक साफ़ कपड़े या तोलिये में बर्फ को बंद कर प्रभावित त्वचा पर 1-2 मिनट तक लगाते रहें जब तक वह जगह सुन्न न हो जाए |

गम में ज़ाइलीटोल (Xylitol) पाया जाता है, एक शुगर-फ्री स्वीटनर जो की सनौबर पेड़ की छाल (birch bark) से बनता है, खासतौर पर दुर्गंधयुक्त सांस को रोकने में मददगार होता है। यह आपके दांत को खराब होने से बचाता है, और दाँतों के घिसे हुए इनेमल को मिनरल देकर पुनः निर्माण करने में मदद कर सकता है।[६]

गर्म मौसम में, पीठ पर मुँहासे वितरित की जाती हैमहिलाओं के सौंदर्य और मनोवैज्ञानिक परेशानी कई लोग यहां तक ​​कि इस तरह की चकत्ते के कारण बहुत सारे परिसरों का अनुभव करते हैं, समुद्र में आराम करने से इनकार करते हैं, एक स्विमिंग सूट में सार्वजनिक रूप से प्रकट नहीं करना चाहते। इसलिए, पीठ पर मुँहासे से छुटकारा पाने का सवाल सावधानीपूर्वक और विस्तृत अध्ययन के लिए है, और इस समस्या का उपचार एक एकीकृत दृष्टिकोण है।

किशोरावस्था एक ऐसी अवस्था है जिसमे शरीर का विकास (growth) पूरी तरह से होने लग जाता है जिससे शरीर के हारमोंस मे बदलाव आते रहते है इसी वजह से चेहरे पर कील, मुहांसे, दाने जैसी समस्या शुरु होने लग जाती है. तथा फुंसी और मुहासों का एक कारण skin पर मौजूद तैलीय परत को भी माना जाता है .जिससे रुखी त्वचा की ऊपर आने की प्रकिया रुक जाती है और पिम्प्लेस हो जाते है

हल्दी में मौजूद एन्टीसेप्टिक और एन्टी-इन्फ्लैमटोरी गुण छालों को न सिर्फ ठीक करते हैं बल्कि यह गुण छालों को दुबारा होने से भी रोकते हैं। हल्दी पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलकर पेस्ट तैयार  कर ले और अब इस पेस्ट को छालों पर लगायें, इससे दर्द से तुरन्त राहत मिल जाएगा।

कई बार मुंह में लार कम बनने से भी सांसों से बदबू की समस्या हो सकती है। मुंह में रह गए भोजन के कण और बैक्टीरिया कई बार इन्फेक्शन पैदा कर देते हैं जिससे भी सांसों से बदबू आती है। लार इन कणों और बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करती है।

अधिकांश किशोरों के लिए, मुँहासे यौवन के दौरान अस्थिर हार्मोन के स्तर के वजह से होते हैं वसामय ग्रंथियों (सेबेसियस ग्लैंड्स) को ज़्यादा काम करने के लिए उत्तेजित करते हैं। यह अतिरिक्त त्वग्वसा (सीबम), त्वचा की सबसे बाहरी परत के मृत कोशिकाओं और छिद्र को रोकने वाले बैक्टीरिया के साथ जुड़ती हैं और मुँहासे पैदा करती हैं। यह चिकनी(ऑयली) त्वचा के परिणाम स्वरुप भी हो सकती हैं। दानों के खुजाने या फोड़ने से और चेहरे पर कुछ कृत्रिम सामग्री जिसके बारे में आपको ज्यादा नहीं पता हो का उपयोग करने से आप समस्या को बढ़ा देते हैं। बल्कि, आपकी त्वचा को स्वस्थ और मुँहासों से मुक्त रखने के लिए सरल हर्बल उपचारों का उपयोग करें।

मेरा यह सबसे Best Tips है जो मैं आपको देना चाहूँगा इसने मुझे Acne और Pimple को कम करने में काफी help की. आपको जब भी पानी दिखे तो अपना मुँह धो ले. अगर आप कोई काम करते है तो उसके बाद साफ़ पानी से मुँह धोये. रात को सोने से पहले भी अपना चेहरा पानी से अवश्य धो ले. यह आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा.

माउथवॉश का इस्तेमाल करें: दुर्गंधयुक्त सांस पर शीघ्र प्रभाव करने के लिए माउथवॉश का इस्तेमाल करना एक उत्तम तरीका है। यह आपकी दुर्गंधित सांस को अस्थायी रूप से छिपा देता है, लेकिन यह काफी है अन्य लोगों को बुरा लगने से बचने के लिए।[७]

सर मेने भी बहुत क्रीम उपयोग करके देखि पर कुछ फर्क नही पडा है और मैने डॉक्टर से इलाज भी करवाया परन्तु जब तक इलाज चलता तब तक थोडे कम हो जाते है पिम्पल फिर इलाज बंद होने के बाद वापस शुरू हो जाते है। मैं पिछले 3 साल से परेशान हु पिम्पल से बहुत बार इलाज भी करवाया परन्तु कुछ फर्क नही पडा।अब मुझे क्या करना की मैं पिम्पल से छुटकारा पा सकु

हैलीमिटर का इस्तेमाल करें: अगर आप लगातार सांस की दुर्गंध से परेशान है, तो इसके इलाज के लिए आपके डेंटिस्ट के पास हैलीमिटर होगा। हैलीमिटर एक प्रकार का विशेष यंत्र है जो आपकी सांस की गति को जानने के लिए बनाया गया है। यह एक प्रकार का सांस की जांच करने वाला यंत्र है जो शराब या अन्य पदार्थ की जांच करता है जिसे पुलिस भी इस्तेमाल करती है।[१७]

Sir mere chere pr chote chote ched type ke gadde achanak do mah se ho rahe ha aur maine ej scrub kiya tha to chamra chil kr kala ho gaya ha aur apbe aap katne ke jaisa lamba lline face pr tun chaar jagah ho gaya ha. Maine ek doctor ko bhi dikhaya pr usko lagane se gadde aur bhi barne lage ha sir mai kya karu plz plese help me

अगर आप अपने मुंह का स्वाद किसी कारण वश खराब महसूस करते हैं, जिसका स्वाद आपके भोजन से मेल नहीं खा रहा है, तो आपको अतिरिक्त चिकित्सा की जरूरत हो सकती है। ध्यान रखें कि, सांस की दुर्गंध, स्ट्रेप थ्रोट नामक गले का संक्रमण हो सकता है।

* लहसुन : लहसुन की 2 कलियों का रस निकालकर 1 गिलास पानी में मिलाकर कुल्ला करें। रोजाना 4 से 5 दिन तक इसका प्रयोग करने से मुंह के छाले कम हो जाते हैं। लहसुन की कली को पानी के साथ पीसकर उसमें थोड़ा-सा देसी घी मिलाकर मलहम तैयार करें। इस मलहम को छालों पर लगाने से छाले खत्म हो जाते हैं।

लार में टायलिन नामक एंजाइम पाया जाता है जो हमारी पाचन क्रिया को दुरुस्‍त रखती है।कहते हैं सुबह की लार पेट के लिए बेहद लाभदायक होती है। जब आप पानी पीते हैं तो रात भर मुंह में जमा लार पानी के साथ आपके पेट के अंदर जाती है। जो पेट के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। इसलिए सुबह की लार बेहद कीमती है। इसे यूं ही बर्बाद न करें।

आश्चर्य की बात है कि जिस चीज़ से आप बचना चाहते हैं, वह उसी समय हो जाती है। जैसे एक अतिथि आपके दरवज़े पर आ जाये जब आप खरीदारी के लिए निकल रहे हों, टीवी पर फिल्म का चरमोत्कर्ष आने वाला हो और बिजली चली जाये, और हाँ, ज़्यादातर किशोरों(टीनएजर) की व्यथा – मुँहासों का प्रकोप कॉलेज फेस्ट या किसी की शादी के २-३ दिन पहले जब आप सबसे अच्छा दिखना चाहते हैं। पहली २ घटनाओं के बारे में आप तुरंत कुछ नहीं कर सकते लेकिन मुँहासों का नियंत्रण आप निश्चित रूप से कर सकते हैं। कुछ सरल सामग्री का उपयोग करके जो आमतौर से हर रसोई में मिल जाती हैं, उनसे इस भद्दे मुँहासों को ठीक करना संभव है।

अपने मुँह को नम रखें: शुष्क मुँह बदबूदार मुँह होता है। यही कारण है कि आपकी सांस सुबह और भी बदतर हो जाती है सोते समय आपका मुँह कम लार पैदा करता है। आपके मुँह में लार मुँह की दुर्गंध के लिए दुश्मन का काम करती है क्यूंकि ये ना केवल बैक्टीरिया और अन्ना कणों को धोती है बल्कि यह एक एंटीसेप्टिक है और जीवाणुओं को मारने वाला एंजाइम का काम करती है।[४]

एक्‍ने त्‍वचा की समस्‍या है, इसके उपचार के लिए आयुर्वेद अपनाना फायदेमंद है। आयुर्वेद में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स हैं जिनके उपयोग से एक्ने की समस्या से आसानी से निजात पाई जा सकती हैं। आइए जानें एक्ने के आयुर्वेदिक उपचार के बारे में।

बालों के लिए अंडा काफी अच्छा माना जाता है। नहाने से 20 मिनट पहले दो अंडों को फेंट कर लगाने से डेंड्रफ से छुटकारा मिल सकता है। ऐसा एक हफ़्ते में  दो बार अपनाने से डेंड्रफ बिल्कुल खत्म हो जाएगा और साथ ही बालों में चमक आएगी।

मेरे साथ तो कई बार ऐसा हो चुका है! लेकिन घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि ऐसे कई आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से हम मुंह के छालों से छुटकारा पा सकते हैं। तो आइये हम detail में जानते हैं कि Mouth Ulcers (muh ke chhale) होने के कारण क्या-क्या हैं और हम किस प्रकार इनसे निजात पा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *