“छाती पर मुँहासे से छुटकारा पा सकते हैं मुँहासे चेहरे धोने”

    नीम बहुत से त्वचा सम्बन्धी बिमारिओं के बहुत से औषधीय गुण होने के कारण नीम का पत्ता बहुत ही गुणकारी माना जाता है, यह दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) को बहुत आसानी से दूर करता है नीम के पत्तों में बैक्टीरिया से लड़ने वाले गुण मौजूद होते है जो मुंहासे,दाना, छाले, खाज-खुजली, एक्जिमा के अलावा सभी प्रकार के त्वचा सम्बन्धी रोग को दूर करने में मदद करता है। नीम के पत्तों का एक अच्छा सा पेस्ट तैयार कर लें, फिर उस पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छी तरह से लेप लगा लें। सूखने के पश्चात अपने चेहरे को अच्छी तरह से धो ले, लगातार 4-5 दिन ऐसा करने से आपको असर दिखना शुरू हो जायेगा।

मैं बड़े उम्र के लडको से इसके बारे में पूछता रहता था. वे बस यही कहते की यह सब उम्र के कारण हो जाते है. पहले 6 महीने तक मेरे चेहरे से पिम्पल गये ही नहीं लेकिन फिर मैंने इन कील – मुंहासो को दूर करने के लिए कुछ नए तरीके अपनाये जो मैं आपके साथ इस आर्टिकल में शेयर कर रहा हूँ. ये टिप्स आपको निश्चित तौर पर फायदा पहुंचाएंगे.

वात और कफ को शांत करने के लिए सूखी अदरक और काली मिर्च उत्कृष्ट हैं। ये श्वसन प्रणाली के स्वास्थ्य को बनाए रखने और पाचन और संचलन को बढ़ाने में सहायक होती है। ये सामग्री शरीर में गर्मी उत्पन्न करती हैं।

क्या आपको याद है आपकी दादी आपके घावों पर हल्दी छिड़कने के लिए कहती थीं? खैर, चिकित्सा शोधकर्ताओं ने अब पता किया है कि हल्दी में ऐसी सामग्री शामिल होती हैं जो उसे एक शक्तिशाली रोगाणुरोधी बनाती हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि भारत में महिलाओं ने अब तक अपनी त्वचा को स्वस्थ और दमकती रखने के लिए हल्दी के उबटन का उपयोग किया है। आप सीधे त्वचा पर हल्दी का पेस्ट लगा सकते हैं, गर्म दूध के साथ लेने से भी आप साफ़ त्वचा पा सकते हैं।

सोरायसिस आमतौर पर कर सकते हैं हो प्रतिष्ठित से अन्य रोगों द्वारा विशेष लक्षण psoriasis के लक्षण: लाल और गुलाबी रंग के धब्बे जो thickened है, शुष्क त्वचा। यह आमतौर पर घुटने, कोहनी और खोपड़ी को प्रभावित करती है। मूल रूप से अभिव्यक्ति हर जगह शरीर पर प्रकट कर सकते हैं। लेकिन अधिक बार यह आघात, पुनरावर्ती मलाई, abrasions के स्थान पर प्रकट होता है।

सेब के सिरके में महान स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह त्वचा के लिए भी अच्छा होता है। सेल्युलाईट से प्रभावित क्षेत्रों पर सेब के सिरके उपयोग करने से त्वचा में फंसे विषाक्त पदार्थों को निकाला जा सकता है। यह सूजन को कम करने में भी मदद करता है। त्वचा में इसके प्रयोग से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। सेब के सिरके में पानी की बराबर मात्रा मिलाकर त्वचा पर लगा सकते हैं। वैकल्पिक रूप से, यह शहद या पानी के साथ मौखिक रूप से भी लिया जा सकता है। यह वजन घटाने और सेल्युलाईट को कम करने में मदद करता है। 

एक स्टेरॉयड (steroid ) इंजेक्शन लें: यदि आपको विशेष रूप से बड़े पित्त वाले मुँहासे हो गए हैं जो कि बहुत ज्यादा दर्दनाक भी है तो आप स्टेरॉयड इंजेक्शन का सहारा ले सकते हैं। ये एक दिन से कम समय में ही उसके आकार को घटा सकते हैं तथा मुँहासों में होने वाले दर्द को भी कम कर सकते हैं।

गर्म मौसम में, पीठ पर मुँहासे वितरित की जाती हैमहिलाओं के सौंदर्य और मनोवैज्ञानिक परेशानी कई लोग यहां तक ​​कि इस तरह की चकत्ते के कारण बहुत सारे परिसरों का अनुभव करते हैं, समुद्र में आराम करने से इनकार करते हैं, एक स्विमिंग सूट में सार्वजनिक रूप से प्रकट नहीं करना चाहते। इसलिए, पीठ पर मुँहासे से छुटकारा पाने का सवाल सावधानीपूर्वक और विस्तृत अध्ययन के लिए है, और इस समस्या का उपचार एक एकीकृत दृष्टिकोण है।

You must be worried about what is pimple, what are the reasons behind acne on face, why pimples are coming on my face and so on so… find here answers to all the questions and ask us if any questions. … Continue reading What is pimples and reasons behind acne – know Everything

– मसूड़ों में सूजन होने पर या दांतों में सड़न होने पर मुंह में होने वाली दुर्गन्ध को दूर करने के लिए एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच अदरक का रस और थोडा नमक मिलाकर उस पानी को मुंह में रखकर उसे पी लें। धीरे-धीरे ऐसा करें जब तक पानी खत्म न हो जाए।

स्‍वाद और सुगंध से भरपूर दालचीनी को मसालों में अहम स्‍थान दिया गया है। दालचीनी का दोनों ही मसाले और दवा के रूप में उपयोग का लंबा इतिहास है। वास्तव में प्राचीन काल में, यह मसाला इतना बहुमूल्य खजाना माना जाता था कि इसकी कीमत सोने से भी ज्यादा थी।यह श्रीलंका एवं दक्षिण भारत में बहुतायत में मिलता है। यह एक वृक्ष की छाल होती है। यह गरम मसाला तो है ही यह पाचन, वातहर, स्तंभण, गर्भाशय उत्तेजक, गर्भाशय संकोचक एवं शरीर उत्तेजक है। चाय, काफी में दालचीनी डालकर पीने से मीठी हो जाती है तथा सर्दी भी ठीक हो जाता है।

Baking soda helps in reducing the inflammation in the pimple. You can use it by making a soft paste of baking soda with water. Spread this paste on the pimple and leave it for 5 minutes unless it dries. It has the property of drying out the pimple and helps in maintaining the pH level of the skin. But do not let it dry for longer time as it dries the skin. After drying clean the skin properly. It is one of the fastest methods to remove pimple.

घर के बने दलिये का फेशियल इस्तेमाल करें | 1 चमच्च दलिये को पानी में मिलाएं | इसे निचोड़कर इसके पानी को पूरे चेहरे पर 1 मिनट तक लगाएं | आँखों और होंठों पर ना लगाएं | पानी से चेहरा धोलें | यह तरीका कई लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ है |

मोटापे से परेशान लोग वजन घटाने के लिए व्ययाम, योगा, खाने पर कंट्रोल क्या कुछ करते हैं। कुछ लोग जिम जा कर घंटो एक्सरसाइज करके पसीना बहाते हैं। कई बार ज्यादा देर जिम करने से कई तरह की शरीरिक प्रॉब्लम भी शुरू हो जाती है। ऐसे में वजन घटाने के लिए आप एक्यूप्रेशर तकनीक को भी अपना सकते हैं। यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें शरीर के बिंदुओं को दबाना होता हैं। जिससे आपको भूख कम लगेगी और आपके वजन पर भी कंट्रोल होगा। मानव शरीर पर ऐसे बिंदु होते है जिसे दबाने से कई रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है और मोटापे को भी कम किया जा सकता है।

गुलाब जल फेस क्लीन करने में काफ़ी उपयोगी है। गुलाब जल में काली मिर्च के दस से बारह दाने पीस कर मिलाये और रात को चेहरे पर लगा कर सुबह गुनगुने पानी से फेस धो ले। इस उपाय से स्किन पर निखार आता है और मुंहासे भी साफ़ होते है।

दांतों को छुटकारा पाने के लिए टूथपेस्ट को एक प्रभावी घर उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है बिस्तर पर जाने से पहले टूथपेस्ट पर एक छोटी सी बूंद को लागू करें और सुबह ठंडे पानी से धो लें। मुंह से छुटकारा पाने का यह सबसे अच्छा तरीका है। जेल आधारित टूथ पेस्ट का प्रयोग न करें।

नहाने के बाद अपनी पीठ को एक हल्के क्लीनर (cleaner) का साफ़ कर लें। फिर इसको अच्छे से सूखा लें। अब एक रूई से अपनी पीठ पर ताजा निचोड़ा हुआ नींबू का रस लगाएँ। इसको सूख जाने दें और ढीले ढाले कपड़े पहन लें। फिर कुछ घंटों बाद इसको गुनगुने पानी से धो लें। मुँहासे और उसके निशानों को रोकने के लिए कम से कम एक सप्ताह के लिए रोजाना दोहराएं।

1 –  हरे खीरे को कद्दूकस कर के उसके रस को एक बाउल में निकाल ले , और इस रस को अपने चेहरे पर लगभग एक घंटे तक लगा कर रखे फिर साफ पानी से चेहरे को धो ले इससे पिम्पल्स न केवल साफ होगा बल्कि पिम्पल्स होना भी कम हो जायेगा.

यदि आप अक्सर पेट की बीमारियों से पीड़ित होते हैं जैसे गैस, अपच, कब्ज, सूजन आदि। यह अक्सर तब होता है जब आपकी पाचन प्रणाली अच्छी तरह से काम नहीं कर रही होती है। इसे सुधारने के लिए आप सौंफ और अजवाइन से बना काढ़े का सेवन कर सकते हैं। दोनों में कार्मिनटिव गुण होते हैं जो गैस को बनने से रोकते हैं और बेहतर पाचन में सहायता करते हैं।

बवासीर में कच्ची मूली या मूली के पत्तों की सब्जी बनाकर खाना फायदेमंद होता है. हर रोज सुबह उठते ही एक कच्ची मूली खाने से पीलीया रोग में आराम मिलता है. अगर पेशाब का बनना बंद हो जाए तो मूली का रस पीने से पेशाब दोबारा बनने लगती है. आधा गिलास मूली का रस पीने से पेशाब के साथ होने वाली जलन और दर्द मिट जाता है. खट्टी डकारें आती है तो मूली के एक कप रस में मिश्री मिलाकर पीने से लाभ मिलता है.

Sir mere face par pimpals ho gaye hai aur kali si keel ho jati hai aur funsi jesi ho jati hai please help me aur sir agar ham garmi ke mosam me haldi lagae to koi nuksan to nahi hoga kyo haldi garm hoti hai

चेहरे को रोज़ एक्सफोलिएट करें: मृत त्वचा को निकालकर अच्छी नयी त्वचा पाने के लिए, चेहरे को रगड़कर साफ़ करें | मुँहासे चेहरे के ऊपरी परत को ही नुकसान पहुँचाते हैं, इसलिए रगड़ने से इनके धब्बे कम हो जाते हैं | संवेदनशील त्वचाओं के लिए बनी हुई फ़ेशियल स्क्रब से आप अपने चेहरे को रगड़ सकते हैं |

रूई को नींबू के रस में अच्छे से डुबोएं। लगभग 10 मिनट के लिए अपनी त्वचा के प्रभावित क्षेत्र पर रूई को लगा कर रखें और फिर रात भर नींबू के रस को लगा छोड़ दें। सुबह में, गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *