“30 मिनट में मुँहासे से छुटकारा |मुँहासे के चेहरे से मुक्ति पाने से”

चेहरे की सफाई के लिये एलोवेरा एक बेहतरीन स्किन टोनर है। इसका उपयोग चेहरे पर रोज करने से त्‍वचा से अतिरिक्‍त तेल निकलता है। जिससे पिम्पल्‍स दूर होते हैं, और इसके रोजाना इस्तेमाल से दाग़ धब्बे भी खत्म हो जाते हैं। इसका इस्तेमाल आसान है बस ताजी एलोवेरा कि पत्ती लिजिए और उसे दो हिस्सों में काट दिजिए और फिर उस से निकलने वाले जेल को किनारे से निकालते हुए चेहरे पर लगाएं और 20- 25 मिनट तक चेहरे का मशाज करे। फिर चेहरा को गुनगुने पानी से धो लें।

दालचीनी में शक्तिशाली रोगाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, संक्रामक विरोधी और एंटी-क्लोटिंग गुण होते हैं। यह एंटी-ऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल और मैंगनीज, लोहा और आहार फाइबर जैसे खनिजों का भी एक अति उत्कृष्ट स्रोत है। यह सभी आवश्यक पोषक तत्व आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह शर्करा, कार्बोहाइड्रेट, फैटी एसिड और एमिनो एसिड का एक प्राकृतिक स्रोत है| तो आइये जानेते है दालचीनी के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में-

ग्रीन या ब्लैक टी (चाय) पीएं: चाय में पॉलीफेनोल्स (polyphenols) मौजूद होता है, जो सल्फर को दूर करने में और मुंह के बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है। यह मुंह को हाइड्रेट (जलयोजित) करने में भी सहायता करता है। अच्छे नतीजे के लिए दिन में कई बार बिना मिठास वाली गर्म चाय को पीयें।[१४]

sir hamari skin teen layars se bna hota hai to chicken pox ke jo gadhe hote hai jo kis layars me hote hai jo bharte nhi ya ye teeno layars ko samapt kar deta hai jo gadhe par fir se cell nhi banta sir

यह सोचा है कि सोरायसिस ठीक नहीं किया जा सकता है और त्वचा की यह स्थिति पुरानी है। जब आप छालरोग उपचार दवा लेने या समय-समय खराब अस्थिर होने के नाते, यह सुधार कर सकते हैं। समय पर सोरायसिस साल छूट अवस्था में रहने के लिए प्रकट नहीं होता है। सर्दियों की अवधि समय जबकि गर्मियों के महीनों, इसके विपरीत, धूप में घूमना – एक असली प्राकृतिक छालरोग उपचार के लिए धन्यवाद त्वचा में सुधार जब हालत, खराब कर सकते हैं हो सकता है।

Bhai mere chehre bhut oily h or khub daane or keel muhase ho rhe h or agar m chehre ko thoda daabata hu to isme se white color ka bhut hi gaandi badbuu ka paste nikal taa h or kabhi kabhi white color ki keel bhi nikalti h us ko nikal kr fodo to same wesa hi paste baan jta h isi chehre se kaise khatam kru. …. please batayega journey. …

The information Provided in this video is based out of various Ayurvedic & Natural Medicare books. If you have or suspect that you have a health problem, contact your personal health care Provider / Doctor.

अगर डायबिटीज के रोगियों को कहीं पर चोट लग जाती है तो उस जगह पर जहाँ चोट लगी है वहां सुबह मुँह की लार लगाये घाव भरने लगेगा। क्योकि मुंह की लार एंटीसेप्टिक होती है। वह रोगों की सबसे अच्‍छी दवा हैं, जो आपको फ्री में मिलती हैं। जिसके असंतुलन के कारण ही आज व्यक्ति कई रोगों से ग्रस्त है। जबकि किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के मुंह में प्रतिदिन 1000 से 1500 मिलीलीटर लार बनती है जो मुंह में मौजूद कैविटी, हानिकारक बैक्टीरिया और बारीक भोजन के कणों को साफ करने में मदद करती है। लार में ‘सलाइवा पैरोटिड ग्लैंड हार्मोन’ (एसपीजीएच) पाया जाता है जो त्वचा से उम्र के प्रभावों को कम करते है और आप लंबे समय तक युवा दिख सकते हैं। साथ ही लार में लाइसोजाइम नामक एंटी-बैक्टीरियल तत्व और इम्यून प्रोटीन ‘ए’ होते हैं जो मसूढ़ों और गले को कई प्रकार के हनिकारक इंफेक्‍शन से बचाते हैं।

हल्दी खाएँ: यह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक आपके शरीर में बलगम बनाने वाले बैक्टीरिया को मारता है। आप जो कुछ भी पीते हैं उसमें थोड़ी सी हल्दी मिलाएँ या इसे एक गिलास पानी के साथ पिएँ। प्रतिदिन इस पदार्थ के कुछ छोटे चम्मच आपको बहुत जल्दी बलगम-मुक्त कर देंगे।

जैसा की हम सभी जानते है की गर्मी के समय बर्फ को कई तरह से use किया जाता है, पर और सभी मौसम में भी चहरे पर बर्फ लगाने से कई तरह के लाभ होते है, तो आइये जानते है इसके health और skin benefits के बारे में विस्तार से:

ज्यादा पानी पीएं: एक कारण जिसकी वजह से दुर्गंधित सांस या आपकी सांस और खराब हो जाती है, वह है मुंह का सूखापन। पानी गंध मुक्त होता है और यह मदद करता है आपके दांतो में से बचे हुए खाने के अवशेष को निकालने में, जो बैक्टीरीया के उपज का कारण होते हैं। यह मुंह में लार (सलाइवा) बनाने में भी मदद करता है जो आपके मुंह को साफ़ रखता है और उस पदार्थ को निकालता है जिसकी वजह से आपके मुंह में दुर्गंध रहती है।[८]

वास्तव में, दालचीनी का अधिक मात्रा में सेवन से स्वस्थ को खतरा हो सकता है और आपके लिवर को नुकसान पहुंच सकता है। दालचीनी या उसका तेल का अधिक उपयोग समय से पूर्व दर्द को उत्पन्न कर सकता है या फिर गर्भाशय के संकुचन को भी प्रेरित कर सकता है।

जिस तरह हम अपने शरीर को साफ रखते हैं रोज नहाते हैं रोज अपना मुंह धोते हैं उसी तरह हमें अपने कानों की सफाई कमी जरूर ध्यान रखना चाहिए आपको जानकर हैरानी होगी कि आज के समय ना सिर्फ भारत में बल्कि पूरे विश्व में कहां से जुड़ी समस्याएं काफी ज्यादा पैदा हो रही है और इस सब का सबसे बड़ा कारण है कानों में जमी रहने वाली महल आज हम जो वीडियो आपको लाए हैं उसमें आपको बहुत ही अच्छे और उपयोगी जानकारी काम से जुड़ी हुई दी गई है!

परीक्षण करें, अगर आपको सांस की दुर्गंध की समस्या है: यह बताना मुश्किल है कि कब आपकी सांस दूसरो को बदबूदार लगें। अगर आपकी सांस बदबूदार है, तो इन परीक्षण का इस्तेमाल करके, आप अपने मुंह में मौजूद सल्फर नमक को किसी और चीज़ में मिलाकर, सूंघ सकते हैं और स्वयं ही अपने सांस की दुर्गंध को पहचान सकते हैं।[१५]

त्वचा के चकत्ते का इलाज – (Freckles)- त्वचा पर जहाँ कहीं भी चकते हों, उन पर नींबू का टुकड़ा मसले। नींबू में फिटकरी का पाउडर भरकर धीरे धीरे लगाये। इससे चकते हल्के होते हैं और त्वचा में निखार आ जाता है। इसके अलावा हाथ धोकर नींबू का रस रगड़ने से हाथ नरम हो जाते हैं और नाखून सुंदर हो जाते है|

ज्यादा से ज्यादा हर्बल और सौम्य उत्पादों का उपयोग करें: कई लोग अपनी त्वचा से धब्बों को निकालने के लिए इतने उत्सुक रहते हैं कि किसी भी उत्पाद का इस्तेमाल करके अपनी त्वचा को और ज्यादा खराब कर देते हैं | इसलिये अपनी त्वचा अनुसार उत्पादनों का चयन करें | अगर कोई क्रीम आपकी त्वचा पर बुरा असर कर रही है, तो उसका प्रयोग तुरंत बंद कर दें | सौम्य फ़ेशियल क्लीन्ज़र, मेकअप रिमूवर, स्क्रब आदि जो आपकी त्वचा को खराब करने की बजाए अच्छा बनाती है, का ही चयन करें |

प्राकृतिक जड़ी बूटियाँ खाएँ: मुलैठी (licorice), मेथी और चिकवीड (chickweed) जैसी जड़ी बूटियाँ खाना आपके गले से बलगम साफ करने में मदद करेगा। इन्हें अपने खाने में जोड़ें या अगर आप स्वाद को बर्दाशत कर सकते हैं, तो इन्हें कच्चा खाएँ या पानी में उबालकर इनकी चाय बनाएँ।[२]

इस तरह के चकत्ते का उपचार लंबे समय से है, क्योंकिComedones हल नहीं करते हैं और अपने आप से बाहर मत जाओ। गुणात्मक उपचार के लिए इस तरह के मुँहों का कारण जानने के लिए महत्वपूर्ण है, जो एक नियम के रूप में, हार्मोनल असंतुलन या अनुचित शरीर स्वच्छता के होते हैं।

Ice Cube का सबसे लोकप्रिय उपयोगों में से एक मुँहासे सिकुड़ने के लिए है | बर्फ लालिमा और सूजन को शांत कर सकता है, खासकर cystic acne को | हालांकि, याद रखें कि pimples संवेदनशील होते हैं और बैक्टीरिया से भी भरा होता है | इसलिए pimple के उपचार लिए ice का उपयोग करते वक्त सौधानियाँ बरते |

– गर्मियों में हरा ताजा पुदीना पानी मेें उबाल कर छान लें। गुनगुने पानी से कुल्ला करने से भी आराम मिलता है। इसी प्रकार मेथी को पानी में उबालकर ठंडा कर छान लें और गुनगुने पानी से कुल्ला करें। मसूड़ों की सूजन भी दूर होगी और दुर्गन्ध भी।

रात को भोजन के बाद एक छोटी हरड़ चूसे। इस से आमाशय और आंतड़ियों के दोषो के कारण महीनो ठीक ना होने वाले मुंह व् जीभ के छाले ठीक हो जाते हैं। हरड़ को चूसते रहने से पाचक अंग शक्तिशाली बन जाते हैं, पेट के कीड़े भी नष्ट होते हैं।

1 –  हरे खीरे को कद्दूकस कर के उसके रस को एक बाउल में निकाल ले , और इस रस को अपने चेहरे पर लगभग एक घंटे तक लगा कर रखे फिर साफ पानी से चेहरे को धो ले इससे पिम्पल्स न केवल साफ होगा बल्कि पिम्पल्स होना भी कम हो जायेगा.

ज्यादा रेशे वाले (फाइबर से आहार लें: ताजा और कुरकुरा भोजन आपके दांतो को साफ़ रखने के साथ-साथ, यह दुर्गन्धयुक्त सांस को भी रोकेगा। इससे आपकी पाचनशक्ति में सुधार होगा और विषैले तत्व आपके शरीर से निकल जाएंगे।[९]

दालचीनी के उपयोग से शरीर को ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद मिलती है, जिसमें कुल कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी कम हो जाता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी आंतरिक ऊतकों में सूजन को ठीक करने और दिल के दौरे और बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

नई दिल्ली: विवादों से घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के रिलीज डेट की घोषणा कर दी गई है। ये फिल्म सिनेमाघरों में 25 जनवरी को रिलीज होगी। फिल्म की सीधी टक्कर अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन’ के साथ [Read more…]

सोरायसिस में अलग अलग तरीकों से पता चला है। कभी कभी छोटी bumps चपटा कर रहे हैं, कई बार बड़े सजीले टुकड़े के साथ उठाया त्वचा मोटी कर रहे हैं। बढिया, लाल रंग के धब्बे विशिष्ट सोरायसिस, के साथ ही सूखी त्वचा गुलाबी रंग के होते हैं।

लौंग कैविटी के साथ-साथ किसी भी प्रकार की दांतों से जुडी समस्‍याओं के लिए रामबाण होता है। एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एनाल्‍जेसिक और एंटी-बैक्‍ट‍ीरियल गुणों के कारण लौंग दर्द को कम करने और कैविटी को फैलने से रोकता है। समस्‍या होने पर 1/4 चम्‍मच तिल के तेल में 2 से 3 बूंदें लौंग के तेल की मिलाकर लें। इस मिश्रण को रात को सोने से पहले कॉटन बॉल में लेकर प्रभावित दांत में लगाये।   

5 टूथपेस्‍ट तो हम दांत साफ करने के लिए प्रयोग करते हैं, पर इसके इस्‍तमाल से आप अपने चेहरे के पिंपल को भी साफ कर सकते हैं। अगर रात में सोने से पहले इसको अपने चेहरे के मुहांसे पर लगा रहने देगें तो यह उन मुहासों को ठंडा कर के सुखा देगा।

शुद्ध टी ट्री आयल लगाना अगर त्वचा में जलन, लालिमा या ज़्यादा शुष्क त्वचा का कारण बनता है, तो टी ट्री आयल में पानी का उपयोग कर उसको पतला करें या एलोवेरा जैल के साथ यह मिश्रण बनाएं और फिर अपने चहरे पर लगाएं। (और पढ़ें – टी ट्री ऑयल के फायदे)

खीरा तो हम सभी लोग खाते है. लेकिन यह खीरा हमारी त्वचा को भी स्वस्थ बनाये रखता है. चेहरे में खीरे का use करने से हमारे चेहरे पर निखार आता है और हमारी त्वचा ग्लो करती है. आप खीरे के पेस्ट को अपने मुंहासो में प्रयोग करे और फायदा देखे.

बेकिंग सोड़ा से साफ़ करें: बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल से त्वचा के दाग धब्बों को कम किया जा सकता है | 1 छोटा चमच्च बेकिंग सोड़ा को 1 छोटे चमच्च पानी में मिलाकर घोल तैयार करें | इसे अपने चेहरे पर गोलाकार में रगड़ते हुए 2 मिनट तक लगाएं | गुनगुने पानी से चेहरे को धोलें और अच्छे से पोंछ लें | “यह एक जाना माना नुस्खा है, लेकिन इसे पहले थोड़े समय के लिए प्रयोग करें और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाएं। बेकिंग सोड़ा में 7.0 PH होता है जो त्वचा के PH से बहुत ज्यादा है | अगर PH की मात्रा को बढ़ा दी जाएगी, तो लम्बे समय तक मुँहासे नहीं जाएंगे और अधिक संक्रमण और सूजन का भी डर रहेगा |”[२]

यह उनमे से किसी के भी साथ हो सकता हैं जो लोग व्रत रखते हैं, चाहे वो धार्मिक कारणों के लिए, या जो खाने में रूचि नहीं लेते। यदि आप खाने में रूचि नहीं लेते हैं तो मुँह से दुर्गंध ही एक कारण हैं खुद को भूखा न रखने का।

अपने मुँह को नम रखें: शुष्क मुँह बदबूदार मुँह होता है। यही कारण है कि आपकी सांस सुबह और भी बदतर हो जाती है सोते समय आपका मुँह कम लार पैदा करता है। आपके मुँह में लार मुँह की दुर्गंध के लिए दुश्मन का काम करती है क्यूंकि ये ना केवल बैक्टीरिया और अन्ना कणों को धोती है बल्कि यह एक एंटीसेप्टिक है और जीवाणुओं को मारने वाला एंजाइम का काम करती है।[४]

यदि आपको मिल गया है तो एक दाना दिया गया है जो वास्तव में दूर नहीं जा सकता है, विटामिन ई की गोली को ख़त्म कर दें (या कुछ आहार ई तेल खरीद लें) और अपने दोष को रगड़ें। आप इसे 10 मिनट या एक ही दिन में छोड़ सकते हैं, हालांकि खाद्य आहार उसी समय मॉइस्चराइज रखता है जैसे कि किसी भी लाली और दूषित घटते समय (जो वास्तव में आप की तलाश में हैं)। यह पिलकों को खोलने में मदद कर सकता है और आपको ब्रेकआउट्स बचा सकता है अगर आप इसे नियमित आधार पर उपयोग करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *