“6 दिन में मुँहासे से छुटकारा कैसे करें +एक महीने में मुँहासे से छुटकारा”

दांतों को छुटकारा पाने के लिए टूथपेस्ट को एक प्रभावी घर उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है बिस्तर पर जाने से पहले टूथपेस्ट पर एक छोटी सी बूंद को लागू करें और सुबह ठंडे पानी से धो लें। मुंह से छुटकारा पाने का यह सबसे अच्छा तरीका है। जेल आधारित टूथ पेस्ट का प्रयोग न करें।

–> संतरे में मौजूद विटामिन सी पिपल्स को निकालने में मदद करता है | संतरे को मुहांसे पर इस्तेमाल करने से पूर्व त्वचा को भली – भांति गुनगुने पानी से धो ले ताकि त्वचा के पोर्स खुल सके | इसके बाद संतरे के छिलके को pimple पर लगाकर  एक घंटे तक छोड़ दे |

नहाने के बाद एक टोपिकल मरहम (ointment) या लोशन (lotion) का प्रयोग करें: एक मरहम को खोजें जिसमें बेंजोईल पेरोक्साइड (benzoyl peroxide), सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) या अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (alpha hydroxy acid) हो। इनमें से ज्यादातर ब्राण्ड बिना पर्ची के मिल जाते हैं जैसे — क्लेअरसील (Clearasil) और प्रोएक्टिव (Proactive)। अगर आप एक लोशन का प्रयोग करना चाहते हैं जो वैज्ञानिक तौर पर, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए बनाया गया है कि वह कूल्हों पर होने वाले मुँहासों को ठीक करे — ग्रीन हार्ट लैब्स का बट एक्ने क्लीयरिंग लोशन (Butt Acne Clearing Lotion)। ज्यादातर टूथपेस्ट में कई प्रकार के पेरोक्साइड (peroxide) होते हैं, यदि आपको कुछ और न मिले तो ये मुँहासों के इलाज में प्रयोग में लाए जा सकते हैं।

दांतों में छेद होने को वैज्ञानिक भाषा में दन्त क्षय या कैविटी कहते है। मुंह में मौजूद एसिड के कारण दांतों के इनेमल खोखले होने लगते हैं जिसके कारण कैविटी का निर्माण होता है। मुंह में मौजूद बैक्‍टीरिया (लार, खाद्य कणों एवं अन्य पदार्थों के साथ) दांतों कि सतह पर जमा होने लगते हैं जिसे प्लॉक कहा जाता है। प्‍लॉक में मौजूद बैक्‍टीरिया आपके खाने में मौजूद शुगर एवं कार्बोहाइडेट को अम्ल में परिवर्तित कर देता है इसी अम्ल के कारण दांत खोखले होने लगते हैं, फलत: कैविटी का निर्माण होता है। लेकिन कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर दांतों में मजबूती बनाने के साथ प्राकृतिक रूप से कैविटी से लड़ा जा सकता है।

डायबिटीज (71) डायरिया (25) डेंगू (7) डैंड्रफ (8) थकान (37) दमा (33) दांत दर्द (56) दांतों के लिए (71) दाद-खाज (23) दिल की बीमारी (43) दिल के दौरे (25) देशी नुस्खे (1642) नपुंसकता (11) नींद की समस्या (25) पथरी (42) पसीने की बदबू (9) पाइल्स (14) पाचन (136) पीरियड्स (23) पीलिया (18) पेट की चर्बी (38) पेट के लिए (118) पेट दर्द (83) पेशाब में जलन (9) पैरों की लिए (27) पैरों की बदबू (11) बच्चों के रोग (20) बवासीर (52) बालों के लिए (229) बुखार (66) ब्लड शुगर (16) मधुमेह (41) मधुमेह (शुगर) (91) माइग्रेन (35) माहवारी के (12) मुंह की दुर्गध (21) मुँहासे (17) मोटापा (141) योगा टिप्स (21) वजन कम (51) वजन घटाने (38) वज़न घटायें (15) विटामिन (1) शीघ्रपतन (9) सर्दी जुकाम (70) सिरदर्द (65) सीने में जलन (17) सेक्स पावर (12) सेहत के लिए (10) स्वस्थ जीवन का सूत्र (219) हार्ट अटैक (30) हार्ट ब्लॉकेज (11) हृदय रोग (7) हेयर लोस (4) हेल्थ टिप्स (8) Beauty Tips (5) Health Tips (162) Yoga Tips (8)

मुलेठी में भरपूर मात्रा में आयुर्वेदिक गुण मौजूद होते हैं. जिसके कारण ये हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. मुलेठी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा के गुण मौजूद होते हैं. इसके सेवन से सर्दी-खांसी, जुकाम, कफ, गले और यूरिन इंफैक्शन जैसी समस्याओं से आराम मिलता है. आज हम आपको मुलेठी के कुछ घरेलु नुस्खों के बारे में बताने जा रहें हैं.

त्वचा के छिद्र भर जाने पर सूजन आ जाती है और उस छिद्र में बैक्टीरिया के कारण पस भर जाती है इस को पिम्पल्स कहते हैं तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ भरपूर नींद लें पानी अधिक मात्रा में लें चेहरे को बार बार धोएँ फल और सब्जी ज़ायेदा खाएँ साबुन की जगह बेसन के उबटन से मुँह धोएँ

आंवला जैसी जड़ी-बूटी भी कैविटी के इलाज में मददगार होती है। इसमें भरपूर मात्रा में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन सी के कारण यह बैक्‍टीरिया और संक्रमण से लड़ने में मदद करती है। यह संयोजी ऊतक के विकास को बढ़ावा देकर मसूड़ों के लिए बहुत लाभकारी होती है। इसके अलावा, यह मुंह को साफ करने और बदबूदार सांस से छुटकारा पाने में आपी मदद करता है। नियमित रूप से ताजा आंवला खाये। यह आधा गिलास पानी के साथ आधा चम्‍मच आंवला पाउडर नियमित रूप से लें।

त्वचा को ठंडक पहुंचाने वाले, सफाई करने और कसाव लाने के गुणों के कारण टमाटर तेलीय त्वचा के लिए किसी वरदान से कम नहीं होते हैं। टमाटर में मौजूद विटामिन सी की उच्च मात्रा मुँहासे युक्त त्वचा के लिए बहुत उपयोगी होती है। इसके अलावा, टमाटर में तेल अवशोषित करने वाला एसिड भी पाया जाता है। जो अतिरिक्त तेल से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। 

Home remedies for acne on face: Almost everyone, in the age of puberty and adolescence, encounters pimples. This age is more prone to pimples because this is the growth age, where body undergoes so many physical, biological and hormonal changes. Pimple is a kind of skin inflammation in which a red swollen structure or lesion full of puss forms on the skin and irritates the  area by causing itching and pain.

त्वचा को लंबे समय तक खूबसूरत बनाए रखना है तो आपको उसका प्राकृतिक उपचार करने की जरूरत है।इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आप सिर्फ कुछ दिनों में पिम्पल्स की समस्या से छुटकारा पा सकती है।

 Sarita, for more than 6 decades, has been refreshing the minds and moods of millions of its readers. It appeals to an urban and socially conscious intelligentsia. Sarita carries a distinctive mix of articles on subjects ranging from politics, society, economy, travel, health, fiction, poetry, life and entertainment. Its deeply introspective articles invite its readers to delve into the softer issues of life, relationship, family and personal development, and prepare themselves for a modern, progressive lifestyle. Sarita’s stories always make a delightful read. Humour and satire remain an integral part of Sarita. No edition of Sarita is complete without its refreshing cartoon strips and satirical Remedy (Gharelu Nuskhe) for Pimple Marks (Acne Scars) on Face in Hindi. Muhase ke nishan se chutkara pane ke liye gharelu nuskhe upchar/upay in Hindi. Muhase ke daag hatane ke upay in Hindi. Chehre (face) ke daag dhabbe hatane ke upay in Hindi. Kale daag mitane ke upay in Hindi.

विटामिन-डी से भरपूर आहार लें: विटामिन-डी आपके मुंह में बैक्टीरिया होने से रोकता है। विटामिन-डी का सेवन हम अपने आरक्षित आहार और पेय के रूप में कर सकते हैं, विटामिन-डी आम तौर पर और अधिक प्रभावशाली रूप में सूरज की रोशनी से मिलता है।

मूली में विटामिन C, जिंक, B कांप्‍लेक्‍स और फॉस्‍फोरस होता है. मुंहासों के लिए मूली का टुकड़ा गोल काट कर मुंहासों पर लगाएं और तब तक लगाए रखें जब तक यह खुश्क न हो जाए. थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें. कुछ ही दिनों में चेहरा साफ हो जाएगा.

lifestyle news bollywood news in hindi fashion fashion news love Cricket fashion_traind entertainment latest news beauty tips bollywood news bollywood lifestyle Entertainment_news entertainment news latest latest fashion trends lifestyle_news health news bollywood_actress

ट्राईमिथाइलएमीन्यूरिया (trimethylaminuria): यदि आपका शरीर ट्राईमिथाइलएमीन्यूरिया रसायन को नहीं तोड़ पाता हैं तो वह लार में छूट जाता हैं जिसके कारण मुँह से दुर्गंध आती हैं । यह आपके पसीने के द्वारा जारी हो सकता हैं, जो कि शरीर की दुर्गंध का लक्षण हो सकता है ।

चन्दन, मुलैठी और हल्दी जैसे घरेलू नुस्खे त्वचा के पुराने दाग धब्बों के निशानों को भी हल्का करने की क्षमता रखते हैं। हालांकि काफी अच्छी तरह से इनका इस्तेमाल करने पर भी इस बात की काफी संभावना होती है कि इनका असर काफी महीनों में दिखे।

Psoriatic गठिया अधिक दर्द का कारण बनता है और जोड़ों और त्वचा पर धब्बे दिखाई देते हैं। इस रोग में जोड़ों के आसपास सूजन त्वचा द्वारा लक्षण वर्णन किया जा कर सकते हैं। अनुमान के अनुसार लगभग एक मिलियन वयस्कों से पीड़ित हैं। सूजन, जोड़ों का दर्द बढ़ रही, तराजू, लालिमा, त्वचा के घावों psoriatic गठिया के दौरान गौर कर रहे हैं।

इन उपायों को जब आप अपनाते है तो अपना धैर्य बनाये रखे क्योंकि आयुर्वेदिक तरीके अपना असर धीरे – धीरे करते है. अगर आप लगातार यह करते रहोगे तो आपको भी दाग – धब्बो से छुटकारा मिल जायेगा और चेहरे में निखार आने लगेगा.

मुंह से आने वाली दुर्गंध कई बार लोगों से दूरी का सबसे बड़ा कारण बन जाती हैं। हम दोस्तों के बीच बैठे हैं और कोई हमसे हमारे मुंह से आ रही दुर्गंध (बदबू) के बारे में कहता हैं, तो हमें दोस्तों के बीच नीचा देखना पड़ता हैं । इसी बीच दोस्त हमें दस तरह के उपाय बताने लगते हैं, कोई अच्छे टूथपेस्ट का सुझाव देता हैं तो कोई माउथ स्प्रे के बारे में बतलाने लगता हैं, लेकिन इन सबके बीच यदि आप कुछ घरेलू नुस्खे या उपाय अपनाएं तो आप मुंह की दुर्गंध से छुटकारा पा सकते हैं । ये किफायती भी होंगे और असरकारक भी । दुर्गंध को यूं पहचानें घर पर अकेले में या बात करते समय जब लोग आपके सामने न खड़े हों तो उस वक्त अपने मुंह पर हथेली रखकर सांस छोड़िए, इससे आपको आसानी से पता चल जाएगा कि आपका सांसों में दुर्गंध हैं या नहीं ।

काले दाग (black spots) धब्बे होने के कई कारण है जिनमे से मुख्य कारण कील, मुहासे, काले सिरे (ब्लैक हेड्स), फुडिया होते है। मुहासे से छुटकारा, सूरज की तेज किरण के कारण चेहरे के गड्ढे, दाग धब्बे ओर भी बढ़ जाते है जो चेहरे के सावले होने का कारण बनती है। इसके लिए आप जब भी बाहर जाए तो सन क्रीम लगा कर जाए और नीचे कुछ विधिया दी गई है मुहांसे के कारण जो दाग धब्बे से निजात दिलाने मे आपकी मदद करेगे।

नेज़ल रिन्स (nasal rinse) का प्रयोग करें: अपनी दवा की दुकान से एक खारा नेज़ल रिन्स खरीदें या पुराने ज़माने के नेति पॉट का उपयोग करें। अपने साइनस से खारा पानी और एक नमकीन घोल निकालने से आपकी नाक और गले के पीछे की बलगम साफ होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *