“मुँहासे याहू से छुटकारा पाने के लिए |मुंह जटिल से छुटकारा पाने के लिए”

नई द‍िल्‍ली : सर्दियों में मूली के पराठे, मूली की सब्‍जी, मूली का अचार और सलाद हर घर के भोजन का अहम हिस्‍सा हैं. हालांकि ज्‍यादातर लोग ऐसे हैं जो मूली की शक्‍ल देखकर ही मुंह बनाने लगते हैं. अगर आप भी ऐसे ही लोगों शामिल हैं तो आपके लिए मूली के फायदों को जानना बेहद जरूरी है. जी हां, मूली भले ही आपको मामूली सब्‍जी, लेकिन यह औषध‍िय गुणों से भरपूर है. अगर आप रोजाना इसे अपनी डाइट में शामिल करेंगे तो कैंसर, डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर समेत कई बीमारियों से कोसों दूर रहेंगे और आपकी लाइफस्‍टाइल हो जाएगी बेहद हेल्‍दी:

Sir .main pichle tren sala se raat ka cream chode nahi pa raha hoon .mera sab theek hai lekin main raat ka cream chode nahi pa raha hu.chodne par pure face per pimples ho jata hai iska kuch upay bataye aur gaddhe bharne ka upay bataye

मुंहासों की समस्‍या एक आम समस्‍या है जो कभी भी हो सकती है, अगर आपके घर में अगले दिन कोई कार्यक्रम है और चेहरे पर एक्‍ने निकल जाये तो यह एक बुरी स्थिति होती है। इस समस्‍या से निजात पाने वाले नुस्‍खे आप घर पर भी आजमा सकते हैं। सफेद टूथपेस्‍ट सबके घर में होता है, इसे मुहांसो पर लगाकर पूरी रात के लिए छोड़ दीजिए, इससे वह गायब हो जायेगा। लहसुन को लेकर इसका रस मुहांसों पर लगा दीजिए, इससे मुहांसे आसानी से दूर हो जायेंगे।

अमेरिकन केमिकल सोसायटी के जर्नल ऑफ नेचुरल प्रोडक्ट में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, मुलेठी की जड़ दांतों को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करती है। मुलेठी में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण बैक्‍टीरिया के कारण होने वाली कैविटी के विकास को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा यह जडी-बूटी प्‍लॉक को कम करने में भी मदद करती है। नियमित रूप से दांतों में ब्रश करने के लिए मुलेठी की जड़ के पाउडर का प्रयोग करें। इसके अलावा आप टूशब्रश करने के लिए मुलेठी की स्‍टीक का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

4 – रात को सोने से पहले कच्चे दूध के साथ जायफल को घिसे और इसका लेप तैयार कर ले, और लेप को चेहरे पर लगा कर सो जाये. सुबह चेहरा साफ पानी से धो दे, कुछ दिन ऐसा लगातार करने से  चेहरे पर होने वाले मुहासों से छुटकारा मिलता हैं.

परीक्षण करें, अगर आपको सांस की दुर्गंध की समस्या है: यह बताना मुश्किल है कि कब आपकी सांस दूसरो को बदबूदार लगें। अगर आपकी सांस बदबूदार है, तो इन परीक्षण का इस्तेमाल करके, आप अपने मुंह में मौजूद सल्फर नमक को किसी और चीज़ में मिलाकर, सूंघ सकते हैं और स्वयं ही अपने सांस की दुर्गंध को पहचान सकते हैं।[१५]

घर के बने दलिये का फेशियल इस्तेमाल करें | 1 चमच्च दलिये को पानी में मिलाएं | इसे निचोड़कर इसके पानी को पूरे चेहरे पर 1 मिनट तक लगाएं | आँखों और होंठों पर ना लगाएं | पानी से चेहरा धोलें | यह तरीका कई लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ है |

मुंह की बदबू को भगाने का सबसे अचूक उपाय है पानी। आप जितना ज्यादा पानी पिएंगे उतना ही आपको आराम मिलेगा। पानी मुंह के अंदर क्लींजर जैसा काम करता है। दिन भर हम कुछ न कुछ खाते रहते हैं, जिसकी वजह से हमारे मुंह में पहले से ही जो बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। इसलिए हमें लगातार पानी पीते रहना चाहिए और सुबह-सुबह ज्यादा पानी पीना चाहिए।

ताज़े निम्बू का रस लगाएं: निम्बू में प्राकृतिक विरंजन (bleaching ) गुण होते है जिनसे मुहासों के दाग फीके हो जाते हैं | समान मात्रा में निम्बू का रस और पानी मिलाकर, इस मिश्रण को सिर्फ अपने धब्बों पर लगाएं | 15-20 मिनट के बाद धो लें या पूरी रात इस मिश्रण को लगे रहने दें | “चूंकि निम्बू के रस में 2 PH होता है और त्वचा की 4.0-7.0 PH होती है इसलिए अगर इसे लम्बे समय तक त्वचा पर छोड़ा जाए, तो त्वचा जल भी सकती है | खट्टे रस में बर्गप्टेन (Bergapten) नामक रसायन होते हैं जो डीएनए में मिलकर त्वचा को नुकसान पहुँचाते हैं |” इसलिए इसे सावधानी से प्रयोग करें और कम समय के लिए प्रयोग करने से शुरू करें।

बेकिंग सोड़ा से साफ़ करें: बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल से त्वचा के दाग धब्बों को कम किया जा सकता है | 1 छोटा चमच्च बेकिंग सोड़ा को 1 छोटे चमच्च पानी में मिलाकर घोल तैयार करें | इसे अपने चेहरे पर गोलाकार में रगड़ते हुए 2 मिनट तक लगाएं | गुनगुने पानी से चेहरे को धोलें और अच्छे से पोंछ लें | “यह एक जाना माना नुस्खा है, लेकिन इसे पहले थोड़े समय के लिए प्रयोग करें और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाएं। बेकिंग सोड़ा में 7.0 PH होता है जो त्वचा के PH से बहुत ज्यादा है | अगर PH की मात्रा को बढ़ा दी जाएगी, तो लम्बे समय तक मुँहासे नहीं जाएंगे और अधिक संक्रमण और सूजन का भी डर रहेगा |”[२]

दालचीनी मैंगनीज का भंडार है। इससे स्‍मरण शक्‍ति बढ़ती है। इसलिये बच्‍चों , महिलाओं, मानसिक श्रम करने वालों को ब्रेड पर मक्‍खन या शहद के साथ आधा चम्‍मच दालचीनी पाउडर लगा कर दिन में दो बार लेना लाभदायक होता है।

रात को भोजन के बाद एक छोटी हरड़ चूसे। इस से आमाशय और आंतड़ियों के दोषो के कारण महीनो ठीक ना होने वाले मुंह व् जीभ के छाले ठीक हो जाते हैं। हरड़ को चूसते रहने से पाचक अंग शक्तिशाली बन जाते हैं, पेट के कीड़े भी नष्ट होते हैं।

अगर डायबिटीज के रोगियों को कहीं पर चोट लग जाती है तो उस जगह पर जहाँ चोट लगी है वहां सुबह मुँह की लार लगाये घाव भरने लगेगा। क्योकि मुंह की लार एंटीसेप्टिक होती है। वह रोगों की सबसे अच्‍छी दवा हैं, जो आपको फ्री में मिलती हैं। जिसके असंतुलन के कारण ही आज व्यक्ति कई रोगों से ग्रस्त है। जबकि किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के मुंह में प्रतिदिन 1000 से 1500 मिलीलीटर लार बनती है जो मुंह में मौजूद कैविटी, हानिकारक बैक्टीरिया और बारीक भोजन के कणों को साफ करने में मदद करती है। लार में ‘सलाइवा पैरोटिड ग्लैंड हार्मोन’ (एसपीजीएच) पाया जाता है जो त्वचा से उम्र के प्रभावों को कम करते है और आप लंबे समय तक युवा दिख सकते हैं। साथ ही लार में लाइसोजाइम नामक एंटी-बैक्टीरियल तत्व और इम्यून प्रोटीन ‘ए’ होते हैं जो मसूढ़ों और गले को कई प्रकार के हनिकारक इंफेक्‍शन से बचाते हैं।

मुंह की बदबू से छुटकारा पाने के लिए आसान घरेलू उपाय – तुरंत दिखाएगी असर सांस की बदबू को हटाने के साथ-साथ यह नुस्खा आपके दांतों को भी सफेद करेगा – ELIMINATE BAD BREATH IN 5 MINUTES! ये जादुई ड्रिंक सांस की बदबू से लेकर कैंसर जैसी बिमारी को रोकने की क्षमता रखती है !! यह घरेलू औषधि दिला सकती है सांस की बदबू से छुटकारा – SAY GOODBYE TO BAD BREATH, PLAQUE, TARTAR AND KILL HARMFUL BACTERIA IN YOUR MOUTH WITH ONLY ONE INGREDIENT

क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप किसी पार्टी में जाने के लिए invited हों जहाँ तरह तरह के खाने-पीने की चीजों का इंतजाम हो… लेकिन इसी वक़्त कमबख्त मुंह के छालों ने आपको परेशान कर रखा हो? मेरे साथ तो कई बार ऐसा हो चुका है! लेकिन घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि ऐसे कई आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से हम मुंह के छालों से छुटकारा पा सकते हैं। 

Psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसे? पहले एक रोग की अवस्था पर तय और बाद में सोरायसिस के उपचार की नियुक्ति। Psoriasis के प्रकारनिर्धारित कारकों में से एक है। अपने चिकित्सक शायद आप एक शुरुआत के लिए कुछ सामयिक क्रीम की सिफारिश करेगा और केवल बाद में एक अलग और अधिक गंभीर छालरोग उपचार दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता।

चेहरे पर कील मुहाँसे ना हों इसके लिए आप रोज फल और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएँ कास्मेटिक का उपयोग बिल्कुल न करें पानी अधिक मात्रा में पिएं तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ पूरी नींद लें साबुन से चेहरा न धोएँ सिर्फ बेसन, चावल का आटा और हल्दी का प्रयोग करें चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करें|

अब आपको भी अपने Pimple और Acne हटाने के लिए थोड़ा Serious हो जाना चाहिए और इन्हें हटाने के लिए गंभीरता से सोचना चाहिए. अपने कील – मुंहासो को दूर करने के लिए आप ऊपर बताये गये, सभी टिप्स और उपायों को अपनी दिनचर्या में शामिल करे.

जब भी आप अपने डेस्क तथा कंप्यूटर पर लम्बे समय तक बैठते हैं तो बीच-बीच में खड़े हों और एक ब्रिस्क वॉक (brisk walk) लें। यहाँ तक कि अपनी डेस्क पर ही कूल्हों या पैरों की कसरत करें जिससे खून के प्रवाह में मदद मिलेगी।

Hindi NewsNDTV India LiveWorld News in HindiSports News in HindiCricket News in HindiBollywood News in HindiArchivesAdvertiseAbout UsFeedbackDisclaimerInvestorComplaint RedressalCareersContact UsSitemap© Copyright NDTV Convergence Limited 2018. All rights reserved.

मुल्तानी मिट्टी में कई प्राकृतिक खनिज होते हैं और इसमें त्वचा का रंग साफ करने के भी गुण होते हैं। मुल्तानी मिट्टी और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

सोरायसिस आमतौर पर कर सकते हैं हो प्रतिष्ठित से अन्य रोगों द्वारा विशेष लक्षण psoriasis के लक्षण: लाल और गुलाबी रंग के धब्बे जो thickened है, शुष्क त्वचा। यह आमतौर पर घुटने, कोहनी और खोपड़ी को प्रभावित करती है। मूल रूप से अभिव्यक्ति हर जगह शरीर पर प्रकट कर सकते हैं। लेकिन अधिक बार यह आघात, पुनरावर्ती मलाई, abrasions के स्थान पर प्रकट होता है।

height badhane ke liye aap yah padhe : https://www.nayichetana.com/2015/05/how-to-increase-height-in-hindi-height-kaise-badhaye-%E0%A4%B2%E0%A4%AE%E0%A5%8D%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%88-%E0%A4%AC%E0%A5%9D%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A5%87.html

“कैसे लाल pimples से छुटकारा पाने के लिए स्वाभाविक रूप से जालिन मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए”

यदि किसी व्यक्ति की आँखों के नीचे काले घेरे हो गये हैं तो वो सुबह उठ कर मुँह की लार से धीरे धीरे आँखों के नीचे मालिश करें ऐसा करने से आँखों के नीचे के काले घेरे ठीक हो जायेंगे लेकिन प्रयोग 1-2 महीने करना पड़ेगा।

रात को भोजन के बाद एक छोटी हरड़ चूसे। इस से आमाशय और आंतड़ियों के दोषो के कारण महीनो ठीक ना होने वाले मुंह व् जीभ के छाले ठीक हो जाते हैं। हरड़ को चूसते रहने से पाचक अंग शक्तिशाली बन जाते हैं, पेट के कीड़े भी नष्ट होते हैं।

नहाने के बाद अपनी पीठ को एक हल्के क्लीनर (cleaner) का साफ़ कर लें। फिर इसको अच्छे से सूखा लें। अब एक रूई से अपनी पीठ पर ताजा निचोड़ा हुआ नींबू का रस लगाएँ। इसको सूख जाने दें और ढीले ढाले कपड़े पहन लें। फिर कुछ घंटों बाद इसको गुनगुने पानी से धो लें। मुँहासे और उसके निशानों को रोकने के लिए कम से कम एक सप्ताह के लिए रोजाना दोहराएं।

गुलाब जल भी एक बढ़िया उपाय है. मुहासों को दूर करने का यदि आप गुलाब जल के अंदर काली मिर्च के कुछ दाने पिस कर मिलाये और उसको रात को अपने मुह पर लगाकर सोने के बाद सुबह उस धो ले इससे भी आपके चेहरे पर मुहासों को दूर करने मु मदत मिलती है. और यदि आप नींबू के रस को भी गुलाब जल के अंदर मिला कर लगा सकते है.

शहद की एंटीबायोटिक गुण मुँहासे में सुधार करने में मदद कर सकते हैं प्रभावित क्षेत्रों में एक चम्मच को लागू करें, या 1 / 2 कप शहद को 1 कप सादे दलिया के साथ मिलाकर एक मुखौटा बनाएं और इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें। आप दालचीनी, हल्दी और शहद की एक पेस्ट भी बना सकते हैं, इसे 10 मिनट के लिए लागू करें और फिर से कुल्ला।

कॉफी और शराब का सेवन न करें। यह दोनो ही पेय आपके मुंह में बैक्टीरीया को बढ़ाते है, जो सांस की दुर्गंध का मुख्य कारण होते हैं। यह आपके मुंह को भी सूखाते है, जिस वजह से बैक्टीरिया दीर्घ काल तक मुंह में ही रहते हैं।

अगर आप को जल्दी चेहरे पर से कील मुहांसों से छुटकारा पाना है तो आप रोज कुच्छ दिनो तक सफेद प्याज का रस में एक चमच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएँ चेहरा सूखने पर धोकर साफ टॉवेल से साफ करके स्टीम लें जल्दी ही आप के कील और मुहाँसे सॉफ हो जाएँगे

एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग करें: एप्पल साइडर विनेगर, आपकी त्वचा के PH को संभालकर समय के साथ इसे सुधारते हुए लाल रंग के दाग को कम करता है | पानी ओर सिरके को आधा- आधा मिलाकर रुई से प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं, जब तक कि दाग साफ़ न हो जाए |

बालों के लिए अंडा काफी अच्छा माना जाता है। नहाने से 20 मिनट पहले दो अंडों को फेंट कर लगाने से डेंड्रफ से छुटकारा मिल सकता है। ऐसा एक हफ़्ते में  दो बार अपनाने से डेंड्रफ बिल्कुल खत्म हो जाएगा और साथ ही बालों में चमक आएगी।

गुलाबजल का रोजाना इस्तेमाल भी दाग-धब्बों को कम करता है क्योंकि गुलाबजल हमारी त्वचा से धूल-मिट्टी को हटाता है तथा त्वचा का सौंदर्य निखरने में अहम भूमिका निभाता है। आप डाबर गुलाबरी का प्रयोग कर सकते हैं।

अंगूर और सेब दोनों में ही कई प्रकार के पोषक पदार्थ मौजूद होते हैं। इनकी मदद से आपकी त्वचा में गोरापन आता है। सेब का एक छोटा टुकड़ा लें और इसे पीसकर दो हरे अंगूरों के साथ मिश्रित करें। इनकी त्वचा को ना छीलें। इस पैक को अपनी त्वचा पर लगाएं और दाग धब्बों पर ध्यान केन्द्रित करें। आप इससे अपनी त्वचा की हलके से मालिश कर सकते हैं। इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। रोजाना इस पैक का प्रयोग करने से आपको 1 महीने में परिणाम दिखने शुरू हो जाएंगे।

ठीक है, अस्वीकरण: बहुत से इंसान इस उपचार की कसम खाता है, और यह हैला चिकना है (जो अब तक टूथपेस्ट के आसपास भोगता है ?!) लेकिन यह मील मुश्किल है उम्मीद कर रहे हैं कि आपकी त्वचा टूथपेस्ट के अपने लोगो के लिए प्रतिक्रिया करेगी। “टूथपेस्ट्स में पदार्थ और सुगंध शामिल हो सकते हैं जो त्वचा को खराब और नुकसान पहुंचाएंगे” डॉ बोवे कहते हैं। यदि आपको ऐसा करने की ज़रूरत है, तो निश्चित करें कि आप पहले किसी पैच का परीक्षण करते हैं, खासकर जब आपके पास संवेदनशील त्वचा होती है

मुलेठी में भरपूर मात्रा में आयुर्वेदिक गुण मौजूद होते हैं. जिसके कारण ये हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. मुलेठी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा के गुण मौजूद होते हैं. इसके सेवन से सर्दी-खांसी, जुकाम, कफ, गले और यूरिन इंफैक्शन जैसी समस्याओं से आराम मिलता है. आज हम आपको मुलेठी के कुछ घरेलु नुस्खों के बारे में बताने जा रहें हैं.

इसके साथ ही कुछ लक्षण psoriasis के लक्षण हो सकता है। यह psoriasis vulgaris, जो रोग, guttate सोरायसिस छोटे धब्बे, जो बूंदों की तरह कर रहे हैं की विशेषता, व्युत्क्रम सोरायसिस underarms क्षेत्र, नाभि और नितम्बों, पास में एक नियम के रूप में की खोज की, और तरल अंदर के साथ छोटे फफोले द्वारा देखा pustular सोरायसिस का सबसे व्यापक प्रकार है शामिल हैं। इसके अलावा, एक अलग-अलग रोग हथेलियों और तलवों पर प्रकट होता palmoplantar सोरायसिस कहा जाता है।

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल माउथवॉश के तौर पर भी किया जा सकता है। आधा छोटा चम्मच बेकिंग सोडा एक छोटे गिलास पानी में मिलायें। पानी से अपना मुंह भर लें, बिना निगलें हुए, और इसे मसूड़ों और दांतो के बीच में हिलाते हुए कुल्ला करें।

लक्षणात्मक उपचार मुंह के छालों से निपटने का प्राथमिक तरीका है। यदि उनका कारण ज्ञात हो, तो उस स्थिति के उपचार की भी अनुशंसा की जाती है। पर्याप्त मौखिक स्वच्छता भी लक्षणों से राहत देने में सहायक हो सकती है। अगर आपके मुंह के छाले 3 हफ्ते से ज्‍यादा रहें तो उसे तुरंत ही डॉक्‍टर को दिखाएं। आइये जानते हैं मुंह के छाले ठीक करने के घरेलू उपचार।

एक स्टेरॉयड (steroid ) इंजेक्शन लें: यदि आपको विशेष रूप से बड़े पित्त वाले मुँहासे हो गए हैं जो कि बहुत ज्यादा दर्दनाक भी है तो आप स्टेरॉयड इंजेक्शन का सहारा ले सकते हैं। ये एक दिन से कम समय में ही उसके आकार को घटा सकते हैं तथा मुँहासों में होने वाले दर्द को भी कम कर सकते हैं।

कुछ लोग कानों की सफाई के लिए डॉक्टर का सहारा लेते हैं डॉक्टर के पास जाते हैं और डॉक्टर से कानों की सफाई करवाते हैं तो कुछ लोग राह चलते लोगों से जो भी काम साफ करने का काम करते हैं उनसे कानों की सफाई करवाते हैं लेकिन हम आपको बता दें कि यह सब आपको करने की जरूरत नहीं है आप आराम से घर बैठे कानों की सफाई कर सकते हैं जोकि सबसे आसान भी है और इसमें कोई पैसा भी खर्च नहीं होगा!

Dalchini आपके रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स और एल.डी.एल. (“खराब कोलेस्ट्रॉल”) के स्तर को काफी कम कर सकती है, जिससे हृदय रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है। दालचीनी में मौजूद सक्रिय संघटक कोशिकाओं की चीनी को तोड़ने की क्षमता को 22 गुना तक बढ़ा देते हैं।

ग्लाइकोलिक या सेलीसीलिक एसिड का उपयोग करें: ग्लाइकोलिक या सेलीसीलिक एसिड कई त्वचा उत्पादनों में पाए गए हैं, जैसे कि क्रीम, मलहम, और स्क्रब | ये त्वचा के धब्बों को पूरी तरह हटाने से पहले, त्वचा की परत को निकालकर, हाइपरपिगमेंट को बाहर लाती है |[७]

अगर आपको बार-बार मुंह के छाले हो रहे हैं तो अपने मुंह की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। ज्यादा मसालेदार और गरिष्ठ भोजन करने से बचें। अगर फिर भी छाले ठीक न हो रहे हों तो जल्द चिकित्सक से सलाह व उपचार अवश्य लीजिए।

एक प्रक्रिया बुलाया सेल कारोबार में, त्वचा कोशिकाओं है कि आपकी त्वचा में गहरी बढ़ने सतह को जन्म। आम तौर पर, यह एक महीने लग जाते है। क्योंकि अपने कक्षों में भी तेजी से वृद्धि में सोरायसिस, यह बस के दिनों में होता है।

इस तरह के चकत्ते का उपचार लंबे समय से है, क्योंकिComedones हल नहीं करते हैं और अपने आप से बाहर मत जाओ। गुणात्मक उपचार के लिए इस तरह के मुँहों का कारण जानने के लिए महत्वपूर्ण है, जो एक नियम के रूप में, हार्मोनल असंतुलन या अनुचित शरीर स्वच्छता के होते हैं।

Rat ko sone se pahle kacche dudh ke sath jayfal ko ghise or isk alep tayaar kar le, or is lep ko chehre par laga kar so jaye. Subh chehra saaf pani se dho dey. Kuch din aisa lgatar karne se chehre par hone wale muhaso se chutkara milta hai.

मुंह में छालों  का होना एक आम बात है. यह समस्या कभी भी किसी को भी हो सकती है. मुँह में छालों के होने पर हमे खाना खाने में काफी समस्या होती है और कभी कभी यही छाले इतने बढ़ जाते है कि व्यक्ति को बोलने में भी काफी तकलीफ होती है.

#1 – Dermasis, 94 अंक हमारे 100 के। Dermasis लक्षण है कि आपकी त्वचा लाल और एक दो गुना दृष्टिकोण के साथ बद देखो करने के लिए कारण से लड़ने में मदद करता है एक प्राकृतिक छालरोग उपचार फार्मूला है। Dermasis के सक्रिय संघटक, चिरायता का एसिड, 2% को उत्तेजित करता मृत की इस परत के बहा त्वचा कोशिकाओं आपके सोरायसिस को कम करने में मदद करने के लिए।

मुंह से निकलने वाली बदबू या सांसों की दुर्गन्ध आज के समय की सबसे ज्यादा जटिल समस्या है जो हर किसी के सामने शर्मिदा करने का अहसास कराती है। आज के समय में यह दिक्कत कई लोगों में पाई जाती है। इस समस्या से परेशान लोग अपने सहपाठी, पड़ोसी, सहकर्मी या अन्‍य किसी के साथ बात करने या नजदीक बैठने से भी कतराने लगते हैं। मुंह की दुर्गन्ध या सांस की बदबू के आने का सबसे बड़ा कारण मुंह में पाये जाने वाले बैक्टीरिया होते हैं जो ‘सल्फर कम्पाउंड’ बाहर निकालते हैं। जिसकी वजह से सांस की बदबू होती है।

यह सबसे आसान तरीका है जिससे हमारे शरीर को थकान से छुटकारा मिलता है। टूटते बालों के पीछे का सबसे प्रमुख कारण थकान है। इस आसन को करने से मासिक धर्म में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है। इससे पाचन तंत्र भी सही रहता है।

मेलनिन के मात्रा कम होने के कारण मूछ और दाढ़ी के बाल सफेद होने लगते है मेलनिन ऐसा तत्व है जो आपके बालों और त्वचा के रंग को सही रखने में मदद करता है लेकिन उम्र के साथ शरीर में मेलनिन की मात्र कम होने के कारण बालों और त्वचा का रंग फीका पड़ने लगता है

डॉक्टर का निदान होगा यदि मुर्गा नहीं हैंकुछ अन्य त्वचा रोग, और आवश्यक विटामिन दवाओं से संतृप्त लेने में मदद करें। इसके अलावा, आप माथे पर प्रजनन करने वाले चिड़ियों के साथ चिंतित हैं, तो उपचार में विशेष मलहम शामिल हो सकते हैं।

5 टूथपेस्‍ट तो हम दांत साफ करने के लिए प्रयोग करते हैं, पर इसके इस्‍तमाल से आप अपने चेहरे के पिंपल को भी साफ कर सकते हैं। अगर रात में सोने से पहले इसको अपने चेहरे के मुहांसे पर लगा रहने देगें तो यह उन मुहासों को ठंडा कर के सुखा देगा।

हल्दी में मौजूद एन्टीसेप्टिक और एन्टी-इन्फ्लैमटोरी गुण छालों को न सिर्फ ठीक करते हैं बल्कि यह गुण छालों को दुबारा होने से भी रोकते हैं। हल्दी पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलकर पेस्ट तैयार  कर ले और अब इस पेस्ट को छालों पर लगायें, इससे दर्द से तुरन्त राहत मिल जाएगा।

गर्म मौसम में, पीठ पर मुँहासे वितरित की जाती हैमहिलाओं के सौंदर्य और मनोवैज्ञानिक परेशानी कई लोग यहां तक ​​कि इस तरह की चकत्ते के कारण बहुत सारे परिसरों का अनुभव करते हैं, समुद्र में आराम करने से इनकार करते हैं, एक स्विमिंग सूट में सार्वजनिक रूप से प्रकट नहीं करना चाहते। इसलिए, पीठ पर मुँहासे से छुटकारा पाने का सवाल सावधानीपूर्वक और विस्तृत अध्ययन के लिए है, और इस समस्या का उपचार एक एकीकृत दृष्टिकोण है।

जैसा कि आप जानते हैं, त्वचा हालत का एक संकेतक हैशरीर। चेहरे पर मुँहासे की उपस्थिति के कारण दोनों बाह्य और आंतरिक कारकों का असर हो सकता है। जलवायु की स्थिति, कॉस्मेटिक तैयारी का उपयोग, पर्यावरण की स्थिति बाह्य कारक हैं जो त्वचा की स्थिति को प्रभावित करते हैं। उदाहरण के लिए, गर्मी में मुंह का प्रकटन, पराबैंगनी प्रकाश या वृद्धि हुई पसीना आना के परिणामस्वरूप हो सकता है। त्वचा का संदूषण चेहरे पर छोटे खांघों की उपस्थिति की ओर जाता है

पिम्पल का देसी इलाज नीम है नीम के पत्ते को पीस दें और साथ में हल्दी मिला के चेहरे पर लगाएँ तो पिम्पल्स गायब हो जायेंगे पिंपल्स हटाने के लिए आप एलोवेरा का रस, मुल्तानी मिटटी और हल्दी का मिश्रण पिम्पल्स पर लगाएँ गुलाब की पंखुड़ी को पीस दें और निम्बू के रस के साथ अपने चेहरे पर घिसें और 30 मिनट के बाद धो दें पिंपल्स हटाने के लिए आप हल्दी और बेसन का निम्बू के रस के साथ उबटन बना के चेहरे पर अच्छी तरह से पांच मिनट तक घिसें केटली में पानी उबालें और भाप को त्वचा पर लगाएँ और साथ में रुई या कपड़े से चेहरा घिसते जाइए ताकि मैल, मृत कोशिका और तेल सभी कुछ निकल जाए|

“कैसे 6 घंटे में मुँहासे से छुटकारा |मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए रहस्य”

दही में ऐसे एंजाइम (enzymes) होते हैं जो किसी भी दाग धब्बे को दूर कर सकते हैं, और शहद प्राकृतिक रूप से आपकी रंगत को निखारता है। 1 चम्मच दही को 2 चम्मच शहद के साथ मिश्रित करें। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और काले धब्बों पर खासकर ध्यान केन्द्रित करें। इस पैक को 20 मिनट तक अपने चेहरे पर रहने दें और फिर इसे हाथों से रगड़कर पानी से साफ़ कर लें। अच्छे परिणामों के लिए इस उपचार का प्रयोग रोजाना करें।

During summer season our body use to smell very bad due to excessive sweating. Take around 15 numbers of bay leaves & grind or crushed the leaves & boil in 1 litre of water till the leaves are fully cooked & mix the water with 8 litres of water & wash your body daily, then bad body odour will disappear in minutes. If washed regularly skin diseases, sunburn skin also get cured naturally within a few days. REMEDY NO-2…. Take two spoonful of bay leaves juice, tulsi leaves, mint leaves, neem leaves & mix them properly. Now wash your face 5 times a day with the juice to get completely cured from pimples & even clears the pimples spot which use to stay on your face after the pimples leaves your face.

Mera naam kuldeep h or sir mai apne face oar hone wale pimples se kaphee pareshan hu . Mere face pe pinples pichle kareeb 4 saal se h me jab bhi dawaee leta hu tab ye thik ho jaate h but dawaee ko band karne ke baad ye pehle jaise wapas hi jaate h. Sir mere face oe rojana bahut sare white colour ke pimples aa jate h or ek – do din me ye khatam ho kar wapas naye nikalne suru ho jaate h aisa sir mere sath pichhle 2 saloo se ho rha h or sir pimples ke wajah se mera ghar se niklna mushkil ho gya h or sir mere face pe pimples ke daag bhi h or unki wajah se mere face par kuch jagah par small holes ho gye h .

बेबी ऑयल में किसी तरह के केमिक्ल्स नहीं होते और डेंड्रफ को कम करने में मदद करता है। इसलिए रात को सोने से पहले बेबी ऑयल लगा कर बालों को तौलिये से बांध लें और सुबह उठ कर अच्छे एंटी-डेंड्रफ शैम्पू से बालों को साफ करें।

वज्रासन को डायमंड पोज के नाम से भी जाना जाता है। इस आसन को आप खाना खाने के बाद भी कर सकती हैं। ऐसा नहीं है कि खाना खाने के बाद इसे करने से आपको किसी तरह का कोई नुकसान होगा । यह आसन उनके लिए काफी फायदेमंद होता है जो कि अपना वजन कम करना चाहते हैं। इतना ही नहीं इस आसन को करने से सूजन से भी छुटकारा मिलता है, साथ ही पाचन संबंधित परेशानियों से बालों का झड़ना भी बढ़ जाता है।

I am showing the Bay leaf plant & in our local language it is called Tejpat (তেজ পাত). The leaves have a very good aroma and are mainly used as a spice in Indian cooking since ages. The fresh leaves are very mild and do not develop their full flavor until several weeks after picking and drying. The bay leaves can be powdered and if consumed for 30 days is very effective in treating diabetes. I am showing here two ways how to get the maximum health benefit from its leaves.

सुरेश ने पुलिस को बताया कि उसने मारिया की हत्या 11 जनवरी को तकिया से मुंह दबा कर की थी। हत्या के बाद सुरेश ने मारिया की लाश रजाई में बांध कर बेड के बक्से में छिपा दी और अपने गांव भाग गया। सुरेश ने बताया कि उसने हत्या की योजना तब बनाई जब उसकी पहली पत्नी लता को मारिया के बारे में पता लगा। लता ने सुरेश से कहा कि वह मारिया को छोड़ दे। सुरेश भी मारिया से छुटकारा पाना चाहता था और उसने हत्या को अंजाम दिया।

दालचीनी एक आम मसाला और स्वाद बढ़ाने वाला एजेंट है लेकिन इसके तेल में माइक्रोबियल विरोधी गुण होते हैं। शहद में पानी का असर बहुत कम होती है इसका मतलब है कि इसमें नमी ज्यादा नहीं होती जो सूक्ष्म जीवाणुओं के विकास को बढ़ावा देती है। यह ध्यान में रखते हुए कि मुँहासों का पैदा होना, त्वचा के छिद्र के भीतर होने वाले संक्रमण से होता है, शहद के साथ दालचीनी का संयोजन एक कारगर उपाय है।

शुद्ध टी ट्री आयल लगाना अगर त्वचा में जलन, लालिमा या ज़्यादा शुष्क त्वचा का कारण बनता है, तो टी ट्री आयल में पानी का उपयोग कर उसको पतला करें या एलोवेरा जैल के साथ यह मिश्रण बनाएं और फिर अपने चहरे पर लगाएं। (और पढ़ें – टी ट्री ऑयल के फायदे)

यह आसन हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता हैं। इसके साथ ही इस आसन को करने से जहरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और हमारा शरीर शुद्ध हो जाता है। इस आसन को करने से दिमाग शांत हो जाता है और कब्ज से राहत मिलती है। बालों के गिरने और सफेद बाल होने पर विशेषज्ञ हमेशा से ही इसी आसन को करने का सुझाव देते हैं।

Turmeric has great antimicrobial and antiseptic properties and works for all skin problems. It can be used by mixing with water and making a thick and smooth paste. Apply this paste properly in the pimple region and leave it for some time to dry. It helps in killing the bacteria in the pimple. Once it is dried wash it off with normal water. Repeat the process daily to see better results.

मुँहासे से छुटकारा पाने में सबसे मुश्किल हैकिशोरावस्था। इस तरह की चकत्ते हार्मोनल विकारों के परिणाम हैं। एण्ड्रोजन के अधिक मात्रा में वसामय ग्रंथियों की वृद्धि हुई गतिविधि होती है, जिसके परिणामस्वरूप त्वचा पर चकरा पड़ता है। ऐसे मामलों में हार्मोन थेरेपी में दुष्प्रभाव हो सकते हैं, इसलिए आपको मुँहासे के लिए विशेष रूप से धन के चयन की आवश्यकता है। कुछ मामलों में, ब्यूटीशियन अतिरिक्त प्रक्रियाओं को लिख सकता है, उदाहरण के लिए तरल नाइट्रोजन के साथ मालिश, त्वचा पिलिंग, विशेष सफाई। इसके अलावा, दवाएं जो वसामय ग्रंथियों की गतिविधि को कम करती हैं, और संयुक्त दवाएं जो बैक्टीरिया को नियंत्रित करने में प्रभावी होती हैं

नई दिल्ली: विवादों से घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के रिलीज डेट की घोषणा कर दी गई है। ये फिल्म सिनेमाघरों में 25 जनवरी को रिलीज होगी। फिल्म की सीधी टक्कर अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन’ के साथ [Read more…]

दरअसल मुंह में छाले होना एक आम समस्या है। कई बार भोजन में गडबड़ी या तीखा भोजन करने से जीभ पर, होंठों पर और अंदर छाले हो जाते हैं जो आमतौर पर पांच सात दिन में ठीक भी हो जाते हैं। कभी-कभी छाले लम्बे समय तक ठीक नहीं होते जो भोजन करते व बोलते समय तकलीफ देते हैं। कई बार गंभीर हो जाने पर इनसे खून भी निकलता है। ऐसे में डॉक्टर से इनकी जांच अवश्य करानी चाहिए, क्योंकि ये घातक भी हो सकते हैं।

Disclaimer: TheHealthSite.com does not guarantee any specific results as a result of the procedures mentioned here and the results may vary from person to person. The topics in these pages including text, graphics, videos and other material contained on this website are for informational purposes only and not to be substituted for professional medical advice.

Hello sir, mera naam Sonika h,, mere face pr pimples to ab nhi h Lekin unke nishan reh Gye h jisse face bht khrab dikhta h aap Aisa kuch btayiye jisse meri skin bht beautiful ho jaye, time jyada lgega uski koi problem nhi h bs thik hona chahiye….

हल्के, जो सूखी और छोटी त्वचा पैच द्वारा विशेषता है, सोरायसिस होने पर रोगियों इस बीमारी के बारे में लगता है नहीं हो सकता है। जब व्यक्ति दरिद्र बड़ी और मोटी पैच के लाल रंग के साथ कवर किया गया है निश्चित रूप से, यह मामला नहीं है। Psoriasis के इस डिग्री गंभीर है, पैच पूरे शरीर को कवर कर सकते हैं और psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसेजानने के लिए की आवश्यकता होती है।

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

मुल्तानी मिट्टी में कई प्राकृतिक खनिज होते हैं और इसमें त्वचा का रंग साफ करने के भी गुण होते हैं। मुल्तानी मिट्टी और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

लार में सोडियम, पोटैशियम, फास्फेट, कैल्शियम, प्रोटीन, ग्लूकोज जैसे तत्व होते हैं जो दांतों को मजबूत बनाते हैं। इसमें मौजूद तत्व दांतों को हानिकारक संक्रमणों से बचाते हैं जिससे दांत सड़ते नहीं। यह दांतों पर सुरक्षा कवच की तरह काम करती है।

Psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसे? पहले एक रोग की अवस्था पर तय और बाद में सोरायसिस के उपचार की नियुक्ति। Psoriasis के प्रकारनिर्धारित कारकों में से एक है। अपने चिकित्सक शायद आप एक शुरुआत के लिए कुछ सामयिक क्रीम सिफारिश करेगा और केवल बाद में एक अलग और अधिक गंभीर छालरोग उपचार दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता।

मुँहासे से सबसे ज्यादा प्रभावित अगर कोई अंग होता है तो वह है चेहरा और भला मुहाँसे वाला चेहरा किसे पसंद होता है | शायद इसलिए चेहरे से पिपल्स हटाने के लिए सभी लोग तमाम उपाय करते है, तरह – तरह की दवाइयाँ तथा क्रीम लगाते है, डॉक्टर के पास भी जाते है लेकिन फिर भी यह समस्या जस की तस रहती है |

Bhai mere chehre bhut oily h or khub daane or keel muhase ho rhe h or agar m chehre ko thoda daabata hu to isme se white color ka bhut hi gaandi badbuu ka paste nikal taa h or kabhi kabhi white color ki keel bhi nikalti h us ko nikal kr fodo to same wesa hi paste baan jta h isi chehre se kaise khatam kru. …. please batayega journey. …

“मुँहासे से 2 घंटे में छुटकारा |जो मुँहासे से रातोंरात छुटकारा पाती हैं”

Hare khire ko kaddukas kar ke uske ras ko ek bowl me nikal le, or is ras ko apne chehre par lagbhag ek ghante tak lga kar rakhe fir saf pani se chehre ko dho le pimples na kewal saf hunge balki pimples hona bhi kam ho jayega.

आज के समय में मुहासे होने आम बात है. लेकिन आज काल के लडके और लडकियों  अपने मुहासों से छुटकारा पाने के लिए अलग अलग तरह के Fairness Cream के इस्तेमाल करते है. और कई बार उनके मुहासे उनसे ठीक भी नहीं होते है. और बहुत से लोगो को यह सूट भी नहीं करती है. और इनको लगाने से उनको नुकसान भी  हो जाता है. और यह अभी Fairness Cream बहुत महंगी भी होती है.जिनको बहुत से लोग खरीद भी नहीं सकते है इस हम आपको इन मुहासों को ठीक करने के कुछ घरेलु उपाय बतायेगे जिनको की आप बड़ी ही आसानी से कर सकते है.

यह सोचा है कि सोरायसिस ठीक नहीं किया जा सकता है और त्वचा की यह स्थिति पुरानी है। जब आप छालरोग उपचार दवा लेने या समय-समय खराब अस्थिर होने के नाते, यह सुधार कर सकते हैं। समय पर सोरायसिस साल छूट अवस्था में रहने के लिए प्रकट नहीं होता है। सर्दियों की अवधि समय जबकि गर्मियों के महीनों, इसके विपरीत, धूप में घूमना – एक असली प्राकृतिक छालरोग उपचार के लिए धन्यवाद त्वचा में सुधार जब हालत, खराब कर सकते हैं हो सकता है।

मूली में विटामिन C, जिंक, B कांप्‍लेक्‍स और फॉस्‍फोरस होता है. मुंहासों के लिए मूली का टुकड़ा गोल काट कर मुंहासों पर लगाएं और तब तक लगाए रखें जब तक यह खुश्क न हो जाए. थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें. कुछ ही दिनों में चेहरा साफ हो जाएगा.

बर्फ के क्यूब्स का उपयोग त्वचा से बड़े आकार के छिद्रों को रोकने के लिए किया जा सकता है | वे न केवल छिद्र को कम करते हैं और उन्हें छोटा करते हैं, बल्कि आपके चेहरे पर अतिरिक्त तेल के उत्पादन को रोकते हैं | लगातार त्वचा में ice cube से massage करने से इस समस्या से निजात पाया जा सकता है |

 Sarita, for more than 6 decades, has been refreshing the minds and moods of millions of its readers. It appeals to an urban and socially conscious intelligentsia. Sarita carries a distinctive mix of articles on subjects ranging from politics, society, economy, travel, health, fiction, poetry, life and entertainment. Its deeply introspective articles invite its readers to delve into the softer issues of life, relationship, family and personal development, and prepare themselves for a modern, progressive lifestyle. Sarita’s stories always make a delightful read. Humour and satire remain an integral part of Sarita. No edition of Sarita is complete without its refreshing cartoon strips and satirical illustrations.

अपनी नाक को ज़्यादा ब्लो न करें, खासकर एक साइड पर। उसका ज़ोर बलगम को आपके साइनस और कानों में और अंदर ब्लो कर सकता है, जिससे सिरदर्द व कान में दर्द होगा। अगर आपको ब्लो करने की ज़रूरत है, तो ऐसा आराम से व दोनों नॉस्ट्रील्स के साथ करें।

आश्चर्य की बात है कि जिस चीज़ से आप बचना चाहते हैं, वह उसी समय हो जाती है। जैसे एक अतिथि आपके दरवज़े पर आ जाये जब आप खरीदारी के लिए निकल रहे हों, टीवी पर फिल्म का चरमोत्कर्ष आने वाला हो और बिजली चली जाये, और हाँ, ज़्यादातर किशोरों(टीनएजर) की व्यथा – मुँहासों का प्रकोप कॉलेज फेस्ट या किसी की शादी के २-३ दिन पहले जब आप सबसे अच्छा दिखना चाहते हैं। पहली २ घटनाओं के बारे में आप तुरंत कुछ नहीं कर सकते लेकिन मुँहासों का नियंत्रण आप निश्चित रूप से कर सकते हैं। कुछ सरल सामग्री का उपयोग करके जो आमतौर से हर रसोई में मिल जाती हैं, उनसे इस भद्दे मुँहासों को ठीक करना संभव है।

सेल्‍युलाइट से ज्यादातर महिलाओं को भय होता है। यह 80% से अधिक महिलाओं को प्रभावित करता है। फैट के शरीर पर जमाव को सेल्‍युलाइट कहते हैं, जिससे त्‍वचा असमान हो जाती है। सेल्युलाइट ज्यादातर थाईज, पेट और हिप्स में पाया जाता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को आम तौर पर सेल्‍युलाइट होने का खतरा अधिक होता है। हालांकि इसके लिए कोई निश्चित कारण नहीं है। सेल्‍युलाइट के कई कारण हो सकते हैं जैसे आहार, हार्मोन परिवर्तन, निर्जलीकरण, धीमी चयापचय दर, कुल शरीर की चर्बी और शारीरिक गतिविधि में कमी आदि। यहां तक कि अधिक तनाव भी सेल्‍युलाइट का कारण बन सकता है। महंगी सर्जरी के बजाय आप कुछ घरेलू तरीकों के द्वारा सेल्‍युलाइट से छुटकारा पा सकते हैं। आइए प्राकृतिक रूप से सेल्‍युलाइट को कम करने के उपायों के बारे में जानें :-

Mere cheeks ke upr kuch hi pimples h but wo pichle 5 -6 mhine se h to kya kre btao neem face pack alloevara sb lga ke dekh liya .or jb inko pinch krte h tb ye jyada bde ho jaten h or drd hota h kya kre sir plz give me answer

विभिन्न छालरोग उपचार के विकल्प और कभी-कभी उनमें से प्रत्येक के लिए अलग-अलग विशेषताओं के साथ विभिन्न प्रकार के psoriasis के हैं। एक नियम के रूप में, एक व्यक्ति सोरायसिस के कुछ प्रकार है। जब एक तरह स्पष्ट है, अलग रूप पैदा कर सकते हैं:

एक प्रक्रिया बुलाया सेल कारोबार में, त्वचा कोशिकाओं है कि आपकी त्वचा गहरी बढ़ने सतह को जन्म। आम तौर पर, यह एक महीने लग जाते है। क्योंकि अपने कक्षों में भी तेजी से वृद्धि में सोरायसिस, यह बस के दिनों में होता है।

नींबू में विटामिन सी होता है और फीटोनुट्रिएंट्स जिन्हें फ्लेवनॉइड्स कहते हैं जिनमें मजबूत एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक असर होता है। शरीर के भीतर हो रहीं उपापचयी (मेटाबॉलिक) प्रतिक्रियाओं के दौरान उत्पन्न हुए मुक्त कण, शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं (सेल्स) को नुकसान पहुंचा सकते हैं। नींबू में एंटीऑक्सीडेंट इन मुक्त कण की कार्रवाई को प्रतिबंधित करते हैं और नींबू का रस मुँहासों के लिए एक शानदार उपाय है।

पुदीने की चाय : इस चाय में बालों को प्राकृतिक दिखाने के सारे गुण मौजूद होते है तथा यही कारण है की आपको इसका सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए पुदीने की चाय का सेवन करके मूछो के बालों की असली रंगत वापिस मिलती है इससे भी आप मूछ और दाढ़ी के बालों को काला कर सकते है

बेकिंग सोडा या सोडियम बाइकार्बोनेट आपकी त्वचा के लिए एक सौम्य परत के रूप में काम करता है। इस प्रकार, यह रोम छिद्र को निकालता और मृत त्वचा को हटाता है। यह त्वचा के पीएच(pH) संतुलन को विनियमित रखने में मदद करता है और इसमें हल्के सूजन को कम करने और एंटीसेप्टिक गुण भी होते है। इन सभी विशेषताओं के कारण यह मुँहासे समाशोधन के लिए एक उत्कृष्ट उपाय है।

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

अगर अपनी अपने अब आज आप इन इस इसके इससे इसे उनके उस और कई कर करने करें कहानी का काम कार कि किया किसी की कुकर कुछ के बाद के लिए के लिये के साथ केक को कोई क्या खास गया घर घी घोंसले चम्मच चाहिए जब जा जाता है जाती जाने जो जोधपुर ज्यादा ठीक तक तथा तरह तो त्वचा थी थे थोड़ा दिन दिया दूध देखा द्वारा धर्म नमक नहीं ना नाना पाटेकर नीबू ने पर पहले पानी पीपल पुजारी जी पुरस्कार पेस्ट फिर फिल्म बड़ा बन बर्तन बस बहुत बार भी मिला मिलाकर मुंह में में एक मेदा मेरे मैं यह या ये रंग रम्भा रही रहीम रहे राजस्थानी रात रूप लगा लीजिये ले लें वाले विजयदान देथा वो शक्ति शिव सब सभी सा साड़ी साहित्य सी से सेवन हर हल्दी हिन्दी ही हुआ हुए है और हैं हो होता है होती होने होली

घर के बने दलिये का फेशियल इस्तेमाल करें | 1 चमच्च दलिये को पानी में मिलाएं | इसे निचोड़कर इसके पानी को पूरे चेहरे पर 1 मिनट तक लगाएं | आँखों और होंठों पर ना लगाएं | पानी से चेहरा धोलें | यह तरीका कई लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ है |

रात को भोजन के बाद एक छोटी हरड़ चूसे। इस से आमाशय और आंतड़ियों के दोषो के कारण महीनो ठीक ना होने वाले मुंह व् जीभ के छाले ठीक हो जाते हैं। हरड़ को चूसते रहने से पाचक अंग शक्तिशाली बन जाते हैं, पेट के कीड़े भी नष्ट होते हैं।

हमेशा एक त्वचा विशेषज्ञ से मिले यदि ये मुँहासे लम्बे समय तक हो रहे है: यह उनके लिए साधारण है जिनके कूल्हों पर मुँहासे 20 वर्ष की आयु के बाद आ जाते हैं लेकिन एक त्वचा विशेषज्ञ ही आपको ऐसा पर्चा दे सकता है कि आपके मुँहासे साफ़ हो सके।

क्या चेहरे के दाग धब्बे, मुँहासे के निशान और त्वचा का रंग भी, मुहासे होने का कारण आपको शर्मिंदा कर रहा है किसी समूह का सदस्य बनने से!! क्या आप सौंदर्य प्रसाधन का उपयोग करते करते तक गए है! तो एक नज़र डालिए घर मे बने हुए मिश्रण पर जो सारे दाग धब्बे निकाल देगा।

स्नान के पानी को गर्म करके इसमें 2-3 कप समुद्री नमक डाल दें। 20-30 मिनट के लिए इसको पानी में घुल जाने दें। समुद्री नमक से स्नान के बाद एक हल्का मॉइस्चराइजर लगाएँ, लेकिन तैलीय त्वचा वाले मॉइस्चराइजर प्रयोग ना करें। आप इस रेमेडी को दिन में 2 बार दोहराएं अन्यथा एक दिन में एक बार पीठ के मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए इसको अवश्य करें।

Barf ke tukde थके आँखों को शांत करने का काम करता है | काम पर एक लंबा और थका देने वाला दिन होने के बाद, कुछ सुखदायक प्रभावों के लिए अपनी आंखों पर कुछ बर्फ के cubes रखें । यह आसान तरीका सिर्फ आपकी आंखों पर शीतलन प्रभाव नहीं देगा, बल्कि थकन आँखों को राहत भी दे सकता है । जब भी आप थके हुए है तो इस आसान सौंदर्य टिप को आज़माएं | Tips on eye care से जुडी जानकारी यहाँ पर पढ़े |

“5 दिन में मुँहासे से छुटकारा पाएं _मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए क्या अच्छा है”

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

साधारण पानी की बजाए, स्ट्रांग ग्रीन टी को बर्फ के ट्रे में जमा दें | अब इसका प्रयोग अपने मुँहासों पर करें | हरी चाय में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो बर्फ के ठंडेपन के साथ और ज्यादा अच्छे से काम करते हैं |

ग्रीन या ब्लैक टी (चाय) पीएं: चाय में पॉलीफेनोल्स (polyphenols) मौजूद होता है, जो सल्फर को दूर करने में और मुंह के बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है। यह मुंह को हाइड्रेट (जलयोजित) करने में भी सहायता करता है। अच्छे नतीजे के लिए दिन में कई बार बिना मिठास वाली गर्म चाय को पीयें।[१४]

चिकित्सा के लिए सबसे कठिन प्रकार की चकत्ते -सूजन मुँहासे यह बेहतर है यदि मवाद की सतह पर है, इसका मतलब यह है कि त्वचा स्वयं सफाई है लाल बड़े ट्यूबरल, पेल्पाशन की कोमलता से सूजन की सूक्ष्म त्वचा की प्रक्रिया, बैक्टीरिया का प्रजनन दर्शाता है।

फिलर का प्रयोग करें: मुँहासे आपकी त्वचा पर हमेशा के लिए दाग छोड़ सकते हैं, जिसे भरना नामुमकिन साबित हो सकता है | फिलर इंजेक्शन इन निशानों को भरकर त्वचा को एक समान बनाता है | लेकिन, इस प्रक्रिया को 4-6 महीनों में दोहराना पड़ता है |[१०]

कॉफी एक बहुत अच्छा एक्सफोलिएंट (exfoliant) है। यह ब्लड सर्कुलेशन को उचित रखने और त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है। यह सेल्‍युलाइट को कम करने में मदद करता है। आप नारियल तेल और कॉफी पाउडर को मिलाकर, कॉफी स्क्रब बनाएँ और इसे अपनी जांघों और नितंबों पर लगाएँ। इसे 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगाकर छोड़ दें और फिर धो लें। इसके अलावा, कॉफी के बीज का पाउडर बनाकर उसे अपने बॉडी लोशन में मिलाएं और त्वचा पर 5 मिनट तक इसे लगा रहने दें, फिर गुनगुने पानी से त्वचा धो लें। इस उपाय को हफ्ते में दो बार करें।

इसे भाप से बाहर निकालें: भाप आपके सीने, नाक और गले में बलगम को तोड़ने में मदद करती है जिससे आप आसानी से इसे अपने शरीर से बाहर निकाल पाते हैं। एक बर्तन में पानी उबालें और इसमें युकलिप्टुस (eucalyptus) के तेल की कुछ बूंदें मिलाएँ। अपने चेहरे को बर्तन के ऊपर रखें और कई मिनटों तक भाप लें। इसके अतिरिक्त आप बलगम को तोड़ने के लिए गर्म स्नान (shower) कर सकते हैं।[१]

हार्मोन परिवर्तन: सोरायसिस हार्मोन और जीव के अधीन है परिवर्तन के साथ दृढ़ता से जुड़ा है। सोरायसिस में अपने चरम यौवन के दौरान अवधि या रजोनिवृत्तिके दौरान है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं की त्वचा बेहतर स्थिति का अनुभव। लेकिन जैसे ही बच्चे का जन्म होता है यह काफी अन्य तरह के दौर है।

चाहे बच्चा हो या कोई जवान , जिस किसी की भी आँखें कमजोर है और उसको कोई भी नंबर का चश्मा लगा हो उन लोगो को पानी की कुल्ला किये बिना , रात भर मुँह में इकट्ठी हुई लार को आँखों में काजल या गुलाब जल की तरह लगानी है | यह आप रात को सोते समय और सुबह उठकर लगाये और मुँह 1-2 घंटे बाद धोये ताकि लार अपना काम कर सके। कैसा भी चश्मा हो उतरने के 100% आसार रहते है लेकिन आपको प्रयोग तब तक जारी रखना पड़ेगा जब तक आपके चश्मे का नंबर धीरे धीरे कम होकर शून्य न हो जाये परिणाम 100% मिलेगा बच्चो का चश्मा जल्दी उतर जायेगा लेकिन बड़ो को कुछ वक़्त लग सकता है लार का कोई साइड इफ़ेक्ट नही है

* एलोवेरा : एलोवेरा जेल या उसका रास मुँह के छालों के काफी प्रभावी उपचार है। एलोवेरा के ताजे पत्तों से एक कटोरे में रस निकालें फिर इसे प्रभावित क्षेत्रों में लगाएं। कुछ देर तक लगे रहने के बाद बहार थूक सकते हैं। दिन में कई बार इसका उपयोग करने से जल्दी आपो छालों से मदद मिलेगी। इसके अलावा आप एलोवेरा के पत्तों का रस निकलपर पी सकते हैं।

HealthBeautyTips.co.in पर उपलब्ध सभी जानकारी हमारे लेखक के ज्ञान अनुभव तथा स्वास्थ्य क्षेत्र से सम्बंधित अन्य विशेषज्ञों की राय तथा उनके द्वारा लिखे गए विभिन्न लेखो पर गहन रिसर्च के माध्यम से होती है, फिर भी पाठकों से हमारा निवेदन है कि किसी भी जानकारी को व्यावहारिक रूप में आजमाने से पहले अपने चिकित्सक या सम्बंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से राय अवश्य ले। क्योकि व्यक्ति विशेष की स्वास्थ्य परिस्थिति अलग-अलग होती है |

हाइड्रेटेड रहें: सभी बीमारियों की तरह, जल्दी ठीक होने के लिए हाइड्रेटेड रहना आवश्यक है। दिन भर में हर घंटे पानी पीकर अपने शरीर को बलगम बाहर निकालने में मदद करें। आप अपनी फ्लूइड (fluid) इन्टेक (intake) को सप्लीमेन्ट (supplement) करने के लिए जूस और चाय भी ले सकते हैं।

लक्षणात्मक उपचार मुंह के छालों से निपटने का प्राथमिक तरीका है। यदि उनका कारण ज्ञात हो, तो उस स्थिति के उपचार की भी अनुशंसा की जाती है। पर्याप्त मौखिक स्वच्छता भी लक्षणों से राहत देने में सहायक हो सकती है। अगर आपके मुंह के छाले 3 हफ्ते से ज्‍यादा रहें तो उसे तुरंत ही डॉक्‍टर को दिखाएं। आइये जानते हैं मुंह के छाले ठीक करने के घरेलू उपचार।

4. नींबू  (Nimbu):-  मुहासों वाले चेहरे पर नींबू के रस को लगाने से यह त्वचा (skin) से oilly परत को हटा देता है और के पिम्प्लेस को साफ करता है. नीबू के रस मे शहद (honey) को मिला कर इसका पेस्ट बना ले और इसे चेहरे पर 10 से 15 मिनट तक लगाये रखे. इसके बाद चेहरे को साफ व शीतल जल से धो ले इस प्रयोग से चहरे के अंदर की धुल मिटटी साफ हो जाती है. चहरे से पिम्प्लेस भी खत्म हो जाते है और चेहरा सुंदर दिखाई देने लग जाता है.

त्वचा को लंबे समय तक खूबसूरत बनाए रखना है तो आपको उसका प्राकृतिक उपचार करने की जरूरत है।इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आप सिर्फ कुछ दिनों में पिम्पल्स की समस्या से छुटकारा पा सकती है।

यदि आप एलर्जिक हैं तो उपयुक्त उत्पादों का प्रयोग न करें। यदि आप सुनिश्चित नहीं है कि आपको एलर्जी है या नहीं तो क्रीम को अपने शरीर के किसी बड़े हिस्से पर लगाने से पहले, आप अपने हाथ पर सैंपल टेस्ट कर सकती हैं।

1 –  हरे खीरे को कद्दूकस कर के उसके रस को एक बाउल में निकाल ले , और इस रस को अपने चेहरे पर लगभग एक घंटे तक लगा कर रखे फिर साफ पानी से चेहरे को धो ले इससे पिम्पल्स न केवल साफ होगा बल्कि पिम्पल्स होना भी कम हो जायेगा.

Aditya, Pimple hone par aapko unhe chhuna nahi chhaiye, kitna chhedchad karoge utna hi daag hone ki sambhavna badhegi. Oily face par pimple jyada hote hain, isse bachne ke liye chehre ko baar baar dhote rahe aur uper likhe gharelu nuskhe kare.

अगर आपको बार-बार मुंह के छाले Muh ke chhale हो रहे हैं तो अपने मुंह की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। ज्यादा मसालेदार और गरिष्ठ भोजन करने से बचें। अगर फिर भी छाले ठीक न हो रहे हों तो जल्द चिकित्सक से सलाह व उपचार अवश्य लीजिए।

आप अपना चेहरा भाप कर सकते हैं गर्म वाष्प में त्वचा को नरम करने की क्षमता होती है, साथ में मृत त्वचा कोशिकाओं, बाएं-पीछे के सौंदर्य प्रसाधन, तेल और बैक्टीरिया जो प्लग छिद्रता है। इस बैक्टीरिया, गंदगी और त्वचा के छिद्रों में फंसे तेलों को हल्का ढंग से चेहरे को साफ़ करने से हटा दिया जा सकता है।

“मुँहासे क्या है -स्पॉट्स से छुटकारा पाने के तरीके”

परीक्षण करें, अगर आपको सांस की दुर्गंध की समस्या है: यह बताना मुश्किल है कि कब आपकी सांस दूसरो को बदबूदार लगें। अगर आपकी सांस बदबूदार है, तो इन परीक्षण का इस्तेमाल करके, आप अपने मुंह में मौजूद सल्फर नमक को किसी और चीज़ में मिलाकर, सूंघ सकते हैं और स्वयं ही अपने सांस की दुर्गंध को पहचान सकते हैं।[१५]

नेज़ल रिन्स (nasal rinse) का प्रयोग करें: अपनी दवा की दुकान से एक खारा नेज़ल रिन्स खरीदें या पुराने ज़माने के नेति पॉट का उपयोग करें। अपने साइनस से खारा पानी और एक नमकीन घोल निकालने से आपकी नाक और गले के पीछे की बलगम साफ होगी।

योगासन के अलावा आपको कुछ पैसे आयुर्वेदिक उत्पादों पर भी लगाने चाहिए, जिनकी मदद से आपके बालों में मौजदू गंदगी और जमा हुआ मैल बाहर निकल आएगा। इसके अलावा यह आपके बालों को झड़ने से भी बचाता है। क्योंकि हम सब इस बात को जानते हैं कि रोकथाम इलाज से बेहतर है।

जिस तरह हम लोग रोज नहाए रोज मुंह धोए बिना नहीं रह पाते हैं उसी तरह हमें अपने कानों का भी जरुर ख्याल रखना चाहिए क्योंकि कानों की सफाई अगर हम नहीं करेंगे तो धीरे-धीरे कान के अंदर जो हमारा महल है वह जनता जाएगा जनता जाएगा और एक समय ऐसा आएगा कि उसकी वजह से हमारे कान की सुनने की क्षमता बहुत ही ज्यादा कम हो जाएगी साथ ही कान में दर्द होना भी शुरू हो जाएगा!

नहाने के बाद अपनी पीठ को एक हल्के क्लीनर (cleaner) का साफ़ कर लें। फिर इसको अच्छे से सूखा लें। अब एक रूई से अपनी पीठ पर ताजा निचोड़ा हुआ नींबू का रस लगाएँ। इसको सूख जाने दें और ढीले ढाले कपड़े पहन लें। फिर कुछ घंटों बाद इसको गुनगुने पानी से धो लें। मुँहासे और उसके निशानों को रोकने के लिए कम से कम एक सप्ताह के लिए रोजाना दोहराएं।

आज का दौर खुद को दूसरो से बेहतर साबित करने का दौर है. हर किसी की चाह अपनी अलग पहचान बनाने की है. लेकिन जब किसी भी Person के Face पर pimples हो जाते है तो यह उसके Confidence को बहुत Low कर देता है. उसके मन में खुद के लिए हीन – भावना आने लगती है. वह व्यक्ति लोगो से मिलने में कतराने लगता है.

फिर ब्यूटीशियन पर जाएं एक अच्छा विशेषज्ञ या सिद्ध सैलून चुनना बेहतर है एक अनुभवी चिकित्सक, माथे पर मुँहासे को हटाने के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को सलाह देगा, और अपने चेहरे की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आगे की देखभाल के लिए साधन का चयन करने में भी मदद करेगा।

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

वज्रासन को डायमंड पोज के नाम से भी जाना जाता है। इस आसन को आप खाना खाने के बाद भी कर सकती हैं। ऐसा नहीं है कि खाना खाने के बाद इसे करने से आपको किसी तरह का कोई नुकसान होगा । यह आसन उनके लिए काफी फायदेमंद होता है जो कि अपना वजन कम करना चाहते हैं। इतना ही नहीं इस आसन को करने से सूजन से भी छुटकारा मिलता है, साथ ही पाचन संबंधित परेशानियों से बालों का झड़ना भी बढ़ जाता है।

बागेश्वरी एक सम्पूर्ण ‘साहित्य ,महिला व युवा पत्रिका’ है ,  ! उनसे जुडी ढेरों जानकारियां , टिप्स , रसोई , स्वास्थ्य ,कविता ,कहानियां ,समाचार व मनोरंजन को समाहित किया गया है …आशा है आप सभी सुधि पाठकों को प्रयास पसंद आएगा ! फ़िल्मी समाचार ,रसोई टिप्स , आभूषण , विज्ञान , अजूबे समाचार आदि कई सामग्री , वीमेन मैगज़ीन , युवा पत्रिका !@ YoguruTechnologies

दोस्तो Bad Breathing के कारण अगर आप भी अपने साथियों के सामने शर्मिंदा नहीं होना चाहते तो आज इस लेख में बताए गये नुस्खे को जरुर आजमाए | इससे mouth bad smell से छुटकारा मिले गा और साँसों में फरेशनेश आएगी |

ऑयल पुलिंग बहुत ही पुराना नुस्‍खा है जो कैविटी को कम करने के साथ-साथ मसूढ़ों से खून बहना और सांस की बदबू को भी दूर करता है। साथ ही यह दंत समस्याओं के विभिन्न प्रकारों के लिए जिम्मेदार हानिकारक बैक्‍टीरिया को मुंह से साफ करने में मदद करता है। इसके लिए तिल के तेल की एक चम्‍मच को मुंह में रखें। फिर इससे 20 मिनट तक मुंह में रखकर थूक दें। लेकिन इसे निगलने से बचें। फिर अपने मुंह को गुनगुने पानी से धो लें। रोगाणुरोधी लाभ पाने के लिए नमक के पानी का प्रयोग करें। फिर हमेशा की तरह अपने दांतों को ब्रश करें। इस उपाय को रोजाना सुबह खाली पेट करें। यह उपाय सूरजमुखी या नारियल के तेल के साथ भी किया जा सकता है।

Neem is the king of all antiinflammation and antibacterial herbs. For its usage you can make a paste of neem leaves powder, multani mitti(Fuller’s Earth) and rose water and mix it thoroughly. All the ingredients have their own benefits, but their mixture works superficially. Apply this paste on to the pimple and leave it till it dries. Clean it off with cotton gently. You will feel a reduced size of pimple.This is one of the most effective methods.

माथे पर चमड़े के नीचे और छोटे pimples पैदा कर सकते हैंबस अनुचित देखभाल के परिणामस्वरूप किसी भी मामले में आपको छोटे प्रदाहों को निचोड़ना चाहिए, जैसे कि रोगाणुओं, पड़ोसी छिद्रों में पड़ना, केवल माथे पर चिड़ियों की संख्या में वृद्धि होगी

चेहरे पर कील मुहाँसो को मिटाने के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करें चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें पूरा नींद लें फल और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएँ तले हुए तथा मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ पानी अधिक मात्र में पिएं कास्मेटिक का उपयोग बिल्कुल ही न करें

यह आसन हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता हैं। इसके साथ ही इस आसन को करने से जहरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और हमारा शरीर शुद्ध हो जाता है। इस आसन को करने से दिमाग शांत हो जाता है और कब्ज से राहत मिलती है। बालों के गिरने और सफेद बाल होने पर विशेषज्ञ हमेशा से ही इसी आसन को करने का सुझाव देते हैं।

शहद, त्वचा की सतह पर जमा अतिरिक्त तेल को कम करने में मदद करता है। साथ ही छिद्र और झुर्रियों को भी होने से रोकता है। शहद में मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं जो त्वचा को पोषण देते हैं और त्वचा को बिना ऑयली बनाये पर्याप्त रूप से मॉइस्चराइज करते हैं। इसके अलावा, शहद के प्राकृतिक एंटीसेप्टिक गुण मुँहासे पैदा करने वाली ऑयली त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं।

नींबू के अम्लीय गुण मुँहासे के उपचार में बहुत उपयोगी हो सकते हैं। नींबू गंदगी को साफ कर बाहर करता है, जो रोम छिद्र में जमा हो जाती है। आप दैनिक रूप से अपनी त्वचा पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन अगर यह त्वचा को अधिक शुष्क कर रहा है तो हर दो या तीन दिन में उपयोग करें।

इसके अलावा और भी कई कारण हैं जो इस समस्या को जन्म देने का काम करते हैं। समय पर दांत को साफ ना करना, पाचन क्रिया का ठीक ना होना और धूम्रपान का सेवन करना यही इसके सबसे बड़े कारण बनते हैं। आज हम आपको इस समस्या से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपायों के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप अपनी परेशानी से छुटकारा पा सकती हैं। जानें वो घरेलू उपाय…

अगर आप को जल्दी चेहरे पर से कील मुहांसों से छुटकारा पाना है तो आप रोज कुच्छ दिनो तक सफेद प्याज का रस में एक चमच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएँ चेहरा सूखने पर धोकर साफ टॉवेल से साफ करके स्टीम लें जल्दी ही आप के कील और मुहाँसे सॉफ हो जाएँगे

ड्राई ब्रशिंग विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करती है। ड्राई ब्रशिंग के जरिए बॉडी पर जमा गंदगी व डेड सेल्स से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा यह सेल्युलाइट यानि वसा से भी निजात दिलाती है। पांच से दस मिनट के करीब, धीरे धीरे ड्राई ब्रश प्रभावित क्षेत्रों पर उपयोग करें। सेल्युलाइट की समस्या में बॉडी ब्रशिंग तकनीक मददगार साबित होती है।

नई दिल्लीः इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सत्र के लिए किंग्स इलेवन पंजाब ने मुख्य कोच और गेंदबाजी कोच के नाम का ऐलान कर दिया है। पंजाब ने वेंकटेश प्रसाद को गेंदबाजी कोच, जबकि ब्रेड हॉज को मुख्य कोच [Read more…]

6 नींबू का रस पिंपल भगाने में सबसे कारगर उपाय है। इसके रस से अपने चेहरे की 10-15 मिनट तक मालिश करने से राहत मिलेगी। हां, अगर प्रयोग से आपकी स्‍किन में जलन महसूस हो रही हो तो इसको डाइरेक्‍त ना इस्‍तमाल करें। तब इसको पानी या चंदन पाऊडर में मिला कर लगाएं।

पूरा नींद लें चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करेंपानी अधिक मात्र में पिएं कास्मेटिक का उपयोग ही न करें फल और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएँ तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ|

“कैसे सभी pimples से छुटकारा पाने के लिए -मुँहासा मौत उपचार”

हैलीमिटर का इस्तेमाल करें: अगर आप लगातार सांस की दुर्गंध से परेशान है, तो इसके इलाज के लिए आपके डेंटिस्ट के पास हैलीमिटर होगा। हैलीमिटर एक प्रकार का विशेष यंत्र है जो आपकी सांस की गति को जानने के लिए बनाया गया है। यह एक प्रकार का सांस की जांच करने वाला यंत्र है जो शराब या अन्य पदार्थ की जांच करता है जिसे पुलिस भी इस्तेमाल करती है।[१७]

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। Muh ke chhale मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको Muh ke chhale मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

Hindi NewsNDTV India LiveWorld News in HindiSports News in HindiCricket News in HindiBollywood News in HindiArchivesAdvertiseAbout UsFeedbackDisclaimerInvestorComplaint RedressalCareersContact UsSitemap© Copyright NDTV Convergence Limited 2018. All rights reserved.

अधिकतर लोगों को खुद भी नहीं मालूम होता की उनके मुँह से दुर्गन्ध आती है, ये जानने के लिए की आप की मुंह से सांस की बदबू आती है की नहीं, आप मुंह के आगे हाथ रखे और ज़ोर से साँस छोड़े और अपने हाथ को सूँघे, अब अगर हाथ से बदबू आये तो आपको मुंह से बदबू आने की समस्या है। मुंह और जीभ के छाले, मसूड़ो में इन्फेक्शन और बार बार मुंह में लार बनना मुंह की बदबू के कुछ लक्षण है।

शराब पीने के बाद मुंह से आने वाले बदबू को कम करने के लिए आपको पीने से पहले कुछ खाना चाहिए। चबाने वाला भोजन सलाइवा के उत्पादन को उत्तेजित करता है और आपके पेट में भोजन आपको पीने वाले कुछ एल्कोहल को अवशोषित करने में मदद करता है।

अधिकांश किशोरों के लिए, मुँहासे यौवन के दौरान अस्थिर हार्मोन के स्तर के वजह से होते हैं वसामय ग्रंथियों (सेबेसियस ग्लैंड्स) को ज़्यादा काम करने के लिए उत्तेजित करते हैं। यह अतिरिक्त त्वग्वसा (सीबम), त्वचा की सबसे बाहरी परत के मृत कोशिकाओं और छिद्र को रोकने वाले बैक्टीरिया के साथ जुड़ती हैं और मुँहासे पैदा करती हैं। यह चिकनी(ऑयली) त्वचा के परिणाम स्वरुप भी हो सकती हैं। दानों के खुजाने या फोड़ने से और चेहरे पर कुछ कृत्रिम सामग्री जिसके बारे में आपको ज्यादा नहीं पता हो का उपयोग करने से आप समस्या को बढ़ा देते हैं। बल्कि, आपकी त्वचा को स्वस्थ और मुँहासों से मुक्त रखने के लिए सरल हर्बल उपचारों का उपयोग करें।

हमारा बाहरी स्वरूप हमारे लिए बहुत ज्यादा important है. जब हम किसी भी व्यक्ति से मिलते है तब वह पहले हमारा बाहरी स्वरूप ही देखता है. जब वह हमारे चेहरे पर दाग – धब्बे देखता है तो उस व्यक्ति पर हमारा Bad Imprassion पड़ता है.

admin November 13, 2017 Acidity, Acne Home Remedies, Allergy, Beauty, Beauty Face Mask, Black Spot Under Eye, Child, Dark Circles Home Remedies Tips, Diabetes, Glowing Skin, Health, Improve Eyesight, Ladies Health, Life Style, Major Disease, mouth laar, muh ki laar, Pet ke Rog, Pimple Home Remedies, Pregnancy, saliva, Skin Disease, Sugar, Teeth, Videos, Women, World, आयुर्वेद Leave a comment 1,045 Views

Erythrodermic सोरायसिस रोग है कि अक्सर पूरे शरीर पर फैल गया है की एक सबसे अधिक भाग के लिए भड़काऊ प्रकार है। Erythrodermic सोरायसिस अक्सर अस्थिर पट्टिका छालरोग के लिए नेतृत्व कर सकते हैं। प्रासंगिक, व्यापक, उज्ज्वल लाली इस अवधि के दौरान त्वचा की मुख्य विशेषताओं के होते हैं।

अगर आप भी दाग – धब्बो या कील मुहांसों से परेशान है तो यह Article आपको इनसे छुटकारा पाने में बहुत Help कर सकता है. आप इस आर्टिकल में बताये गये Tips को अपनाकर अपने चेहरे से कील – मुंहासो को बड़ी आसानी खत्म कर सकते है.

सेहत संबंधी कई ऐसी समस्याएं होती हैं जिन्हें हम रोग तो नहीं कह सकते हैं लेकिन दर्द, संक्रमण, खाने और निगलने में दिक्कतें आदि हमारे लिए परेशानी का सबब होती हैं। मुंह के छाले भी एक ऐसी ही समस्या है। इनसे उपचार के लिए अगर बाजार में मिलने वाले जेल या क्रीम उपलब्ध हैं लेकिन आ चाहें तो अपने किचन में मौजूद चीजों से ही इसका उपचार आसानी से कर सकते हैं।

Gulab jal me barabar matra me nimbu ka ras milakar mishran tayaar kar lijiye or us mishran ko chehre par karib aadhe ghante tak laga kar rakhe fir taje pani se chehra dho le, is pryog ko chehre par karib 15 din tak kare , jisse apke chehre ke muhase thik ho jayenge.

4 – रात को सोने से पहले कच्चे दूध के साथ जायफल को घिसे और लेप तैयार कर ले, और लेप को चेहरे पर लगा कर सो जाये. सुबह चेहरा साफ पानी से धो दे, कुछ दिन ऐसा लगातार करने से  चेहरे पर होने वाले मुहासों से छुटकारा मिलता हैं.

स्नान के पानी को गर्म करके इसमें 2-3 कप समुद्री नमक डाल दें। 20-30 मिनट के लिए इसको पानी में घुल जाने दें। समुद्री नमक से स्नान के बाद एक हल्का मॉइस्चराइजर लगाएँ, लेकिन तैलीय त्वचा वाले मॉइस्चराइजर प्रयोग ना करें। आप इस रेमेडी को दिन में 2 बार दोहराएं अन्यथा एक दिन में एक बार पीठ के मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए इसको अवश्य करें।

माथे पर मुँहासे हटाने के लिए कैसे? शायद, इस प्रश्न को प्रत्येक लड़की ने कम से कम एक बार खुद से पूछा, उसके प्रतिबिंब पर दर्पण की तलाश में। और, नींव लेते हुए और बैंग्स को कम करते हुए, उन्हें सार्वजनिक दृश्य से छिपाने की कोशिश की। हालांकि, मुँहासे से छुटकारा पाने का सही दृष्टिकोण थोड़ा अलग है: कारकों की पहचान, कॉस्मेटिक प्रक्रियाओं से गुजरना, त्वचा की देखभाल के लिए सही साधन चुनना।

मुंह से निकलने वाली बदबू या सांसों की दुर्गन्ध आज के समय की सबसे ज्यादा जटिल समस्या है जो हर किसी के सामने शर्मिदा करने का अहसास कराती है। आज के समय में यह दिक्कत कई लोगों में पाई जाती है। इस समस्या से परेशान लोग अपने सहपाठी, पड़ोसी, सहकर्मी या अन्‍य किसी के साथ बात करने या नजदीक बैठने से भी कतराने लगते हैं। मुंह की दुर्गन्ध या सांस की बदबू के आने का सबसे बड़ा कारण मुंह में पाये जाने वाले बैक्टीरिया होते हैं जो ‘सल्फर कम्पाउंड’ बाहर निकालते हैं। जिसकी वजह से सांस की बदबू होती है।

एक्‍ने खूबसूरत त्‍वचा चहरे को भी बदरंग बना सकते हैं। इस लिए इसके संभावित कारणों को जानना चाहिए ताकि इससे बचाव किया जा सके। थोड़ी सावधानी बरतकर आप मुहांसो से छुटकारा और खूबसूरत व बेदाग त्‍वचा पा सकते हैं।

जिन लोगो को समय समय पर पिम्प्लेस हो जाते है उन लोगो के लिए करेला एक बहुत ही अच्छा उपाय है. करेले को काटकर उबाल ले या उसके रस को निकालकर पीने से यह खून (blood) को साफ कर देता है. जिससे पिम्प्लेस (pimples) पूरी तरह से खत्म हो जाते है और चेहरा सुंदर व कोमल दिखाई देने लग जाता है.

नींबू निचोड़ने के बाद जो फाँकें (छिलका) बचता है, उसे इकट्ठी करके सूखा लें। सूखने पर पीस लें। इसकी दो चम्मच में एक चम्मच बेसन मिलाकर पानी डालकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाये । आधा घण्टे बाद चेहरा धोयें। मुँहासे, झाँइयाँ, धब्बे ठीक हो जायेंगे।

यह सोचा है कि सोरायसिस ठीक नहीं किया जा सकता है और त्वचा की यह स्थिति पुरानी है। जब आप छालरोग उपचार दवा लेने या समय-समय खराब अस्थिर होने के नाते, यह सुधार कर सकते हैं। समय पर सोरायसिस साल छूट अवस्था में रहने के लिए प्रकट नहीं होता है। सर्दियों की अवधि समय जबकि गर्मियों के महीनों, इसके विपरीत, धूप में घूमना – एक असली प्राकृतिक छालरोग उपचार के लिए धन्यवाद त्वचा में सुधार जब हालत, खराब कर सकते हैं हो सकता है।

Ice Cube का सबसे लोकप्रिय उपयोगों में से एक मुँहासे सिकुड़ने के लिए है | बर्फ लालिमा और सूजन को शांत कर सकता है, खासकर cystic acne को | हालांकि, याद रखें कि pimples संवेदनशील होते हैं और बैक्टीरिया से भी भरा होता है | इसलिए pimple के उपचार लिए ice का उपयोग करते वक्त सौधानियाँ बरते |

फुंसियों का हमारे फेस पर होने का सबसे बड़ा कारण गंदे हाथो को face पर बार – बार लगाना भी है. हाथो में जीवाणु और बैक्टीरिया होते हैं इसलिए कभी भी दिन में अपनी त्वचा को हाथो से ना छुए. जब भी अपने चेहरे पर हाथ Touch करना हो तो उन्हें पहले अच्छी तरह धो ले.

Home remedies to get rid of pimples – You must be looking for Home remedies to get rid of pimples and want to remove acne and get the clean face back. यदि आप मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए होम उपचार की तलाश में हो तो मुँहासे को चेहरे से हटाने के लिए सभी घरेलू उपचार प्राप्त करें.

नीचे लिखे मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  को अपने जीवन का हिस्सा बनाये इससे चेहरे पर चमक बनी रहती हैं और रंग निखरता हैं .सभी मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  बहुत आसान हैं, जिसके कई फायदे हैं जो आपको सुंदर त्वचा दे सकते हैं . तो चलिए आज हम आपको बताते है, मुहासे कैसे दूर करें.

शुद्ध टी ट्री आयल लगाना अगर त्वचा में जलन, लालिमा या ज़्यादा शुष्क त्वचा का कारण बनता है, तो टी ट्री आयल में पानी का उपयोग कर उसको पतला करें या एलोवेरा जैल के साथ यह मिश्रण बनाएं और फिर अपने चहरे पर लगाएं। (और पढ़ें – टी ट्री ऑयल के फायदे)

“मुँहासे के मुंह से मुक्ति पाने के लिए मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छा तरीका मुँहासे के लिए जड़ी-बूटियां _मुंह से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका क्या है”

गुलाबजल का रोजाना इस्तेमाल भी दाग-धब्बों को कम करता है क्योंकि गुलाबजल हमारी त्वचा से धूल-मिट्टी को हटाता है तथा त्वचा का सौंदर्य निखरने में अहम भूमिका निभाता है। आप डाबर गुलाबरी का प्रयोग कर सकते हैं।

नई दिल्ली: उत्तर पूर्व के तीन राज्यों में हुए चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी की इतनी बुरी हालात हो गई है। बीजेपी के बेहतर नतीजों के बाद पार्टी नेताओं ने कांग्रेस पार्टी पर हमले आरंभ कर दिए हैं। बीजेपी के वरिष्ठ [Read more…]

सब से दूर कुछ है कि सोरायसिस, पैदा कर सकते हैं उदाहरण के लिए, धूम्रपान, बहुत ज्यादा सूर्य और तनाव रखें। रोकथाम छालरोग उपचार दवा लेने के और आप न्यूनतम करने के लिए समस्या कम हो जाएगा। अभी भी यह करने के लिए बहुत अधिक सूरज के लिए किए जा उन्मूलन के लिए कुछ ला सकता हैं और विपरीत स्थिति हो सकता है अन्य लोगों के लिए उल्लेख के लायक है।

अध्ययन में, दालचीनी ने गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स (cytokines) को कम करने के लिए सकरात्मक प्रभाव दिखाए हैं। मरीजों को सुबह-शाम शहद के एक चम्मच के साथ दालचीनी पाउडर का आधा चम्मच मिलाकर खाने से एक हफ्ते के बाद गठिया के दर्द में काफी राहत मिली और वे एक महीने के भीतर दर्द के बिना चल-फिर भी पा रहे थे।

अपनी त्वचा को धूप से बचाएं: सूर्य कि UV किरणे, त्वचा कि पिग्मेंट निर्माण करने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करती हुई आपके मुँहासों के धब्बों को ओर ज्यादा खराब कर सकती है |[१]अगर आप धूप में जा रहें हैं, तो सनस्क्रीन या चौड़ी टोपी पहने और जहाँ तक हो छाँव में चलें |

मैं बड़े उम्र के लडको से इसके बारे में पूछता रहता था. वे बस यही कहते की यह सब उम्र के कारण हो जाते है. पहले 6 महीने तक मेरे चेहरे से पिम्पल गये ही नहीं लेकिन फिर मैंने इन कील – मुंहासो को दूर करने के लिए कुछ नए तरीके अपनाये जो मैं आपके साथ इस आर्टिकल में शेयर कर रहा हूँ. ये टिप्स आपको निश्चित तौर पर फायदा पहुंचाएंगे.

डायबिटीज, कैंसर और दिमागी रोगों के लिए फायदेमंद है दालचीनी वाला दूधखतरनाक बीमारी है लिवर सिरोसिस, तुरंत बदलें अपने खान-पान की आदतेंये 7 चीजें शरीर में पानी की कमी को पूरा कर देती हैं पर्याप्त पोषणये 3 घरेलू नुस्खे अस्‍थमा के असर को तुरंत कर देंगे कमरोजाना खाएं ये 6 फूड, 60 साल तक याद्दाश्‍त रहेगी तेजरोज सुबह पीएं लहसुन वाली चाय, होंगे ये 5 चमत्कारिक फायदे

एलोवेरा में रोगाणुरोधी (Antimicrobial) गुण होते हैं, जो मुँहासे का कारण बनने वाली तेलीय त्वचा के उपचार के लिए आदर्श होते हैं। इसके अलावा, एलोवेरा आपकी त्वचा की सतह से अतिरिक्त तेल को अवशोषित करने में भी मदद करता है। 

4 – रात को सोने से पहले कच्चे दूध के साथ जायफल को घिसे और इसका लेप तैयार कर ले, और लेप को चेहरे पर लगा कर सो जाये. सुबह चेहरा साफ पानी से धो दे, कुछ दिन ऐसा लगातार करने से  चेहरे पर होने वाले मुहासों से छुटकारा मिलता हैं.

धूप में कुछ नीम के पत्ते सुखाकर पीस लें। इस पाउडर को, हल्दी पाउडर और गुलाब जल में मिलाकर एक पेस्ट बनाएं और दानों पर लगाकर २० मिनट बाद धो लें। नीम के पाउडर की जगह आप चन्दन के पाउडर का भी प्रयोग कर सकते हैं जो मुँहासों को कम करने के लिए अच्छा उपाय है।

1 मुहांसो से छुटाकारा पाने के लिए इंहे कभी भी ना फोड़े वरना इसका सीरम निकल कर पूरे चेहरे पर मुहांसे फैला देगा। मुहासों को तौलिए से ना रगड़े, ऐसे करने से आपके पूरे चेहरे पर मुहासे फैल सकते हैं। बेहतर होगा कि इसको अपने आप ही खत्‍म होने दें।

Streptococcal संक्रमण: कुछ सबूत से पता चला कि streptococcal संक्रमण पट्टिका छालरोग करना पड़ेगा यह था के लिए धन्यवाद। वे बैक्टीरिया guttate सोरायसिस के लिए ला सकता है। Psoriasis के इस तरह त्वचा पर होने वाली छोटी लाल धब्बे के माध्यम से प्रकट होता है।

मुसब्बर वेरा जेल एक त्वचा सुखदायक और शुद्ध करने वाला एजेंट है जो मुंह से जल्दी से इलाज कर सकता है मुसब्बर वेरा पत्ती से कुछ ताजे मुसब्बर वेरा पल्प तैयार करें और इसे सीधे पंप पर डालें और इसे छोड़ दें। इसे पूरी तरह सूखने के बाद इसे धो लें

पिम्पल्स हटाने के तरीके इन हिंदी: गोरे चेहरे पर कोई दाग धब्बा या निशान पड़ जाए तो चेहरे की सुंदरता फीकी पड़ने लगती है। चेहरे पर कील मुंहासे (acne) निकलना आजकल आम हो गया है। ऑयली स्किन पर पिम्पल्स निकलने की समस्या अधिक होती है। पिम्पल को अगर हाथ से फोड़ दे तो पिम्पल्स के दाग चेहरे पर रह जाते है। अक्सर कील मुंहासों के ज़रिए शरीर की गर्मी बाहर निकलती है जो खाने पिने की गलत आदतों से हो जाती है। अगर त्वचा को पोषण देने वाली चीज़े खाए और तले हुए फुड से दूर रहे तो बार बार पिम्पल का निकलना रोक सकते है। हरी सब्जियां, फल और पानी त्वचा को स्वस्थ रखने का उत्तम उपाय है। आज इस लेख में पिम्पल्स कील मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय और देसी नुस्खे जानेंगे, natural home remedies tips to remove pimples in hindi.

लार में टायलिन नामक एंजाइम पाया जाता है जो हमारी पाचन क्रिया को दुरुस्‍त रखती है।कहते हैं सुबह की लार पेट के लिए बेहद लाभदायक होती है। जब आप पानी पीते हैं तो रात भर मुंह में जमा लार पानी के साथ आपके पेट के अंदर जाती है। जो पेट के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। इसलिए सुबह की लार बेहद कीमती है। इसे यूं ही बर्बाद न करें।

तैलीय त्वचा आजकल की धूल धक्कड़ भरी दुनिया में बहुत ही आम समस्या हो गयी है। त्वचा की बाहरी परत पर अतिरिक्त तेल इकट्ठा होने से अक्सर व्हाइटहेड्स और ब्लैकहैड्स, छोटे छोटे दाने और अन्य त्वचा समस्याएं हो जाती हैं। 

मुंह की दुर्गंध (Mouth Smell) की समस्या अक्सर दूसरों के सामने शर्मिंदगी का कारण बन सकती है। जिसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। जैसे ब्रेकफास्ट न करना, मुंह की सफाई न करना, खराब डाइजेशन (Digestion Problem ) और सलाइवा की कमी जैसी कई समस्याएं होती हैं। इसे खान-पान में सुधार करके काफी हद तक कम किया जा सकता है|

पैर पर इस तकनीक को अप्लाई करने के लिए एंकल प्वांइट मतलब एड़ी के ऊपर वाले हिस्से की हड्डी के पीछे की ओर यहां पर खत्म होती है। उसे अपने हाथ की उंगली और अंगूठे से दबाने से भूख पर कंट्रोल होगा जिससे वजन भी कम होगा।

निजी स्वच्छता के नियमों की उपेक्षा मत करो दिन में 2 बार अपना चेहरा धो लें, एक व्यक्तिगत तौलिया या नैपकिन के साथ त्वचा को साफ करें आपकी त्वचा के प्रकार के लिए उपयुक्त अतिरिक्त चेहरे का शुद्ध उपयोग करें। विशेष रूप से अच्छी तरह से बिस्तर पर जाने से पहले त्वचा को साफ;

रोजाना सुबह खाली पेट दो से तीन लहसुन की कलियाँ खाएं। अगर खाने में परेशानी हो तो आप लहसुन के तेल से मसाज भी ले सकती हैं। अगर ये तेल आपको बाजार में मिलना मुश्किल हो तो घर पर मसाज ऑयल बनाएं। उसके लिए एक चम्मच नारियल तेल, एक चम्मच सरसों का तेल, एक चम्मच तिल का तेल लें और इन तीनों में 8 से 9 कलियाँ लहसुन की डालकर हल्का गुनगुना कर लें। फिर इस तेल से मसाज करें।

ट्राईमिथाइलएमीन्यूरिया (trimethylaminuria): यदि आपका शरीर ट्राईमिथाइलएमीन्यूरिया रसायन को नहीं तोड़ पाता हैं तो वह लार में छूट जाता हैं जिसके कारण मुँह से दुर्गंध आती हैं । यह आपके पसीने के द्वारा जारी हो सकता हैं, जो कि शरीर की दुर्गंध का लक्षण हो सकता है ।

कैस्टर ऑइल में त्वचा की मरम्मत के गुण होते हैं और यह काले धब्बे दूर करने में आपकी काफी सहायता करता है। प्रभावित भाग को अच्छे से साफ कर लें तथा इसके बाद अपनी त्वचा पर कैस्टर ऑइल से 5 मिनट तक मालिश करें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और एक गीले कपड़े से इसे पोंछ लेने से पहले चेहरे पर 5 मिनट तक दोबारा मालिश करें। अंत में इसे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग दिन में 2 बार करके एक महीने में अच्छे परिणाम प्राप्त करें।

कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन करें: लेकिन क्या आप जानते हैं की यदि आप कम कार्बोहाइड्रेट वाला खाना लेते हैं तो आपको कीटोन ब्रेथ हो सकता है। असल में आपका शरीर ऊर्जा के लिए कार्बोहाइड्रेट्स की जगह वसा को जलाता है जिससे कीटोन बनते है, जिसमे से कुछ आपके मुँह में निकलते हैं। दुर्भाग्य से, कीटोन बदबूदार होते हैं, और इसलिए आपकी साँसों से दुर्गंध आती है। यदि आप कम कार्बोहाइड्रेट्स वाली डाइट ले रहे हैं या कोई अन्य आहार जो की कार्बोहाइड्रेट्स की जगह वसा को जलाने को मजबूर करे, तो ध्यान रहे की आप कार्बोहाइड्रेट्स से परिपूर्ण नाश्ता ले जैसे की सेब या केला।

त्वचा पर मस्सों का होना काफी गंभीर समस्या है। यह ना केवल एक ही स्थान पर बल्कि हर स्थान पर होने लगते है। काले या भूरे रंग के ये मस्से त्वचा की अवांछित वृद्धि करते है, जिससे छुटकारा पाने के लिए लड़कियां शल्य चिकित्सा पद्धतियों का उपयोग कर, इसे हटाने का प्रयास करती हैं। लेकिन आज हम आपको बता रहें है सबसे आसान तरीका जिसे आप घर बैठे ही इसका उपचार कर सकती हैं।

कील मुंहासे का इलाज, नीबू मे स्तम्मक(अस्ट्रिंजेंट), विटामिन सी होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकल देता है तो जब भी आप दाग धब्बे का इलाज करे तो नीबू का इस्तेमाल करे। नीबू का रस निकल कर कॉटन की सहयता से दाग पर लगाए। अच्छे परिणाम के लिए हर दूसरे दिन इस विधि का उपयोग करे।

All the information, content and live chat provided on the site is intended to be for informational purposes only, and not a substitute for professional or medical advice. You should always speak with your doctor before you follow anything that you read on this website. Any health question asked on this site will be visible to the people who browse this site. Hence, the user assumes the responsibility not to divulge any personally identifiable information in the question. Use of this site is subject to our Terms & Conditions

नोट : इस आर्टिकल में दी गई जानकारियां रिसर्च पर आधारित हैं । इन्‍हें लेकर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूरी तरह सत्‍य और सटीक हैं, इन्‍हें आजमाने और अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

चेहरे को रोज़ एक्सफोलिएट करें: मृत त्वचा को निकालकर अच्छी नयी त्वचा पाने के लिए, चेहरे को रगड़कर साफ़ करें | मुँहासे चेहरे के ऊपरी परत को ही नुकसान पहुँचाते हैं, इसलिए रगड़ने से इनके धब्बे कम हो जाते हैं | संवेदनशील त्वचाओं के लिए बनी हुई फ़ेशियल स्क्रब से आप अपने चेहरे को रगड़ सकते हैं |

अगर आप भी दाग – धब्बो या कील मुहांसों से परेशान है तो यह Article आपको इनसे छुटकारा पाने में बहुत Help कर सकता है. आप इस आर्टिकल में बताये गये Tips को अपनाकर अपने चेहरे से कील – मुंहासो को बड़ी आसानी खत्म कर सकते है.

यदि आप अक्सर बीमार पड़ जाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपका इम्युनिटी कमजोर है। आप इस हर्बल काढ़े की मदद से इसे मजबूत कर सकते हैं। इस काढ़े में कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का मिश्रण है। ये काढ़ा वात और कफ को शांत करता है, पाचन को उत्तेजित करता है, प्रतिरक्षा में वृद्धि करता है।

जब भी आपको अपने घर से बाहर किसी काम के लिए जाना होता है तो उसके बाद जब आप घर आते हो तो तब आप अपना मुँह अवश्य धो ले. बाहर के प्रदूषण से आपके चेहरे पर धूल – मिटटी जम जाती है. जो हमारे फेस को नुकसान पहुँचा देता है. आगे से इस बात का ख्याल जरुर रखे.

क्या आप foundation के तहत एक primer का उपयोग करते हैं? अगली बार, मेकअप लागू करने से पहले अपने चेहरे पर एक बर्फ के टुकडे से massage करे | यह trick आपकी त्वचा को एक चिकनी में बदल सकता है! यह अस्थायी रूप से pores को कम कर देता है और मेकअप को flawless दिखने में मदद करता है ।

English: Get Rid of Acne Scars Fast, Português: Se Livrar de Cicatrizes de Acne Rapidamente, Deutsch: Aknenarben über Nacht loswerden, 中文: 快速祛除痘疤, Русский: быстро убрать следы от угрей, Français: se débarasser rapidement des cicatrices d’acné, Nederlands: Snel van acnelittekens afkomen, Čeština: Jak se rychle zbavit jizev po akné, العربية: التخلص من ندوب حب الشباب بشكل سريع, ไทย: กำจัดรอยแผลเป็นจากสิวอย่างรวดเร็ว, 한국어: 여드름 자국 빨리 없애는 방법, Tiếng Việt: Trị Sẹo mụn Nhanh chóng, Español: deshacerse de las manchas y cicatrices dejadas por el acné, Bahasa Indonesia: Menghilangkan Parut dan Luka Bekas Jerawat, Italiano: Eliminare le Cicatrici Lasciate dall’Acne

जल्दी से कील मुहाँसो से जल्दी छुटकारा पाने के लिए आप रोज चेहरे को सॉफ रखेंगे तो भी आप इन चीज़ों से मुक्ति पा सकते हैं चन्दन, मुलैठी और हल्दी जैसे घरेलू नुस्खे त्वचा के पुराने दाग धब्बों के निशानों को भी हल्का करने की क्षमता रखते हैं। हालांकि काफी अच्छी तरह से इनका इस्तेमाल करने पर भी इस बात की काफी संभावना होती है कि इनका असर काफी जल्दी में दिखे।

“क्या आप मुँहासे के निशान से छुटकारा पा सकते हैं -कैसे रातोंरात स्पॉट हटाने के लिए”

सुरेश ने पुलिस को बताया कि उसने मारिया की हत्या 11 जनवरी को तकिया से मुंह दबा कर की थी। हत्या के बाद सुरेश ने मारिया की लाश रजाई में बांध कर बेड के बक्से में छिपा दी और अपने गांव भाग गया। सुरेश ने बताया कि उसने हत्या की योजना तब बनाई जब उसकी पहली पत्नी लता को मारिया के बारे में पता लगा। लता ने सुरेश से कहा कि वह मारिया को छोड़ दे। सुरेश भी मारिया से छुटकारा पाना चाहता था और उसने हत्या को अंजाम दिया।

अम्लिय पेय से बचें। यह आपकी सांस और दांत के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, क्योंकि अम्लिय पेय आपके दांतो के इनेमल को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। जितना हो सके अम्लिय पेय पीने से बचे और अगर पीना ही है तो ध्यान रखें कि आप स्ट्रा के जरिए या जल्दी से पीए, बिना मुंह में रखें। आप पानी का इस्तेमाल करके कुल्ला करके अपने खाने के अवशेष को दूर करें।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

डेयरी उत्पाद न खाएँ: सारे डेयरी प्रोडक्टस में एक विशेष प्रोटीन, कैसिइन (casein), होता है जो ठंडा करता है और आपके शरीर में और बलगम बनाता है। अनावश्यक रूप से अधिक बलगम का निर्माण रोकने के लिए, दूध, चीज़, दही या आइसक्रीम जैसे डेयरी प्रोडक्टस न खाएँ।

लौंग कैविटी के साथ-साथ किसी भी प्रकार की दांतों से जुडी समस्‍याओं के लिए रामबाण होता है। एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एनाल्‍जेसिक और एंटी-बैक्‍ट‍ीरियल गुणों के कारण लौंग दर्द को कम करने और कैविटी को फैलने से रोकता है। समस्‍या होने पर 1/4 चम्‍मच तिल के तेल में 2 से 3 बूंदें लौंग के तेल की मिलाकर लें। इस मिश्रण को रात को सोने से पहले कॉटन बॉल में लेकर प्रभावित दांत में लगाये।   

मुंह से शराब की बदबू को दूर करने के लिए लोग परेशान रहते हैं, लेकिन उन्हें इससे छुटकारा पाने का सही से पता नहीं चल पाता है। शराब पीने के बाद अत्यधिक पानी पीने से भी शराब की बदबू से निजात पाया जा सकता है।

1 मुहांसो से छुटाकारा पाने के लिए इंहे कभी भी ना फोड़े वरना इसका सीरम निकल कर पूरे चेहरे पर मुहांसे फैला देगा। मुहासों को तौलिए से ना रगड़े, ऐसे करने से आपके पूरे चेहरे पर मुहासे फैल सकते हैं। बेहतर होगा कि इसको अपने आप ही खत्‍म होने दें।

इस तरह के चकत्ते का उपचार लंबे समय से है, क्योंकिComedones हल नहीं करते हैं और अपने आप से बाहर मत जाओ। गुणात्मक उपचार के लिए इस तरह के मुँहों का कारण जानने के लिए महत्वपूर्ण है, जो एक नियम के रूप में, हार्मोनल असंतुलन या अनुचित शरीर स्वच्छता के होते हैं।

” यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। ”

वहाँ रहे हैं एक बार आप छालरोग उपचार खोजने का फैसला किया, लेकिन केवल डॉक्टर कि चुना छालरोग उपचार दवा की प्रभावकारिता का मूल्यांकन कर सकते हैं विकल्प की एक बहुत कुछ के अनुरूप होगा आप व्यक्तिगत रूप से। सोरायसिस के उपचार कोई साइड इफेक्ट नहीं होना चाहिए।

नई दिल्‍ली : सांसों की दुर्गन्ध और मुंह की बदबू एक ऐसी समस्‍या है, जो कई लोगों  में पाई जाती है। आपके मित्र, सहकर्मी और अन्‍य आपके पास बैठने से कतराते हैं। मुंह से आती दुर्गन्ध और सांस की बदबू (हैलाटोसिस) अक्सर मुंह में मौजूद एक बैक्टेरिया से होती है। इस बैक्टेरिया से निकलने वाले ‘सल्फर कम्पाउंड’ की वजह से सांस की बदबू पैदा होती है। कई बार तो लोग इस समस्या से अंजान होते हैं। इस बदबू के कई कारण होते हैं, जैसे-गंदे दांत, पाचन की समस्या और धूम्रपान। कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर इस समस्‍या से छुटकारा पाया जा सकता है।

अधिकांश किशोरों के लिए, मुँहासे यौवन के दौरान अस्थिर हार्मोन के स्तर के वजह से होते हैं वसामय ग्रंथियों (सेबेसियस ग्लैंड्स) को ज़्यादा काम करने के लिए उत्तेजित करते हैं। यह अतिरिक्त त्वग्वसा (सीबम), त्वचा की सबसे बाहरी परत के मृत कोशिकाओं और छिद्र को रोकने वाले बैक्टीरिया के साथ जुड़ती हैं और मुँहासे पैदा करती हैं। यह चिकनी(ऑयली) त्वचा के परिणाम स्वरुप भी हो सकती हैं। दानों के खुजाने या फोड़ने से और चेहरे पर कुछ कृत्रिम सामग्री जिसके बारे में आपको ज्यादा नहीं पता हो का उपयोग करने से आप समस्या को बढ़ा देते हैं। बल्कि, आपकी त्वचा को स्वस्थ और मुँहासों से मुक्त रखने के लिए सरल हर्बल उपचारों का उपयोग करें।

नोट : इस आर्टिकल में दी गई जानकारियां रिसर्च पर आधारित हैं । इन्‍हें लेकर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूरी तरह सत्‍य और सटीक हैं, इन्‍हें आजमाने और अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

दूध चेहरे की रंगत बढ़ाता है, दूध मे लॅकटिक अम्ल होता है जो त्वचा को कोमल और सुंदर बनाता है। इसके लिए कच्चे दूध का उपयोग करे। दूध मे रूई भिगोकर पूरे चेहरे पर लगाए फिर 15 मिनिट के बाद गर्म पानी से धो ले,रोज सुबह इस विधि का उपयोग करे।

शहद इस्तेमाल करें: शहद से ना सिर्फ मुँहासे साफ़ होंगे बल्कि जो लाल दाग पीछे रह जाते हैं, वे भी साफ़ हो जाएंगे | शहद में मौजूदा एंटी-बैक्टीरियल गुण से त्वचा कोमल और सूजन मुक्त बनेगी | किसी भी क्यू-टिप से इसे सीधे निशानों पर लगाया जा सकता है |

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

Psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसे? पहले एक रोग की अवस्था पर तय और बाद में सोरायसिस के उपचार की नियुक्ति। Psoriasis के प्रकारनिर्धारित कारकों में से एक है। अपने चिकित्सक शायद आप एक शुरुआत के लिए कुछ सामयिक क्रीम की सिफारिश करेगा और केवल बाद में एक अलग और अधिक गंभीर छालरोग उपचार दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता।

हल्दी में मौजूद एन्टीसेप्टिक और एन्टी-इन्फ्लैमटोरी गुण छालों को न सिर्फ ठीक करते हैं बल्कि यह गुण छालों को दुबारा होने से भी रोकते हैं। हल्दी पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलकर पेस्ट तैयार  कर ले और अब इस पेस्ट को छालों पर लगायें, इससे दर्द से तुरन्त राहत मिल जाएगा।

एक छोटा चम्मच ताजे नींबू के रस को डेढ़ बड़े चम्मच पानी के साथ मिलाएं। रुई की सहायता से इस मिश्रण को अपनी त्वचा पर लगाएं। इसे 10 मिनट के लिए सूखने दें और फिर अपना चेहरा गर्म पानी से धो लें। नींबू का रस आपकी त्वचा को सुखा सकता है इसलिए इसे करने के बाद थोड़ा सा तेल रहित मॉइस्चराइज़र लगाएं। यह प्रक्रिया रोज़ाना दिन में एक बार करें।

मोटापे से परेशान लोग वजन घटाने के लिए व्ययाम, योगा, खाने पर कंट्रोल क्या कुछ करते हैं। कुछ लोग जिम जा कर घंटो एक्सरसाइज करके पसीना बहाते हैं। कई बार ज्यादा देर जिम करने से कई तरह की शरीरिक प्रॉब्लम भी शुरू हो जाती है। ऐसे में वजन घटाने के लिए आप एक्यूप्रेशर तकनीक को भी अपना सकते हैं। यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें शरीर के बिंदुओं को दबाना होता हैं। जिससे आपको भूख कम लगेगी और आपके वजन पर भी कंट्रोल होगा। मानव शरीर पर ऐसे बिंदु होते है जिसे दबाने से कई रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है और मोटापे को भी कम किया जा सकता है।

सोरायसिस एक त्वचा रोग है कि चांदी तराजू के साथ खुजली या गले में मोटी, लाल त्वचा के धब्बे का कारण बनता है। आप आमतौर पर उन्हें अपने कोहनी, घुटनों, सिर, पीठ, चेहरा, हथेलियों और पैरों पर मिलता है, लेकिन वे अपने शरीर के अन्य भागों पर दिखा सकते हैं।

हाइड्रेटेड रहें: सभी बीमारियों की तरह, जल्दी ठीक होने के लिए हाइड्रेटेड रहना आवश्यक है। दिन भर में हर घंटे पानी पीकर अपने शरीर को बलगम बाहर निकालने में मदद करें। आप अपनी फ्लूइड (fluid) इन्टेक (intake) को सप्लीमेन्ट (supplement) करने के लिए जूस और चाय भी ले सकते हैं।

“मुंह से छुटकारा पाने के लिए अच्छे तरीके +छोटे मुँहासे निकालें”

योग और आयुर्वेदिक उत्पादों का इस्तेमाल करने से आपकी जीवन शैली में कई बदलाव आते हैं। इसके लिए आप शराब का सेवन करना बंद करें। मेडिटेशन करें इससे तनाव दूर होता है। अगर आप हमेशा अच्छे आकार में रहना चाहती हैं तो इन आसनों को रोजाना करें।

इंटरनेट डेस्क। खूबसूरत दिखना किसे अच्छा नहीं लगता। हर लड़की की चाहत होती है कि उनकी साफ और दमकती त्वचा रहे है लेकिन चेहरे पर होने वाले पिम्पल्स आजकल होना आम बात हो गई इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बहुत सारे तरीको को अपनाती हैकई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करती है। लेकिन ये उपाय कुछ देर तक ही प्रभावी रह पाते हैं।

–> कील मुहाँसे का इलाज करने में जो सबसे असरकारक घरेलू फेस पैक (Homemade Face Pack) है उसे बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि दो चम्मच खीरे का रस, दो चम्मच गुलाबजल, एक चम्मच ब्रांडी, एक चम्मच अंडे की सफेदी और थोड़ा सा नीबू का रस आपस में मिलाकर लोशन तैयार कीजिए | इस लोशन को धीरे – धीरे मलते हुए चेहरे पर लगाइए और सूखने के उपरान्त गुनगुने पानी से धो लीजिए | इस उपाय को करने से न सिर्फ कील – मुंहासा दूर होते है बल्कि कील मुहासे के दाग – धब्बों से भी छुटकारा मिलता है | 

इसके साथ ही कुछ लक्षण psoriasis के लक्षण हो सकता है। यह psoriasis vulgaris, जो रोग, guttate सोरायसिस छोटे धब्बे, जो बूंदों की तरह कर रहे हैं की विशेषता, व्युत्क्रम सोरायसिस underarms क्षेत्र, नाभि और नितम्बों, पास में एक नियम के रूप में की खोज की, और तरल अंदर के साथ छोटे फफोले द्वारा देखा pustular सोरायसिस का सबसे व्यापक प्रकार है शामिल हैं। इसके अलावा, एक अलग-अलग रोग हथेलियों और तलवों पर प्रकट होता palmoplantar सोरायसिस कहा जाता है।

नर्म नीम की पत्तियों का पेस्ट थोड़ा पानी मिलाकर बनाएं। इस पेस्ट में कुछ हल्दी पाउडर मिलाएं और फिर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। 20 मिनट के लिए इसको लगाकर छोड़ दें और फिर इसे धो लें। एक सप्ताह में कम से कम दो बार यह करें। आप दिन में एक या दो बार नीम का तेल भी लगा सकते हैं जब तक आपको सुधार ना दिखे।

आज का दौर खुद को दूसरो से बेहतर साबित करने का दौर है. हर किसी की चाह अपनी अलग पहचान बनाने की है. लेकिन जब किसी भी Person के Face पर pimples हो जाते है तो यह उसके Confidence को बहुत Low कर देता है. उसके मन में खुद के लिए हीन – भावना आने लगती है. वह व्यक्ति लोगो से मिलने में कतराने लगता है.

इन उपायों को जब आप अपनाते है तो अपना धैर्य बनाये रखे क्योंकि आयुर्वेदिक तरीके अपना असर धीरे – धीरे करते है. अगर आप लगातार यह करते रहोगे तो आपको भी दाग – धब्बो से छुटकारा मिल जायेगा और चेहरे में निखार आने लगेगा.

रात को सोते समय एक चम्मच मलाई में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिलाकर चेहरे पर लगाये । सुबह चेहरा धो लें। इससे चेहरे के दाग कम हो जाते हैं। यदि आपकी त्वचा तैलीय है, तो दिन में कई बार नींबू का पानी पियें, त्वचा का तैलीयपन कम हो जायेगा।

Posted in Face, Skin    Tagged acne home remedies, acne problems, dermatologist in ghaziabad, dermatologist in greater noida, home remedies, pimple problems, skin doctor in ghaziabad, skin doctor in greater noida, skin problems, skin tips skin tips    Leave a comment   

आजकल खुबसूरत दिखने की चाह में लोग बाजारों में बिकने वाले क्रीम और पाउडर का अधिक मात्रा में use करते है. यह आपके चेहरे को निखारने के बजाय उसको नुकसान पहुँचा देता है. अगर आप कॉस्मेटिक का उपयोग करते भी है तो कम मात्रा में करे.

एक प्रक्रिया बुलाया सेल कारोबार में, त्वचा कोशिकाओं है कि आपकी त्वचा में गहरी बढ़ने सतह को जन्म। आम तौर पर, यह एक महीने लग जाते है। क्योंकि अपने कक्षों में भी तेजी से वृद्धि में सोरायसिस, यह बस के दिनों में होता है।

6 नींबू का रस पिंपल भगाने में सबसे कारगर उपाय है। इसके रस से अपने चेहरे की 10-15 मिनट तक मालिश करने से राहत मिलेगी। हां, अगर इसके प्रयोग से आपकी स्‍किन में जलन महसूस हो रही हो तो इसको डाइरेक्‍त ना इस्‍तमाल करें। तब इसको पानी या चंदन पाऊडर में मिला कर लगाएं।

चंदन का घोल तैयार करें: चंदन से त्वचा की कई बीमारियां ठीक होती है और इसे बनाना भी एकदम आसान है | 1 बड़ा चमच्च चंदन पाउडर को गुलाबजल या दूध में मिलाकर घोल बनाएं | अब इस घोल को प्रभावित क्षेत्र पर 30 मिनट तक लगाकर धोलें | इस प्रक्रिया को दोहराते रहें, जब तक आपके धब्बे पूरी तरह से गायब न हो जाए |

आप बाजार से एलोवेरा जैल खरीद सकते हैं या एक एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काटें और बीच में से उसको दबाएं, इसके द्वारा आप शुद्ध एलोवेरा जैल प्राप्त कर सकते हैं। दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जैल का उपयोग करें। (और पढ़ें – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

भारतीय बकाइन को नीम के रूप में भी जाना जाता है, इसे विभिन्न त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटीसेप्टिक और रोगाणुरोधी गुण हैं जो कि मुँहासो को बनाने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं। इसके अलावा, नीम लालिमा और त्वचा की सूजन में आराम देता है। (और पढ़ें – नीम के फायदे इन हिंदी)

अपने कूल्हों पर एक एस्पिरिन (aspirin) का मास्क लगायें: चार या पाँच एस्पिरिन की गोलियों को पीस लें। यह सुनिश्चित करें कि गोलियों के बाहर कोई भी आवरण (coating) न हो। इसे एक टेबल स्पून हल्के गर्म पानी के साथ मिलाएँ या फिर शहद या सादे दही के बड़े हिस्से के साथ मिलाएँ, यह आपकी इच्छा पर निर्भर है।

फिटकरी और गुलाब जल : फिटकरी और गुलाब जल से बने पेस्ट को अपनी मूछो पर लगाकर आप मनचाहा रंग प्राप्त कर लम्बे समय तक आप जंवा बने रह सकते है इसके लिए फिटकरी को पीसकर इसके पाउडर को गुलाब जल में मिलाकर आप अपनी मूछ पर लगाए।

एक चम्मच प्याज का रस, एक चम्मच अदरक का रस, आधा चम्मच सिरका इन तीनो को मिला ले और दाग पर लगा कर कुछ मिनिट तक मालिश करे फिर 20 मिनिट के बाद ठंडा पानी ले कर धो ले। यह बहुत सरल और उपयोगी है। प्याज मे गंधक (सल्फर), विटामिन और अदरक मे आलीसिन नामक पदार्थ होता है जो त्वचा को कोमल बनाती है और त्वचा से कीटाणु को निकाल देती है।

परेशान करने वाली चीज़ों से दूर रहें: घरेलू क्लीनर्स, एनैमल्स (enamels), रंग के धुएँ और अन्य रसायन रेस्पीरेटरी स्थिति को बिगाड़ते हैं और बलगम के स्तर को बढ़ाते हैं। अपने घर में ताजी हवा आने के लिए अपनी खिड़कियों को खुला रखें, अपनी बीमारी दौरान परेशान करने वाली चीज़ों को अंदर रखें और ऐसी जगह जाने से बचें जहाँ ये सब होने की संभावना है (जैसे बार या एक पेंट की दुकान।[४]

दाल और आलू का पेस्ट : इस बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खे से आप मूछ के सफेद बालों से छुटकारा पा सकते है आलू और दाल से बना पेस्ट मूछ के सफेद बाल को हटाने में बहुत मदद आता है आलू में ब्लीचिंग के प्राकृतिक गुण होने के कारण आलू को दाल के साथ मिलाकर दाढ़ी व् मूछो का प्राकृतिक रंग वापिस आ जाता है।

मुंह से आने वाली शराब की बदबू से बहुत से लोग परेशान रहते हैं और इसे दूर करने के उपाय के बारे में जानने की कोशिश करते हैं। मुंह में कुछ वोलेटाइल मॉलिक्युल्स होते हैं जिसकी वजह से मुंह से बदबू आती है। शराब भी एक वोलेटाइल मॉलिक्युल्स है जिसकी वजह से बदबू की समस्या होती है। शराब आसानी से पचाने में परेशानी होती है क्योंकि शरीर इसे टॉक्सिन के रूप में देखता है। हमारा लीवन एक ड्रिंक को पचाने में एक घंटा लेता है। इस धीमे प्रोसेस की वजह से एल्कोहल आपकी रक्त कोशिकाओं में इकट्ठा हो जाता है जिस कारण बदबू आती है। आइए जानते हैं मुंह से शराब की बदबू कैसे दूर करें। [ये भी पढ़ें: शहद और नींबू के रस की मदद से करें खांसी का इलाज]

मुल्तानी मिट्टी तैलीय और मुँहासे प्रवण त्वचा के लिए अच्छी है और यह अतिरिक्त तेल को अवशोषित कर, उनको रोम छिद्र से मुक्त करती है। यह आपके रंग में सुधार करने में भी मदद करती है। (और पढ़ें – आठ दिन के लिए यह उबटन लगाएँ, काले से गोरा रंग और सुंदर त्वचा पाएँ)

योगासन के अलावा आपको कुछ पैसे आयुर्वेदिक उत्पादों पर भी लगाने चाहिए, जिनकी मदद से आपके बालों में मौजदू गंदगी और जमा हुआ मैल बाहर निकल आएगा। इसके अलावा यह आपके बालों को झड़ने से भी बचाता है। क्योंकि हम सब इस बात को जानते हैं कि रोकथाम इलाज से बेहतर है।

सोरायसिस आमतौर पर लाल, दरिद्र, crusty पैच कि ठीक चांदी तराजू पता चलता है जब scraped या खरोंच के रूप में प्रकट होता है। इन पैच खुजली और असहज महसूस कर सकते हैं। सोरायसिस के घुटनों, कोहनी और खोपड़ी पर सबसे आम है, लेकिन शरीर पर कहीं भी प्रकट कर सकते हैं। कुछ में नाखून रूपों या जोड़ों प्रभावित होते हैं।

एक पेस्ट बनाने के लिए थोड़े से शहद के साथ एक छोटी दालचीनी का पाउडर मिलाएं; पानी न मिलाये क्योंकि यह शहद के असर नष्ट कर देगा। प्रत्येक दाने पर पेस्ट की एक छोटी सी परत लगाएं और रात भर के लिए रहने दें; अगली सुबह गुनगुने पानी से धो लें। यदि आवश्यक हो तो कुछ दिनों के लिए दोहराएँ।