“स्पॉट से छुटकारा पाने के तरीके _मुँहासे से छुटकारा 1 सप्ताह”

hello sir mere face par forehead or bade bade or chin par chote 2 kaafi pimples ho gye h wo bhi meri engagement ke bad facial bhi kraya tha tab par ab wo kam nhi ho rhe plz koi upay btaye jisse jaldi unhe dur Kiya ja sake

Tooth paste has many benefits, other than helping in cleaning teeth. You can apply white toothpaste directly on the pimple and let it dry. Follow up with gentle wash. It helps in healing the pimple and acne soon.

जिस तरह हम लोग रोज नहाए रोज मुंह धोए बिना नहीं रह पाते हैं उसी तरह हमें अपने कानों का भी जरुर ख्याल रखना चाहिए क्योंकि कानों की सफाई अगर हम नहीं करेंगे तो धीरे-धीरे कान के अंदर जो हमारा महल है वह जनता जाएगा जनता जाएगा और एक समय ऐसा आएगा कि उसकी वजह से हमारे कान की सुनने की क्षमता बहुत ही ज्यादा कम हो जाएगी साथ ही कान में दर्द होना भी शुरू हो जाएगा!

अधिक तरलदार और कम वसा वाला पौष्टिक भोजन भी सेल्युलाइट को कम करने में मदद कर सकता है। प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थ सेल्युलाइट की मात्रा को घटाते हैं। नियमित रूप से एक्‍सरसाइज करने से फैट जलता है और सेल्‍युलाइट में कमी आती है। इसके अलावा एक अच्छी मात्रा में पानी पीने और एक्‍सरसाइज के दौरान पसीना आने से शरीर के विषाक्‍त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं जिससे त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है।

आप बाजार से एलोवेरा जैल खरीद सकते हैं या एक एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काटें और बीच में से उसको दबाएं, इसके द्वारा आप शुद्ध एलोवेरा जैल प्राप्त कर सकते हैं। दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जैल का उपयोग करें। (और पढ़ें – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

लेज़र उपचार करवाएं: अगर आपके मुँहासे कई महीनों के बाद भी ठीक नहीं हो रहें हैं, तो लेज़र उपचार करवाएं | आप कौन सा इलाज करवाना चाहते हैं, उसके मुताबिक लेज़र कोलेजन उत्पादन को प्रोत्साहित करती है और दाग को भाप बनाकर साफ़ करती है |[९]

तमाम कोशिशों के बावजूद कई बार चेहरे पर पिंपल्स यानी मुंहासे हो जाते हैं। खासकर टीनएज में यह समस्या ज्यादा होती है. मुँहासे चेहरे पर कई कारणों से हो सकते हैं , जैसे चेहरे पर जमी गन्दगी को ठीक से साफ न करना या चेहरे का अत्यधिक तैलीय होना आदि , मुँहासे होने पर हमें काफी या मसालेदार भोजन का उपयोग कम करना चाहिए और फलों का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए, पिम्पल्स को दूर करने का सबसे आसान तरीका आप घर पर रह कर आजमा सकते हैं.

धूप में कुछ नीम के पत्ते सुखाकर पीस लें। इस पाउडर को, हल्दी पाउडर और गुलाब जल में मिलाकर एक पेस्ट बनाएं और दानों पर लगाकर २० मिनट बाद धो लें। नीम के पाउडर की जगह आप चन्दन के पाउडर का भी प्रयोग कर सकते हैं जो मुँहासों को कम करने के लिए अच्छा उपाय है।

कोलकाता : मैंने क्लब के 100 दिनों के रिपोर्ट को देखा जिसमें यह पाया कि हिन्दुस्तान क्लब काफी बेहतर कार्य कर रहा है। यह उन्नति के मार्ग में अन्य क्लबों से काफी आगे हैं। उक्त बातें हिन्दुस्तान क्लब के स्थापना [Read more…]

धूम्रपान करने से और तम्बाकू चबाने से बचें: वैसे तो कई सारी वजह है धूम्रपान और तम्बाकू को छोड़ने के लिए (जैसे कैंसर), परंतु सांस की दुर्गंध होना भी एक कारण है। धूम्रपान करने से व्यक्ति की सांस की गंध बासी तम्बाकू जैसी लगती है, जिसे कई बार “ऐश ट्रे की गंध” कहा जाता है। इस गंध को रोकने का सबसे आसान तरीका, धूम्रपान छोड़ना ही है।[१०]

आप हल्दी पाउडर का भी उपयोग कर सकते हैं | यह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक है और इसके इस्तेमाल से आपके मुँहासे और धब्बे जल्दी ठीक हो जाते हैं | आप हल्दी को पानी या निम्बू के रस में भिगो सकते हैं | इसे 15 मिनट तक लगाकर ठंडे पानी से चेहरा धोलें | आप आलू के रस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं |

दालचीनी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है, लेकिन यह सोचकर इसका अधिक मात्रा में सेवन न करें। यदि आपको लगता है कि एक बार में जादा खुराक लेने से आपको दालचीनी का जल्दी लाभ मिलेगा, तो आप जो सोच रहे है वह बिलकुल गलत है। क्योंकि इसके बहुत जादा सेवन से आपको लाभ मिले ना मिले परंतु इसके दुस्प्रभाव का सामना आपको अवश्य करना पड़ सकता है

ऊपर दी गई सामग्री को मिलाकर पेस्ट तैयार करें और इस पेस्ट को मस्से के ऊपर लगाते हुए इसे कपड़े से कवर कर लें। कुछ घंटों तक पट्टी लगे रहने के बाद दोबारा इस प्रक्रियां को दोहराते हुए दूसरी पट्टी का उपयोग करें। इसी प्रक्रिया को इसी तरह से दोहराने से आपको जल्द ही अच्छे परिणाम प्राप्त हो जाएंगे। जल्दी परिणाम प्राप्त करने के लिए इसे आप दिन में दो बार करें।

मुंह की बदबू का इलाज इन हिंदी: मुँह से दुर्गन्ध आने के कारण कई बार लोगों को शर्मिंदा होना पड़ता है। जिस व्यक्ति या महिला के मुंह से बदबू आती है अक्सर लोग उनसे दूर भागते है, उनकी पीठ पीछे उनका मजाक बनाते है और उनके साथ रहना पसंद नहीं करते। सांसो की बदबू रोकने के लिए आजकल बाजार में भी कुछ ऐसी चीजें और दवा आती है जिनके प्रयोग से कुछ देर के लिए मुंह से बदबू आना रुक जाती है, पर ये सब कुछ समय के लिए ही होते है और महंगे भी होते है। आप घर पर प्रयोग होने वाली कुछ चीजों को इस्तेमाल करके मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के उपाय कर सकते है, घर पर किये जाने वाले ये घरेलू नुस्खे सस्ते तो होते ही है और इन्हें करना भी आसान है। Treatment for permanent bad breath problem solution in hindi.

अपने दांत अच्छे से साफ करें: मुंह कि दुर्गन्ध को दूर करने के लिए दांतो को अच्छी तरह से साफ करना एक अच्छा तरीका है, जो आप आसानी से कर सकते हैं। दिन में दो बार, कम से कम दो मिनट के लिए ब्रश करें और ध्यान रखें कि आप मुंह के अंदर सभी जगह अच्छी तरह से साफ कर रहे हैं। खास तौर पर जहां दांत और मसूड़े आपस में मिलते हैं वहां ध्यान केंद्रित करें।[१]

आपको यह पता होगा की शराब और तम्बाकू हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही नुकसानदायक है. ये चीजे हमारे चेहरे के लिए भी सही नहीं होते. युवावस्था आने पर कई लड़के दूसरो की देखा – देखी में सिगरेट व तम्बाकू खाना लेना शुरू कर देता है. फलस्वरूप उनके face में कील – मुंहासे होने लगते है. आपको इन चीजो से बचना चाहिए.

सेब- सेब को काटकर खाने से मुंह में लार का स्राव तेजी से होता है। इससेमुंह की सफाई हो जाती है, सारे जिवाणु निकल जाते हैं। फिर सांसों में बदबू पैदा नहीं होती। पानी-शरीर में पानी की कमी न होने दें। पानी की कमी हो तो लिक्विड ज्यादा मात्रा में लें। मुंह में थोड़ा पानी लेकर हल्के-हल्के कुल्ला करें। खड़े गरम मसालों में शुमार दालचीनी की चाय पीने से मुंह से आने वाली बदबू से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता है।

च्युइंगम सलाइवा के उत्पादन को उत्तेजित करता है जो एसिड, बैक्टीरिया और गंध से पैदा होने वाले कणों को खत्म करने में मदद करता है। तो शराब पीने के बार च्युइंगम चबाने से मुंह से आने वाली शराब की बदबू कम हो जाती है। [ये भी पढ़ें: पालतू कुत्ते से मक्खियों को दूर रखने के घरेलू उपाय]

“कैसे वापस मुँहासे निशान से छुटकारा पाने के लिए _तेजी से मुँहासे निशान से छुटकारा”

कैस्टर ऑयल के साथ टी-ट्री ऑयल को मिलाकर मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण को रूई की सहायता से मस्से के पर थपथपाते हुए रखें। इसके बाद रूई को उस क्षेत्र पर चिपका दें और इसे 3-4 घंटे के लिए छोड़ दें। इस प्रक्रिया को दिन में दो बार अवश्य रूप से दोहराएं।

एक ह्यूमिडीफ़ायर (humidifier) का प्रयोग करें: अपनी हवा में नमी का स्तर बढ़ाने से आपके शरीर की बलगम पतली हो जाएगी और आसानी से संभाली जाएगी। जब भी आप घर पर हों और खासकर रात में सोेते समय, तब एक ह्यूमिडीफ़ायर को चलाए रखें। बलगम से और दम लगाकर लड़ने के लिए पानी में युकलिप्टुस का तेल डालें।

Psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसे? पहले एक रोग की अवस्था पर तय और बाद में सोरायसिस के उपचार की नियुक्ति। Psoriasis के प्रकारनिर्धारित कारकों में से एक है। अपने चिकित्सक शायद आप एक शुरुआत के लिए कुछ सामयिक क्रीम की सिफारिश करेगा और केवल बाद में एक अलग और अधिक गंभीर छालरोग उपचार दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता।

नहाने के बाद एक टोपिकल मरहम (ointment) या लोशन (lotion) का प्रयोग करें: एक मरहम को खोजें जिसमें बेंजोईल पेरोक्साइड (benzoyl peroxide), सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) या अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (alpha hydroxy acid) हो। इनमें से ज्यादातर ब्राण्ड बिना पर्ची के मिल जाते हैं जैसे — क्लेअरसील (Clearasil) और प्रोएक्टिव (Proactive)। अगर आप एक लोशन का प्रयोग करना चाहते हैं जो वैज्ञानिक तौर पर, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए बनाया गया है कि वह कूल्हों पर होने वाले मुँहासों को ठीक करे — ग्रीन हार्ट लैब्स का बट एक्ने क्लीयरिंग लोशन (Butt Acne Clearing Lotion)। ज्यादातर टूथपेस्ट में कई प्रकार के पेरोक्साइड (peroxide) होते हैं, यदि आपको कुछ और न मिले तो ये मुँहासों के इलाज में प्रयोग में लाए जा सकते हैं।

एलोवेरा में रोगाणुरोधी (Antimicrobial) गुण होते हैं, जो मुँहासे का कारण बनने वाली तेलीय त्वचा के उपचार के लिए आदर्श होते हैं। इसके अलावा, एलोवेरा आपकी त्वचा की सतह से अतिरिक्त तेल को अवशोषित करने में भी मदद करता है। 

English: Get Rid of Mucus, Français: vous débarrasser des mucosités, Italiano: Liberarsi del Muco, Español: eliminar la mucosidad, Deutsch: Schleim loswerden, Português: Se Livrar de Muco, Nederlands: Van neusslijm afkomen, Русский: избавиться от мокроты, 中文: 摆脱粘痰困扰, Čeština: Jak se zbavit hlenu, Bahasa Indonesia: Menghilangkan Lendir di Hidung dan Tenggorokan, 日本語: 喉や鼻から粘液を取り除く, العربية: التخلّص من المخاط, ไทย: กำจัดน้ำมูก ‐ เสมหะ, Tiếng Việt: Xử lý khi bị Chảy nước mũi, 한국어: 코 점액 제거하는 법

अगर अपनी अपने अब आज आप इन इस इसके इससे इसे उनके उस और कई कर करने करें कहानी का काम कार कि किया किसी की कुकर कुछ के बाद के लिए के लिये के साथ केक को कोई क्या खास गया घर घी घोंसले चम्मच चाहिए जब जा जाता जाती जाने जो जोधपुर ज्यादा ठीक तक तथा तरह तो त्वचा थी थे थोड़ा दिन दिया दूध देखा द्वारा धर्म नमक नहीं ना नाना पाटेकर नीबू ने पर पहले पानी पीपल पुजारी जी पुरस्कार पेस्ट फिर फिल्म बड़ा बन बर्तन बस बहुत बार भी मिला मिलाकर मुंह में में एक मेदा मेरे मैं यह या ये रंग रम्भा रही रहीम रहे राजस्थानी रात रूप लगा लीजिये ले लें वाले विजयदान देथा वो शक्ति शिव सब सभी सा साड़ी साहित्य सी से सेवन हर हल्दी हिन्दी ही हुआ हुए है और हैं हो होता है होती होने होली

Times of India| Economic Times | iTimes|Marathi News | Bangla News | Kannada News| Gujarati News | Tamil News | Telugu News | Malayalam News | Business Insider| ZoomTv | BoxTV| Gaana | Shopping | IDiva | Astrology | Matrimonial | Breaking News

ठीक है, अस्वीकरण: बहुत से इंसान इस उपचार की कसम खाता है, और यह हैला चिकना है (जो अब तक टूथपेस्ट के आसपास भोगता है ?!) लेकिन यह मील मुश्किल है उम्मीद कर रहे हैं कि आपकी त्वचा टूथपेस्ट के अपने लोगो के लिए प्रतिक्रिया करेगी। “टूथपेस्ट्स में पदार्थ और सुगंध शामिल हो सकते हैं जो त्वचा को खराब और नुकसान पहुंचाएंगे” डॉ बोवे कहते हैं। यदि आपको ऐसा करने की ज़रूरत है, तो निश्चित करें कि आप पहले किसी पैच का परीक्षण करते हैं, खासकर जब आपके पास संवेदनशील त्वचा होती है

आप बाजार से एलोवेरा जैल खरीद सकते हैं या एक एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काटें और बीच में से उसको दबाएं, इसके द्वारा आप शुद्ध एलोवेरा जैल प्राप्त कर सकते हैं। दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जैल का उपयोग करें। (और पढ़ें – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

अपने आहार का मूल्यांकन करें और इसे करना शुरू करेंअधिक विविध, स्वस्थ, संतृप्त विटामिन इस कदम के बाद माथे पर मुँहासे का इलाज कैसे करें? एक त्वचाविज्ञानी और एक cosmetologist परामर्श करने के लिए सुनिश्चित करें

जैतून का तेल(Extra virgin olive oil) पौष्टिक गुणों के साथ भरपूर है। यह उचित ब्लड सर्कुलेशन को बनाए रखता है और त्वचा में सुधार करता है। आप कुछ समय के लिए जैतून के तेल के साथ अपने प्रभावित क्षेत्रों पर मालिश कर सकते हैं। इसे दैनिक रूप से उपयोग करें। 

पिछले कई सालों से सिर दर्द, ठंड, खांसी, कंजस्टेड नाक, छाती और गले के कहर के इलाज के लिए विक्स वेपोरब का इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन यह इसका एकमात्र उपयोग नहीं है। आप इसे कई अन्य चीजों के लिए भी उपयोग कर सकते हैं

चेहरे के काले दाग धब्बे, प्याज मे क्रत्रिम प्रतिरोधक गुण होते है जो की मुहसो के दाग धब्बे दूर करने मे आपकी मदद करेगे। तो शांतीपूवर्क इस विधि का उपयोग करे। प्याज ले और उसका रस निकल कर चेहरे के संक्रमित स्थान पर लगाए और कुछ मिनिट तक रहने दे फिर साधारण पानी से धो दे।

अपनी त्वचा को धूप से बचाएं: सूर्य कि UV किरणे, त्वचा कि पिग्मेंट निर्माण करने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करती हुई आपके मुँहासों के धब्बों को ओर ज्यादा खराब कर सकती है |[१]अगर आप धूप में जा रहें हैं, तो सनस्क्रीन या चौड़ी टोपी पहने और जहाँ तक हो छाँव में चलें |

1- अगर आपको सर्दी जुकाम की समस्या है तो इससे आराम पाने के लिए 10 ग्राम मुलेठी, 10 ग्राम काली मिर्च, 5 ग्राम लौंग, 5 ग्राम हरीतकी और 20 ग्राम मिश्री को एक साथ मिलाकर पीस लें. अब इसके पाउडर में 1 चम्मच शहद मिलाकर चाट लें. ऐसा करने से  कफ, सर्दी-खांसी और जुकाम समस्या दूर हो जाएगी.

तला हुआ खाना न खाएँ: बहुत ज़्यादा चिकना तला हुआ खाना आपके शरीर को बलगम तोड़ने में दिक्कत देता है जिससे आपका बलगम को सहने का समय बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए कुछ भी तला हुआ या बहुत सारे तेल में बना हुआ न खाएँ।

 मस्सों से छुटाकारा पाने के लिए उपयोग में लाए जानें वाले घरेलू उपचारों का उपयोग करते समय आप डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले लें और अपने  मस्सों की जांच भी करवा लें कि ये कहीं किसी प्रकार के कैंसर के लक्षण तो नहीं।

“मुँहासे की दवाएं +जल्दी मुँह से छुटकारा”

मुँहासे को बंद करने का एक और छोटा तरीका नींबू का रस का उपयोग कर रहा है, यह आहार में समृद्ध है। नींबू का रस पंपों को तेजी से सुखा देता है चमकदार नींबू के रस का उपयोग करने के लिए सकारात्मक रहें और अब बोतलबंद रस नहीं है, जो संरक्षक हैं। इस उपचार को लागू करने के लिए कई दृष्टिकोण हैं     टूथपेस्ट को छोड़ दें ……….

लेज़र उपचार करवाएं: अगर आपके मुँहासे कई महीनों के बाद भी ठीक नहीं हो रहें हैं, तो लेज़र उपचार करवाएं | आप कौन सा इलाज करवाना चाहते हैं, उसके मुताबिक लेज़र कोलेजन उत्पादन को प्रोत्साहित करती है और दाग को भाप बनाकर साफ़ करती है |[९]

Sir mere chere pr chote chote ched type ke gadde achanak do mah se ho rahe ha aur maine ej scrub kiya tha to chamra chil kr kala ho gaya ha aur apbe aap katne ke jaisa lamba lline face pr tun chaar jagah ho gaya ha. Maine ek doctor ko bhi dikhaya pr usko lagane se gadde aur bhi barne lage ha sir mai kya karu plz plese help me

योग और आयुर्वेदिक उत्पादों का इस्तेमाल करने से आपकी जीवन शैली में कई बदलाव आते हैं। इसके लिए आप शराब का सेवन करना बंद करें। मेडिटेशन करें इससे तनाव दूर होता है। अगर आप हमेशा अच्छे आकार में रहना चाहती हैं तो इन आसनों को रोजाना करें।

4  जायफल को गाय के दूध के साथ घीसे और लेप तैयार करें इस लेप को चेहरे पर लगाये कुछ देर बाद इसे मलते हुए उबटन की तरह निकल दे यह प्रयोग 4 से 5 दिन करे आपको मुँहासे से राहत मिलेगी .और दाग धब्बे भी दूर होंगे .

    नीम बहुत से त्वचा सम्बन्धी बिमारिओं के बहुत से औषधीय गुण होने के कारण नीम का पत्ता बहुत ही गुणकारी माना जाता है, यह दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) को बहुत आसानी से दूर करता है नीम के पत्तों में बैक्टीरिया से लड़ने वाले गुण मौजूद होते है जो मुंहासे,दाना, छाले, खाज-खुजली, एक्जिमा के अलावा सभी प्रकार के त्वचा सम्बन्धी रोग को दूर करने में मदद करता है। नीम के पत्तों का एक अच्छा सा पेस्ट तैयार कर लें, फिर उस पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छी तरह से लेप लगा लें। सूखने के पश्चात अपने चेहरे को अच्छी तरह से धो ले, लगातार 4-5 दिन ऐसा करने से आपको असर दिखना शुरू हो जायेगा।

रात को सोते समय एक चम्मच मलाई में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिलाकर चेहरे पर लगाये । सुबह चेहरा धो लें। इससे चेहरे के दाग कम हो जाते हैं। यदि आपकी त्वचा तैलीय है, तो दिन में कई बार नींबू का पानी पियें, त्वचा का तैलीयपन कम हो जायेगा।

एक बड़ा चम्मच नींबू का रस, डेढ़ चम्मच शहद और एक बड़ा चम्मच दूध एक कटोरी में मिलाएं। इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं और इसे 10 से 15 मिनट के बाद ठंडे पानी से धो दें। रोज़ाना दिन में एक बार यह उपाय करने से आपको एक सप्ताह के भीतर ही सकारात्मक परिणाम नज़र आने लगेंगे। (और पढ़ें – शहद के फायदे और नुकसान)

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

निवदेन – Friends अगर आपको ‘ Homemade Remedies for pimple solution in Hindi ‘ पर यह लेख अच्छा लगा हो तो हमारे Facebook Page को जरुर like करे और  इस post को share करे | और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

“कैसे मुर्गी को साफ करना -आप मुँहासे से छुटकारा कैसे प्राप्त करते हैं”

दातों के नुकसान से बचें: हर 6 महीने में दाँतों की सफाई कराएं (अगर ज्यादा महंगा हो तो काम से काम साल में एक बार)। यह दाँतों सख्त पत्थर या टार्टर (कठोर दंत पट्टिका का एक रूप है) और अन्य खनिजों के संचय को रोकने में मदद करता हैं । समय के साथ दाँतों और मसूड़ों के बीच के इस जमाव के कारण दाँत ढीले और खराब होने लगते हैं।

बेकिंग सोड़ा से साफ़ करें: बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल से त्वचा के दाग धब्बों को कम किया जा सकता है | 1 छोटा चमच्च बेकिंग सोड़ा को 1 छोटे चमच्च पानी में मिलाकर घोल तैयार करें | इसे अपने चेहरे पर गोलाकार में रगड़ते हुए 2 मिनट तक लगाएं | गुनगुने पानी से चेहरे को धोलें और अच्छे से पोंछ लें | “यह एक जाना माना नुस्खा है, लेकिन इसे पहले थोड़े समय के लिए प्रयोग करें और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाएं। बेकिंग सोड़ा में 7.0 PH होता है जो त्वचा के PH से बहुत ज्यादा है | अगर PH की मात्रा को बढ़ा दी जाएगी, तो लम्बे समय तक मुँहासे नहीं जाएंगे और अधिक संक्रमण और सूजन का भी डर रहेगा |”[२]

चाहे बच्चा हो या कोई जवान , जिस किसी की भी आँखें कमजोर है और उसको कोई भी नंबर का चश्मा लगा हो उन लोगो को पानी की कुल्ला किये बिना , रात भर मुँह में इकट्ठी हुई लार को आँखों में काजल या गुलाब जल की तरह लगानी है | यह आप रात को सोते समय और सुबह उठकर लगाये और मुँह 1-2 घंटे बाद धोये ताकि लार अपना काम कर सके। कैसा भी चश्मा हो उतरने के 100% आसार रहते है लेकिन आपको प्रयोग तब तक जारी रखना पड़ेगा जब तक आपके चश्मे का नंबर धीरे धीरे कम होकर शून्य न हो जाये परिणाम 100% मिलेगा बच्चो का चश्मा जल्दी उतर जायेगा लेकिन बड़ो को कुछ वक़्त लग सकता है लार का कोई साइड इफ़ेक्ट नही है

गोरे चेहरे पर अगर एक भी दाग हो तो वह सुदरता को कम कर देता है। आजकल हर कोई कभी न कभी मुहासों से जरूर परेशान होता है चाहे वह लड़का हो या लड़की। कई तो इसके लिए बहुत ही महंगे प्रॉडक्ट इस्तेमाल करते है और डॉक्टर से भी कई प्रकार की दवाइयाँ लेते है लेकिन कोई फायदा नही। मुहासे हॉर्मोन्स गड़बड़ी,पेट की गड़बड़ी, किसी चीज से एलर्जि, ओइली स्किन और कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का ज्यादा इस्तेमाल से हो सकता है।

मुलैठी त्वचा से मेलेनिन दूर करने की अपनी खूबी की वजह से जानी जाती है। मुलैठी की जडें किसी भी काले धब्बे को दूर करने में काफी कारगर साबित होती हैं। मुलैठी की जड़ों का एक पेस्ट तैयार करें और इसमें शहद की कुछ बूँदें मिश्रित करें। इस पेस्ट को चेहरे के काले धब्बों पर लगाएं और 15 मिनट रखने के बाद पानी से धो लें। रोजाना इस विधि का प्रयोग करने पर आपको 1 से 2 हफ़्तों में अच्छे परिणाम मिलने शुरू हो जाएंगे। चेहरे पर मुलैठी का प्रयोग करने से पहले एक पैच टेस्ट (patch test) करवा लें।

एंटी बैक्‍टीरियल के साथ-साथ एंटीबायोटिग गुणों से समृद्ध होने के कारण, लहसुन दांतों के टूटने और कैविटी की समस्‍या को दूर करने में मदद करता है। यह दर्द से राहत देने और स्‍वस्‍थ मसूड़ों और दांतों के लिए भी अच्‍छा होता है। 3 से 4 लहसुन की कली को कुचलकर और 1/4 चम्‍मच सेंधा नमक मिलाकर पेस्ट बना लें। फिर इसे संक्रमित दांत पर लगाकर 10 के लिए छोड़ दें। कैविटी को कम करने के लिए इस उपाय को कुछ दिनों के लिए दिन में दो बार करें।  

पिम्पल्स के दाग कैसे दूर करे – आधा-आधा चम्मच नींबू का रस और हल्दी में चौथाई चम्मच नमक और एक चम्मच पानी मिलाकर गर्म करके चेहरे पर लगाये फिर सूखने के बाद चेहरा धोयें। चेहरे के दाने मुँहासे व उनके निशान मिट जायेंगे। यह हर चौथे दिन लगायें

जिन लोगो को कब्ज की समस्या रहती है उन्हें कील – मुंहासे होने का सबसे ज्यादा खतरा होता है. जब हमारे शरीर से टोक्सिन (मल – मूत्र ) बाहर नहीं निकलते तो वह हमारे त्वचा पर फोड़े – फुंसियों के रूप में बाहर निकलता है. इसलिए अपने पेट को अच्छी तरह साफ़ कर ले.

ध्यान रखें, अपनी जीभ को भी अवश्य साफ करें, क्योंकि आप की जीभ पर काफी बैक्टीरिया जमा हुए होते हैं, जिसकी वजह से सांस में दुर्गन्ध हो सकती है। जीभ के ऊपर पीछे से आगे की तरफ ब्रश करें और जीभ के कोनों को न भूलें। अपने जीभ पर चार बार से ज्यादा बार ब्रश न करें और ध्यान रखें कि ब्रश करते वक्त जीभ के ज्यादा पीछे तक ब्रश न करें।

वात और कफ को शांत करने के लिए सूखी अदरक और काली मिर्च उत्कृष्ट हैं। ये श्वसन प्रणाली के स्वास्थ्य को बनाए रखने और पाचन और संचलन को बढ़ाने में सहायक होती है। ये सामग्री शरीर में गर्मी उत्पन्न करती हैं।

सोरायसिस आमतौर पर कर सकते हैं हो प्रतिष्ठित से अन्य रोगों द्वारा विशेष लक्षण psoriasis के लक्षण: लाल और गुलाबी रंग के धब्बे जो thickened है, शुष्क त्वचा। यह आमतौर पर घुटने, कोहनी और खोपड़ी को प्रभावित करती है। मूल रूप से अभिव्यक्ति हर जगह शरीर पर प्रकट कर सकते हैं। लेकिन अधिक बार यह आघात, पुनरावर्ती मलाई, abrasions के स्थान पर प्रकट होता है।

नेज़ल रिन्स (nasal rinse) का प्रयोग करें: अपनी दवा की दुकान से एक खारा नेज़ल रिन्स खरीदें या पुराने ज़माने के नेति पॉट का उपयोग करें। अपने साइनस से खारा पानी और एक नमकीन घोल निकालने से आपकी नाक और गले के पीछे की बलगम साफ होगी।

दाग और धब्बे हटाने के कुछ नुस्खे जैसे मुलैठी त्वचा की संवेदनशीलता को बढ़ा सकते हैं। अतः जब आप दाग धब्बे हटाने के लिए किसी घरेलू नुस्खे का प्रयोग कर रहे हैं तो धूप में बाहर निकलने से पहले सही सनस्क्रीन (sunscreen) का प्रयोग अवश्य करें।

Masur ki dal 2 chmmach lekar mahin pis le. Isme thoda sa ghee or dudh milakar patla – patla lep bana le. Is lep ko muhaso par lgaye or sukhne de, sukhne ke bad chehra saf pani se dho de. Pimples thik hone lagenge

“गहरे छेद” दाँतों में जड़ो के पास हो जाते हैं जो की नियमित तौर पर फ्लॉस नहीं हो पाते।इनमे सड़ा अन्न और कीड़े पैदा हो जाते हैं जिससे साँसों में दुर्गन्ध आती हैं – जो सड़े हुए दाँतों (दर्दनाक, संक्रमित मसूड़ों) को जन्म देता हैं।

अब आपको भी अपने Pimple और Acne हटाने के लिए थोड़ा Serious हो जाना चाहिए और इन्हें हटाने के लिए गंभीरता से सोचना चाहिए. अपने कील – मुंहासो को दूर करने के लिए आप ऊपर बताये गये, सभी टिप्स और उपायों को अपनी दिनचर्या में शामिल करे.

* तुलसी के पत्ते से उपचार : तुलसी के पत्ते का प्रयोग भी मुंह के छालों में बहुत फायदेमंद है, इससे जल्द ही छालो में राहत मिलती है। तुलसी के तीन से चार पत्तों को पीसकर इसका रस निकालकर छालों पर लगाने से बहुत फायदा होता है।

4  जायफल को गाय के दूध के साथ घीसे और लेप तैयार करें इस लेप को चेहरे पर लगाये कुछ देर बाद इसे मलते हुए उबटन की तरह निकल दे यह प्रयोग 4 से 5 दिन करे आपको मुँहासे से राहत मिलेगी .और दाग धब्बे भी दूर होंगे .

टमाटर अम्लीय (एसिडिक) होते है और दानों पर उनकी लुगदी लगाने से त्वचा शुष्क होती है और इस वजह से त्वचा के छिद्र कस जाते हैं। इसका मतलब है कि छिद्र में से कम तेल निकलने की और मुँहासे न पैदा करने की सम्भावना होती है। टमाटर एंटीऑक्सीडेंट में समृद्ध है, और त्वचा पर लगाने से सूजन और त्वचा की क्षति को कम करता है।

घरेलू नुस्खे चेहरे के किसी भी दाग धब्बों के निशानों को हल्का करने की क्षमता रखते हैं। इनका सही और ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठाने के लिए इनका प्रयोग निरंतर रूप से और बताये गए नुस्खे के अनुसार लंबे समय तक करें। इससे आपको बेहतरीन परिणाम मिलेंगे।

ठीक है, अस्वीकरण: बहुत से इंसान इस उपचार की कसम खाता है, और यह हैला चिकना है (जो अब तक टूथपेस्ट के आसपास भोगता है ?!) लेकिन यह मील मुश्किल है उम्मीद कर रहे हैं कि आपकी त्वचा टूथपेस्ट के अपने लोगो के लिए प्रतिक्रिया करेगी। “टूथपेस्ट्स में पदार्थ और सुगंध शामिल हो सकते हैं जो त्वचा को खराब और नुकसान पहुंचाएंगे” डॉ बोवे कहते हैं। यदि आपको ऐसा करने की ज़रूरत है, तो निश्चित करें कि आप पहले किसी पैच का परीक्षण करते हैं, खासकर जब आपके पास संवेदनशील त्वचा होती है

दोस्तों पिम्पल्स हटाने के तरीके, Home remedies tips to remove Pimples (Acne) in Hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर के बताये और अगर आपके पास कील मुंहासे का इलाज के घरेलू उपाय और देसी नुस्खे है तो हमारे साथ शेयर करे।

Baking soda helps in reducing the inflammation in the pimple. You can use it by making a soft paste of baking soda with water. Spread this paste on the pimple and leave it for 5 minutes unless it dries. It has the property of drying out the pimple and helps in maintaining the pH level of the skin. But do not let it dry for longer time as it dries the skin. After drying clean the skin properly. It is one of the fastest methods to remove pimple.

पपीता विरोधी ऑक्सीडेंट्स और एंजाइमों में समृद्ध है, जो कि बैंपिरिया पर दाना पैदा करने के लिए काम करते हैं। प्रभावित क्षेत्र पर कच्ची पपीता के एक ताज़ा तैयार पेस्ट का उपयोग करें। इसे 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें और कुल्ला बंद करें।

हमेशा मुँह में थोड़ा सा पानी लें और अच्छी तरह से मुँह में चारों और तेज़ी से घुमाए जिससे की दाँतो के बीच में फसे अन्न के कण निकल जाएँ। जब आप अपने दाँतों (कम से कम दिन में दो बार होना चाहिए) को ब्रश करते हैं अपनी जीभ की सफाई के लिए टूथब्रश, एक चम्मच के किनारे, या एक जीभी का प्रयोग कर सकते हैं।

आज का दौर खुद को दूसरो से बेहतर साबित करने का दौर है. हर किसी की चाह अपनी अलग पहचान बनाने की है. लेकिन जब किसी भी Person के Face पर pimples हो जाते है तो यह उसके Confidence को बहुत Low कर देता है. उसके मन में खुद के लिए हीन – भावना आने लगती है. वह व्यक्ति लोगो से मिलने में कतराने लगता है.

Psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसे? पहले एक रोग की अवस्था पर तय और बाद में सोरायसिस के उपचार की नियुक्ति। Psoriasis के प्रकारनिर्धारित कारकों में से एक है। अपने चिकित्सक शायद आप एक शुरुआत के लिए कुछ सामयिक क्रीम की सिफारिश करेगा और केवल बाद में एक अलग और अधिक गंभीर छालरोग उपचार दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता।

एलोविरा का प्रयोग करें: एलोविरा का रस एक ऐसा प्राकृतिक पदार्थ है जो कई प्रकार कि बिमारियों, चोट लगना, जल जाना, या मुँहासों को दूर करता है | यह त्वचा को फिर से नया बनाकर नमी प्रदान करता है | एलोविरा को किसी भी दुकान में पाया जा सकता है, लेकिन एलोविरा के पत्तियों का रस सब से ज्यादा उपयोगी माना गया है | इसके जैल को धब्बों पर लगाकर छोड़ दें | धोने की भी जरुरत नहीं है |

यदि आप चाहते है की आपकी दाढ़ी और मूछ का रंग सफेद न हो तो इसके लिए अपने रोजाना के भोजन में फल, हरि सब्जियां, दाल तथा प्रोटीन युक्त पदार्थो का सेवन करें तथा जंक फ़ूड खाना,शराब का सेवन करना छोड़ दे इसके साथ ही अपने सफेद बालों को छुपाने के लिए डाई का प्रयोग बिलकुल न करें क्योकि इनमे केमिकल मिले होते है।

हल्दी में मौजूद एन्टीसेप्टिक और एन्टी-इन्फ्लैमटोरी गुण छालों को न सिर्फ ठीक करते हैं बल्कि यह गुण छालों को दुबारा होने से भी रोकते हैं। हल्दी पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलकर पेस्ट तैयार  कर ले और अब इस पेस्ट को छालों पर लगायें, इससे दर्द से तुरन्त राहत मिल जाएगा।

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

दलिया खाना जहाँ हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है वही यह हमें शारारिक मजबूती भी देता है. आप दलिये का इस्तेमाल अपने पिम्पल दूर करने के लिए करे. आप दलीये के साथ शहद मिला ले और फिर दोनों को अच्छी तरह मिक्स कर ले. इस पेस्ट को फिर अपने कील – मुंहासो में लगाये और 20 मिनट बाद इसे पानी से धो ले.

“मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए जूस -कैसे मुँहासे से बचने के लिए”

हमेशा एक त्वचा विशेषज्ञ से मिले यदि ये मुँहासे लम्बे समय तक हो रहे है: यह उनके लिए साधारण है जिनके कूल्हों पर मुँहासे 20 वर्ष की आयु के बाद आ जाते हैं लेकिन एक त्वचा विशेषज्ञ ही आपको ऐसा पर्चा दे सकता है कि आपके मुँहासे साफ़ हो सके।

जब भी आपको अपने घर से बाहर किसी काम के लिए जाना होता है तो उसके बाद जब आप घर आते हो तो तब आप अपना मुँह अवश्य धो ले. बाहर के प्रदूषण से आपके चेहरे पर धूल – मिटटी जम जाती है. जो हमारे फेस को नुकसान पहुँचा देता है. आगे से इस बात का ख्याल जरुर रखे.

4  जायफल को गाय के दूध के साथ घीसे और लेप तैयार करें इस लेप को चेहरे पर लगाये कुछ देर बाद इसे मलते हुए उबटन की तरह निकल दे यह प्रयोग 4 से 5 दिन करे आपको मुँहासे से राहत मिलेगी .और दाग धब्बे भी दूर होंगे .

यह आपके चेहरे पर कोई गलत परिणाम नहीं देते . मुहाँसे के लिए मेडिकल इलाज लेने से पहले हमेशा ही घरेलु इलाज लेना चाहिए क्यूंकि मेडिकल इलाज से चेहरे की प्राकृतिक सुन्दरता चली जाती हैं और चेहरा बेजान हो जाता हैं .अपने चेहरे से मुहाँसे हटाने के लिए पहले साधारण घरेलु इलाज करे जिससे चेहरे में और अधिक निखार आता हैं .

स्‍वाद और सुगंध से भरपूर दालचीनी को मसालों में अहम स्‍थान दिया गया है। दालचीनी का दोनों ही मसाले और दवा के रूप में उपयोग का लंबा इतिहास है। वास्तव में प्राचीन काल में, यह मसाला इतना बहुमूल्य खजाना माना जाता था कि इसकी कीमत सोने से भी ज्यादा थी।यह श्रीलंका एवं दक्षिण भारत में बहुतायत में मिलता है। यह एक वृक्ष की छाल होती है। यह गरम मसाला तो है ही यह पाचन, वातहर, स्तंभण, गर्भाशय उत्तेजक, गर्भाशय संकोचक एवं शरीर उत्तेजक है। चाय, काफी में दालचीनी डालकर पीने से मीठी हो जाती है तथा सर्दी भी ठीक हो जाता है।

मुल्तानी मिट्टी (fullers earth) तैलीय (oily) त्वचा वालों के लिए बहुत ही गुणकारी हैं, मुल्तानी मिट्टी चेहरे के तेल को सोखने का काम करता है.     यह तेलीय त्वचा वालों के लिए बहुत ही अच्छा फेसपैक (face pack) बन सकता है। मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करने से दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) से छुटकारा मिलता है क्युकी ये pimples को अच्छे से सूखा देता है और जड़ से खत्म करता है। मुल्तानी मिट्टी का उपयोग करने से पहले उसको पानी डाल के छोड़ दें और उसको अच्छी तरह से फूलने दें, उसके बाद उसे अपने चेहरे पर अच्छी तरह से लेप लगा लें। सूखने के बाद इसको हल्का गर्म पानी से धो लें। ऐसा करने से जल्दी ही आपको इसका परिणाम नजर आएगा।

बहुत ही खूब सुरेंद्र जी, इस Post में आपने कील-मुहांसो के सभी कारणों की जानकारी दे दी और साथ ही साथ उनसे राहत पाने के लिए सबसे उपयोगी सभी घरेलू नुस्खों के बारे में भी बता दिया। बहुत से लोग chemicals का उपयोग करते है ,उन्हें लगता है कि तरह तरह की chemicals वाली creams और lotions use करके उन्हें इससे छुटकारा मिल जाएगा ,छुटकारा तो उन्हें मिल जाता है, मगर जो उनकी skin को नुकसान होता है उसके बारे में वह कभी सोचते भी नहीं न ही उन्हें जानकारी होती है। आपने सभी घरेलू नुस्खे बताये है जोकि बहुत ही फायदेमंद है और skin की natural glow को बनाये रखते है। इतनी उपयोगी जानकारी के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

आज के समय में बहुत से लड़के – लड़कियां एक बात से बहुत परेशान होते है और वह है चेहरे पर कील – मुंहासो का होना. किसी के भी चेहरे पर दाग – धब्बे अच्छे नहीं लगते और इससे एक खुबसूरत चेहरा भी बदसूरत नजर आने लग जाता है.

अपने दांतो को फ्लॉस करें: फ्लॉस करना अच्छे स्वस्थ मुंह का जरूरी अंश है। फ्लॉस करने से आपके दांतो के बीच में से प्लैक और बैक्टीरिया निकल जाता है, जो कि अच्छे से अच्छे ब्रश से भी नहीं निकलता। दिन में कम से कम एक बार फ्लॉस जरूर करें।[२]

ग्रीन या ब्लैक टी (चाय) पीएं: चाय में पॉलीफेनोल्स (polyphenols) मौजूद होता है, जो सल्फर को दूर करने में और मुंह के बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है। यह मुंह को हाइड्रेट (जलयोजित) करने में भी सहायता करता है। अच्छे नतीजे के लिए दिन में कई बार बिना मिठास वाली गर्म चाय को पीयें।[१४]

हॉर्सरेडिश आपके चेहरे से काले धब्बे और अन्य दाग दूर करने में काफी प्रभावशाली साबित होता है। हॉर्सरेडिश लेकर इसे किस लें और इससे एक महीन पेस्ट तैयार कर लें तथा अपने चेहरे के प्रभावित भागों पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग दिन में कम से कम 2 बार करें और एक महीने आपको काफी प्रभाव दिखेगा।

माइक्रोडर्माब्रेशन (microdermabrasion) या रासायनिक पील के बारे में भी विचार करें: यह प्रक्रिया रातों रात आपके दाग को ठीक नहीं करेगी, क्योंकि ये काफी कठोर होते हैं और त्वचा को ठीक होने में वक़्त लगता है | लेकिन, अगर कोई भी क्रीम आपके काम नहीं आ रही है और आपको सामान्य त्वचा चाहिए, तो आप इसे करवाने के बारे में सोच सकते हैं |

त्वचा को लंबे समय तक खूबसूरत बनाए रखना है तो आपको उसका प्राकृतिक उपचार करने की जरूरत है।इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आप सिर्फ कुछ दिनों में पिम्पल्स की समस्या से छुटकारा पा सकती है।

अगर मुँहासों में संक्रमण हो जाए तो इनमें दर्द, जलन और पस निकलने लगता है जो की एक अत्यधिक गंभीर समस्या बन सकता है | मुहाँसे अक्सर 15 से 25 साल की आयु में निकलते है पर यह तय नहीं है क्योंकि यह अन्य आयु वर्ग के लोगों को भी हो सकते है |

आश्चर्य की बात है कि जिस चीज़ से आप बचना चाहते हैं, वह उसी समय हो जाती है। जैसे एक अतिथि आपके दरवज़े पर आ जाये जब आप खरीदारी के लिए निकल रहे हों, टीवी पर फिल्म का चरमोत्कर्ष आने वाला हो और बिजली चली जाये, और हाँ, ज़्यादातर किशोरों(टीनएजर) की व्यथा – मुँहासों का प्रकोप कॉलेज फेस्ट या किसी की शादी के २-३ दिन पहले जब आप सबसे अच्छा दिखना चाहते हैं। पहली २ घटनाओं के बारे में आप तुरंत कुछ नहीं कर सकते लेकिन मुँहासों का नियंत्रण आप निश्चित रूप से कर सकते हैं। कुछ सरल सामग्री का उपयोग करके जो आमतौर से हर रसोई में मिल जाती हैं, उनसे इस भद्दे मुँहासों को ठीक करना संभव है।

“स्थायी रूप से मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए -गर्भावस्था मुँहासे”

मुंह की दुर्गंध (Mouth Bad Smell) की समस्या अक्सर दूसरों के सामने शर्मिंदगी का कारण बन सकती है। जिसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। जैसे ब्रेकफास्ट न करना, मुंह की सफाई न करना, खराब डाइजेशन और सलाइवा की कमी जैसी कई समस्याएं होती हैं। इसे खान-पान में सुधार करके काफी हद तक कम किया जा सकता है। आइए जानेंगे इनके बारे में— सबसे पहले तो दांतों और मुंह से बदबू आने के कारण जानते हैं।

Muje kafi time se pimple aa rahe hai aur maine sb try kr liya hai bt kuch farak nahi ho raha hai pahele too muje pime normal hote the bt ab jabhi pimple aate hai too vo jagh pe muje sujan aur bahut hi pain hota hai jiski vajh seuje full day sir dukhta hai pls muje iska reason bataye aur kya main isle ilaj ke liye homeopathy ka treatment lu ki ayuervedic

बर्फ़ का प्रयोग करें: यह एक घरेलू उपचार है जो धब्बों को फीका करके सूजी हुई त्वचा को ठीक करता है | एक साफ़ कपड़े या तोलिये में बर्फ को बंद कर प्रभावित त्वचा पर 1-2 मिनट तक लगाते रहें जब तक वह जगह सुन्न न हो जाए |

Mere cheeks ke upr kuch hi pimples h but wo pichle 5 -6 mhine se h to kya kre btao neem face pack alloevara sb lga ke dekh liya .or jb inko pinch krte h tb ye jyada bde ho jaten h or drd hota h kya kre sir plz give me answer

* पुदीने की पत्तियाँ : जब भी आपको अपने छालों को ठीक करना हो, तो पुदीने की पत्तियाँ भी काफी काम आती हैं। इसके लिए पुदीने की पत्तियों का पानी और शहद के साथ मिलाकर गूदा बना लें और इन्हें अच्छे से पीस लें। इसे अपनी जीभ पर अच्छे से लगाएं और जीभ को मुंह के बाहर रखने की कोशिश करें। इसे 10 मिनट तक इसी तरह रखें और फिर सादे पानी से धो लें।

दोस्तो Bad Breathing के कारण अगर आप भी अपने साथियों के सामने शर्मिंदा नहीं होना चाहते तो आज इस लेख में बताए गये नुस्खे को जरुर आजमाए | इससे mouth bad smell से छुटकारा मिले गा और साँसों में फरेशनेश आएगी |

मुल्तानी मिट्टी (fullers earth) तैलीय (oily) त्वचा वालों के लिए बहुत ही गुणकारी हैं, मुल्तानी मिट्टी चेहरे के तेल को सोखने का काम करता है.     यह तेलीय त्वचा वालों के लिए बहुत ही अच्छा फेसपैक (face pack) बन सकता है। मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करने से दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) से छुटकारा मिलता है क्युकी ये pimples को अच्छे से सूखा देता है और जड़ से खत्म करता है। मुल्तानी मिट्टी का उपयोग करने से पहले उसको पानी डाल के छोड़ दें और उसको अच्छी तरह से फूलने दें, उसके बाद उसे अपने चेहरे पर अच्छी तरह से लेप लगा लें। सूखने के बाद इसको हल्का गर्म पानी से धो लें। ऐसा करने से जल्दी ही आपको इसका परिणाम नजर आएगा।

ट्राईमिथाइलएमीन्यूरिया (trimethylaminuria): यदि आपका शरीर ट्राईमिथाइलएमीन्यूरिया रसायन को नहीं तोड़ पाता हैं तो वह लार में छूट जाता हैं जिसके कारण मुँह से दुर्गंध आती हैं । यह आपके पसीने के द्वारा जारी हो सकता हैं, जो कि शरीर की दुर्गंध का लक्षण हो सकता है ।

Aloe vera has ancestral popularity for its antifungal and antibacterial properties. Aloe vera gel is available in the market, but if you have aloe vera leaves in your home, then you can make use of it. Apply the aloe vera extract on the pimple and let the skin absorb it for 10 minutes. It can be applied on the face also. It kills the bacteria and reduces the redness of pimple.

अपने चेहरे की मांसपेशियों का प्रयोग करें: नाक के अंदर (cavity) मूवमेंट करना अटके हुए बलगम को निकाले में सहायक हो सकता है। गार्गलिंग और गुनगुनाने के बारे में तो पहले ही बता दिया गया है, आप इन सबका प्रयास भी कर सकते हैं:

जब लोक उपचार के चेहरे पर मुँहासे का इलाज करते हैंप्रयोग करने और संदिग्ध व्यंजनों का प्रयोग न करें इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि उत्पाद आपकी त्वचा के प्रकार के लिए उपयुक्त है। उपयोग की अनुशंसित विधि का पालन करें, अन्यथा, मुँहासे ठीक होने पर, आप एक क्षतिग्रस्त त्वचा के साथ शेष जोखिम उठा सकते हैं।

सेब- सेब को काटकर खाने से मुंह में लार का स्राव तेजी से होता है। इससेमुंह की सफाई हो जाती है, सारे जिवाणु निकल जाते हैं। फिर सांसों में बदबू पैदा नहीं होती। पानी-शरीर में पानी की कमी न होने दें। पानी की कमी हो तो लिक्विड ज्यादा मात्रा में लें। मुंह में थोड़ा पानी लेकर हल्के-हल्के कुल्ला करें। खड़े गरम मसालों में शुमार दालचीनी की चाय पीने से मुंह से आने वाली बदबू से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता है।

मेरा यह सबसे Best Tips है जो मैं आपको देना चाहूँगा इसने मुझे Acne और Pimple को कम करने में काफी help की. आपको जब भी पानी दिखे तो अपना मुँह धो ले. अगर आप कोई काम करते है तो उसके बाद साफ़ पानी से मुँह धोये. रात को सोने से पहले भी अपना चेहरा पानी से अवश्य धो ले. यह आपके लिए बहुत होगा.

एक प्राकृतिक तेल का प्रयोग करें: टी ट्री (Tea tree ) तथा नारियल का तेल बहुत उत्तम एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल तेल है जो कि परेशानी वाली जगह पर लगाए जा सकते हैं ताकि उन मुँहासों के उपचार में मदद मिल सके।

आप अपना चेहरा भाप कर सकते हैं गर्म वाष्प में त्वचा को नरम करने की क्षमता होती है, साथ में मृत त्वचा कोशिकाओं, बाएं-पीछे के सौंदर्य प्रसाधन, तेल और बैक्टीरिया जो प्लग छिद्रता है। इस बैक्टीरिया, गंदगी और त्वचा के छिद्रों में फंसे तेलों को हल्का ढंग से चेहरे को साफ़ करने से हटा दिया जा सकता है।

लहसुन खाएँ: अदरक की तरह, लहसुन बहुत शक्तिशाली होता है और जीवाणुओं को मारने और आपके गले को बलगम-मुक्त करने में अच्छा काम करता है। कच्चे लहसुन की कई कलियों को रोज़ खाएँ और अपने खाने में भी इसे घिसें। अगर आप कर सकते हैं, तो लहसुन को सुबह उठते ही खाएँ क्योंकि यह ढंग से बलगम बहने से पहले ही उसे मारने में मदद करता है।

वैज्ञानिकों का मानना कि सामान्य जनसंख्या का कम से कम 10 प्रतिशत में से एक या अधिक जीन है कि छालरोग के लिए एक गड़बड़ी पैदा की इनहेरिट होती। हालाँकि, केवल 2 प्रतिशत से 3 प्रतिशत जनसंख्या का रोग विकसित करता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि छालरोग विकास करने के लिए एक व्यक्ति के लिए जीन है कि छालरोग कारण और विशिष्ट बाह्य कारकों “ट्रिगर के रूप में.” जाना जाता करने के लिए उजागर किया का एक संयोजन व्यक्तिगत होना चाहिए

जो लोग परीक्षा की चिंता या घबराहट से चिंतित हैं, वे मन को शांत रखने के लिए दालचीनी से बनी हुई चाय पी सकते हैं। यकीन मानिये यह वास्तव में आपके चिंता को कोसों दूर भेज उसे आनंद और एकाग्रता से प्रतिस्थापित कर देगा और आप ख़ुशी-ख़ुशी अपना कार्य पूरा कर सकेंगे।

मेलनिन के मात्रा कम होने के कारण मूछ और दाढ़ी के बाल सफेद होने लगते है मेलनिन ऐसा तत्व है जो आपके बालों और त्वचा के रंग को सही रखने में मदद करता है लेकिन उम्र के साथ शरीर में मेलनिन की मात्र कम होने के कारण बालों और त्वचा का रंग फीका पड़ने लगता है

अपने चेहरे पर बर्फ के क्यूब्स को नियमित रूप से रगड़ने की आदत को बढावा दें | इससे आपके चेहरे पर blood circulation को बढ़ाने में मदद मिलेगी और बेहतर blood circulation आपके चेहरे को एक स्वस्थ और ताजा रखने में मदद कर सकता है |

कैस्टर ऑइल में त्वचा की मरम्मत के गुण होते हैं और यह काले धब्बे दूर करने में आपकी काफी सहायता करता है। प्रभावित भाग को अच्छे से साफ कर लें तथा इसके बाद अपनी त्वचा पर कैस्टर ऑइल से 5 मिनट तक मालिश करें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और एक गीले कपड़े से इसे पोंछ लेने से पहले चेहरे पर 5 मिनट तक दोबारा मालिश करें। अंत में इसे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग दिन में 2 बार करके एक महीने में अच्छे परिणाम प्राप्त करें।

मुल्तानी मिट्टी तैलीय और मुँहासे प्रवण त्वचा के लिए अच्छी है और यह अतिरिक्त तेल को अवशोषित कर, उनको रोम छिद्र से मुक्त करती है। यह आपके रंग में सुधार करने में भी मदद करती है। (और पढ़ें – आठ दिन के लिए यह उबटन लगाएँ, काले से गोरा रंग और सुंदर त्वचा पाएँ)

ऑइली त्वचा से पूरी तरह से छुटकारा पाना मुश्किल हो सकता है, लेकिन आप इस सामान्य समस्या को हल करने के लिए कई चीजें कर सकते हैं। महंगे और केमिकल युक्त उत्पादों का उपयोग करने की कोई आवश्यकता नहीं है। बहुत से लोगों ने घरेलू उपायों को इस समस्या के लिए मेहतर और प्रभावी पाया है। 

“मुँहासे से छुटकारा मिल सकता है |मुँहासे उम्र से छुटकारा 36”

अब आपको भी अपने Pimple और Acne हटाने के लिए थोड़ा Serious हो जाना चाहिए और इन्हें हटाने के लिए गंभीरता से सोचना चाहिए. अपने कील – मुंहासो को दूर करने के लिए आप ऊपर बताये गये, सभी टिप्स और उपायों को अपनी दिनचर्या में शामिल करे.

मुँहासे त्वचा कि हालत को दर्दभरा और बदरंग बना सकते हैं। इनके द्वारा छोड़े गए दाग, हमेशा इनकी अप्रिय याद दिलाते हैं। कई मुँहासों के दाग, अपने आप ही कुछ महीनों में साफ़ हो जाते है, लेकिन इन्हे जल्दी साफ़ करने के लिए आप कुछ उपाय करके, मुँहासों को आने से रोक सकते हैं | वैसे तो मुँहासों के दाग एक रात में नहीं जाएँगे, लेकिन कुछ नुस्खे, उपचारों, उत्पादनों को प्रयोग करने से कम समय में काफी फर्क पड़ेगा | आपकी त्वचा अनुसार सही नुस्खे को ढूंढें |

वैज्ञानिकों का मानना कि सामान्य जनसंख्या का कम से कम प्रतिशत में से एक या अधिक जीन है कि छालरोग के लिए एक गड़बड़ी पैदा की इनहेरिट होती। हालाँकि, केवल 2 प्रतिशत से 3 प्रतिशत जनसंख्या का रोग विकसित करता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि छालरोग विकास करने के लिए एक व्यक्ति के लिए जीन है कि छालरोग कारण और विशिष्ट बाह्य कारकों “ट्रिगर के रूप में.” जाना जाता करने के लिए उजागर किया का एक संयोजन व्यक्तिगत होना चाहिए

कील मुंहासे का इलाज, नीबू मे स्तम्मक(अस्ट्रिंजेंट), विटामिन सी होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकल देता है तो जब भी आप दाग धब्बे का इलाज करे तो नीबू का इस्तेमाल करे। नीबू का रस निकल कर कॉटन की सहयता से दाग पर लगाए। अच्छे परिणाम के लिए हर दूसरे दिन इस विधि का उपयोग करे।

अपने आहार का मूल्यांकन करें और इसे करना शुरू करेंअधिक विविध, स्वस्थ, संतृप्त विटामिन इस कदम के बाद माथे पर मुँहासे का इलाज कैसे करें? एक त्वचाविज्ञानी और एक cosmetologist परामर्श करने के लिए सुनिश्चित करें

मुँह में दुर्गन्ध पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें:आप शायद पहले से ही जानते हैं कि प्याज, लहसुन, पनीर, और कॉफी (या उन्हें खाने के बाद कम से कम अच्छे से ब्रश करें) जैसे बदबूदार खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।[५]

पिम्पल्स का इलाज के लिए रसायनिक पदार्थ का उपयोग करने से बेहतर होगा की आप प्राकृतिक उत्पादो का उपयोग करे। घरेलू उत्पाद बहुत सस्ते होते है और इनका कोई बुरा असर भी नही पड़ता। चेहरे पर दाने के उपाय, त्वचा की देखरेख करना वो भी सुंदरता के साथ यह बहुत ज़रूरी है। कुछ घरेलू उपचार की सूची नीचे दी गई है जो काले दाग (black spots) धब्बे, मुँहासे के निशान से दूर रहने मे आपकी मदद करेगे।

एक प्रक्रिया बुलाया सेल कारोबार में, त्वचा कोशिकाओं है कि आपकी त्वचा में गहरी बढ़ने सतह को जन्म। आम तौर पर, यह एक महीने लग जाते है। क्योंकि अपने कक्षों में भी तेजी से वृद्धि में सोरायसिस, यह बस के दिनों में होता है।

दालचीनी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है, लेकिन यह सोचकर इसका अधिक मात्रा में सेवन न करें। यदि आपको लगता है कि एक बार में जादा खुराक लेने से आपको दालचीनी का जल्दी लाभ मिलेगा, तो आप जो सोच रहे है वह बिलकुल गलत है। क्योंकि इसके बहुत जादा सेवन से आपको लाभ मिले ना मिले परंतु इसके दुस्प्रभाव का सामना आपको अवश्य करना पड़ सकता है

नई दिल्‍ली : सांसों की दुर्गन्ध और मुंह की बदबू एक ऐसी समस्‍या है, जो कई लोगों  में पाई जाती है। आपके मित्र, सहकर्मी और अन्‍य आपके पास बैठने से कतराते हैं। मुंह से आती दुर्गन्ध और सांस की बदबू (हैलाटोसिस) अक्सर मुंह में मौजूद एक बैक्टेरिया से होती है। इस बैक्टेरिया से निकलने वाले ‘सल्फर कम्पाउंड’ की वजह से सांस की बदबू पैदा होती है। कई बार तो लोग इस समस्या से अंजान होते हैं। इस बदबू के कई कारण होते हैं, जैसे-गंदे दांत, पाचन की समस्या और धूम्रपान। कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर इस समस्‍या से छुटकारा पाया जा सकता है।

यदि सम्भव हो तो अपने कूल्हों को धूप लगाएँ: यदि आपके पास अपना निजी आँगन (private backyard) है या न्यूड समुद्र तट (nude beach ) पास में है तो एक गर्म दिन पर अपने कूल्हों को कुछ धूप लगाएँ। सूरज प्राकृतिक रूप से ज्यादा तेल को सुखा देगा।

मुंह की बदबू हटाने में खट्टे फल सबसे अधिक कारगर होते हैं। बता दें कि संतरा, नींबू, आंवला, अंगूर जैसे फलों में विटामिन सी की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। इनका सेवन करने से मुंह की बदबू से जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है।

“जांघ मुँहासे से छुटकारा +कैसे मुँहासे के निशान से छुटकारा पाने के लिए स्वाभाविक रूप से”

Aloe Vera हमारे चेहरे के लिए बहुत फायदेमंद होता है जिस कारण यह बहुत प्रसिद्ध है. इसका रस कील – मुंहासो पर लगाने से कील – मुंहासे बहुत जल्दी ठीक हो जाते है. अपने चेहरे को खुबसूरत बनाये रखने के लिए भी आप एलोवेरा का प्रयोग कर सकते है.

शहद इस्तेमाल करें: शहद से ना सिर्फ मुँहासे साफ़ होंगे बल्कि जो लाल दाग पीछे रह जाते हैं, वे भी साफ़ हो जाएंगे | शहद में मौजूदा एंटी-बैक्टीरियल गुण से त्वचा कोमल और सूजन मुक्त बनेगी | किसी भी क्यू-टिप से इसे सीधे निशानों पर लगाया जा सकता है |

शुरू -शुरू में हो सकता है की मसूड़ों से रक्तस्राव हो क्यूंकि दाँतो और मसूड़ों के बीच से जाने कितने समय से फसे हुए अन्न के टुकड़े निकलेंगे। हिम्मते करके क्षण भर को दाँतों से निकले फ्लॉस को सूंघें तो आपको पता चलेगा कि मुँह से दुर्गंध कहाँ से आ रही है।

कैस्टर ऑइल में त्वचा की मरम्मत के गुण होते हैं और यह काले धब्बे दूर करने में आपकी काफी सहायता करता है। प्रभावित भाग को अच्छे से साफ कर लें तथा इसके बाद अपनी त्वचा पर कैस्टर ऑइल से 5 मिनट तक मालिश करें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और एक गीले कपड़े से इसे पोंछ लेने से पहले चेहरे पर 5 मिनट तक दोबारा मालिश करें। अंत में इसे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग दिन में 2 बार करके एक महीने में अच्छे परिणाम प्राप्त करें।

वैज्ञानिकों का मानना कि सामान्य जनसंख्या का कम से कम 10 प्रतिशत में से एक या अधिक जीन है कि छालरोग के लिए एक गड़बड़ी पैदा की इनहेरिट होती। हालाँकि, केवल 2 प्रतिशत से 3 प्रतिशत जनसंख्या का रोग विकसित करता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि छालरोग विकास करने के लिए एक व्यक्ति के लिए जीन है कि छालरोग कारण और विशिष्ट बाह्य कारकों “ट्रिगर के रूप में.” जाना जाता करने के लिए उजागर किया का एक संयोजन व्यक्तिगत होना चाहिए

क्या आपको याद है आपकी दादी आपके घावों पर हल्दी छिड़कने के लिए कहती थीं? खैर, चिकित्सा शोधकर्ताओं ने अब पता किया है कि हल्दी में ऐसी सामग्री शामिल होती हैं जो उसे एक शक्तिशाली रोगाणुरोधी बनाती हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि भारत में महिलाओं ने अब तक अपनी त्वचा को स्वस्थ और दमकती रखने के लिए हल्दी के उबटन का उपयोग किया है। आप सीधे त्वचा पर हल्दी का पेस्ट लगा सकते हैं, गर्म दूध के साथ लेने से भी आप साफ़ त्वचा पा सकते हैं।

दोस्तो Bad Breathing के कारण अगर आप भी अपने साथियों के सामने शर्मिंदा नहीं होना चाहते तो आज इस लेख में बताए गये नुस्खे को जरुर आजमाए | इससे mouth bad smell से छुटकारा मिले गा और साँसों में फरेशनेश आएगी |

हर हफ्ते कम-से-कम एक बार कूल्हों की त्वचा की पपड़ी उतारें: मुँहासे रोकने वाली एक्सफ़ोलिएटिंग क्रीम (exfoliating cream) और लूफ़्हा (loofah) का प्रयोग करें। यह एक्सफोलिएशन मृत त्वचा के सेल हटा देगा ताकि आपके रोम छिद्र बंद न हों।

भेंट के अलावा एक टिप घर का सौंदर्य उपचार है कि कैसे मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए समझाने की मांग लोगों के लिए, इस पोस्ट के माध्यम से हम भी अनुशंसा करते हैं कि, जब यह ग्रेनाइट के लिए एक अंत डाल करने के लिए आता है, दैनिक त्वचा के अपने प्रकार के अनुसार उत्पादों के साथ अपने चेहरे को साफ करने के लिए याद रखें, आप exfolies सप्ताह में एक बार त्वचा, आप तनाव और तम्बाकू से दूर चलाने के लिए और एक स्वस्थ और संतुलित आहार संतृप्त वसा के नि: शुल्क ले लो.

गुलाब जल भी एक बढ़िया उपाय है. मुहासों को दूर करने का यदि आप गुलाब जल के अंदर काली मिर्च के कुछ दाने पिस कर मिलाये और उसको रात को अपने मुह पर लगाकर सोने के बाद सुबह उस धो ले इससे भी आपके चेहरे पर मुहासों को दूर करने मु मदत मिलती है. और यदि आप नींबू के रस को भी गुलाब जल के अंदर मिला कर लगा सकते है.

ज्यादा रेशे वाले (फाइबर से भरपूर) आहार लें: ताजा और कुरकुरा भोजन आपके दांतो को साफ़ रखने के साथ-साथ, यह दुर्गन्धयुक्त सांस को भी रोकेगा। इससे आपकी पाचनशक्ति में सुधार होगा और विषैले तत्व आपके शरीर से निकल जाएंगे।[९]

एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाएं और रोज़ रात को सोने से पहले इसे पी लें। यह हार्मोन संतुलन में मदद करेगा, जो त्वचा में अतिरिक्त तेल के उत्पादन को नियंत्रित करेगा। (और पढ़ें – हार्मोन्स का महत्व महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए)

मेडिसिन की भाषा में मुंह से दुर्गंध (Bad Breathing) की स्थिति को हैलीटोसिस कहते हैं| ये मुंह की सफाई का ठीक से ख्याल ना रखने और खान पान की गलत आदतों से पैदा होती है| सांस की बदबू का कारण अक्सर जीभ, दांतों और मसूड़ों पर जमे बैक्टीरिया के प्लाक के कारण आती है | इसीलिए जीभ को रोज साफ करना चाहिए|

नींबू में मुहांसों से लड़ने के कुछ रासायनिक गुण मौजूद होते है| नींबू का सबसे बड़ा गुण आयल (चिकनाई) को खत्म करने का होता है क्योंकि इसके एसिड की रासायनिक संरचना क्षार या कसैला होती है| दूसरा नींबू एक नेचुरल एंटी बैक्टीरियल एंटीसेप्टिक है | मुहांसों के लिए नींबू का इस्तमाल सदियों से होता आ रहा है और आजकल काफी सारी कंपनिया नींबू युक्त प्रोडक्ट बाज़ार में उतार रही है जो पिम्पल्स के इलाज में काम आती है | इस पोस्ट में हम बतायेंगे की कैसे आप नींबू की मदद से  कील मुहासों से छुटकारा पाए|

Yoghurt also works as an inflammation reducing agent and reduces the itchiness in the affected region. It can be applied directly on the pimple. It will reduce the temperature of that area and stop the growth of the bacteria in that region, thus helping to kill the pimple.

फिर ब्यूटीशियन पर जाएं एक अच्छा विशेषज्ञ या सिद्ध सैलून चुनना बेहतर है एक अनुभवी चिकित्सक, माथे पर मुँहासे को हटाने के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को सलाह देगा, और अपने चेहरे की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आगे की देखभाल के लिए साधन का चयन करने में भी मदद करेगा।

शहद और गिलेसरीन के प्रयोग से भी आप छालों की समस्या से छुटकारा पा सकते है.  मुंह में छाले होने पर शहद और गिलेसरीन का इस्तेमाल काफी अच्छा रहता है. शहद और गिलेसरीन को आपस में मिलाये और इस मिश्रण को कॉटन की मदद से लों में लगाए. इससे मुंह के छाले धीरे-धीरे कम होने लगेंगे.

जिस तरह हम लोग रोज नहाए रोज मुंह धोए बिना नहीं रह पाते हैं उसी तरह हमें अपने कानों का भी जरुर ख्याल रखना चाहिए क्योंकि कानों की सफाई अगर हम नहीं करेंगे तो धीरे-धीरे कान के अंदर जो हमारा महल है वह जनता जाएगा जनता जाएगा और एक समय ऐसा आएगा कि उसकी वजह से हमारे कान की सुनने की क्षमता बहुत ही ज्यादा कम हो जाएगी साथ ही कान में दर्द होना भी शुरू हो जाएगा!

नींबू के रस में पानी मिलाकर या पानी की जगह तेल मिलाकर लगाने से भी डेंड्रफ की समस्या से छुटकारा मिलता है। साथ ही नींबू का रस हमारे बालों, स्किन और बॉडी के लिए क्लींजिंग एजेंट का काम करता है। इसे अपनाने से कई बीमारियों से निजात मिल सकती है।

अपने भोजन पर ध्यान दें एलर्जी प्रतिक्रियाओं की प्रवृत्ति के अभाव में भी, कुछ उत्पाद मुँहासे के गठन में योगदान कर सकते हैं। बड़ी मात्रा में कॉफी, बेकरी उत्पाद, मिठाई, फैटी, तली हुई और स्मोक्ड खाद्य पदार्थ त्वचा की स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं। बहुत सारे खाद्य पदार्थ और मसालों खाएं जो खून को शुद्ध (कच्ची सब्जियां और फलों, अदरक, हल्दी, धनिया);

Muje kafi time se pimple aa rahe hai aur maine sb try kr liya hai bt kuch farak nahi ho raha hai pahele too muje pime normal hote the bt ab jabhi pimple aate hai too vo jagh pe muje sujan aur bahut hi pain hota hai jiski vajh seuje full day sir dukhta hai pls muje iska reason bataye aur kya main isle ilaj ke liye homeopathy ka treatment lu ki ayuervedic

फिटकरी और गुलाब जल : फिटकरी और गुलाब जल से बने पेस्ट को अपनी मूछो पर लगाकर आप मनचाहा रंग प्राप्त कर लम्बे समय तक आप जंवा बने रह सकते है इसके लिए फिटकरी को पीसकर इसके पाउडर को गुलाब जल में मिलाकर आप अपनी मूछ पर लगाए।

चेहरे को रोज़ एक्सफोलिएट करें: मृत त्वचा को निकालकर अच्छी नयी त्वचा पाने के लिए, चेहरे को रगड़कर साफ़ करें | मुँहासे चेहरे के ऊपरी परत को ही नुकसान पहुँचाते हैं, इसलिए रगड़ने से इनके धब्बे कम हो जाते हैं | संवेदनशील त्वचाओं के लिए बनी हुई फ़ेशियल स्क्रब से आप अपने चेहरे को रगड़ सकते हैं |

नई दिल्ली: उत्तर पूर्व के तीन राज्यों में हुए चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी की इतनी बुरी हालात हो गई है। बीजेपी के बेहतर नतीजों के बाद पार्टी नेताओं ने कांग्रेस पार्टी पर हमले आरंभ कर दिए हैं। बीजेपी के वरिष्ठ [Read more…]

यदि आप जोखिम के समूह हैं और यह आपको एक जीन वाहक के रूप में विकसित कर सकते हैं तो कोई अपने परिवार में इस रोग से ग्रस्त है। उसके बाद में 50% मामलों की वे भी इस रोग से ग्रस्त बच्चों मामले में दोनों भागीदारों के एक जोड़े में सोरायसिस है है। किसी परिवार से यह रूप में अच्छी तरह से था, क्योंकि 30% psoriasis के साथ मरीजों की समस्या प्राप्त किया।

यह आपको जमे हुए फैट से लड़ने, सेल्युलाईट और खिंचाव के निशान हटाकर त्वचा के टिश्यू फर्म बनाने में सहायता कर सकता है। आपको सिर्फ विक्स वेपोरब, कपूर, बेकिंग सोडा और थोड़े से अल्कोहल के साथ एक क्रीम तैयार करने की ज़रूरत है। समस्याग्रस्त क्षेत्रों में परिणामस्वरूप क्रीम लगाएं और काले प्लास्टिक या एक क्लैंपिंग स्ट्रिप के साथ कवर करें। यह आप घर पर, ऑफिस में या व्यायाम करने से पहले कर सकते हैं।

5 टूथपेस्‍ट तो हम दांत साफ करने के लिए प्रयोग करते हैं, पर इसके इस्‍तमाल से आप अपने चेहरे के पिंपल को भी साफ कर सकते हैं। अगर रात में सोने से पहले इसको अपने चेहरे के मुहांसे पर लगा रहने देगें तो यह उन मुहासों को ठंडा कर के सुखा देगा।

सोरायसिस में अलग अलग तरीकों से पता चला है। कभी कभी छोटी bumps चपटा कर रहे हैं, कई बार बड़े सजीले टुकड़े के साथ उठाया त्वचा मोटी कर रहे हैं। बढिया, लाल रंग के धब्बे विशिष्ट सोरायसिस, के साथ ही सूखी त्वचा गुलाबी रंग के होते हैं।

अपने दांत अच्छे से साफ करें: मुंह कि दुर्गन्ध को दूर करने के लिए दांतो को अच्छी तरह से साफ करना एक अच्छा तरीका है, जो आप आसानी से कर सकते हैं। दिन में दो बार, कम से कम दो मिनट के लिए ब्रश करें और ध्यान रखें कि आप मुंह के अंदर सभी जगह अच्छी तरह से साफ कर रहे हैं। खास तौर पर जहां दांत और मसूड़े आपस में मिलते हैं वहां ध्यान केंद्रित करें।[१]

वैसे तो सभी लोग अपने चेहरे से कील मुंहासे, झुर्रियां और काले दाग धब्बे हटा कर साफ और  सुंदर दिखना चाहते है. इसके लिए चंदन भी एक बेस्ट उपाय है. और इसकी बहुत से क्रीम भी आती है. लेकिन अगर आप दुध और हल्दी पाउडर और चंदन के साथ मिलकर अपने चेहरे पर लगते है. तो आप चेहरे से मुहासों को दूर कर सकते है.

मुँहासे से सबसे ज्यादा प्रभावित अगर कोई अंग होता है तो वह है चेहरा और भला मुहाँसे वाला चेहरा किसे पसंद होता है | शायद इसलिए चेहरे से पिपल्स हटाने के लिए सभी लोग तमाम उपाय करते है, तरह – तरह की दवाइयाँ तथा क्रीम लगाते है, डॉक्टर के पास भी जाते है लेकिन फिर भी यह समस्या जस की तस रहती है |

ऊपर दी गई सामग्री को मिलाकर पेस्ट तैयार करें और इस पेस्ट को मस्से के ऊपर लगाते हुए इसे कपड़े से कवर कर लें। कुछ घंटों तक पट्टी लगे रहने के बाद दोबारा इस प्रक्रियां को दोहराते हुए दूसरी पट्टी का उपयोग करें। इसी प्रक्रिया को इसी तरह से दोहराने से आपको जल्द ही अच्छे परिणाम प्राप्त हो जाएंगे। जल्दी परिणाम प्राप्त करने के लिए इसे आप दिन में दो बार करें।

“प्रोएक्टिव मुँहासे आप मुँहासे उत्पादों से छुटकारा पाने के लिए मुँहासे उत्पादों से छुटकारा पाने के लिए क्या इस्तेमाल कर सकते हैं”

सर मेरा सिर्फ एक हि सवाल है कि पिंपल एसिडिक है या बैजीक क्यूकि अलह अलग घरेलु नुस्खे मे टुथपेस्ट यानि कि बेजिक ओर कभी निम्बु या संतरे का प्रयोग करने कि सलाह देते हैै तो प्लिज बताइये कि क्या करे प्लिज रिव्यु सर

Hindi NewsNDTV India LiveWorld News in HindiSports News in HindiCricket News in HindiBollywood News in HindiArchivesAdvertiseAbout UsFeedbackDisclaimerInvestorComplaint RedressalCareersContact UsSitemap© Copyright NDTV Convergence Limited 2018. All rights reserved.

यह सभी सोरायसिस से पीड़ित रोगियों का 80% के साथ सबसे बड़े पैमाने पर छालरोग के प्रकार है। यह चांदी सफेद रंग के पैमाने और लाल रंग की सूजन पैच द्वारा प्रतिष्ठित है। घुटने, कोहनी, पीठ के निचले हिस्से पर एक यह खोज कर सकते हैं, और खोपड़ी, लेकिन यह कहीं भी हो सकते हैं।

जो लोग जानते हैं कि कैसे मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए करना चाहते हैं में अपने महान सहयोगी ककड़ी बनाना, के बाद से इस प्राकृतिक घटक के रूप में कार्य करता है एक कसैले और ग्रेनाइट की सूजन कम कर देता है इसके सुखदायक संपत्तियों के लिए धन्यवाद.

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

एक्‍ने त्‍वचा की समस्‍या है, इसके उपचार के लिए आयुर्वेद अपनाना फायदेमंद है। आयुर्वेद में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स हैं जिनके उपयोग से एक्ने की समस्या से आसानी से निजात पाई जा सकती हैं। आइए जानें एक्ने के आयुर्वेदिक उपचार के बारे में।

डायबिटीज, कैंसर और दिमागी रोगों के लिए फायदेमंद है दालचीनी वाला दूधखतरनाक बीमारी है लिवर सिरोसिस, तुरंत बदलें अपने खान-पान की आदतेंये 7 चीजें शरीर में पानी की कमी को पूरा कर देती हैं पर्याप्त पोषणये 3 घरेलू नुस्खे अस्‍थमा के असर को तुरंत कर देंगे कमरोजाना खाएं ये 6 फूड, 60 साल तक याद्दाश्‍त रहेगी तेजरोज सुबह पीएं लहसुन वाली चाय, होंगे ये 5 चमत्कारिक फायदे

कई बार मुंह में लार कम बनने से भी सांसों से बदबू समस्या हो सकती है। मुंह में रह गए भोजन के कण और बैक्टीरिया कई बार इन्फेक्शन पैदा कर देते हैं जिससे भी सांसों से बदबू आती है। लार इन कणों और बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करती है।

जब भी आप अपने डेस्क तथा कंप्यूटर पर लम्बे समय तक बैठते हैं तो बीच-बीच में खड़े हों और एक ब्रिस्क वॉक (brisk walk) लें। यहाँ तक कि अपनी डेस्क पर ही कूल्हों या पैरों की कसरत करें जिससे खून के प्रवाह में मदद मिलेगी।

 Sarita, for more than 6 decades, has been refreshing the minds and moods of millions of its readers. It appeals to an urban and socially conscious intelligentsia. Sarita carries a distinctive mix of articles on subjects ranging from politics, society, economy, travel, health, fiction, poetry, life and entertainment. Its deeply introspective articles invite its readers to delve into the softer issues of life, relationship, family and personal development, and prepare themselves for a modern, progressive lifestyle. Sarita’s stories always make a delightful read. Humour and satire remain an integral part of Sarita. No edition of Sarita is complete without its refreshing cartoon strips and satirical illustrations.

क्या चेहरे के दाग धब्बे, मुँहासे के निशान और त्वचा का रंग भी, मुहासे होने का कारण आपको शर्मिंदा कर रहा है किसी समूह का सदस्य बनने से!! क्या आप सौंदर्य प्रसाधन का उपयोग करते करते तक गए है! तो एक नज़र डालिए घर मे बने हुए मिश्रण पर जो सारे दाग धब्बे निकाल देगा।

एलोवेरा में रोगाणुरोधी (Antimicrobial) गुण होते हैं, जो मुँहासे का कारण बनने वाली तेलीय त्वचा के उपचार के लिए आदर्श होते हैं। इसके अलावा, एलोवेरा आपकी त्वचा की सतह से अतिरिक्त तेल को अवशोषित करने में भी मदद करता है। 

गुलाब जल फेस क्लीन करने में काफ़ी उपयोगी है। गुलाब जल में काली मिर्च के दस से बारह दाने पीस कर मिलाये और रात को चेहरे पर लगा कर सुबह गुनगुने पानी से फेस धो ले। इस उपाय से स्किन पर निखार आता है और मुंहासे भी साफ़ होते है।

कोलकाता : मैंने क्लब के 100 दिनों के रिपोर्ट को देखा जिसमें यह पाया कि हिन्दुस्तान क्लब काफी बेहतर कार्य कर रहा है। यह उन्नति के मार्ग में अन्य क्लबों से काफी आगे हैं। उक्त बातें हिन्दुस्तान क्लब के स्थापना [Read more…]

गम में ज़ाइलीटोल (Xylitol) पाया जाता है, एक शुगर-फ्री स्वीटनर जो की सनौबर पेड़ की छाल (birch bark) से बनता है, खासतौर पर दुर्गंधयुक्त सांस को रोकने में मददगार होता है। यह आपके दांत को खराब होने से बचाता है, और दाँतों के घिसे हुए इनेमल को मिनरल देकर पुनः निर्माण करने में मदद कर सकता है।[६]

Gulab jal me barabar matra me nimbu ka ras milakar mishran tayaar kar lijiye or us mishran ko chehre par karib aadhe ghante tak laga kar rakhe fir taje pani se chehra dho le, is pryog ko chehre par karib 15 din tak kare , jisse apke chehre ke muhase thik ho jayenge.

अगर आपके मुंह से हमेशा बदबू आती रहती है तो आप इलायची का ज्यादा इस्तेमाल करें। इलायची मुंह की बदबू हटाने में सबसे कारगर साबित होती है और इलायची व पुदीनायुक्त पान चबाने से भी मुंह की बदबू से निजात मिलती है।

पिम्पल्स को मेडिकली मुँहासे  कहा जाता हैं. आजकल पिम्पल्स(Pimples)  होना एक आम समस्या हो गयी हैं. पिम्पल्स(Pimples) पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित करता है और ये किसी भी उम्र में हो सकता है, और पिम्पल्स(Pimples)  कोई चेतावनी देकर नहीं आता कभी भी हो सकता हैं.

दखल, जो आंतरिक समस्याओं के कारण दिखाई दिया,व्यापक रूप से इलाज किया जाता है ऐसे मामलों में, यहां तक ​​कि सबसे महंगी दवाओं के साथ उपचार का कोई सकारात्मक परिणाम नहीं होगा यदि आप एक साथ पूरे जीव का इलाज नहीं करते हैं। इसलिए, इलाज करने और चेहरे पर मुँहासे से छुटकारा पाने से पहले, समस्या का सही कारण स्थापित करने के लिए इतना महत्वपूर्ण है। पहले से ही परीक्षा के परिणाम को ध्यान में रखते हुए, सौंदर्य प्रसाधन ने अतिरिक्त त्वचा देखभाल उत्पादों को नियुक्त किया है।

सामग्री: कैलेंडुला officinalis, आइरिस versicolor, आवश्यक तेल के मिश्रण (Cedrus एटलांटिका लकड़ी शेविंग्स, Melaleuca alternifolia पत्ता-शाखा, Melaleuca छोटी सी पत्ती), Persea gratissima फल तेल, Rosa mosqueta बीज का तेल, Simmondsia chinensis बीज का तेल, Triticum vulgare कर्नेल तेल)।

मुल्तानी मिट्टी (fullers earth) तैलीय (oily) त्वचा वालों के लिए बहुत ही गुणकारी हैं, मुल्तानी मिट्टी चेहरे के तेल को सोखने का काम करता है.     यह तेलीय त्वचा वालों के लिए बहुत ही अच्छा फेसपैक (face pack) बन सकता है। मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करने से दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) से छुटकारा मिलता है क्युकी ये pimples को अच्छे से सूखा देता है और जड़ से खत्म करता है। मुल्तानी मिट्टी का उपयोग करने से पहले उसको पानी डाल के छोड़ दें और उसको अच्छी तरह से फूलने दें, उसके बाद उसे अपने चेहरे पर अच्छी तरह से लेप लगा लें। सूखने के बाद इसको हल्का गर्म पानी से धो लें। ऐसा करने से जल्दी ही आपको इसका परिणाम नजर आएगा।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, story, essay या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:[email protected].पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

एक बलगम निकालने वाली दवाई लें: यह ऐसी दवाईयाँ होती हैं जो आपके गले और नाक की बलगम को तोड़ती हैं और आसानी से इसे खाँसकर अपने शरीर से निकालने में आपकी मदद करती हैं। इनमें से बहुत सारी स्थानीय दवा की दुकानों पर ओवर-द-काउंटर उपलब्ध होती हैं, जबकि कुछ को डॉक्टर लिखकर देते हैं। खुराक निर्देशों का पालन करें और बलगम की वजह से हो रहे जमाव से आराम पाने के लिए दवाई को रोज़ लें।[३]

मेरे चेहरे पर बहुत सारे पिंपल्ज़ हैं यह बीच बीच में ठीक भी हो जाते हैं लेकिन फिर से वापस भी आ जाते हैं यदि मैं भाप वाला फार्मूला पर्योग करूँ तो क्या यह पिंपल्ज़ हमेशा के लिए ठीक हो सकते हैं? प्लीज़ रेप्लाई सर

मुंह के अल्‍सर में दर्द होने पर यह आराम देता है। 1 चम्‍मच नारियल दूध में थोड़ा सा शहद मिक्‍स कर के प्रभावित स्‍थान पर मालिश करें। इसे दिन में 2 या 3 बार करें। आप चाहें तो इस घो से अपने मुंह को धो भी सकते हैं।

फिलर का प्रयोग करें: मुँहासे आपकी त्वचा पर हमेशा के लिए दाग छोड़ सकते हैं, जिसे भरना नामुमकिन साबित हो सकता है | फिलर इंजेक्शन इन निशानों को भरकर त्वचा को एक समान बनाता है | लेकिन, इस प्रक्रिया को 4-6 महीनों में दोहराना पड़ता है |[१०]

मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  यह हिंदी पाठको के लिए हिंदी में लिखे गये घरेलु उपाय हैं जिन्हें पढ़े एवं अपनाये इससे आपके चेहरे पर निखार आएगा . आपको हमारा आर्टिकल मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  कैसा लगा अपने विचार हमसे जरूर शेयर करे.

बर्फ के क्यूब्स आपके गले पर बुरा प्रभाव दाल सकते हैं | यह आपके tonsils को प्रभावित करता है और ठंड और खांसी पैदा कर सकती है | tonsillitis से पीड़ित लोगों को वास्तव में बर्फ़ क्यूब्स से दूर रहना चाहिए | भले ही ice cube आपके गले को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं, लेकिन बर्फ के टुकड़े  लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती हैं | आप इससे फायदा प्राप्त करने के लिए अपने चहेर पर लागू कर सकते हैं | चेहरे पर बर्फ लगाने के लाभ कई हैं | अपने daily beauty regime में बर्फ के क्यूब्स को शामिल करना एक बहुत अच्छा विचार हो सकता है | चेहरे पर बर्फ लगाने के लाभ कई हैं जो की निम्नलिखित हैं |

“कैसे मुँहासे तेज करना _प्राकृतिक मुँहासे उपचार”

मुल्तानी मिट्टी के बराबर, चंदन पाउडर और गुलाब जल के अनुपात को मिक्स करें। आप पेस्ट में एक बेहतर स्थिरता लाने के लिए और गुलाब जल को मिला सकते हैं। अपने चेहरे पर यह गीली मिट्टी पैक लगाएं। सूख जाने के बाद इसको धो लें। सप्ताह में एक बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

यह उनमे से किसी के भी साथ हो सकता हैं जो लोग व्रत रखते हैं, चाहे वो धार्मिक कारणों के लिए, या जो खाने में रूचि नहीं लेते। यदि आप खाने में रूचि नहीं लेते हैं तो मुँह से दुर्गंध ही एक कारण हैं खुद को भूखा न रखने का।

अगर मुँहासों में संक्रमण हो जाए तो इनमें दर्द, जलन और पस निकलने लगता है जो की एक अत्यधिक गंभीर समस्या बन सकता है | मुहाँसे अक्सर 15 से 25 साल की आयु में निकलते है पर यह तय नहीं है क्योंकि यह अन्य आयु वर्ग के लोगों को भी हो सकते है |

त्वचा पर मस्सों का होना काफी गंभीर समस्या है। यह ना केवल एक ही स्थान पर बल्कि हर स्थान पर होने लगते है। काले या भूरे रंग के ये मस्से त्वचा की अवांछित वृद्धि करते है, जिससे छुटकारा पाने के लिए लड़कियां शल्य चिकित्सा पद्धतियों का उपयोग कर, इसे हटाने का प्रयास करती हैं। लेकिन आज हम आपको बता रहें है सबसे आसान तरीका जिसे आप घर बैठे ही इसका उपचार कर सकती हैं।

lifestyle news bollywood news in hindi fashion fashion news love Cricket fashion_traind entertainment latest news beauty tips bollywood news bollywood lifestyle Entertainment_news entertainment news latest latest fashion trends lifestyle_news health news bollywood_actress

कील मुहांसों को दूर करने के लिए चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रहें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रहें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करें फल और सब्जी ज्यादा अधिक मात्रा में खाएँ साबुन से चेहरा न धोएँ सिर्फ बेसन, चावल का आटा और हल्दी का प्रयोग करेंतले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ पानी अधिक मात्रा में पिएं पूरा नींद लें|

अगर आप चेहरे पर फुंसी मुहांसे (Pimples) से परेशान है तो आगे इस पोस्ट में बताये  उपायों को अपनाकर आप इनसे छुटकारा पा सकते है लोगो के तरह तरह के उपायों के बाद भी चेहरे पर Pimples यानि मुहासे हो जाते है और यह समस्या आम तोर पर किशोरावस्था (Teenage) मे बहुत अधिक देखी जाती है वैसे तो ये  ज्यादा दिन तक चेहरे पर नही रहते पर ये  खत्म होते हुए चेहरे पर बहुत ही गहरे निशान छोड़ जाते है जो चेहरे की सुन्दरता को पूरी तरह से खराब कर देते है और महंगे विदेसी प्रोडक्ट व लोशन लगाने से भी नही जाते.

मुहासे होने का कारण में मुख्य कारण है की जवानी (पुबेर्टी) में होर्मोन्स बनते है| इस से शरीर के त्वचा, और ख़ास कर के चेहरे पर की त्वचा में रहे तेली ग्रंथि तेल का ज्यादा निर्माण करते है| अगर त्वचा साफ़ न रखे तो यह तेल और मेल मिल के त्वचा के छिद्र को बंद कर देते है और फिर बैक्टीरिया के कारण कील याने मुहासे बन जाते है| अगर लहू स्वच्छ न हो, आहार सही न हो, तले हुए और मसालेदार चीज़ खाए या तो अधिक कास्मेटिक का उपयोग करे तो भी यह समस्या कड़ी हो सकती है|

बर्फ के क्यूब्स आपके गले पर बुरा प्रभाव दाल सकते हैं | यह आपके tonsils को प्रभावित करता है और ठंड और खांसी पैदा कर सकती है | tonsillitis से पीड़ित लोगों को वास्तव में बर्फ़ क्यूब्स से दूर रहना चाहिए | भले ही ice cube आपके गले को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं, लेकिन बर्फ के टुकड़े  लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती हैं | आप इससे फायदा प्राप्त करने के लिए अपने चहेर पर लागू कर सकते हैं | चेहरे पर बर्फ लगाने के लाभ कई हैं | अपने daily beauty regime में बर्फ के क्यूब्स को शामिल करना एक बहुत अच्छा विचार हो सकता है | चेहरे पर बर्फ लगाने के लाभ कई हैं जो की निम्नलिखित हैं |

वैसे तो सभी लोग अपने चेहरे से कील मुंहासे, झुर्रियां और काले दाग धब्बे हटा कर साफ और  सुंदर दिखना चाहते है. इसके लिए चंदन भी एक बेस्ट उपाय है. और इसकी बहुत से क्रीम भी आती है. लेकिन अगर आप दुध और हल्दी पाउडर और चंदन के साथ मिलकर अपने चेहरे पर लगते है. तो आप चेहरे से मुहासों को दूर कर सकते है.

मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  यह हिंदी पाठको के लिए हिंदी में लिखे गये घरेलु उपाय हैं जिन्हें पढ़े एवं अपनाये इससे आपके चेहरे पर निखार आएगा . आपको हमारा आर्टिकल मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  कैसा लगा अपने विचार हमसे जरूर शेयर करे.

Posted in Face, Skin    Tagged acne home remedies, acne problems, dermatologist in ghaziabad, dermatologist in greater noida, home remedies, pimple problems, skin doctor in ghaziabad, skin doctor in greater noida, skin problems, skin tips skin tips    Leave a comment   

नहाने के बाद एक टोपिकल मरहम (ointment) या लोशन (lotion) का प्रयोग करें: एक मरहम को खोजें जिसमें बेंजोईल पेरोक्साइड (benzoyl peroxide), सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) या अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (alpha hydroxy acid) हो। इनमें से ज्यादातर ब्राण्ड बिना पर्ची के मिल जाते हैं जैसे — क्लेअरसील (Clearasil) और प्रोएक्टिव (Proactive)। अगर आप एक लोशन का प्रयोग करना चाहते हैं जो वैज्ञानिक तौर पर, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए बनाया गया है कि वह कूल्हों पर होने वाले मुँहासों को ठीक करे — ग्रीन हार्ट लैब्स का बट एक्ने क्लीयरिंग लोशन (Butt Acne Clearing Lotion)। ज्यादातर टूथपेस्ट में कई प्रकार के पेरोक्साइड (peroxide) होते हैं, यदि आपको कुछ और न मिले तो ये मुँहासों के इलाज में प्रयोग में लाए जा सकते हैं।

मुँहासे एक गंभीर समस्या है, लेकिन साथ मेंसक्षम दृष्टिकोण और जटिल उपचार आपकी त्वचा बिल्कुल सही दिखेगी। विशेषज्ञों की सहायता कभी भी ज़रूरत से ज़्यादा नहीं होती है, बल्कि स्वतंत्र रूप से भी, दृढ़ता और दृढ़ता से दिखती है, चेहरे पर मुंह से छुटकारा पाना संभव है।

FROM WEB10 Indian divas who never got marriedCRITICSUNIONSend Money to India for $0 + Great Exchange RatesVianex10 best Mortgage Lenders of 2018.CRITICS UNIONFROM NAVBHARAT TIMESसर्जरी की वजह से श्रीदेवी का न‍िधन बताने वालों को एकता कपूर ने दिया जवाब पेश हुई एक मिसाल अमिताभ को पहले ही हो गया था श्रीदेवी की मौत का आभास? From The WebMore From NBT

यदि आप अक्सर बीमार पड़ जाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपका इम्युनिटी कमजोर है। आप इस हर्बल काढ़े की मदद से इसे मजबूत कर सकते हैं। इस काढ़े में कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का मिश्रण है। ये काढ़ा वात और कफ को शांत करता है, पाचन को उत्तेजित करता है, प्रतिरक्षा में वृद्धि करता है।

The information Provided in this video is based out of various Ayurvedic & Natural Medicare books. If you have or suspect that you have a health problem, contact your personal health care Provider / Doctor.

आप अपना चेहरा भाप कर सकते हैं गर्म वाष्प में त्वचा को नरम करने की क्षमता होती है, साथ में मृत त्वचा कोशिकाओं, बाएं-पीछे के सौंदर्य प्रसाधन, तेल और बैक्टीरिया जो प्लग छिद्रता है। इस बैक्टीरिया, गंदगी और त्वचा के छिद्रों में फंसे तेलों को हल्का ढंग से चेहरे को साफ़ करने से हटा दिया जा सकता है।

बलगम (जिसे कफ के रूप में भी जाना जाता है), ज़ुकाम और अन्य ऊपरी श्वसन संक्रमण का एक आम उत्पाद है। बलगम से निपटना बहुत मुश्किल हो सकता है और ऐसा लग सकता है कि यह कभी खतम नहीं होगी। अगर आप अपने गले और नाक में बन रहे बलगम से राहत पाना चाहते हैं, तो उपचार के इन तरीकों में से कुछ की कोशिश करें।

वैकल्पिक रूप से, कुछ मिनटों के लिए पानी में एक एलोवेरा की पत्ती उबाल लें। पेस्ट बनाने के लिए इस पत्ती को शहद के साथ पीस लें। इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर अच्छी तरह से लगाएं। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे ठंडे पानी से धो दें। यह उपाय सप्ताह में एक बार करें।

जैतून का तेल(Extra virgin olive oil) पौष्टिक गुणों के साथ भरपूर है। यह उचित ब्लड सर्कुलेशन को बनाए रखता है और त्वचा में सुधार करता है। आप कुछ समय के लिए जैतून के तेल के साथ अपने प्रभावित क्षेत्रों पर मालिश कर सकते हैं। इसे दैनिक रूप से उपयोग करें। 

एक टमाटर को काटकर उसके गूदे या रस को निकालकर मुँहासों पर लगाएं। यदि यह आपकी त्वचा के सूखने का कारण बनता है, तो थोड़ा सा पानी उपयोग करके टमाटर का गूदा पतला कर लें। इसे दिन में १ या २ बार से ज़्यादा बार न लगाएं क्योंकि यह त्वचा के अत्यधिक सूखने का कारण बन सकता है।

Disclaimer: TheHealthSite.com does not guarantee any specific results as a result of the procedures mentioned here and the results may vary from person to person. The topics in these pages including text, graphics, videos and other material contained on this website are for informational purposes only and not to be substituted for professional medical advice.

पीठ के मुहाँसे भी चेहरे के मुहंसों की तरह ही भयानक होते है। रिसर्च में ये पता चला है कि जिन लोगों को चेहरे के मुहांसों की समस्या ज़्यादा होती है, वही लोग पीठ के मुहांसों से भी उतने ही पीड़ित होते है। पीठ के मुहांसों का एक पहलू ये भी है कि इनके तक पहुँचना और इनका इलाज करना बहुत मुश्किल है क्योंकि इन तक पहुँचना और इनको देख पाना एक आसान नहीं है। मुहांसों का कहीं भी शरीर पर निकलना में मुख्य कारण हार्मोनल असंतुलन है। ये यौवन अवधि के दौरन एस्ट्रोजन (estrogen) और टेस्टास्टरोन (testosterone) हॉर्मोन (hormones) के अधिक स्राव के कारण होते है और जैसे ही कोई 20 साल की उम्र को पार करता है ये अपने आप चले जाते है। ये मुंहासे आपकी छाती, कंधे, पैर और हिप्स पर भी हो सकते हैं। बॉडी लोशन, मसाज ऑयल (massage oil) और सनस्क्रीन (sunscreen) आदि का इस्तेमाल करने से रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और मुंहासे हो जाते हैं। तनाव, अनियमित नींद, अस्वस्थ लाइफस्टाइल, खानपान की ग़लत आदतें और अधिक काम का बोझ भी कुछेक कारण है मुहाँसे निकालने का। यहाँ हम आज कुछ ऐसे ही घरेलू उपाय और घरेलू उपचारों की बात करेगें जिसकी मदद से आप पीठ के कील मुहांसों से निजात पा सकेगें।

All the tips mentioned here are strictly informational. This site does not provide any medical or health or beauty advice. Consult with your doctor or other health care provider before using any of these tips or treatments. Copyright 2014 Gharelu Nuskhe

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

Psoriasis त्वचा है कि तेजी से प्रजनन लाल रंग के सूखे धब्बे का कारण बनता है पर त्वचा की सतह और त्वचा और अधिक मोटा होना त्वचा सेल की जरूरत पर जोर देता की एक शर्त है। हालत बढ़ नहीं रहा है। के रूप में बहुत जल्दी त्वचा सेल बनाता है, तराजू कि परिणाम के रूप में दिखाई देते हैं और गुच्छे भी सूखी। सोरायसिस आमतौर पर घुटने, कोहनी, खोपड़ी पर फैला हुआ है।

पपीता विरोधी ऑक्सीडेंट्स और एंजाइमों में समृद्ध है, जो कि बैंपिरिया पर दाना पैदा करने के लिए काम करते हैं। प्रभावित क्षेत्र पर कच्ची पपीता के एक ताज़ा तैयार पेस्ट का उपयोग करें। इसे 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें और कुल्ला बंद करें।