“एक ज़िट से छुटकारा पाने का सबसे तेज़ तरीका है घर पर मुंह को दूर करने”

मुझे कील – मुंहासो से सबसे ज्यादा राहत नींबू के रस से ही मिली थी. नींबू बड़ी आसानी से कम Price में बाजार में उपलब्ध हो जाता है. यह हमारे त्वचा को काफी सुन्दर बनाता है. आप नींबू को काटकर उसका रस अपने दाग या मुंहासो में लगा ले.

मुँहासे एक गंभीर समस्या है, लेकिन साथ मेंसक्षम दृष्टिकोण और जटिल उपचार आपकी त्वचा बिल्कुल सही दिखेगी। विशेषज्ञों की सहायता कभी भी ज़रूरत से ज़्यादा नहीं होती है, बल्कि स्वतंत्र रूप से भी, दृढ़ता और दृढ़ता से दिखती है, चेहरे पर मुंह से छुटकारा पाना संभव है।

English: Get Rid of Acne on the Buttocks, Italiano: Sbarazzarsi dell’Acne sulle Natiche, Português: se Livrar da Acne no Bumbum, Deutsch: Akne auf dem Hintern loswerden, Español: eliminar el acné de las nalgas, Français: se débarrasser de l’acné sur les fesses, 中文: 摆脱臀部的痤疮, Русский: избавиться от прыщей на ягодицах, Nederlands: Van acne op je billen afkomen, Čeština: Jak se zbavit akné na hýždích, Tiếng Việt: Loại bỏ Mụn trứng cá trên Mông, ไทย: กำจัดสิวที่ก้น, العربية: التخلص من حب الشباب على الأرداف

अपने कूल्हों पर एक एस्पिरिन (aspirin) का मास्क लगायें: चार या पाँच एस्पिरिन की गोलियों को पीस लें। यह सुनिश्चित करें कि गोलियों के बाहर कोई भी आवरण (coating) न हो। इसे एक टेबल स्पून हल्के गर्म पानी के साथ मिलाएँ या फिर शहद या सादे दही के बड़े हिस्से के साथ मिलाएँ, यह आपकी इच्छा पर निर्भर है।

जिन लोगो को समय समय पर पिम्प्लेस हो जाते है उन लोगो के लिए करेला एक बहुत ही अच्छा उपाय है. करेले को काटकर उबाल ले या उसके रस को निकालकर पीने से यह खून (blood) को साफ कर देता है. जिससे पिम्प्लेस (pimples) पूरी तरह से खत्म हो जाते है और चेहरा सुंदर व कोमल दिखाई देने लग जाता है.

#2 – H-सोरायसिस, 88 अंक हमारे 100 के। H-सोरायसिस सूत्र एक निर्णायक सामयिक होम्योपैथिक उत्पाद है। सूत्र भी शुद्ध प्राकृतिक आवश्यक तेलों शामिल हैं और सुरक्षित और कोई रसायन या additives के साथ प्रभावी है। यह एक गहरी मर्मज्ञ क्रिया है, आपकी त्वचा पर कोमल है, और जलन, खुजली, जलन या scarring का कारण नहीं करना चाहिए।

मुंहासों की समस्‍या एक आम समस्‍या है जो कभी भी हो सकती है, अगर आपके घर में अगले दिन कोई कार्यक्रम है और चेहरे पर एक्‍ने निकल जाये तो यह एक बुरी स्थिति होती है। इस समस्‍या से निजात पाने वाले नुस्‍खे आप घर पर भी आजमा सकते हैं। सफेद टूथपेस्‍ट सबके घर में होता है, इसे मुहांसो पर लगाकर पूरी रात के लिए छोड़ दीजिए, इससे वह गायब हो जायेगा। लहसुन को लेकर इसका रस मुहांसों पर लगा दीजिए, इससे मुहांसे आसानी से दूर हो जायेंगे।

घर सौंदर्य ट्रिक्स यह अमेज़न संबद्ध प्रोग्राम यूरोपीय संघ में एक भागीदार है, एक विज्ञापन कार्यक्रम सहबद्ध वेबसाइटों विज्ञापन और Amazon.es के लिए लिंक के लिए कमीशन प्राप्त करने के लिए एक साधन प्रदान करने के लिए बनाया.

दालचीनी एक आम मसाला और स्वाद बढ़ाने वाला एजेंट है लेकिन इसके तेल में माइक्रोबियल विरोधी गुण होते हैं। शहद में पानी का असर बहुत कम होती है इसका मतलब है कि इसमें नमी ज्यादा नहीं होती जो सूक्ष्म जीवाणुओं के विकास को बढ़ावा देती है। यह ध्यान में रखते हुए कि मुँहासों का पैदा होना, त्वचा के छिद्र के भीतर होने वाले संक्रमण से होता है, शहद के साथ दालचीनी का संयोजन एक कारगर उपाय है।

जिस तरह हम अपने शरीर को साफ रखते हैं रोज नहाते हैं रोज अपना मुंह धोते हैं उसी तरह हमें अपने कानों की सफाई कमी जरूर ध्यान रखना चाहिए आपको जानकर हैरानी होगी कि आज के समय ना सिर्फ भारत में बल्कि पूरे विश्व में कहां से जुड़ी समस्याएं काफी ज्यादा पैदा हो रही है और इस सब का सबसे बड़ा कारण है कानों में जमी रहने वाली महल आज हम जो वीडियो आपको लाए हैं उसमें आपको बहुत ही अच्छे और उपयोगी जानकारी काम से जुड़ी हुई दी गई है!

मेडिसिन की भाषा में मुंह से दुर्गंध (Bad Breathing) की स्थिति को हैलीटोसिस कहते हैं| ये मुंह की सफाई का ठीक से ख्याल ना रखने और खान पान की गलत आदतों से पैदा होती है| सांस की बदबू का कारण अक्सर जीभ, दांतों और मसूड़ों पर जमे बैक्टीरिया के प्लाक के कारण आती है | इसीलिए जीभ को रोज साफ करना चाहिए|

रूई को नींबू के रस में अच्छे से डुबोएं। लगभग 10 मिनट के लिए अपनी त्वचा के प्रभावित क्षेत्र पर रूई को लगा कर रखें और फिर रात भर नींबू के रस को लगा छोड़ दें। सुबह में, गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें।

* लहसुन : लहसुन की 2 कलियों का रस निकालकर 1 गिलास पानी में मिलाकर कुल्ला करें। रोजाना 4 से 5 दिन तक इसका प्रयोग करने से मुंह के छाले कम हो जाते हैं। लहसुन की कली को पानी के साथ पीसकर उसमें थोड़ा-सा देसी घी मिलाकर मलहम तैयार करें। इस मलहम को छालों पर लगाने से छाले खत्म हो जाते हैं।

धूम्रपान करने से और तम्बाकू चबाने से बचें: वैसे तो कई सारी वजह है धूम्रपान और तम्बाकू को छोड़ने के लिए (जैसे कैंसर), परंतु सांस की दुर्गंध होना भी एक कारण है। धूम्रपान करने से व्यक्ति की सांस की गंध बासी तम्बाकू जैसी लगती है, जिसे कई बार “ऐश ट्रे की गंध” आना कहा जाता है। इस गंध को रोकने का सबसे आसान तरीका, धूम्रपान छोड़ना ही है।[१०]

चन्दन, मुलैठी और हल्दी जैसे घरेलू नुस्खे त्वचा के पुराने दाग धब्बों के निशानों को भी हल्का करने की क्षमता रखते हैं। हालांकि काफी अच्छी तरह से इनका इस्तेमाल करने पर भी इस बात की काफी संभावना होती है कि इनका असर काफी महीनों में दिखे।

सांस की बदबू होने के तीन रासायनिक कारण है; डाइमिथाइल सल्फाइड, हाइड्रोजन सल्फाइड, और मिथाइल मेरकाप्टन। जब आप जान जाए कि इनमे से क्या आपकी सांस में मौजूद है, तो आप आसानी से जान जाएंगे कि आपको अपनी सांस के लिए किस उपचार की जरूरत है।

मुँहासे से सबसे ज्यादा प्रभावित अगर कोई अंग होता है तो वह है चेहरा और भला मुहाँसे वाला चेहरा किसे पसंद होता है | शायद इसलिए चेहरे से पिपल्स हटाने के लिए सभी लोग तमाम उपाय करते है, तरह – तरह की दवाइयाँ तथा क्रीम लगाते है, डॉक्टर के पास भी जाते है लेकिन फिर भी यह समस्या जस की तस रहती है |

निखिल जी हमारा उत्साह बढ़ाने के लिए आपका बहुत धन्यवाद. निखिल जी आज जब मैं युवाओ को देखता हूँ तो तब उन्हें देखकर लगता ही की वे कितना खुबसूरत बनने की चाह रखते है. इसी चक्कर में वे कई गलतियाँ कर देते है. उन्ही में एक है कील – मुंहासे. उनकी त्वचा की समस्या को मैंने आज इस पोस्ट में तब विस्तार से लिखा. धन्यवाद

“मुंह से छुटकारा पाने का सबसे आसान तरीका _जिने मुँहासे”

मुंह की बदबू का इलाज इन हिंदी: मुँह से दुर्गन्ध आने के कारण कई बार लोगों को शर्मिंदा होना पड़ता है। जिस व्यक्ति या महिला के मुंह से बदबू आती है अक्सर लोग उनसे दूर भागते है, उनकी पीठ पीछे उनका मजाक बनाते है और उनके साथ रहना पसंद नहीं करते। सांसो की बदबू रोकने के लिए आजकल बाजार में भी कुछ ऐसी चीजें और दवा आती है जिनके प्रयोग से कुछ देर के लिए मुंह से बदबू आना रुक जाती है, पर ये सब कुछ समय के लिए ही होते है और महंगे भी होते है। आप घर पर प्रयोग होने वाली कुछ चीजों को इस्तेमाल करके मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के उपाय कर सकते है, घर पर किये जाने वाले ये घरेलू नुस्खे सस्ते तो होते ही है और इन्हें करना भी आसान है। Treatment for permanent bad breath problem solution in hindi.

अपनी अपने अब अमेरिका आज आप इस इस के उन की उन के उन्हें उन्होंने उस का उस की उस के उस ने उसे एक ऐसा ऐसे कई कभी करते करने का काम कारण किया किसी कुछ के बाद के लिए के साथ को कोई क्या गए घर जब जा जाता है जाती जाने जिस जीवन जुगुनी जो ज्यादा तक तरह तुम तेजेंद्र तो था था कि थी थीं थे दवा दिन दिया दिल्ली दी दीक्षा दे देश नहीं ने कहा नेपाल के पटना पति पत्नी पर पहले फिर फिल्म फोन बन बना बहुत बात बेटी भाजपा भारत भी मन मुंबई मुझे में मेरी मेरे मैं ने यह या रहा है रही रहे हैं रुपए लगा लिया ले कर लेकिन लोग लोगों वह वाली वाले वे सब समय साल से हम हर ही हुआ हुई हुए है और है कि हैं होगा होता है होती होने

दालचीनी के बहुत सारे लाभ तो हैं परंतु आपको बताई गई कुछ सावधानियों को भी नहीं भूलना चाहिए। अतः इसके उपभोग से पहले इसके लाभ-हानि को अच्छे से समझ लें और इसका सेवन उच्च मात्रा में ना ही करें तो अच्छा होगा।

जड़ीबूटी और मसालों का इस्तेमाल करें: अजवाइन को कच्चा खाने से आपका मुंह और दांत साफ़ रहते हैं, और इससे आपकी सांस दुर्गंध भी दूर हो जाती है। इलायची, छिलकों के साथ या पिसी हुई खाने से आपकी सांस को ताजा रखने में मदद मिलती है। मसालेदार भोजन के बाद सौंफ को चबाएं, या इन्हें पीस कर टूथब्रश पर छिड़कर ब्रश करें।[१३]

आप बाजार से एलोवेरा जैल खरीद सकते हैं या एक एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काटें और बीच में से उसको दबाएं, इसके द्वारा आप शुद्ध एलोवेरा जैल प्राप्त कर सकते हैं। दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जैल का उपयोग करें। (और पढ़ें – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

गुलाब जल फेस क्लीन करने में काफ़ी उपयोगी है। गुलाब जल में काली मिर्च के दस से बारह दाने पीस कर मिलाये और रात को चेहरे पर लगा कर सुबह गुनगुने पानी से फेस धो ले। इस उपाय से स्किन पर निखार आता है और मुंहासे भी साफ़ होते है।

News Track is a leading provider of news, information and entertainment across broadcast television, mobile platforms, digital media and Print media serving consumers and advertisers in strong local markets, primarily in the Madhya Pradesh & Chhattisgarh states. The company’s operations include India’s First ON WHEEL NEWS CHANNEL, News Paper, Event Management, and Marketing and their associated digital and mobile media services.

ऑयली त्वचा पर निम्बू रगड़ने से त्वचा की चिकनाई दूर होती है और पिम्पल्स भी साफ़ होते है। शहद को नींबू में मिला कर पेस्ट बनाए और फेस पर लगाए और 15 – 20 मिनट के बाद धो ले। इस नुस्खे से चेहरे में निखार आता है और पिम्पल ठीक होते है।

नमक में मौजूद एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के कारण यह कैविटी के इलाज के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। यह दर्द और सूजन को कम करने, किसी भी प्रकार के संक्रमण और मुंह में बैक्‍टीरिया की वृद्धि को रोकने में मदद करता है। इसके लिए एक चम्‍मच नमक को गर्म पानी में मिला लें। फिर इस पानी को मुंह में कुल्‍ला करें। समस्‍या के दूर होने तक इस उपाय को दिन में तीन बार करें। इसके अलावा, आधा चम्‍मच नमक, थोड़ा सा सरसों का तेल और नींबू का रस मिलाकर पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट से कुछ मिनटों तक मसूड़ों पर मसाज करें। बैक्‍टीरिया को मारने के लिए इस उपाय को कुछ दिन तक दिन में दो बार करें।

निवेदन- आपको How to Remove Pimples and Acne in Hindi ये आर्टिकल कैसा लगा हमे अपने कमेन्ट के माध्यम से जरूर बताये क्योंकि आपका एक Comment हमें और बेहतर लिखने के लिए प्रोत्साहित करेगा और हमारे Facebook Page को जरूर LIKE करे.

lifestyle news bollywood news in hindi fashion fashion news love Cricket fashion_traind entertainment latest news beauty tips bollywood news bollywood lifestyle Entertainment_news entertainment news latest latest fashion trends lifestyle_news health news bollywood_actress

माथे पर चमड़े के नीचे और छोटे pimples पैदा कर सकते हैंबस अनुचित देखभाल के परिणामस्वरूप किसी भी मामले में आपको छोटे प्रदाहों को निचोड़ना चाहिए, जैसे कि रोगाणुओं, पड़ोसी छिद्रों में पड़ना, केवल माथे पर चिड़ियों की संख्या में वृद्धि होगी

Sir mujhe pimple ke sath2 bade2 ghao hoo jate h jisme push bhar jata h. Maine homeopathy ayurvedic and alopethic medicine li h phir v 4 year se padeshan hu. Or chechak ke daag hatane k v upay bataye. Please please reply sir

वज्रासन को डायमंड पोज के नाम से भी जाना जाता है। इस आसन को आप खाना खाने के बाद भी कर सकती हैं। ऐसा नहीं है कि खाना खाने के बाद इसे करने से आपको किसी तरह का कोई नुकसान होगा । यह आसन उनके लिए काफी फायदेमंद होता है जो कि अपना वजन कम करना चाहते हैं। इतना ही नहीं इस आसन को करने से सूजन से भी छुटकारा मिलता है, साथ ही पाचन संबंधित परेशानियों से बालों का झड़ना भी बढ़ जाता है।

सोरायसिस में अलग अलग तरीकों से पता चला है। कभी कभी छोटी bumps चपटा कर रहे हैं, कई बार बड़े सजीले टुकड़े के साथ उठाया त्वचा मोटी कर रहे हैं। बढिया, लाल रंग के धब्बे विशिष्ट सोरायसिस, के साथ ही सूखी त्वचा गुलाबी रंग के होते हैं।

क्या आपको याद है आपकी दादी आपके घावों पर हल्दी छिड़कने के लिए कहती थीं? खैर, चिकित्सा ने अब पता किया है कि हल्दी में ऐसी सामग्री शामिल होती हैं जो उसे एक शक्तिशाली रोगाणुरोधी बनाती हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि भारत में महिलाओं ने अब तक अपनी त्वचा को स्वस्थ और दमकती रखने के लिए हल्दी के उबटन का उपयोग किया है। आप सीधे त्वचा पर हल्दी का पेस्ट लगा सकते हैं, गर्म दूध के साथ लेने से भी आप साफ़ त्वचा पा सकते हैं।

स्‍वाद और सुगंध से भरपूर दालचीनी को मसालों में अहम स्‍थान दिया गया है। दालचीनी का दोनों ही मसाले और दवा के रूप में उपयोग का लंबा इतिहास है। वास्तव में प्राचीन काल में, यह मसाला इतना बहुमूल्य खजाना माना जाता था कि इसकी कीमत सोने से भी ज्यादा थी।यह श्रीलंका एवं दक्षिण भारत में बहुतायत में मिलता है। यह एक वृक्ष की छाल होती है। यह गरम मसाला तो है ही यह पाचन, वातहर, स्तंभण, गर्भाशय उत्तेजक, गर्भाशय संकोचक एवं शरीर उत्तेजक है। चाय, काफी में दालचीनी डालकर पीने से मीठी हो जाती है तथा सर्दी भी ठीक हो जाता है।

खीरा त्वचा को शीतलता, कसावट और कोमलता प्रदान करने वाले गुणों के कारण बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा, विटामिन ए, विटामिन ई, मैग्नीशियम और पोटेशियम सहित उच्च विटामिन और खनिज मौजूद होने के कारण ये ऑयली त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है।

“कैसे मुंह से छुटकारा +40 दिनों के बाद मुँहासे से छुटकारा कैसे करें”

क्या आप भी मुंह से आने वाली बदबू से परेशान है। क्या आपके साथ बात करने वाले आपको हीन नजर से देखते हैं और आपसे दूर रहने की कोशिश करते हैं? अगर आपको भी इन परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है तो अब घबराने की कोई बात नहीं है। आज हम आपको ऐसे टिप्स दे रहे हैं जो आपको मुंह से आने वाली बदबू से छुटकारा दिलाएंगे। फोटो Getty Images से..

कई बार मुंह में लार कम बनने से भी सांसों से बदबू की समस्या हो सकती है। मुंह में रह गए भोजन के कण और बैक्टीरिया कई बार इन्फेक्शन पैदा कर देते हैं जिससे भी सांसों से बदबू आती है। लार इन कणों और बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करती है।

इस साइट की कुकीज़ की सामग्री और विज्ञापनों को अनुकूलित करने के लिए उपयोग किया जाता है, सामाजिक मीडिया सुविधाओं को उपलब्ध कराने और यातायात का विश्लेषण. Además, हम अपने सामाजिक मीडिया सहयोगियों के साथ वेब के अपने उपयोग के बारे में जानकारी साझा, विज्ञापन और वेब विश्लेषण.स्वीकारेंऔर अधिक पढ़ें

यह सबसे आसान तरीका है जिससे हमारे शरीर को थकान से छुटकारा मिलता है। टूटते बालों के पीछे का सबसे प्रमुख कारण थकान है। इस आसन को करने से मासिक धर्म में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है। इससे पाचन तंत्र भी सही रहता है।

इस तरह के चकत्ते का उपचार लंबे समय से है, क्योंकिComedones हल नहीं करते हैं और अपने आप से बाहर मत जाओ। गुणात्मक उपचार के लिए इस तरह के मुँहों का कारण जानने के लिए महत्वपूर्ण है, जो एक नियम के रूप में, हार्मोनल असंतुलन या अनुचित शरीर स्वच्छता के होते हैं।

सबसे पहले ऊपर दी गई सामग्रियों को मिलाकर मिश्रण तैयार करें और इस पेस्ट को मस्सों पर लगाकर उसे कपड़े से कवर कर दें। फिर इसे रात भर लगे रहने दें। इस प्रक्रिया को पुनः दोहराएं ऐसा करने से आपके चेहरे का मस्सें हट जाएंगे।

सांस की दुर्गंध, या दुर्गंधित श्वास, कभी न कभी इस समस्या का सामना सबको करना पड़ता है। सांस की दुर्गंध कई कारणों से हो सकती है, जैसे कि मुंह का सूखापन; आहार में प्रोटीन, शर्करा, या अम्ल की अधिक मात्रा; और धूम्रपान। कोई लम्बी बीमारी और दांत की सड़न भी सांस में दुर्गंध के कारण हो सकते हैं। अच्छी ओरल हेल्थ आदतों को अपनाने से और अपने आहार एवं जीवन शैली को बदलने से आप दुर्गंधयुक्त सांस से छुटकारा पा सकते हैं।

केसर के कुछ दानों को 2 चम्मच दूध में रातभर भिगोकर रख दें। इस पात्र को फ्रिज (fridge) में रखें, जिससे कि ये खराब ना हो जाए। सुबह केसर के दानों को दूध में मसल लें और इसका प्रयोग चेहरे पर करें। खासकर काले धब्बों और एक्ने (acne) के निशानों पर इसे लगाएं। इसे पूरी तरह सूखने दें और फिर सादे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग रोजाना करने से आपको 1 हफ्ते में फर्क दिखने लगेगा।

यदि आप अक्सर पेट की बीमारियों से पीड़ित होते हैं जैसे गैस, अपच, कब्ज, सूजन आदि। यह अक्सर तब होता है जब आपकी पाचन प्रणाली अच्छी तरह से काम नहीं कर रही होती है। इसे सुधारने के लिए आप सौंफ और अजवाइन से बना काढ़े का सेवन कर सकते हैं। दोनों में कार्मिनटिव गुण होते हैं जो गैस को बनने से रोकते हैं और बेहतर पाचन में सहायता करते हैं।

छाछ मे लॅकटिक एसिड होता है जो की अल्फा हाइड्रॉक्सिल एसिड की तरह काम करता है। यह एक प्रकार का प्रकतिक एसिड है जो चेहरे की मृत त्वचा, धूल और तेल को निकालता है। एक कटोरी मे छाछ ले और रूई की मदद से दाग पर लगाए और अगर मुमकिन है तो आधी मात्रा मे नीबू का रस भी मिला कर मास्क की तरह भी उपयोग सकते है।

क्या आपको पता है? बर्फ क्यूब्स आपको मुँहासे से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है, इसके अलावे Triglow cream भी इसी चीज के लिए उपयोग किया जाता है । यह आपके त्वचा से blackheads को भी दूर करता है | प्रभावित क्षेत्र में एक बर्फ के टुकडे को रगड़ने से blackheads जैसी परेशानी से निबटा जा सकता है |

अगर अपनी अपने अब आज आप इन इस इसके इससे इसे उनके उस और कई कर करने करें कहानी का काम कार कि किया किसी की कुकर कुछ के बाद के लिए के लिये के साथ केक को कोई क्या खास गया घर घी घोंसले चम्मच चाहिए जब जा जाता है जाती जाने जो जोधपुर ज्यादा ठीक तक तथा तरह तो त्वचा थी थे थोड़ा दिन दिया दूध देखा द्वारा धर्म नमक नहीं ना नाना पाटेकर नीबू ने पर पहले पानी पीपल पुजारी जी पुरस्कार पेस्ट फिर फिल्म बड़ा बन बर्तन बस बहुत बार भी मिला मिलाकर मुंह में में एक मेदा मेरे मैं यह या ये रंग रम्भा रही रहीम रहे राजस्थानी रात रूप लगा लीजिये ले लें वाले विजयदान देथा वो शक्ति शिव सब सभी सा साड़ी साहित्य सी से सेवन हर हल्दी हिन्दी ही हुआ हुए है और हैं हो होता है होती होने होली

नींबू में मुहांसों से लड़ने के कुछ रासायनिक गुण मौजूद होते है| नींबू का सबसे बड़ा गुण आयल (चिकनाई) को खत्म करने का होता है क्योंकि इसके एसिड की रासायनिक संरचना क्षार या कसैला होती है| दूसरा नींबू एक नेचुरल एंटी बैक्टीरियल एंटीसेप्टिक है | कील मुहांसों के लिए नींबू का इस्तमाल सदियों से होता आ रहा है और आजकल काफी सारी कंपनिया नींबू युक्त प्रोडक्ट बाज़ार में उतार रही है जो पिम्पल्स के इलाज में काम आती है | इस पोस्ट में हम बतायेंगे की कैसे आप नींबू की मदद से  कील मुहासों से छुटकारा पाए|

सेहत संबंधी कई ऐसी समस्याएं होती हैं जिन्हें हम रोग तो नहीं कह सकते हैं लेकिन दर्द, संक्रमण, खाने और निगलने में दिक्कतें आदि हमारे लिए परेशानी का सबब होती हैं। मुंह के छाले भी एक ऐसी ही समस्या है। इनसे उपचार के लिए अगर बाजार में मिलने वाले जेल या क्रीम उपलब्ध हैं लेकिन आ चाहें तो अपने किचन में मौजूद चीजों से ही इसका उपचार आसानी से कर सकते हैं।

Masur ki dal 2 chmmach lekar mahin pis le. Isme thoda sa ghee or dudh milakar patla – patla lep bana le. Is lep ko muhaso par lgaye or sukhne de, sukhne ke bad chehra saf pani se dho de. Pimples thik hone lagenge

कॉफी और शराब का सेवन न करें। यह दोनो ही पेय आपके मुंह में बैक्टीरीया को बढ़ाते है, जो सांस की दुर्गंध का मुख्य कारण होते हैं। यह आपके मुंह को भी सूखाते है, जिस वजह से बैक्टीरिया दीर्घ काल तक मुंह में ही रहते हैं।

खीरा तो हम सभी लोग खाते है. लेकिन यह खीरा हमारी त्वचा को भी स्वस्थ बनाये रखता है. चेहरे में खीरे का use करने से हमारे चेहरे पर निखार आता है और हमारी त्वचा ग्लो करती है. आप खीरे के पेस्ट को अपने मुंहासो में प्रयोग करे और फायदा देखे.

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

Psoriatic गठिया अधिक दर्द का कारण बनता है और जोड़ों और त्वचा पर धब्बे दिखाई देते हैं। इस रोग में जोड़ों के आसपास सूजन त्वचा द्वारा लक्षण किया जा कर सकते हैं। अनुमान के अनुसार लगभग एक मिलियन वयस्कों से पीड़ित हैं। सूजन, जोड़ों का दर्द बढ़ रही, तराजू, लालिमा, त्वचा के घावों psoriatic गठिया के दौरान गौर कर रहे हैं।

    मुंहासों के इलाज के लिए एलोवेरा बहुत ही कारगर प्राकृतिक उपाय हैं। इसके अलावा सौंदर्य से संबंधित बहुत से समस्याओं का सामाधान एलोवेरा से किया जा सकता है। यह एक पूर्णरूप प्राकृतिक क्रीम होने के साथ यह एक प्राकृतिक कंडीशनर भी है। जिसका गूदा चेहरे पर नियमित रूप से लगाने पर चेहरा खूबसुरत, मुलायम एवं चमकदार बन जाता है। एलोवेरा चेहरे के दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) को भी हटा देता है। यदि सुबह – शाम चेहरे पर आप अपने मुंहासों पर एलोवेरा का इस्तेमाल करते हैं तो जल्दी ही आपको इसका परिणाम नजर आएगा।

“कम मुँहासे पाने के लिए कैसे मुँहासे pimples”

Mere cheeks ke upr kuch hi pimples h but wo pichle 5 -6 mhine se h to kya kre btao neem face pack alloevara sb lga ke dekh liya .or jb inko pinch krte h tb ye jyada bde ho jaten h or drd hota h kya kre sir plz give me answer

हैलीमिटर का इस्तेमाल करें: अगर आप लगातार सांस की दुर्गंध से परेशान है, तो इसके इलाज के लिए आपके डेंटिस्ट के पास हैलीमिटर होगा। हैलीमिटर एक प्रकार का विशेष यंत्र है जो आपकी सांस की गति को जानने के लिए बनाया गया है। यह एक प्रकार का सांस की जांच करने वाला यंत्र है जो शराब या अन्य पदार्थ की जांच करता है जिसे पुलिस भी इस्तेमाल करती है।[१७]

मूली में विटामिन C, जिंक, B कांप्‍लेक्‍स और फॉस्‍फोरस होता है. मुंहासों के लिए मूली का टुकड़ा गोल काट कर मुंहासों पर लगाएं और तब तक लगाए रखें जब तक यह खुश्क न हो जाए. थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें. कुछ ही दिनों में चेहरा साफ हो जाएगा.

मुंह में एक छोटा सा घाव होता है जिसे हम अल्‍सर बोलते हैं। अगर यह मुंह में छाला हो जाए तो खाने-पीने में बड़ी तकलीफ हो जाती है। इसमें काफी जलन और दर्द भी महसूस होती है। वैसे तो यह बीमारी कुछ ही दिनों के लिए होती है और हफ्ते भर में ठीक भी हो जाती है।

पीठ के मुहाँसे भी चेहरे के मुहंसों की तरह ही भयानक होते है। रिसर्च में ये पता चला है कि लोगों को चेहरे के मुहांसों की समस्या ज़्यादा होती है, वही लोग पीठ के मुहांसों से भी उतने ही पीड़ित होते है। पीठ के मुहांसों का एक पहलू ये भी है कि इनके तक पहुँचना और इनका इलाज करना बहुत मुश्किल है क्योंकि इन तक पहुँचना और इनको देख पाना एक आसान नहीं है। मुहांसों का कहीं भी शरीर पर निकलना में मुख्य कारण हार्मोनल असंतुलन है। ये यौवन अवधि के दौरन एस्ट्रोजन (estrogen) और टेस्टास्टरोन (testosterone) हॉर्मोन (hormones) के अधिक स्राव के कारण होते है और जैसे ही कोई 20 साल की उम्र को पार करता है ये अपने आप चले जाते है। ये मुंहासे आपकी छाती, कंधे, पैर और हिप्स पर भी हो सकते हैं। बॉडी लोशन, मसाज ऑयल (massage oil) और सनस्क्रीन (sunscreen) आदि का इस्तेमाल करने से रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और मुंहासे हो जाते हैं। तनाव, अनियमित नींद, अस्वस्थ लाइफस्टाइल, खानपान की ग़लत आदतें और अधिक काम का बोझ भी कुछेक कारण है मुहाँसे निकालने का। यहाँ हम आज कुछ ऐसे ही घरेलू उपाय और घरेलू उपचारों की बात करेगें जिसकी मदद से आप पीठ के कील मुहांसों से निजात पा सकेगें।

गुलाबजल का रोजाना इस्तेमाल भी दाग-धब्बों को कम करता है क्योंकि गुलाबजल हमारी त्वचा से धूल-मिट्टी को हटाता है तथा त्वचा का सौंदर्य निखरने में अहम भूमिका निभाता है। आप डाबर गुलाबरी का प्रयोग कर सकते हैं।

बेकिंग सोड़ा से साफ़ करें: बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल से त्वचा के दाग धब्बों को कम किया जा सकता है | 1 छोटा चमच्च बेकिंग सोड़ा को 1 छोटे चमच्च पानी में मिलाकर घोल तैयार करें | इसे अपने चेहरे पर गोलाकार में रगड़ते हुए 2 मिनट तक लगाएं | गुनगुने पानी से चेहरे को धोलें और अच्छे से पोंछ लें | “यह एक जाना माना नुस्खा है, लेकिन इसे पहले थोड़े समय के लिए प्रयोग करें और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाएं। बेकिंग सोड़ा में 7.0 PH होता है जो त्वचा के PH से बहुत ज्यादा है | अगर PH की मात्रा को बढ़ा दी जाएगी, तो लम्बे समय तक मुँहासे नहीं जाएंगे और अधिक संक्रमण और सूजन का भी डर रहेगा |”[२]

हमारे दिमाग को काम करने के लिए अधिक मात्रा में ऑक्सीजन और आयरन की जरूरत होती है। एक शरीर को तभी फिट माना जाता है जब उसके शरीर में किसी तरह के विषाक्त पदार्थ और फैट ना हो। इस आसन को करीब एक सप्ताह के लिए नियमित रूप से करें, ऐसा करने से आपको फर्क खुद देखने को मिलेगा। इस आसन को करने से बालों का झड़ना भी काफी कम होता है।

इस तरह मुंह की लार से हम मुफ्त में कई बीमारियों का इलाज कर सकते है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि इस लार में वो सभी 18 तत्‍व पाये जाते है जो मिट्टी में पाए जाते है। लेकिन बहुत अफसोस की बात हैं कि आज मनुष्य खुद ही अपना दुश्मन बनता जा रहा है। वह धूम्रपान और नशीले पदार्थों के चलते लार को खत्म करता जा रहा है और अपने लिए दुःख तकलीफो को न्योते पर न्योता दिए जा रहा है । धूम्रपान से लार दूषित हो जाती है और असर नहीं करती। जर्दा, पान अन्य पदार्थ से बार-बार थूकने से लार जरूरत से ज्यादा बाहर निकलती है। वहीं तीसरा ड्रग आदि के प्रयोग से मुंह सूख जाता है और लार नहीं रहती। इसलिए लार को बचाने के लिए आपको इन सब आदतों को भी छोड़ना होगा।ताकि लार हमारे शरीर को बीमारियों से बचा सके |

Dalchini आपके रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स और एल.डी.एल. (“खराब कोलेस्ट्रॉल”) के स्तर को काफी कम कर सकती है, जिससे हृदय रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है। दालचीनी में मौजूद सक्रिय संघटक कोशिकाओं की चीनी को तोड़ने की क्षमता को 22 गुना तक बढ़ा देते हैं।

–> अगर आपके घर में बर्फ का एक टुकड़ा भी मौजूद है तो समझिए पिंपल रफूचक्कर हो गया क्योंकि असल में बर्फ पिंपल की लालिमा को कम करती है और उसके इर्द – गिर्द जमा गंदगी और तेल को निकाल देती है | आप को केवल इतना करना है कि एक कपड़े में बर्फ के टुकड़े को लपेटकर उसे कुछ सेकेण्ड के लिए त्वचा पर फेरना है |

अच्छा लिखा हे !मैंने बहुत क्रीम का इस्तेमाल किया लेकिन मैं किसी भी क्रीम से कभी संतुष्ट नहीं थी, फिर मैंने मस्तानी फेस क्रीम की कोशिश की। मैं हमेशा अमृता फार्मा के उत्पादों को खरीदने का सुझाव देता हूं क्योंकि यह प्राकृतिक और बहुत प्रभावी है| आप यह मस्तानी फेसक्रीम जरूर इस्तेमाल करे और आपको १०० परसेंट रिजल्ट आएगा |

hello sir mere face par forehead or bade bade or chin par chote 2 kaafi pimples ho gye h wo bhi meri engagement ke bad facial bhi kraya tha tab par ab wo kam nhi ho rhe plz koi upay btaye jisse jaldi unhe dur Kiya ja sake

मुंह में छाले होने का एहसास दर्दनाक होता हैं । यह होठ, जीभ और गाल के अंदर मसूड़ों में होते हैं । ये कभी अकेले तो कभी समूह में होते हैं । ये सामान्य तौर पर सफेद व पीले रंग के होते हैं जो चारो तरफ से लाल रंग से घिरे होते हैं और आमतौर पर 8 से 10 दिन में ठीक हो जाते हैं ।

अम्लिय पेय से बचें। यह आपकी सांस और दांत के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, क्योंकि अम्लिय पेय आपके दांतो के इनेमल को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। जितना हो सके अम्लिय पेय पीने से बचे और अगर पीना ही है तो ध्यान रखें कि आप स्ट्रा के जरिए या जल्दी से पीए, बिना मुंह में रखें। आप पानी का इस्तेमाल करके कुल्ला करके अपने खाने के अवशेष को दूर करें।

क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप किसी पार्टी में जाने के लिए invited हों जहाँ तरह तरह के खाने-पीने की चीजों का इंतजाम हो… लेकिन इसी वक़्त कमबख्त मुंह के छालों ने आपको परेशान कर रखा हो? मेरे साथ तो कई बार ऐसा हो चुका है! लेकिन घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि ऐसे कई आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से हम मुंह के छालों से छुटकारा पा सकते हैं। 

पुलिस ने बताया कि जब मामले की जानकारी हुई तो केस दर्ज कर सुरेश को पकड़ने की तैयारी की गई। उसमान ने बताया कि उसकी और मारिया की 2005 में शादी हुई थी और वह 2012 में आपसी सहमति से अलग हो गए थे। सुरेश की मारिया से मुलाकात फेसबुक के जरिए हुई थी और दोनों में जल्द ही प्यार हो गया और दोनों साथ में रहने लगे। इस बीच सुरेश अपने घर गया जहां उसके परिवार ने उसकी शादी लता से करा दी।

इसके अलावा और भी कई कारण हैं जो इस समस्या को जन्म देने का काम करते हैं। समय पर दांत को साफ ना करना, पाचन क्रिया का ठीक ना होना और धूम्रपान का सेवन करना यही इसके सबसे बड़े कारण बनते हैं। आज हम आपको इस समस्या से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपायों के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप अपनी परेशानी से छुटकारा पा सकती हैं। जानें वो घरेलू उपाय…

एक प्रक्रिया बुलाया सेल कारोबार में, त्वचा कोशिकाओं है कि आपकी त्वचा में गहरी बढ़ने सतह को जन्म। आम तौर पर, यह एक महीने लग जाते है। क्योंकि अपने कक्षों में भी तेजी से वृद्धि में सोरायसिस, यह बस के दिनों में होता है।

कच्चे आलू के बारे में मुझे मेरे एक दोस्त से पता चला था. उसने मुझे बोला था की उसके भाई ने भी अपने मुंहासो पर आलू का इस्तेमाल किया था. जिससे उसके दाग – धब्बे ठीक हो गये थे. आलू हमको घर में ही मिल जाता है. आलू के छिलके मुंहासे दूर करने के लिए आलू का सबसे Best Part होता है.

योग और आयुर्वेदिक उत्पादों का इस्तेमाल करने से आपकी जीवन शैली में कई बदलाव आते हैं। इसके लिए आप शराब का सेवन करना बंद करें। मेडिटेशन करें इससे तनाव दूर होता है। अगर आप हमेशा अच्छे आकार में रहना चाहती हैं तो इन आसनों को रोजाना करें।

घरेलू नुस्खे चेहरे के किसी भी दाग धब्बों के निशानों को हल्का करने की क्षमता रखते हैं। इनका सही और ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठाने के लिए इनका प्रयोग निरंतर रूप से और बताये गए नुस्खे के अनुसार लंबे समय तक करें। इससे आपको बेहतरीन परिणाम मिलेंगे।

कभी अल्सर फूट भी सकता है जिससे पूरे पेट में संक्रमण हो जाता है तथा पेट में तेज दर्द रहता है। लम्बे समय तक अल्सर रहने से केंसर होने का खतरा हो सकता है। इसके साथ ही आयुर्वेदिक नुस्खे से भी एसिडिटी का इलाज किया जा सकता हैं |

Home remedies for acne on face: Almost everyone, in the age of puberty and adolescence, encounters pimples. This age is more prone to pimples because this is the growth age, where body undergoes so many physical, biological and hormonal changes. Pimple is a kind of skin inflammation in which a red swollen structure or lesion full of puss forms on the skin and irritates the  area by causing itching and pain.

अगर आप अपने मुंह का स्वाद किसी कारण वश खराब महसूस करते हैं, जिसका स्वाद आपके भोजन से मेल नहीं खा रहा है, तो आपको अतिरिक्त चिकित्सा की जरूरत हो सकती है। ध्यान रखें कि, सांस की दुर्गंध, स्ट्रेप थ्रोट नामक गले का संक्रमण हो सकता है।

मुँह में दुर्गन्ध पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें:आप शायद पहले से ही जानते हैं कि प्याज, लहसुन, पनीर, और कॉफी (या उन्हें खाने के बाद कम से कम अच्छे से ब्रश करें) जैसे बदबूदार खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।[५]

कान के पास के बिंदु को दबाने से भूख पर कंट्रोल होता है और जरूरत से ज्यादा खाने की आदत से छुटकारा होता हैं। एक्यूप्रेशर तकनीक अपनाते हुए कान के पास फ्लैप हिस्से को दो से तीन मिनट तक दबाना होगा। वैसे तो आप इस तकनीक को सुबह या शाम किसी भी वक्त अपना सकते हैं, लेकिन सुबह के समय इस हिस्से को दबाना ज्यादा बढ़िया रहेगा।

विटामिन-डी से भरपूर आहार लें: विटामिन-डी आपके मुंह में बैक्टीरिया होने से रोकता है। विटामिन-डी का सेवन हम अपने आरक्षित आहार और पेय के रूप में कर सकते हैं, विटामिन-डी आम तौर पर और अधिक प्रभावशाली रूप में सूरज की रोशनी से मिलता है।[११]

–> कपूर का एक टुकड़ा शीशी में डालकर ढक्कन लगा दें और किसी गर्म जगह पर रख दें | आधे घंटे में कपूर लोशन बन जायेगा | तब उसे ¼ चम्मच सूखे जायफल के पाउडर, ¼ चम्मच चंदन चूरा और इतने ही हल्दी पाउडर मिलाकर मुँहासों पर लगाये, आधे घंटे बाद मुंह धो लें |

तो, मुकाबला करने में सबसे महत्वपूर्ण कदममाथे पर पंपों को उनके दाने के कारण का निर्धारण करना चाहिए। वास्तव में, यह न केवल चेहरे की अनुचित स्वच्छता और इसके लिए परवाह है, बल्कि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट, डिस्बिओसिस, तला हुआ, मिठाई और आटे का दुरुपयोग के काम में असामान्यताएं भी हो सकती हैं।

नीचे लिखे मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  को अपने जीवन का हिस्सा बनाये इससे चेहरे पर चमक बनी रहती हैं और रंग निखरता हैं .सभी मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय  बहुत आसान हैं, जिसके कई फायदे हैं जो आपको सुंदर त्वचा दे सकते हैं . तो चलिए आज हम आपको बताते है, मुहासे कैसे दूर करें.

चन्दन, मुलैठी और हल्दी जैसे घरेलू नुस्खे त्वचा के पुराने दाग धब्बों के निशानों को भी हल्का करने की क्षमता रखते हैं। हालांकि काफी अच्छी तरह से इनका इस्तेमाल करने पर भी इस बात की काफी संभावना होती है कि इनका असर काफी महीनों में दिखे।

“माथे पर मुँहासे से छुटकारा _चेहरे पर छोटे मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए”

कॉफी और शराब का सेवन न करें। यह दोनो ही पेय आपके मुंह में बैक्टीरीया को बढ़ाते है, जो सांस की दुर्गंध का मुख्य कारण होते हैं। यह आपके मुंह को भी सूखाते है, जिस वजह से बैक्टीरिया दीर्घ काल तक मुंह में ही रहते हैं।

–> संतरे में मौजूद विटामिन सी पिपल्स को निकालने में मदद करता है | संतरे को मुहांसे पर इस्तेमाल करने से पूर्व त्वचा को भली – भांति गुनगुने पानी से धो ले ताकि त्वचा के पोर्स खुल सके | इसके बाद संतरे के छिलके को pimple पर लगाकर  एक घंटे तक छोड़ दे |

फिर ब्यूटीशियन पर जाएं एक अच्छा विशेषज्ञ या सिद्ध सैलून चुनना बेहतर है एक अनुभवी चिकित्सक, माथे पर मुँहासे को हटाने के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को सलाह देगा, और अपने चेहरे की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आगे की देखभाल के लिए साधन का चयन करने में भी मदद करेगा।

जब लोक उपचार के चेहरे पर मुँहासे का इलाज करते हैंप्रयोग करने और संदिग्ध व्यंजनों का प्रयोग न करें इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि उत्पाद आपकी त्वचा के प्रकार के लिए उपयुक्त है। उपयोग की अनुशंसित विधि का पालन करें, अन्यथा, मुँहासे ठीक होने पर, आप एक क्षतिग्रस्त त्वचा के साथ शेष जोखिम उठा सकते हैं।

लक्षणात्मक उपचार मुंह के छालों से निपटने का प्राथमिक तरीका है। यदि उनका कारण ज्ञात हो, तो उस स्थिति के उपचार की भी अनुशंसा की जाती है। पर्याप्त मौखिक स्वच्छता भी लक्षणों से राहत देने में सहायक हो सकती है। अगर आपके मुंह के छाले 3 हफ्ते से ज्‍यादा रहें तो उसे तुरंत ही डॉक्‍टर को दिखाएं। आइये जानते हैं मुंह के छाले ठीक करने के घरेलू उपचार।

पिम्पल्स ऑयली त्वचा पर अधिक निकलते है, पिम्पल्स हटाने के घरेलू नुस्खे आप ऊपर पढ़ सकते है और ऑयली स्किन के उपाय आप यहां पढ़े :: http://hindi.kyakyukaise.com/face-beauty-tips-oily-dry-skin-ka-ilaj-gharelu-upay-nuskhe/

झुर्रियाँ आप की उम्र के बड़ने के साथ आपके त्वचा में देखे जा सकते हैं | लेकिन आप निश्चित रूप से त्वचा को अच्छी तरह से hydrated रखकर उनकी उपस्थिति में देरी कर सकते हैं । बर्फ के क्यूब्स आपको quick facial देगा, यह आपके त्वचा को moisture locked प्रदान करते हैं |

पुदीने की चाय : इस चाय में बालों को प्राकृतिक दिखाने के सारे गुण मौजूद होते है तथा यही कारण है की आपको इसका सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए पुदीने की चाय का सेवन करके मूछो के बालों की असली रंगत वापिस मिलती है इससे भी आप मूछ और दाढ़ी के बालों को काला कर सकते है

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। Muh ke chhale मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको Muh ke chhale मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

All the information, content and live chat provided on the site is intended to be for informational purposes only, and not a substitute for professional or medical advice. You should always speak with your doctor before you follow anything that you read on this website. Any health question asked on this site will be visible to the people who browse this site. Hence, the user assumes the responsibility not to divulge any personally identifiable information in the question. Use of this site is subject to our Terms & Conditions

बेकिंग सोडा या सोडियम बाइकार्बोनेट आपकी त्वचा के लिए एक सौम्य परत के रूप में काम करता है। इस प्रकार, यह रोम छिद्र को निकालता और मृत त्वचा को हटाता है। यह त्वचा के पीएच(pH) संतुलन को विनियमित रखने में मदद करता है और इसमें हल्के सूजन को कम करने और एंटीसेप्टिक गुण भी होते है। इन सभी विशेषताओं के कारण यह मुँहासे समाशोधन के लिए एक उत्कृष्ट है।

दलिया तेल, गंदगी और अन्य टॉक्सिन्स को बाहर निकल देता है। शहद में जीवाणुरोधी गुण होता है जो बैक्टीरिया से मुकाबला करता है और एक्ने (acne) बनाने के कारण को रोकती है और इसका ठंडक देने वाला गुण प्रभावित क्षेत्र को ठीक करने में मदद करता है और लाली और सूजन को रोकता है।

आज हम आपको बतांगे कैसे आप सांसों तथा मुहं की दुर्गन्ध से छुटकारा पा सकते हो इसके लिए आपको कहीं  बाहर जाने की आवश्कता नहीं बल्कि आप घर बैठे ही इस समस्या का समाधान कर सकते हो ,तो आये जानते है Bad Breathing Home Remedy के बारे में |

डायबिटीज (71) डायरिया (25) डेंगू (7) डैंड्रफ (8) थकान (37) दमा (33) दांत दर्द (56) दांतों के लिए (71) दाद-खाज (23) दिल की बीमारी (43) दिल के दौरे (25) देशी नुस्खे (1642) नपुंसकता (11) नींद की समस्या (25) पथरी (42) पसीने की बदबू (9) पाइल्स (14) पाचन (136) पीरियड्स (23) पीलिया (18) पेट की चर्बी (38) पेट के लिए (118) पेट दर्द (83) पेशाब में जलन (9) पैरों की लिए (27) पैरों की बदबू (11) बच्चों के रोग (20) बवासीर (52) बालों के लिए (229) बुखार (66) ब्लड शुगर (16) मधुमेह (41) मधुमेह (शुगर) (91) माइग्रेन (35) माहवारी के (12) मुंह की दुर्गध (21) मुँहासे (17) मोटापा (141) योगा टिप्स (21) वजन कम (51) वजन घटाने (38) वज़न घटायें (15) विटामिन (1) शीघ्रपतन (9) सर्दी जुकाम (70) सिरदर्द (65) सीने में जलन (17) सेक्स पावर (12) सेहत के लिए (10) स्वस्थ जीवन का सूत्र (219) हार्ट अटैक (30) हार्ट ब्लॉकेज (11) हृदय रोग (7) हेयर लोस (4) हेल्थ टिप्स (8) Beauty Tips (5) Health Tips (162) Yoga Tips (8)

ज्यादा से ज्यादा हर्बल और सौम्य उत्पादों का उपयोग करें: कई लोग अपनी त्वचा से धब्बों को निकालने के लिए इतने उत्सुक रहते हैं कि किसी भी उत्पाद का इस्तेमाल करके अपनी त्वचा को और ज्यादा खराब कर देते हैं | इसलिये अपनी त्वचा अनुसार उत्पादनों का चयन करें | अगर कोई क्रीम आपकी त्वचा पर बुरा असर कर रही है, तो उसका प्रयोग तुरंत बंद कर दें | सौम्य फ़ेशियल क्लीन्ज़र, मेकअप रिमूवर, स्क्रब आदि जो आपकी त्वचा को खराब करने की बजाए अच्छा बनाती है, का ही चयन करें |

Home Remedy (Gharelu Nuskhe) for Pimple Marks (Acne Scars) on Face in Hindi. Muhase ke nishan se chutkara pane ke liye gharelu nuskhe upchar/upay in Hindi. Muhase ke daag hatane ke upay in Hindi. Chehre (face) ke daag dhabbe hatane ke upay in Hindi. Kale daag mitane ke upay in Hindi.

अपनी त्वचा पर तेल ना जमने दें तली और मसालेदार चीज़ें खानी बंद कर दें जंक फूड को तो अपनी लाइफ में कभी भी शामिल हि ना करें त्वचा को हमेशा सॉफ रखें पूरी नींद लें पानी अधिक पिएं सुभय और रात को भाप लें फल और हरी पतेदार सब्जी खूब खाएँ साबुन कि जगह बेसन,चावल के आटे में हल्दी मिलाकर उसी मिश्रण से तव्चा को धोएँ

नीम एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसका उपयोग आप त्वचा की देखभाल के लिए कर सकते है। नीम का उपयोग त्वचा को साफ करने में मदद करता है। नीम पिम्पल, धब्बे और किसी भी प्रकार के स्किन इन्फेक्शन का इलाज कर सकता है। इसका इस्तेमाल भी आसान है जैसे नीम के पत्तों का पेस्ट बना लें और उसे 20 मिनट तक अपने चहरे पर लगा कर रखें। फिर इसे हल्के गर्म पानी से धो लें।

Mera naam kuldeep h or sir mai apne face oar hone wale pimples se kaphee pareshan hu . Mere face pe pinples pichle kareeb 4 saal se h me jab bhi dawaee leta hu tab ye thik ho jaate h but dawaee ko band karne ke baad ye pehle jaise wapas hi jaate h. Sir mere face oe rojana bahut sare white colour ke pimples aa jate h or ek – do din me ye khatam ho kar wapas naye nikalne suru ho jaate h aisa sir mere sath pichhle 2 saloo se ho rha h or sir pimples ke wajah se mera ghar se niklna mushkil ho gya h or sir mere face pe pimples ke daag bhi h or unki wajah se mere face par kuch jagah par small holes ho gye h .

–> मुहाँसे पर कच्चे दूध में जायफल घिसकर लगाने से भी मुहाँसे से छुटकारा मिलता है | जायफल घिसे कच्चे दूध को बीस मिनट तक त्वचा पर लगाकर रखने के बाद गुनगुने पानी से धो दें | इस उपाय से मुँहासों के साथ रंग साफ़ होगा और झाईयां भी दूर होती है |

कील मुंहासे का इलाज, नीबू मे स्तम्मक(अस्ट्रिंजेंट), विटामिन सी होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकल देता है तो जब भी आप दाग धब्बे का इलाज करे तो नीबू का इस्तेमाल करे। नीबू का रस निकल कर कॉटन की सहयता से दाग पर लगाए। अच्छे परिणाम के लिए हर दूसरे दिन इस विधि का उपयोग करे।

अगर आप भी दाग – धब्बो या कील मुहांसों से परेशान है तो यह Article आपको इनसे छुटकारा पाने में बहुत Help कर सकता है. आप इस आर्टिकल में बताये गये Tips को अपनाकर अपने चेहरे से कील – मुंहासो को बड़ी आसानी खत्म कर सकते है.

पूरा नींद लें चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करेंपानी अधिक मात्र में पिएं कास्मेटिक का उपयोग ही न करें फल और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएँ तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ|

How to get rid of acne and pimples, how to remove acne, how to stop acne by simple beauty secrets. Remove acne scars, remove acne over night, remove acne at home, acne treatment, how to get rid of acne scars, how to get rid of acne naturally,

“मुंह से मुकाबला करने के लिए जल्दी से कैसे मुकाबला करना _कैसे लाल मुँहासे निशान से छुटकारा पाने के लिए”

अगर मुँहासों में संक्रमण हो जाए तो इनमें दर्द, जलन और पस निकलने लगता है जो की एक अत्यधिक गंभीर समस्या बन सकता है | मुहाँसे अक्सर 15 से 25 साल की आयु में निकलते है पर यह तय नहीं है क्योंकि यह अन्य आयु वर्ग के लोगों को भी हो सकते है |

जल्दी से कील मुहाँसो से जल्दी छुटकारा पाने के लिए आप रोज चेहरे को सॉफ रखेंगे तो भी आप इन चीज़ों से मुक्ति पा सकते हैं चन्दन, मुलैठी और हल्दी जैसे घरेलू नुस्खे त्वचा के पुराने दाग धब्बों के निशानों को भी हल्का करने की क्षमता रखते हैं। हालांकि काफी अच्छी तरह से इनका इस्तेमाल करने पर भी इस बात की काफी संभावना होती है कि इनका असर काफी जल्दी में दिखे।

Hindi NewsNDTV India LiveWorld News in HindiSports News in HindiCricket News in HindiBollywood News in HindiArchivesAdvertiseAbout UsFeedbackDisclaimerInvestorComplaint RedressalCareersContact UsSitemap© Copyright NDTV Convergence Limited 2018. All rights reserved.

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

माथे पर चमड़े के नीचे और छोटे pimples पैदा कर सकते हैंबस अनुचित देखभाल के परिणामस्वरूप किसी भी मामले में आपको छोटे प्रदाहों को निचोड़ना चाहिए, जैसे कि रोगाणुओं, पड़ोसी छिद्रों में पड़ना, केवल माथे पर चिड़ियों की संख्या में वृद्धि होगी

    मुंहासों के इलाज के लिए एलोवेरा बहुत ही कारगर प्राकृतिक उपाय हैं। इसके अलावा सौंदर्य से संबंधित बहुत से समस्याओं का सामाधान एलोवेरा से किया जा सकता है। यह एक पूर्णरूप प्राकृतिक क्रीम होने के साथ यह एक प्राकृतिक कंडीशनर भी है। जिसका गूदा चेहरे पर नियमित रूप से लगाने पर चेहरा खूबसुरत, मुलायम एवं चमकदार बन जाता है। एलोवेरा चेहरे के दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) को भी हटा देता है। यदि सुबह – शाम चेहरे पर आप अपने मुंहासों पर एलोवेरा का इस्तेमाल करते हैं तो जल्दी ही आपको इसका परिणाम नजर आएगा।

Muhase (pimples) hatane ke gharelu upay (Home remedies) in hindi आज कल लड़का हो या लड़की सभी अपने चेहरे पर होने वाले मुहांसों से परेशान  रहते हैं और जिसके लिए डॉक्टर्स को हैं और महंगे- महंगे ट्रीटमेंट करवाते हैं कई बार इन ट्रीटमेंट्स के गलत परिणाम भी भुगतने पड़ते हैं . जिससे रोग कम नहीं होता बल्कि अन्य गलत परिणाम सामने आ जाते हैं . इसलिए  मुहांसे की परेशानी से निजात पाने के लिए मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय करें .

–> लहसुन पिंपल को हटाने में किसी चमत्कारिक उपचार से कम नहीं है | दरअसल लहसुन एक एंटीवायरल, एंटीफंगल, एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सिडेंट है जो पिंपल के घाव को बड़ी आसानी से ठीक कर देता है | आपको सिर्फ इतना करना है कि शरीर के जिस भाग पर पिंपल  हो लहसुन छीलकर लगा ले | 5 मिनट तक लगे रहने के बाद हल्के गुनगुने पानी से धो ले |

भारतीय बकाइन को नीम के रूप में भी जाना जाता है, इसे विभिन्न त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटीसेप्टिक और रोगाणुरोधी गुण हैं जो कि मुँहासो को बनाने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं। इसके अलावा, नीम लालिमा और त्वचा की सूजन में आराम देता है। (और पढ़ें – नीम के फायदे इन हिंदी)

ऑइली त्वचा से पूरी तरह से छुटकारा पाना मुश्किल हो सकता है, लेकिन आप इस सामान्य समस्या को हल करने के लिए कई चीजें कर सकते हैं। महंगे और केमिकल युक्त उत्पादों का उपयोग करने की कोई आवश्यकता नहीं है। बहुत से लोगों ने घरेलू उपायों को इस समस्या के लिए मेहतर और प्रभावी पाया है। 

जल्दी कील मुहाँसो से छुटकारा पाने के लिए आप स्टीम को चेहरे पर साप्ताह में एक या दो बार लें सकते हैं इसे लेते समय हाथ में रुई रखकर चेहरे को घिसती रहें इस से चेहरे की अंदर की मैल जो बाहर आती है स्टीम लेने के बाद साथ साथ सॉफ होती जाती है अगर आपकी त्वचा आयिली हो तो अलकोल लेकर रुई से सॉफ किया जा सकता है पर कभी कभी करना चाहिए हमेशा नहीं वरना त्वचा खुशक हो जाएगी

कील और मुहाँसो को दूर करने के लिए चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करें साबुन से चेहरा न धोये| सिर्फ बेसन, चावल का आटा और हल्दी का प्रयोग करें पानी अधिक मात्र में पिएं पूरी नींद लें तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ|

जैसा की हम सभी जानते है की गर्मी के समय बर्फ को कई तरह से use किया जाता है, पर और सभी मौसम में भी चहरे पर बर्फ लगाने से कई तरह के लाभ होते है, तो आइये जानते है इसके health और skin benefits के बारे में विस्तार से:

अपनी अपने अब अमेरिका आज आप इस इस के उन की उन के उन्हें उन्होंने उस का उस की उस के उस ने उसे एक ऐसा ऐसे कई कभी करते करने का काम कारण किया किसी कुछ के बाद के लिए के साथ को कोई क्या गए घर जब जा जाता है जाती जाने जिस जीवन जुगुनी जो ज्यादा तक तरह तुम तेजेंद्र तो था था कि थी थीं थे दवा दिन दिया दिल्ली दी दीक्षा दे देश नहीं ने कहा नेपाल के पटना पति पत्नी पर पहले फिर फिल्म फोन बन बना बहुत बात बेटी भाजपा भारत भी मन मुंबई मुझे में मेरी मेरे मैं ने यह या रहा है रही रहे हैं रुपए लगा लिया ले कर लेकिन लोग लोगों वह वाली वाले वे सब समय साल से हम हर ही हुआ हुई हुए है और है कि हैं होगा होता है होती होने

“मुँहासे खोने का सबसे अच्छा तरीका |रातोंरात नींबू के रस से छुटकारा”

बवासीर में कच्ची मूली या मूली के पत्तों की सब्जी बनाकर खाना फायदेमंद होता है. हर रोज सुबह उठते ही एक कच्ची मूली खाने से पीलीया रोग में आराम मिलता है. अगर पेशाब का बनना बंद हो जाए तो मूली का रस पीने से पेशाब दोबारा बनने लगती है. आधा गिलास मूली का रस पीने से पेशाब के साथ होने वाली जलन और दर्द मिट जाता है. खट्टी डकारें आती है तो मूली के एक कप रस में मिश्री मिलाकर पीने से लाभ मिलता है.

कील मुंहासे का इलाज, जई सिर्फ़ सर्वोत्तम आहार के रूप मे ही नही बल्कि औषधि के रूप मे भी उपयोग होता है जो की चेहरे के दाग, धब्बे , मुहासे ठीक करता है। मुहासे की दवा, काले दाग (black spot), धब्बे और मुहासे के निशान से छुटकारा पाने के लिए चेहरे पर ज़ई के आटे का मुखौटा(मास्क) लगाए। ज़ई के आटे मे नीबू का रस मिलाए और गाढ़ा घोल बना कर मास्क की तरह चेहरे पर लगाए और कुछ देर तक मले फिर गर्म पानी से धो ले। तुरंत आराम के लिए इस विधि का उपयोग हफ्ते मे दो बार करे।

यह सबसे आसान तरीका है जिससे हमारे शरीर को थकान से छुटकारा मिलता है। टूटते बालों के पीछे का सबसे प्रमुख कारण थकान है। इस आसन को करने से मासिक धर्म में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है। इससे पाचन तंत्र भी सही रहता है।

सूर्य किरणों: रोगियों के बहुमत आमतौर पर लगता है कि सूरज की रोशनी के लिए उनकी हालत अच्छी है। फिर भी, कुछ विचार बहुत अधिक सूरज की रोशनी अपने लक्षण बदतर बना देता है कि। धूप की कालिमा सोरायसिस एक बहुत बढ़ रहा है।

Sir mere face par pimpals ho gaye hai aur kali si keel ho jati hai aur funsi jesi ho jati hai please help me aur sir agar ham garmi ke mosam me haldi lagae to koi nuksan to nahi hoga kyo haldi garm hoti hai

Yoghurt also works as an inflammation reducing agent and reduces the itchiness in the affected region. It can be applied directly on the pimple. It will reduce the temperature of that area and stop the growth of the bacteria in that region, thus helping to kill the pimple.

पैर पर इस तकनीक को अप्लाई करने के लिए एंकल प्वांइट मतलब एड़ी के ऊपर वाले हिस्से की हड्डी के पीछे की ओर यहां पर खत्म होती है। उसे अपने हाथ की उंगली और अंगूठे से दबाने से भूख पर कंट्रोल होगा जिससे वजन भी कम होगा।

सेब के सिरके में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो उस प्रकार के एक्ने के अच्छा होता है जो त्वचा के तेल और बैक्टीरिया के कारण होते हैं। इसके अलावा, यह अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (एएचए) का पर्याप्त स्रोत है जो ऑयली स्किन को टोन और मॉइस्चराइज करता है।

ज्यादा रेशे वाले (फाइबर से भरपूर) आहार लें: ताजा और कुरकुरा भोजन आपके दांतो को साफ़ रखने के साथ-साथ, यह दुर्गन्धयुक्त सांस को भी रोकेगा। इससे आपकी पाचनशक्ति में सुधार होगा और विषैले तत्व आपके शरीर से निकल जाएंगे।[९]

फुंसियों का हमारे फेस पर होने का सबसे बड़ा कारण गंदे हाथो को face पर बार – बार लगाना भी है. हाथो में जीवाणु और बैक्टीरिया होते हैं इसलिए कभी भी दिन में अपनी त्वचा को हाथो से ना छुए. जब भी अपने चेहरे पर हाथ Touch करना हो तो उन्हें पहले अच्छी तरह धो ले.

दालचीनी के उपयोग से शरीर को ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद मिलती है, जिसमें कुल कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी कम हो जाता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी आंतरिक ऊतकों में सूजन को ठीक करने और दिल के दौरे और बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

जवानी की देहलीज़ पर कदम रखते ही पिंपल्स याने मुहासे प्रकट होते है| इस के पीछे मुख्या कारण है की शरीर में होरमोन्स का निर्माण होने लगता है और इस के कारण त्वचा में तेल उत्पन्न होने लगता है जो मेल के साथ मिल के छिद्र को बंद कर देते है| परिणाम यह होता है की छिद्र के अन्दर बैक्टीरिया का फैलाव होता है और त्वचा पर मुहासे निकल आते है|

1 मुहांसो से छुटाकारा पाने के लिए इंहे कभी भी ना फोड़े वरना इसका सीरम निकल कर पूरे चेहरे पर मुहांसे फैला देगा। मुहासों को तौलिए से ना रगड़े, ऐसे करने से आपके पूरे चेहरे पर मुहासे फैल सकते हैं। बेहतर होगा कि इसको अपने आप ही खत्‍म होने दें।

यदि किसी व्यक्ति की आँखों के नीचे काले घेरे हो गये हैं तो वो सुबह उठ कर मुँह की लार से धीरे धीरे आँखों के नीचे मालिश करें ऐसा करने से आँखों के नीचे के काले घेरे ठीक हो जायेंगे लेकिन प्रयोग 1-2 महीने करना पड़ेगा।

For more articles on skincare, check out our skincare section. Follow us on Facebook and Twitter for all the latest updates! For daily free health tips, sign up for our newsletter. And to join discussions on health topics of your choice, visit our forum.

मेडिसिन की भाषा में मुंह से दुर्गंध (Bad Breathing) की स्थिति को हैलीटोसिस कहते हैं| ये मुंह की सफाई का ठीक से ख्याल ना रखने और खान पान की गलत आदतों से पैदा होती है| सांस की बदबू का कारण अक्सर जीभ, दांतों और मसूड़ों पर जमे बैक्टीरिया के प्लाक के कारण आती है | इसीलिए जीभ को रोज साफ करना चाहिए|

Home Remedy (Gharelu Nuskhe) for Pimple Marks (Acne Scars) on Face in Hindi. Muhase ke nishan se chutkara pane ke liye gharelu nuskhe upchar/upay in Hindi. Muhase ke daag hatane ke upay in Hindi. Chehre (face) ke daag dhabbe hatane ke upay in Hindi. Kale daag mitane ke upay in Hindi.

आज हम आपको बतांगे कैसे आप सांसों तथा मुहं की दुर्गन्ध से छुटकारा पा सकते हो इसके लिए आपको कहीं  बाहर जाने की आवश्कता नहीं बल्कि आप घर बैठे ही इस समस्या का समाधान कर सकते हो ,तो आये जानते है Bad Breathing Home Remedy के बारे में |

दाग धब्बों को खुरचने से बचें: खुरचना आपकी त्वचा को ठीक करने की बजाए और ज्यादा खराब कर सकती है | आपके हाथों के बैक्टीरिया खुरचे हुए मुँहासों में मिलकर, आपकी त्वचा को संक्रमित करके सूजा सकती है | इसलिए, हमेशा खुरचने से बचें |

You must be worried about what is pimple, what are the reasons behind acne on face, why pimples are coming on my face and so on so… find here answers to all the questions and ask us if any questions. … Continue reading What is pimples and reasons behind acne – know Everything

क्या आप भी मुंह से आने वाली बदबू से परेशान है। क्या आपके साथ बात करने वाले आपको हीन नजर से देखते हैं और आपसे दूर रहने की कोशिश करते हैं? अगर आपको भी इन परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है तो अब घबराने की कोई बात नहीं है। आज हम आपको ऐसे टिप्स दे रहे हैं जो आपको मुंह से आने वाली बदबू से छुटकारा दिलाएंगे। फोटो Getty Images से..

मोटापे से परेशान लोग वजन घटाने के लिए व्ययाम, योगा, खाने पर कंट्रोल क्या कुछ करते हैं। कुछ लोग जिम जा कर घंटो एक्सरसाइज करके पसीना बहाते हैं। कई बार ज्यादा देर जिम करने से कई तरह की शरीरिक प्रॉब्लम भी शुरू हो जाती है। ऐसे में वजन घटाने के लिए आप एक्यूप्रेशर तकनीक को भी अपना सकते हैं। यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें शरीर के बिंदुओं को दबाना होता हैं। जिससे आपको भूख कम लगेगी और आपके वजन पर भी कंट्रोल होगा। मानव शरीर पर ऐसे बिंदु होते है जिसे दबाने से कई रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है और मोटापे को भी कम किया जा सकता है।

अपनी त्वचा को धूप से बचाएं: सूर्य कि UV किरणे, त्वचा कि पिग्मेंट निर्माण करने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करती हुई आपके मुँहासों के धब्बों को ओर ज्यादा खराब कर सकती है |[१]अगर आप धूप में जा रहें हैं, तो सनस्क्रीन या चौड़ी टोपी पहने और जहाँ तक हो छाँव में चलें |

“आहार के साथ मुँहासे से छुटकारा |मुँहासे से मुक्ति पाने के लिए मुँहासे से छुटकारा”

आप एक चौथाई कप सेब के सिरके में तीन चौथाई कप पानी मिला कर एक घरेलू टोनर बना सकते हैं। इस टोनर को रुई की मदद से त्वचा पर लगाएं। इसे पांच से 10 मिनट तक लगा रहने दें। फिर ठंडे पानी से धो लें। सकारात्मक परिणाम के लिए इस प्रक्रिया को सप्ताह में यह कई करें।

अस्वीकरण पत्र- इस साइट पर सभी जानकारी और सामग्री केवल सूचना और शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए हैं। इस जानकारी को किसी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी की चिकित्सा के निदान और उपचार दोनों के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। हमेशा बीमारी के निदान और उपचार के लिए एक योग्य चिकित्सक की सलाह लीजिये।

गार्गल का इस्तेमाल करें: एक कप गर्म पानी में एक चम्मच नमक मिलाएँ और मिश्रण को 30 सेकंड के लिए गार्गल करें। एक दिन में कई बार यह करने से आपको अपने गले के पीछे और आपकी नाक में अटके बलगम को निकालने में मदद मिलेगी।

अगर अपनी अपने अब आज आप इन इस इसके इससे इसे उनके उस और कई कर करने करें कहानी का काम कार कि किया किसी की कुकर कुछ के बाद के लिए के लिये के साथ केक को कोई क्या खास गया घर घी घोंसले चम्मच चाहिए जब जा जाता है जाती जाने जो जोधपुर ज्यादा ठीक तक तथा तरह तो त्वचा थी थे थोड़ा दिन दिया दूध देखा द्वारा धर्म नमक नहीं ना नाना पाटेकर नीबू ने पर पहले पानी पीपल पुजारी जी पुरस्कार पेस्ट फिर फिल्म बड़ा बन बर्तन बस बहुत बार भी मिला मिलाकर मुंह में में एक मेदा मेरे मैं यह या ये रंग रम्भा रही रहीम रहे राजस्थानी रात रूप लगा लीजिये ले लें वाले विजयदान देथा वो शक्ति शिव सब सभी सा साड़ी साहित्य सी से सेवन हर हल्दी हिन्दी ही हुआ हुए है और हैं हो होता है होती होने होली

खीरा त्वचा को शीतलता, कसावट और कोमलता प्रदान करने वाले गुणों के कारण बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा, विटामिन ए, विटामिन ई, मैग्नीशियम और पोटेशियम सहित उच्च विटामिन और खनिज मौजूद होने के कारण ये ऑयली त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है।

चेहरे या शरीर पर निकलने वाले अनचाहे मस्से हमारे चेहरे को बदसूरत सा बना देते हैं। इनके निकलने से चेहरे की खूबसूरती खत्म हो जाती है। त्वचा पर मस्सों का होना पेपीलोमा वायरस के कारण होता है, यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए केवल सर्जरी ही एकमात्र रास्ता होती है, लेकिन आज हम इससे छुटकारा पाने का एक कारगर उपाय बताने जा रहें हैं और इस उपाय को आप आपने घर पर ही कर आजमा सकती हैं। कैस्टर ऑयल मस्सों से छुटकारा पाने सबसे अच्छा और प्रभावी उपचार माना जाता है। इसका उपयोग करके आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती है। तो जानें इसे उपयोग करने के तरीके के बारे में…

कई बार मुंह में लार कम बनने से भी सांसों से बदबू की समस्या हो सकती है। मुंह में रह गए भोजन के कण और बैक्टीरिया कई बार इन्फेक्शन पैदा कर देते हैं जिससे भी सांसों से बदबू आती है। लार इन कणों और बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करती है।

त्वचा के छिद्र भर जाने पर सूजन आ जाती है और उस छिद्र में बैक्टीरिया के कारण पस भर जाती है इस को पिम्पल्स कहते हैं तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ भरपूर नींद लें पानी अधिक मात्रा में लें चेहरे को बार बार धोएँ फल और सब्जी ज़ायेदा खाएँ साबुन की जगह बेसन के उबटन से मुँह धोएँ

I am showing the Bay leaf plant & in our local language it is called Tejpat (তেজ পাত). The leaves have a very good aroma and are mainly used as a spice in Indian cooking since ages. The fresh leaves are very mild and do not develop their full flavor until several weeks after picking and drying. The bay leaves can be powdered and if consumed for 30 days is very effective in treating diabetes. I am showing here two ways how to get the maximum health benefit from its leaves.

जैसा कि आप जानते हैं, त्वचा हालत का एक संकेतक हैशरीर। चेहरे पर मुँहासे की उपस्थिति के कारण दोनों बाह्य और आंतरिक कारकों का असर हो सकता है। जलवायु की स्थिति, कॉस्मेटिक तैयारी का उपयोग, पर्यावरण की स्थिति बाह्य कारक हैं जो त्वचा की स्थिति को प्रभावित करते हैं। उदाहरण के लिए, गर्मी में मुंह का प्रकटन, पराबैंगनी प्रकाश या वृद्धि हुई पसीना आना के परिणामस्वरूप हो सकता है। त्वचा का संदूषण चेहरे पर छोटे खांघों की उपस्थिति की ओर जाता है

अधिकतर लोगों को खुद नहीं मालूम होता की उनके मुँह से दुर्गन्ध आती है, ये जानने के लिए की आप की मुंह से सांस की बदबू आती है की नहीं, आप मुंह के आगे हाथ रखे और ज़ोर से साँस छोड़े और अपने हाथ को सूँघे, अब अगर हाथ से बदबू आये तो आपको मुंह से बदबू आने की समस्या है। मुंह और जीभ के छाले, मसूड़ो में इन्फेक्शन और बार बार मुंह में लार बनना मुंह की बदबू के कुछ लक्षण है।

एक बड़ा चम्मच नींबू का रस, डेढ़ चम्मच शहद और एक बड़ा चम्मच दूध एक कटोरी में मिलाएं। इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं और इसे 10 से 15 मिनट के बाद ठंडे पानी से धो दें। रोज़ाना दिन में एक बार यह उपाय करने से आपको एक सप्ताह के भीतर ही सकारात्मक परिणाम नज़र आने लगेंगे। (और पढ़ें – शहद के फायदे और नुकसान)

ड्राई ब्रशिंग विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करती है। ड्राई ब्रशिंग के जरिए बॉडी पर जमा गंदगी व डेड सेल्स से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा यह सेल्युलाइट यानि वसा से भी निजात दिलाती है। पांच से दस मिनट के करीब, धीरे धीरे ड्राई ब्रश प्रभावित क्षेत्रों पर उपयोग करें। सेल्युलाइट की समस्या में बॉडी ब्रशिंग तकनीक मददगार साबित होती है।

– मसूड़ों में सूजन होने पर या दांतों में सड़न होने पर मुंह में होने वाली दुर्गन्ध को दूर करने के लिए एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच अदरक का रस और थोडा नमक मिलाकर उस पानी को मुंह में रखकर उसे पी लें। धीरे-धीरे ऐसा करें जब तक पानी खत्म न हो जाए।

 मस्सों से छुटाकारा पाने के लिए उपयोग में लाए जानें वाले घरेलू उपचारों का उपयोग करते समय आप डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले लें और अपने  मस्सों की जांच भी करवा लें कि ये कहीं किसी प्रकार के कैंसर के लक्षण तो नहीं।

मैने आप की साइट पर कील मुहांसों के ज़ल्दी ठीक करने का लेख पड़ा मुझे बहुत ही लाभ हुआ तथा जिनसे भी शेयर किया उनेहें भी लाभ हुआ इसलिए वो भी आप को धन्यवाद दे रहे हैं प्लीज़ हम सब की गुड विश एक्सेपट करें वेरी नाइस आर्टिकल्स

सेब के सिरके में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो उस प्रकार के एक्ने के लिए अच्छा होता है जो त्वचा के तेल और बैक्टीरिया के कारण होते हैं। इसके अलावा, यह अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (एएचए) का पर्याप्त स्रोत है जो ऑयली स्किन को टोन और मॉइस्चराइज करता है।

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में बताया कि कैसे आप अपने चेहरे से कील मुहांसों को दूर कर सकते हैं कील मुहासे किस चीज से होते हैं और उनसे बचने का उपाय यदि आपको यह पोस्ट पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं.

शुद्ध टी ट्री आयल लगाना अगर त्वचा में जलन, लालिमा या ज़्यादा शुष्क त्वचा का कारण बनता है, तो टी ट्री आयल में पानी का उपयोग कर उसको पतला करें या एलोवेरा जैल के साथ यह मिश्रण बनाएं और फिर अपने चहरे पर लगाएं। (और पढ़ें – टी ट्री ऑयल के फायदे)

यह सोचा है कि सोरायसिस ठीक नहीं किया जा सकता है और त्वचा की यह स्थिति पुरानी है। जब आप छालरोग उपचार दवा लेने या समय-समय खराब अस्थिर होने के नाते, यह सुधार कर सकते हैं। समय पर सोरायसिस साल छूट अवस्था में रहने के लिए प्रकट नहीं होता है। सर्दियों की अवधि समय जबकि गर्मियों के महीनों, इसके विपरीत, धूप में घूमना – एक असली प्राकृतिक छालरोग उपचार के लिए धन्यवाद त्वचा में सुधार जब हालत, खराब कर सकते हैं हो सकता है।

यदि सम्भव हो तो अपने कूल्हों को धूप लगाएँ: यदि आपके पास अपना निजी आँगन (private backyard) है या न्यूड समुद्र तट (nude beach ) पास में है तो एक गर्म दिन पर अपने कूल्हों को कुछ धूप लगाएँ। सूरज प्राकृतिक रूप से ज्यादा तेल को सुखा देगा।

सर मेने भी बहुत क्रीम उपयोग करके देखि पर कुछ फर्क नही पडा है और मैने डॉक्टर से इलाज भी करवाया परन्तु जब तक इलाज चलता तब तक थोडे कम हो जाते है पिम्पल फिर इलाज बंद होने के बाद वापस शुरू हो जाते है। मैं पिछले 3 साल से परेशान हु पिम्पल से बहुत बार इलाज भी करवाया परन्तु कुछ फर्क नही पडा।अब मुझे क्या करना की मैं पिम्पल से छुटकारा पा सकु

* बेकिंग सोडा : अगर आपके मुँह में छाला खट्टे पदार्थों के खाने से हुआ हो तो यह सबसे बेहतरीन उपाय है। एक कटोरे में थोड़ा सा बैंकिंग सोडा लें और उसमे थोड़ी सी पानी की मात्रा मिलाएं ज्यादा मोती पेस्ट भी नहीं बनाएं। इसके बाद इसे आप अपने छालों पर लगा लें। आप इसका उपयोग दिन में कई बार कर सकते हैं। इसके अलावा आप बैंकिंग सोडा को सीधे छालों पर लगा सकते हैं।

एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाएं और रोज़ रात को सोने से पहले इसे पी लें। यह हार्मोन संतुलन में मदद करेगा, जो त्वचा में अतिरिक्त तेल के उत्पादन को नियंत्रित करेगा। (और पढ़ें – हार्मोन्स का महत्व महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए)

घरेलू नुस्खों के कार्य करने की क्षमता काफी हद तक आपकी त्वचा के प्रकार और आपकी उम्र पर भी निर्भर करती है। त्वचा की नयी कोशिकाएं पैदा करने की क्षमता उम्र के साथ घटने लगती है और इसी वजह से दाग धब्बों के हल्के होने की प्रक्रिया जवान उम्र के लोगों के मुकाबले बुज़ुर्ग लोगों में काफी धीमी गति से होती है।

तो, मुकाबला करने में सबसे महत्वपूर्ण कदममाथे पर पंपों को उनके दाने के कारण का निर्धारण करना चाहिए। वास्तव में, यह न केवल चेहरे की अनुचित स्वच्छता और इसके लिए परवाह है, बल्कि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट, डिस्बिओसिस, तला हुआ, मिठाई और आटे का दुरुपयोग के काम में असामान्यताएं भी हो सकती हैं।

अगर आपको बार-बार मुंह के छाले Muh ke chhale हो रहे हैं तो अपने मुंह की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। ज्यादा मसालेदार और गरिष्ठ भोजन करने से बचें। अगर फिर भी छाले ठीक न हो रहे हों तो जल्द चिकित्सक से सलाह व उपचार अवश्य लीजिए।

यह सभी सोरायसिस से पीड़ित रोगियों का 80% के साथ सबसे बड़े पैमाने पर छालरोग के प्रकार है। यह चांदी सफेद रंग के पैमाने और लाल रंग की सूजन पैच द्वारा प्रतिष्ठित है। घुटने, कोहनी, पीठ के निचले हिस्से पर एक यह खोज कर सकते हैं, और खोपड़ी, लेकिन यह कहीं भी हो सकते हैं।

बर्फ के प्रयोग से भी आप जल्द ही मुँह के छालों से छुटकारा पा सकते है. मुंह में छाले होने पर बर्फ के एक टुकड़े को लेकर छाले वाले जगह पर सिकाई करें. इससे छालो के दर्द से काफी राहत मिलती है और इसके कुछ समय के प्रयोग से छाले जल्दी सही हो जाती है.

कोशिश करें की मांस न खाएँ: मांस का बलगम के उत्पादन के साथ संबंध है इसलिए कोल्ड में इसे खाना बहुत अच्छा नहीं है। बंद नाक के साथ आप मांस के असली फ्लेवर को टेस्ट नहीं कर पाएँगे और साथ ही साथ आपकी नाक और भी खराब हो सकती है। सावधानी बरतें और बहुत ज़्यादा बलगम से जूझते वक्त मांस से दूर रहें।

अपने आहार में परिवर्तन करें: कुछ शुगरी, फैटी, और तले हुए जंक फ़ूड (junk foods) आपके शरीर में इन्सुलिन (insulin) बढ़ने का कारण हो सकते हैं जो कि शरीर को ज्यादा सीबम (Sebum) बनाने के लिए मजबूर करता है, यह भी मुँहासे होने का एक कारण है।

मुँहासे से छुटकारा पाने में सबसे मुश्किल हैकिशोरावस्था। इस तरह की चकत्ते हार्मोनल विकारों के परिणाम हैं। एण्ड्रोजन के अधिक मात्रा में वसामय ग्रंथियों की वृद्धि हुई गतिविधि होती है, जिसके परिणामस्वरूप त्वचा पर चकरा पड़ता है। ऐसे मामलों में हार्मोन थेरेपी में दुष्प्रभाव हो सकते हैं, इसलिए आपको मुँहासे के लिए विशेष रूप से धन के चयन की आवश्यकता है। कुछ मामलों में, ब्यूटीशियन अतिरिक्त प्रक्रियाओं को लिख सकता है, उदाहरण के लिए तरल नाइट्रोजन के साथ मालिश, त्वचा पिलिंग, विशेष सफाई। इसके अलावा, दवाएं जो वसामय ग्रंथियों की गतिविधि को कम करती हैं, और संयुक्त दवाएं जो बैक्टीरिया को नियंत्रित करने में प्रभावी होती हैं

कील मुंहासे हाथ से फोड़ने पर इसके दाग धब्बे त्वचा पर रह जाते है। पिम्पल्स के दाग और निशान हटाने के लिए पुदीने को पीस कर एक पेस्ट बना ले और चेहरे पर लगाए। एक महीने तक इस उपाय को करने से चेहरा सुंदर और साफ़ होता है।

“मुंह से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका क्या है _कैसे मुँहासे को रोकने के लिए”

नींबू में विटामिन सी होता है और फीटोनुट्रिएंट्स जिन्हें फ्लेवनॉइड्स कहते हैं जिनमें मजबूत एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक असर होता है। शरीर के भीतर हो रहीं उपापचयी (मेटाबॉलिक) प्रतिक्रियाओं के दौरान उत्पन्न हुए मुक्त कण, शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं (सेल्स) को नुकसान पहुंचा सकते हैं। नींबू में एंटीऑक्सीडेंट इन मुक्त कण की कार्रवाई को प्रतिबंधित करते हैं और नींबू का रस मुँहासों के लिए एक शानदार उपाय है।

–> कील मुहाँसे का इलाज करने में जो सबसे असरकारक घरेलू फेस पैक (Homemade Face Pack) है उसे बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि दो चम्मच खीरे का रस, दो चम्मच गुलाबजल, एक चम्मच ब्रांडी, एक चम्मच अंडे की सफेदी और थोड़ा सा नीबू का रस आपस में मिलाकर लोशन तैयार कीजिए | इस लोशन को धीरे – धीरे मलते हुए चेहरे पर लगाइए और सूखने के उपरान्त गुनगुने पानी से धो लीजिए | इस उपाय को करने से न सिर्फ कील – मुंहासा दूर होते है बल्कि कील मुहासे के दाग – धब्बों से भी छुटकारा मिलता है | 

पुदीने की चाय : इस चाय में बालों को प्राकृतिक दिखाने के सारे गुण मौजूद होते है तथा यही कारण है की आपको इसका सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए पुदीने की चाय का सेवन करके मूछो के बालों की असली रंगत वापिस मिलती है इससे भी आप मूछ और दाढ़ी के बालों को काला कर सकते है

यह सबसे आसान तरीका है जिससे हमारे शरीर को थकान से छुटकारा मिलता है। टूटते बालों के पीछे का सबसे प्रमुख कारण थकान है। इस आसन को करने से मासिक धर्म में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है। इससे पाचन तंत्र भी सही रहता है।

लेज़र उपचार करवाएं: अगर आपके मुँहासे कई महीनों के बाद भी ठीक नहीं हो रहें हैं, तो लेज़र उपचार करवाएं | आप कौन सा इलाज करवाना चाहते हैं, उसके मुताबिक लेज़र कोलेजन उत्पादन को प्रोत्साहित करती है और दाग को भाप बनाकर साफ़ करती है |[९]

थकान मिटाने और नींद लाने में मूली बेहद फायदेमंद है. वहीं, अगर आपको मोटापे से छुटकारा पाना है तो मूली के रस में नींबू और नमक मिलाकर खाने से बहुत लाभ मिलता है. दरअसल, मूली खाने से आपकी भूख शांत होती है. 

Coconut oil and hair always have a strong connection. It helps in hydrating and moisturizing the skin and hair. As pimples also happen in hair follicles, we can use it for getting  rid of pimples. For using the oil, warm it up for few minutes. Now apply this oil gently with your fingertips or a cotton ball in the affected area. Try to apply it twice daily for early results. You can make use of coconut water in the same way by directly applying on the pimple. It is suitable for all skin types.

दरअसल मुंह में छाले होना एक आम समस्या है। कई बार भोजन में गडबड़ी या तीखा भोजन करने से जीभ पर, होंठों पर और अंदर छाले हो जाते हैं जो आमतौर पर पांच सात दिन में ठीक भी हो जाते हैं। कभी-कभी छाले लम्बे समय तक ठीक नहीं होते जो भोजन करते व बोलते समय तकलीफ देते हैं। कई बार गंभीर हो जाने पर इनसे खून भी निकलता है। ऐसे में डॉक्टर से इनकी जांच अवश्य करानी चाहिए, क्योंकि ये घातक भी हो सकते हैं।

चेहरे पर पंप हमेशा मनोवैज्ञानिक कारण होते हैंअसुविधा, और कठिन संक्रमण वर्षों में कई परिसरों का कारण हो सकता है और कोई नींव या पाउडर इस समस्या को हल करने में मदद कर सकता है। इतना कैसे अपने चेहरे पर pimples से छुटकारा पाने के लिए? सबसे पहले, यह समझना चाहिए कि कोई भीत्वचा पर चकत्ते सिर्फ एक कॉस्मेटिक समस्या नहीं हैं एक अनुभवी त्वचाविद् या कॉस्मेटोलॉजिस्ट के साथ परामर्श करने से चेहरे पर मुँहासे के उपचार के उपाय और विधि के चयन के लिए समय कम हो जाएगा। इसके अलावा विशेषज्ञ सलाह देंगे कि क्या चिकित्सक को पता करने के लिए आवश्यक है, कि वह परिभाषित करें, चेहरे पर मौजूद हैं।

जानिये मुहासों के बारे में सभी बातें। मुहासों से जुड़े भ्रम और इसके कारणों को समझिये। आसान और प्राकृतिक टिप्स के साथ कैसे पा सकते हैं मुहासों से छुटकारा। मुहासों और इसके दाग को हटाने के विभिन्न तरीकों और इससे जुड़े आहार के बारे में भी जानिये।

आप बेकिंग सोडा के दो बड़े चम्मच, एक चम्मच दालचीनी पाउडर, आधे नींबू का रस और पांच चम्मच शहद को एक साथ मिलाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और पांच मिनट के बाद धो लें। आप अपनी त्वचा पर सप्ताह में एक या दो बार बेकिंग सोडा का प्रयोग करें।

माउथवॉश का इस्तेमाल करें: दुर्गंधयुक्त सांस पर शीघ्र प्रभाव करने के लिए माउथवॉश का इस्तेमाल करना एक उत्तम तरीका है। यह आपकी दुर्गंधित सांस को अस्थायी रूप से छिपा देता है, लेकिन यह काफी है अन्य लोगों को बुरा लगने से बचने के लिए।[७]

तला हुआ खाना न खाएँ: बहुत ज़्यादा चिकना तला हुआ खाना आपके शरीर को बलगम तोड़ने में दिक्कत देता है जिससे आपका बलगम को सहने का समय बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए कुछ भी तला हुआ या बहुत सारे तेल में बना हुआ न खाएँ।

नर्म नीम की पत्तियों का पेस्ट थोड़ा पानी मिलाकर बनाएं। इस पेस्ट में कुछ हल्दी पाउडर मिलाएं और फिर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। 20 मिनट के लिए इसको लगाकर छोड़ दें और फिर इसे धो लें। एक सप्ताह में कम से कम दो बार यह करें। आप दिन में एक या दो बार नीम का तेल भी लगा सकते हैं जब तक आपको सुधार ना दिखे।

“नारियल के तेल के साथ मुँहासे से छुटकारा _मुँहासे से छुटकारा पाने के तरीके”

नींबू का रस, सिट्रिक एसिड (Citric acid) का अच्छा स्रोत है जो त्वचा में कसाव लाने का काम करता है। इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं जो त्वचा के गहरे रंग को हल्का करते हैं और त्वचा का पीएच स्तर भी संतुलित रखते हैं।

–> लहसुन पिंपल को हटाने में किसी चमत्कारिक उपचार से कम नहीं है | दरअसल लहसुन एक एंटीवायरल, एंटीफंगल, एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सिडेंट है जो पिंपल के घाव को बड़ी आसानी से ठीक कर देता है | आपको सिर्फ इतना करना है कि शरीर के जिस भाग पर पिंपल  हो लहसुन छीलकर लगा ले | 5 मिनट तक लगे रहने के बाद हल्के गुनगुने पानी से धो ले |

ध्यान रखें, अपनी जीभ को भी अवश्य साफ करें, क्योंकि आप की जीभ पर काफी बैक्टीरिया जमा हुए होते हैं, जिसकी वजह से सांस में दुर्गन्ध हो सकती है। जीभ के ऊपर पीछे से आगे की तरफ ब्रश करें और जीभ के कोनों को न भूलें। अपने जीभ पर चार बार से ज्यादा बार ब्रश न करें और ध्यान रखें कि ब्रश करते वक्त जीभ के ज्यादा पीछे तक ब्रश न करें।

बागेश्वरी एक सम्पूर्ण ‘साहित्य ,महिला व युवा पत्रिका’ है ,  ! उनसे जुडी ढेरों जानकारियां , टिप्स , रसोई , स्वास्थ्य ,कविता ,कहानियां ,समाचार व मनोरंजन को समाहित किया गया है …आशा है आप सभी सुधि पाठकों को प्रयास पसंद आएगा ! फ़िल्मी समाचार ,रसोई टिप्स , आभूषण , विज्ञान , अजूबे समाचार आदि कई सामग्री , वीमेन मैगज़ीन , युवा पत्रिका !@ YoguruTechnologies

दोस्तों हमारा ये लेख फेस से पिम्पल गड्डे हटाने के घरेलू नुस्खे और उपाय? कैसे लगे निचे कमेन्ट में जरुर लिखे.  अगर आपके पास कोई कारगर घरेलु तरीका है तो वो भी आप हमसे साँझा कर सकते है इससे और भाइयो की भी मदद हो सकेगी .

धूम्रपान करने से और तम्बाकू चबाने से बचें: वैसे तो कई सारी वजह है धूम्रपान और तम्बाकू को छोड़ने के लिए (जैसे कैंसर), परंतु सांस की दुर्गंध होना भी एक कारण है। धूम्रपान करने से व्यक्ति की सांस की गंध बासी तम्बाकू जैसी लगती है, जिसे कई “ऐश ट्रे की गंध” आना कहा जाता है। इस गंध को रोकने का सबसे आसान तरीका, धूम्रपान छोड़ना ही है।[१०]

वास्तव में, दालचीनी का अधिक मात्रा में सेवन से स्वस्थ को खतरा हो सकता है और आपके लिवर को नुकसान पहुंच सकता है। दालचीनी या उसका तेल का अधिक उपयोग समय से पूर्व दर्द को उत्पन्न कर सकता है या फिर गर्भाशय के संकुचन को भी प्रेरित कर सकता है।

जड़ीबूटी और मसालों का इस्तेमाल करें: अजवाइन को कच्चा खाने से आपका मुंह और दांत साफ़ रहते हैं, और इससे आपकी सांस दुर्गंध भी दूर हो जाती है। इलायची, छिलकों के साथ या पिसी हुई खाने से आपकी सांस को ताजा रखने में मदद मिलती है। मसालेदार भोजन के बाद सौंफ को चबाएं, या इन्हें पीस कर टूथब्रश पर छिड़कर ब्रश करें।[१३]

बहुत ही खूब सुरेंद्र जी, इस Post में आपने कील-मुहांसो के सभी कारणों की जानकारी दे दी और साथ ही साथ उनसे राहत पाने के लिए सबसे उपयोगी सभी घरेलू नुस्खों के बारे में भी बता दिया। बहुत से लोग chemicals का उपयोग करते है ,उन्हें लगता है कि तरह तरह की chemicals वाली creams और lotions use करके उन्हें इससे छुटकारा मिल जाएगा ,छुटकारा तो उन्हें मिल जाता है, मगर जो उनकी skin को नुकसान होता है उसके बारे में वह कभी सोचते भी नहीं न ही उन्हें जानकारी होती है। आपने सभी घरेलू नुस्खे बताये है जोकि बहुत ही फायदेमंद है और skin की natural glow को बनाये रखते है। इतनी उपयोगी जानकारी के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Rat ko sone se pahle kacche dudh ke sath jayfal ko ghise or isk alep tayaar kar le, or is lep ko chehre par laga kar so jaye. Subh chehra saaf pani se dho dey. Kuch din aisa lgatar karne se chehre par hone wale muhaso se chutkara milta hai.

आप शहद के साथ थोड़े पिसे हुए बादाम मिलाकर मिश्रण भी बना सकते हैं। मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए हल्के हाथों से इस पेस्ट से अपनी त्वचा की मालिश करें। फिर अपने चेहरे को गर्म पानी में भिगोये हुए कपड़े की सहायता से पोंछे इससे आपके बंद छिद्र खुलेंगे। यह प्रक्रिया सप्ताह में एक बार करें।

लौंग कैविटी के साथ-साथ किसी भी प्रकार की दांतों से जुडी समस्‍याओं के लिए रामबाण होता है। एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एनाल्‍जेसिक और एंटी-बैक्‍ट‍ीरियल गुणों के कारण लौंग दर्द को कम करने और कैविटी को फैलने से रोकता है। समस्‍या होने पर 1/4 चम्‍मच तिल के तेल में 2 से 3 बूंदें लौंग के तेल की मिलाकर लें। इस मिश्रण को रात को सोने से पहले कॉटन बॉल में लेकर प्रभावित दांत में लगाये।   

कोलकाता : मैंने क्लब के 100 दिनों के रिपोर्ट को देखा जिसमें यह पाया कि हिन्दुस्तान क्लब काफी बेहतर कार्य कर रहा है। यह उन्नति के मार्ग में अन्य क्लबों से काफी आगे हैं। उक्त बातें हिन्दुस्तान क्लब के स्थापना [Read more…]

जब लोक उपचार के चेहरे पर मुँहासे का इलाज करते हैंप्रयोग करने और संदिग्ध व्यंजनों का प्रयोग न करें इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि उत्पाद आपकी त्वचा के प्रकार के लिए उपयुक्त है। उपयोग की अनुशंसित विधि का पालन करें, अन्यथा, मुँहासे ठीक होने पर, आप एक क्षतिग्रस्त त्वचा के साथ शेष जोखिम उठा सकते हैं।

Erythrodermic सोरायसिस रोग है कि अक्सर पूरे शरीर पर फैल गया है की एक सबसे अधिक भाग के लिए भड़काऊ प्रकार है। Erythrodermic सोरायसिस अक्सर अस्थिर पट्टिका छालरोग के लिए नेतृत्व कर सकते हैं। प्रासंगिक, व्यापक, उज्ज्वल लाली इस अवधि के दौरान त्वचा की मुख्य विशेषताओं के होते हैं।

पुदीने की चाय : इस चाय में बालों को प्राकृतिक दिखाने के सारे गुण मौजूद होते है तथा यही कारण है की आपको इसका सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए पुदीने की चाय का सेवन करके मूछो के बालों की असली रंगत वापिस मिलती है इससे भी आप मूछ और दाढ़ी के बालों को काला कर सकते है

दालचीनी एक आम मसाला और स्वाद बढ़ाने वाला एजेंट है लेकिन इसके तेल में माइक्रोबियल विरोधी गुण होते हैं। शहद में पानी का असर बहुत कम होती है इसका मतलब है कि इसमें नमी ज्यादा नहीं होती जो सूक्ष्म जीवाणुओं के विकास को बढ़ावा देती है। यह ध्यान में रखते हुए कि मुँहासों का पैदा होना, त्वचा के छिद्र के भीतर होने वाले संक्रमण से होता है, शहद के साथ दालचीनी का संयोजन एक कारगर उपाय है।

ताज़े निम्बू का रस लगाएं: निम्बू में प्राकृतिक विरंजन (bleaching ) गुण होते है जिनसे मुहासों के दाग फीके हो जाते हैं | समान मात्रा में निम्बू का रस और पानी मिलाकर, इस मिश्रण को सिर्फ अपने धब्बों पर लगाएं | 15-20 मिनट के बाद धो लें या पूरी रात इस मिश्रण को लगे रहने दें | “चूंकि निम्बू के रस में 2 PH होता है और त्वचा की 4.0-7.0 PH होती है इसलिए अगर इसे लम्बे समय तक त्वचा पर छोड़ा जाए, तो त्वचा जल भी सकती है | खट्टे रस में बर्गप्टेन (Bergapten) नामक रसायन होते हैं जो डीएनए में मिलकर त्वचा को नुकसान पहुँचाते हैं |” इसलिए इसे सावधानी से प्रयोग करें और कम समय के लिए प्रयोग करने से शुरू करें।

यदि आपको मिल गया है तो एक दाना दिया गया है जो वास्तव में दूर नहीं जा सकता है, विटामिन ई की गोली को ख़त्म कर दें (या कुछ आहार ई तेल खरीद लें) और अपने दोष को रगड़ें। आप इसे 10 मिनट या एक ही दिन में छोड़ सकते हैं, हालांकि खाद्य आहार उसी समय मॉइस्चराइज रखता है जैसे कि किसी भी लाली और दूषित घटते समय (जो वास्तव में आप की तलाश में हैं)। यह पिलकों को खोलने में मदद कर सकता है और आपको ब्रेकआउट्स बचा सकता है अगर आप इसे नियमित आधार पर उपयोग करते हैं।

अगर आप भी दाग – धब्बो या कील मुहांसों से परेशान है तो यह Article आपको इनसे छुटकारा पाने में बहुत Help कर सकता है. आप इस आर्टिकल में बताये गये Tips को अपनाकर अपने चेहरे से कील – मुंहासो को बड़ी आसानी खत्म कर सकते है.

ग्लाइकोलिक या सेलीसीलिक एसिड का उपयोग करें: ग्लाइकोलिक या सेलीसीलिक एसिड कई त्वचा उत्पादनों में पाए गए हैं, जैसे कि क्रीम, मलहम, और स्क्रब | ये त्वचा के धब्बों को पूरी तरह हटाने से पहले, त्वचा की परत को निकालकर, हाइपरपिगमेंट को बाहर लाती है |[७]

अपने मुँह को नम रखें: शुष्क मुँह बदबूदार मुँह होता है। यही कारण है कि आपकी सांस सुबह और भी बदतर हो जाती है सोते समय आपका मुँह कम लार पैदा करता है। आपके मुँह में लार मुँह की दुर्गंध के लिए दुश्मन का काम करती है क्यूंकि ये ना केवल बैक्टीरिया और अन्ना कणों को धोती है बल्कि यह एक एंटीसेप्टिक है और जीवाणुओं को मारने वाला एंजाइम का काम करती है।[४]

चेहरे की सफाई के लिये एलोवेरा एक बेहतरीन स्किन टोनर है। इसका उपयोग चेहरे पर रोज करने से त्‍वचा से अतिरिक्‍त तेल निकलता है। जिससे पिम्पल्‍स दूर होते हैं, और इसके रोजाना इस्तेमाल से दाग़ धब्बे भी खत्म हो जाते हैं। इसका इस्तेमाल आसान है बस ताजी एलोवेरा कि पत्ती लिजिए और उसे दो हिस्सों में काट दिजिए और फिर उस से निकलने वाले जेल को किनारे से निकालते हुए चेहरे पर लगाएं और 20- 25 मिनट तक चेहरे का मशाज करे। फिर चेहरा को गुनगुने पानी से धो लें।

एंटी बैक्‍टीरियल के साथ-साथ एंटीबायोटिग गुणों से समृद्ध होने के कारण, लहसुन दांतों के टूटने और कैविटी की समस्‍या को दूर करने में मदद करता है। यह दर्द से राहत देने और स्‍वस्‍थ मसूड़ों और दांतों के लिए भी अच्‍छा होता है। 3 से 4 लहसुन की कली को कुचलकर और 1/4 चम्‍मच सेंधा नमक मिलाकर पेस्ट बना लें। फिर इसे संक्रमित दांत पर लगाकर 10 के लिए छोड़ दें। कैविटी को कम करने के लिए इस उपाय को कुछ दिनों के लिए दिन में दो बार करें।  

मुंह की बदबू हटाने में खट्टे फल सबसे अधिक कारगर होते हैं। बता दें कि संतरा, नींबू, आंवला, अंगूर जैसे फलों में विटामिन सी की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। इनका सेवन करने से मुंह की बदबू से जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है।

डॉक्टर का निदान होगा यदि मुर्गा नहीं हैंकुछ अन्य त्वचा रोग, और आवश्यक विटामिन दवाओं से संतृप्त लेने में मदद करें। इसके अलावा, यदि आप माथे पर प्रजनन करने वाले चिड़ियों के साथ चिंतित हैं, तो उपचार में विशेष मलहम शामिल हो सकते हैं।