“अपने मुँहासे से छुटकारा पायें मुँहासे के धब्बे से छुटकारा”

मुंह के छालों की समस्या जितनी सामान्य हैं उतनी ही बुरी भी। एक बार यह समस्या हो जाती हैं तो भोजन करना भी दूबर हो जाता हैं। यह समस्या कई कारणों से हो सकती हैं, जिसमें से मुख्य तीखा खाना या अपच होना हो सकता हैं। सामान्यत: छाले 5-7 दिन में ठीक हो जाते हैं। लेकिन इनको जल्दी समाप्त करने के लिए कुछ उपाय करने की आवश्यकता होती हैं। तो आइये जानते हैं उन उपायों के बारे में जिनकी सहायता से मुंह के छालों से निजात पायी जा सकें।

admin November 13, 2017 Acidity, Acne Home Remedies, Allergy, Beauty, Beauty Face Mask, Black Spot Under Eye, Child, Dark Circles Home Remedies Tips, Diabetes, Glowing Skin, Health, Improve Eyesight, Ladies Health, Life Style, Major Disease, mouth laar, muh ki laar, Pet ke Rog, Pimple Home Remedies, Pregnancy, saliva, Skin Disease, Sugar, Teeth, Videos, Women, World, आयुर्वेद Leave a comment 1,045 Views

वैज्ञानिकों का मानना कि सामान्य जनसंख्या का कम से कम 10 प्रतिशत में से एक या अधिक जीन है कि छालरोग के लिए एक गड़बड़ी पैदा की इनहेरिट होती। हालाँकि, केवल 2 प्रतिशत से 3 प्रतिशत जनसंख्या का रोग विकसित करता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि छालरोग विकास करने के लिए एक व्यक्ति के लिए जीन है कि छालरोग कारण और विशिष्ट बाह्य कारकों “ट्रिगर के रूप में.” जाना जाता करने के लिए उजागर किया का एक संयोजन व्यक्तिगत होना चाहिए

हार्मोन परिवर्तन: सोरायसिस हार्मोन और जीव के अधीन है परिवर्तन के साथ दृढ़ता से जुड़ा है। सोरायसिस में अपने चरम यौवन के दौरान अवधि या रजोनिवृत्तिके दौरान है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं की त्वचा बेहतर स्थिति का अनुभव। लेकिन जैसे ही बच्चे का जन्म होता है यह काफी अन्य तरह के दौर है।

* एलोवेरा : एलोवेरा जेल या उसका रास मुँह के छालों के काफी प्रभावी उपचार है। एलोवेरा के ताजे पत्तों से एक कटोरे में रस निकालें फिर इसे प्रभावित क्षेत्रों में लगाएं। कुछ देर तक लगे रहने के बाद बहार थूक सकते हैं। दिन में कई बार इसका उपयोग करने से जल्दी आपो छालों से मदद मिलेगी। इसके अलावा आप एलोवेरा के पत्तों का रस निकलपर पी सकते हैं।

एक प्रक्रिया बुलाया सेल कारोबार में, त्वचा कोशिकाओं है कि आपकी त्वचा में गहरी बढ़ने सतह को जन्म। आम तौर पर, यह एक महीने लग जाते है। क्योंकि अपने कक्षों में भी तेजी से वृद्धि में सोरायसिस, यह बस के दिनों में होता है।

चंदन का घोल तैयार करें: चंदन से त्वचा की कई बीमारियां ठीक होती है और इसे बनाना भी एकदम आसान है | 1 बड़ा चमच्च चंदन पाउडर को गुलाबजल या दूध में मिलाकर घोल बनाएं | अब इस घोल को प्रभावित क्षेत्र पर 30 मिनट तक लगाकर धोलें | इस प्रक्रिया को दोहराते रहें, जब तक आपके धब्बे पूरी तरह से गायब न हो जाए |

वहाँ रहे हैं एक बार आप छालरोग उपचार खोजने का फैसला किया, लेकिन केवल डॉक्टर कि चुना छालरोग उपचार दवा की प्रभावकारिता का मूल्यांकन कर सकते हैं विकल्प की एक बहुत कुछ के अनुरूप होगा आप व्यक्तिगत रूप से। सोरायसिस के उपचार कोई साइड इफेक्ट नहीं होना चाहिए।

आप बेकिंग सोडा के दो बड़े चम्मच, एक चम्मच दालचीनी पाउडर, आधे नींबू का रस और पांच चम्मच शहद को एक साथ मिलाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और पांच मिनट के बाद धो लें। आप अपनी त्वचा पर सप्ताह में एक या दो बार बेकिंग सोडा का प्रयोग करें।

पुनरुज्जीवित करने वाले गुण होते है। यह फंगल संक्रमण वाले कीटाणुओं को मारता है, घावों और निशानों को भरता है, त्वचा को चिकना कर देता है और नरम बनाता है, और प्रभावित क्षेत्र में नई कोशिकाओं के विकास को प्रोत्साहित करता है।

Disclaimer: TheHealthSite.com does not guarantee any specific results as a result of the procedures mentioned here and the results may vary from person to person. The topics in these pages including text, graphics, videos and other material contained on this website are for informational purposes only and not to be substituted for professional medical advice.

कोई समस्या नहीं निचोड़ pimples में विशेष रूप से खतरनाक चेहरे पर आंतरिक pimples फैलाएंगे। जब संक्रमण का एक बहुत बड़ा खतरा फैलता है, जो सबसे ज्यादा त्वचा की गिरावट को उत्तेजित करता है, और सबसे खराब – मस्तिष्क के जहाजों में मिल सकता है। धब्बे के बाहर फैलाए जाने के बाद के निशान हैं, फिर से छुटकारा पाने में बहुत मुश्किल है;

डायबिटीज, कैंसर और दिमागी रोगों के लिए फायदेमंद है दालचीनी वाला दूधखतरनाक बीमारी है लिवर सिरोसिस, तुरंत बदलें अपने खान-पान की आदतेंये 7 चीजें शरीर में पानी की कमी को पूरा कर देती हैं पर्याप्त पोषणये 3 घरेलू नुस्खे अस्‍थमा के असर को तुरंत कर देंगे कमरोजाना खाएं ये 6 फूड, 60 साल तक याद्दाश्‍त रहेगी तेजरोज सुबह पीएं लहसुन वाली चाय, होंगे ये 5 चमत्कारिक फायदे

हमेशा मुँह में थोड़ा सा पानी लें और अच्छी तरह से मुँह में चारों और तेज़ी से जिससे की दाँतो के बीच में फसे अन्न के कण निकल जाएँ। जब आप अपने दाँतों (कम से कम दिन में दो बार होना चाहिए) को ब्रश करते हैं अपनी जीभ की सफाई के लिए टूथब्रश, एक चम्मच के किनारे, या एक जीभी का प्रयोग कर सकते हैं।

ग्रीन या ब्लैक टी (चाय) पीएं: चाय में पॉलीफेनोल्स (polyphenols) मौजूद होता है, जो सल्फर को दूर करने में और मुंह के बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है। यह मुंह को हाइड्रेट (जलयोजित) करने में भी सहायता करता है। अच्छे नतीजे के लिए दिन में कई बार बिना मिठास वाली गर्म चाय को पीयें।[१४]

ध्यान रखें, अपनी जीभ को भी अवश्य साफ करें, क्योंकि आप की जीभ पर काफी बैक्टीरिया जमा हुए होते हैं, जिसकी वजह से सांस में दुर्गन्ध हो सकती है। जीभ के ऊपर पीछे से आगे की तरफ ब्रश करें और जीभ के कोनों को न भूलें। अपने जीभ पर चार बार से ज्यादा बार ब्रश न करें और ध्यान रखें कि ब्रश करते वक्त जीभ के ज्यादा पीछे तक ब्रश न करें।

धूम्रपान करने से और तम्बाकू चबाने से बचें: वैसे तो कई सारी वजह है धूम्रपान और तम्बाकू को छोड़ने के लिए (जैसे कैंसर), परंतु सांस की दुर्गंध होना भी एक कारण है। धूम्रपान करने से व्यक्ति की सांस की गंध बासी तम्बाकू जैसी लगती है, जिसे कई बार “ऐश ट्रे की गंध” आना कहा जाता है। इस गंध को रोकने का सबसे आसान तरीका, धूम्रपान छोड़ना ही है।[१०]

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

कभी अल्सर फूट भी सकता है जिससे पूरे पेट में संक्रमण हो जाता है तथा पेट में तेज दर्द रहता है। लम्बे समय तक अल्सर रहने से केंसर होने का खतरा हो सकता है। इसके साथ ही आयुर्वेदिक नुस्खे से भी एसिडिटी का इलाज किया जा सकता हैं |

रेटिनॉइड स्किन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें: रेटिनॉइड्स, विटामिन ए के डेरीवेटिव हैं जिसे कई प्रकार के त्वचा देखभाल पदार्थो (जो झुर्रियां, त्वचा के धब्बे, और मुँहासे का इलाज करती हैं) में इस्तेमाल किया जाता हैं। रेटिनॉइड्स, कोलेजन उत्पादन को बढ़ाता हैं और कोशिकाओं को तेज करता हैं, जो कील मुँहासो से लड़ने के लिए सर्वोत्तम विकल्प हैं। यह क्रीम थोड़ी महंगी हो सकती हैं लेकिन जल्द और अच्छे नतीजे पाने के लिए, त्वचा विशेषज्ञ इन्हें उपयोग करने की सलाह देते हैं |

लेकिन कॉलेज के समय में जो पिम्पल मेरे चेहरे पर आये उनको छुड़ाने में मुझे 8 महीने से ज्यादा लग गये. मेरे चेहरे में पहले एक फुंसी आई फिर दूसरी और देखते ही देखते ही यह संख्या रोजाना लगातार बढती जा रही थी. जो भी पिम्पल पुराना हो जाता है वह चेहरे पर मुंहासे में बदल जाता. जो मेरे चेहरे पर एक काले दाग की तरह दिखाई देता था.

केसर के कुछ दानों को 2 चम्मच दूध में रातभर भिगोकर रख दें। इस पात्र को फ्रिज (fridge) में रखें, जिससे कि ये खराब ना हो जाए। सुबह केसर के दानों को दूध में मसल लें और इसका प्रयोग चेहरे पर करें। खासकर काले धब्बों और एक्ने (acne) के निशानों पर इसे लगाएं। इसे पूरी तरह सूखने दें और फिर सादे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग रोजाना करने से आपको 1 हफ्ते में फर्क दिखने लगेगा।

ज्यादा अदरक खाएँ: अदरक के प्राकृतिक जीवाणुरोधी गुणों की वजह से, इसका सदियों से कोल्ड और साइनस (sinus) के लक्षणों के उपचार के लिए इस्तेमाल किया गया है। अदरक ऐसे गुणों के लिए भी जाना जाता है जो बलगम को तोड़ते हैं। अगर आप स्वाद को बर्दाशत कर सकते हैं, तो इसे कच्चा खाएँ या हल्के कैन्डीड फॉर्म (candied form) में खाएँ। आप अदरक को उबलते पानी में घिसकर एक चाय भी बना सकते हैं जो आपके गले को बलगम मुक्त करने के लिए दोगुना काम करेगी।

त्वचा को लंबे समय तक खूबसूरत बनाए रखना है तो आपको उसका प्राकृतिक उपचार करने की जरूरत है।इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आप सिर्फ कुछ दिनों में पिम्पल्स की समस्या से छुटकारा पा सकती है।

टमाटर अम्लीय (एसिडिक) होते है और दानों पर उनकी लुगदी लगाने से त्वचा शुष्क होती है और इस वजह से त्वचा के छिद्र कस जाते हैं। इसका मतलब है कि छिद्र में से कम तेल निकलने की और मुँहासे न पैदा करने की सम्भावना होती है। टमाटर एंटीऑक्सीडेंट में समृद्ध है, और त्वचा पर लगाने से सूजन और त्वचा की क्षति को कम करता है।

पिम्पल्स का इलाज के लिए रसायनिक पदार्थ का उपयोग करने से बेहतर होगा की आप प्राकृतिक उत्पादो का उपयोग करे। घरेलू उत्पाद बहुत सस्ते होते है और इनका कोई बुरा असर भी नही पड़ता। चेहरे पर दाने के उपाय, त्वचा की देखरेख करना वो भी सुंदरता के साथ यह बहुत ज़रूरी है। कुछ घरेलू उपचार की सूची नीचे दी गई है जो काले दाग (black spots) धब्बे, मुँहासे के निशान से दूर रहने मे आपकी मदद करेगे।

मुल्तानी मिट्टी और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *