“आपकी त्वचा के नीचे मुँहासे की समुद्री मील से छुटकारा कैसे करें _किशोर मुँहासे”

बालों में डेंड्रफ होना आम बात हैं। कई बार ये डेंड्रफ इतना ज्यादा बड़ जाता हैं जिससे दिनभर खुजली होती रहती हैं। खुजली की वजह से हम कई पर आसानी से बैठ भी नहीं पाते हैं। अगर आपको भी खुजली और डेंड्रफ हो रहा हैं तो हम आपको कुछ उपाए बता रहे हैं जिससे आपको खुजली से राहत मिलेगी।

हल्दी खाएँ: यह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक आपके शरीर में बलगम बनाने वाले बैक्टीरिया को मारता है। आप जो कुछ भी पीते हैं उसमें थोड़ी सी हल्दी मिलाएँ या इसे एक गिलास पानी के साथ पिएँ। प्रतिदिन इस पदार्थ के कुछ छोटे चम्मच आपको बहुत जल्दी बलगम-मुक्त कर देंगे।

खीरा तो हम सभी लोग खाते है. लेकिन यह खीरा हमारी त्वचा को भी स्वस्थ बनाये रखता है. चेहरे में खीरे का use करने से हमारे चेहरे पर निखार आता है और हमारी त्वचा ग्लो करती है. आप खीरे के पेस्ट को अपने मुंहासो में प्रयोग करे और फायदा देखे.

परेशान करने वाली चीज़ों से दूर रहें: घरेलू क्लीनर्स, एनैमल्स (enamels), रंग के धुएँ और अन्य रसायन रेस्पीरेटरी स्थिति को बिगाड़ते हैं और बलगम के स्तर को बढ़ाते हैं। अपने घर में ताजी हवा आने के लिए अपनी खिड़कियों को खुला रखें, अपनी बीमारी के दौरान परेशान करने वाली चीज़ों को अंदर रखें और ऐसी जगह जाने से बचें जहाँ ये सब होने की संभावना है (जैसे बार या एक पेंट की दुकान।[४]

सर मेने भी बहुत क्रीम उपयोग करके देखि पर कुछ फर्क नही पडा है और मैने डॉक्टर से इलाज भी करवाया परन्तु जब तक इलाज चलता तब तक थोडे कम हो जाते है पिम्पल फिर इलाज बंद होने के बाद वापस शुरू हो जाते है। मैं पिछले 3 साल से परेशान हु पिम्पल से बहुत बार इलाज भी करवाया परन्तु कुछ फर्क नही पडा।अब मुझे क्या करना की मैं पिम्पल से छुटकारा पा सकु

एलोवेरा में रोगाणुरोधी (Antimicrobial) गुण होते हैं, जो मुँहासे का कारण बनने वाली तेलीय त्वचा के उपचार के लिए आदर्श होते हैं। इसके अलावा, एलोवेरा आपकी त्वचा की सतह से अतिरिक्त तेल को अवशोषित करने में भी मदद करता है। 

पीठ के मुहाँसे भी चेहरे के मुहंसों की तरह ही भयानक होते है। रिसर्च में ये पता चला है कि जिन लोगों को चेहरे के मुहांसों की समस्या ज़्यादा होती है, वही लोग पीठ के मुहांसों से भी उतने ही पीड़ित होते है। पीठ के मुहांसों का एक पहलू ये भी है कि इनके तक पहुँचना और इनका इलाज करना बहुत मुश्किल है क्योंकि इन तक पहुँचना और इनको देख पाना एक आसान नहीं है। मुहांसों का कहीं भी शरीर पर निकलना में मुख्य कारण हार्मोनल असंतुलन है। ये यौवन अवधि के दौरन एस्ट्रोजन (estrogen) और टेस्टास्टरोन (testosterone) हॉर्मोन (hormones) के अधिक स्राव के कारण होते है और जैसे ही कोई 20 साल की उम्र को पार करता है ये अपने आप चले जाते है। ये मुंहासे आपकी छाती, कंधे, पैर और हिप्स पर भी हो सकते हैं। बॉडी लोशन, मसाज ऑयल (massage oil) और सनस्क्रीन (sunscreen) आदि का इस्तेमाल करने से रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और मुंहासे हो जाते हैं। तनाव, अनियमित नींद, अस्वस्थ लाइफस्टाइल, खानपान की ग़लत आदतें और अधिक काम का बोझ भी कुछेक कारण है मुहाँसे निकालने का। यहाँ हम आज कुछ ऐसे ही घरेलू उपाय और घरेलू उपचारों की बात करेगें जिसकी मदद से आप पीठ के कील मुहांसों से निजात पा सकेगें।

आप बेकिंग सोडा के दो बड़े चम्मच, एक चम्मच दालचीनी पाउडर, आधे नींबू का रस और पांच चम्मच शहद को एक साथ मिलाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और पांच मिनट के बाद धो लें। आप अपनी त्वचा पर सप्ताह में एक या दो बार बेकिंग सोडा का प्रयोग करें।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

कील मुंहासे का इलाज, जई सिर्फ़ सर्वोत्तम आहार के रूप मे ही नही बल्कि औषधि के रूप मे भी उपयोग होता है जो की चेहरे के दाग, धब्बे , मुहासे ठीक करता है। मुहासे की दवा, काले दाग (black spot), धब्बे और मुहासे के निशान से छुटकारा पाने के लिए चेहरे पर ज़ई के आटे का मुखौटा(मास्क) लगाए। ज़ई के आटे मे नीबू का रस मिलाए और गाढ़ा घोल बना कर मास्क की तरह चेहरे पर लगाए और कुछ देर तक मले फिर गर्म पानी से धो ले। तुरंत आराम के लिए इस विधि का उपयोग हफ्ते मे दो बार करे।

सेल्‍युलाइट से ज्यादातर महिलाओं को भय होता है। यह 80% से अधिक महिलाओं को प्रभावित करता है। फैट के शरीर पर जमाव को सेल्‍युलाइट कहते हैं, जिससे त्‍वचा असमान हो जाती है। सेल्युलाइट ज्यादातर थाईज, पेट और हिप्स में पाया जाता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को आम तौर पर सेल्‍युलाइट होने का खतरा अधिक होता है। हालांकि इसके लिए कोई निश्चित कारण नहीं है। सेल्‍युलाइट के कई कारण हो सकते हैं जैसे आहार, हार्मोन परिवर्तन, निर्जलीकरण, धीमी चयापचय दर, कुल शरीर की चर्बी और शारीरिक गतिविधि में कमी आदि। यहां तक कि अधिक तनाव भी सेल्‍युलाइट का कारण बन सकता है। महंगी सर्जरी के बजाय आप कुछ घरेलू तरीकों के द्वारा सेल्‍युलाइट से छुटकारा पा सकते हैं। आइए प्राकृतिक रूप से सेल्‍युलाइट को कम करने के उपायों के बारे में जानें :-

कभी न कभी इस समस्या का सामना सबको करना पड़ता है।खूबसूरत मुस्कान हर चेहरे को आकर्षक बनाती है| अगर प्यारी सी मुस्कान के बावजूद कोई आपकी सांसों की दुर्गंध के कारण पास आकर बात ना करना चाहे, तो आज के इस लेख को पूरा पड़ें , इस नुस्खे में आप अपनी समस्या का समाधान पा लोगे |

दालचीनी के उपयोग से शरीर को ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद मिलती है, जिसमें कुल कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी कम हो जाता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी आंतरिक ऊतकों में सूजन को ठीक करने और दिल के दौरे और बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

एक ह्यूमिडीफ़ायर (humidifier) का प्रयोग करें: अपनी हवा में नमी का स्तर बढ़ाने से आपके शरीर की बलगम पतली हो जाएगी और आसानी से संभाली जाएगी। जब भी आप घर पर हों और खासकर रात में सोेते समय, तब एक ह्यूमिडीफ़ायर को चलाए रखें। बलगम से और दम लगाकर लड़ने के लिए पानी में युकलिप्टुस का तेल डालें।

चाय के पेड़ के तेल में सभी प्रकार की छिलके और त्वचा की सामग्री को साफ़ करने का श्रेय जाता है – कीट काटता है, एथलीट का पैर, और मामूली जलता है – और यह ज़ाप जिट्स को भी सहायता कर सकता है। बस एक कपास झाड़ू पर कुछ चापलूसी और अभी zit करने के लिए इसे अभ्यास। डॉ। बोवे ने चेतावनी दी, “शुरूआत में इसे पतला, तथ्य से कुछ लोगों को तुरंत इसे लागू करने के लिए बहुत भावुक हो,” डॉ बोवे चेताते हैं ..     नींबू……….

घर के बने दलिये का फेशियल इस्तेमाल करें | 1 चमच्च दलिये को पानी में मिलाएं | इसे निचोड़कर इसके पानी को चेहरे पर 1 मिनट तक लगाएं | आँखों और होंठों पर ना लगाएं | पानी से चेहरा धोलें | यह तरीका कई लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ है |

बेबी ऑयल में किसी तरह के केमिक्ल्स नहीं होते और डेंड्रफ को कम करने में मदद करता है। इसलिए रात को सोने से पहले बेबी ऑयल लगा कर बालों को तौलिये से बांध लें और सुबह उठ कर अच्छे एंटी-डेंड्रफ शैम्पू से बालों को साफ करें।

Aditya, Pimple hone par aapko unhe chhuna nahi chhaiye, kitna chhedchad karoge utna hi daag hone ki sambhavna badhegi. Oily face par pimple jyada hote hain, isse bachne ke liye chehre ko baar baar dhote rahe aur uper likhe gharelu nuskhe kare.

बर्फ की ठंडक पिम्पल के समय होने वाली सूजन और लालिमा को कम करती है। इसके साथ उस जगह पर खून का दौरा बेहतर बनके मुहासे जल्दी ठीक करने में मदद करता है। एक कपडे में बर्फ के टुकड़े रख कर उसे चेहरे पर पिम्पल वाली जगह पर रखे और हटाए।

बागेश्वरी एक सम्पूर्ण ‘साहित्य ,महिला व युवा पत्रिका’ है ,  ! उनसे जुडी ढेरों जानकारियां , टिप्स , रसोई , स्वास्थ्य ,कविता ,कहानियां ,समाचार व मनोरंजन को समाहित किया गया है …आशा है आप सभी सुधि पाठकों को प्रयास पसंद आएगा ! फ़िल्मी समाचार ,रसोई टिप्स , आभूषण , विज्ञान , अजूबे समाचार आदि कई सामग्री , वीमेन मैगज़ीन , युवा पत्रिका !@ YoguruTechnologies

शहद इस्तेमाल करें: शहद से ना सिर्फ मुँहासे साफ़ होंगे बल्कि जो लाल दाग पीछे रह जाते हैं, वे भी साफ़ हो जाएंगे | शहद में मौजूदा एंटी-बैक्टीरियल गुण से त्वचा कोमल और सूजन मुक्त बनेगी | किसी भी क्यू-टिप से इसे सीधे निशानों पर लगाया जा सकता है |

पपीता विरोधी ऑक्सीडेंट्स और एंजाइमों में समृद्ध है, जो कि बैंपिरिया पर दाना पैदा करने के लिए काम करते हैं। प्रभावित क्षेत्र पर कच्ची पपीता के एक ताज़ा तैयार पेस्ट का उपयोग करें। इसे 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें और कुल्ला बंद करें।

Garlic  has strong antibacterial properties and fights pimple very soon. Crush two to three cloves of garlic and mix with water. Once it forms a paste like structure apply gently on the skin. After drying wash it off. Follow with face wash as the smell is very strong of garlic.

अपने कूल्हों पर एक एस्पिरिन (aspirin) का मास्क लगायें: चार या पाँच एस्पिरिन की गोलियों को पीस लें। यह सुनिश्चित करें कि गोलियों के बाहर कोई भी आवरण (coating) न हो। इसे एक टेबल स्पून हल्के गर्म पानी के साथ मिलाएँ या फिर शहद या सादे दही के बड़े हिस्से के साथ मिलाएँ, यह आपकी इच्छा पर निर्भर है।

एक स्टेरॉयड (steroid ) इंजेक्शन लें: यदि आपको विशेष रूप से बड़े पित्त वाले मुँहासे हो गए हैं जो कि बहुत ज्यादा दर्दनाक भी है तो आप स्टेरॉयड इंजेक्शन का सहारा ले सकते हैं। ये एक दिन से कम समय में ही उसके आकार को घटा सकते हैं तथा मुँहासों में होने वाले दर्द को भी कम कर सकते हैं।

चिकित्सा के लिए सबसे कठिन प्रकार की चकत्ते -सूजन मुँहासे यह बेहतर है यदि मवाद की सतह पर है, इसका मतलब यह है कि त्वचा स्वयं सफाई है लाल बड़े ट्यूबरल, पेल्पाशन की कोमलता से सूजन की सूक्ष्म त्वचा की प्रक्रिया, बैक्टीरिया का प्रजनन दर्शाता है।

धूम्रपान न करें: आप जो भी इन्हेल करते हैं वह आपके शरीर को प्रभावित करता है और हानिकारक चीजों ,जैसे की सिगरेट, सिगार या अन्य ड्रग्स, का धुआँ इन्हेल करने से आपके गले और फेफड़ों की हालत और खराब हो सकती है। इन चीज़ों का धुआँ आपके शरीर की जल्दी से ठीक होने की क्षमता में दखल देता है और साथ ही साथ आपके शरीर में बलगम के उत्पादन को बढ़ाता है। कम से कम बीमारी के दौरान अपनी जीवन शैली से धूम्रपान को हटाने की कोशिश करें।

बर्फ के क्यूब्स का उपयोग त्वचा से बड़े आकार के छिद्रों को रोकने के लिए किया जा सकता है | वे न केवल छिद्र को कम करते हैं और उन्हें छोटा करते हैं, बल्कि आपके चेहरे पर अतिरिक्त तेल के उत्पादन को रोकते हैं | लगातार त्वचा में ice cube से massage करने से इस समस्या से निजात पाया जा सकता है |

डॉक्टरी पर्चे के बगैर, त्वचा के धब्बों को कम करने वाली क्रीम का उपयोग करें: इन क्रीम में कोजिक एसिड, अर्बुटिन, मलबरी (mulberry) का रस, लीकोरिस (licorice) का रस और विटामिन सी पाए जाते हैं | इससे त्वचा को बिना जलन या नुकसान पहुंचाए, दाग, धब्बे फीके पड़ जाते है |[४]

मुँह में दुर्गन्ध पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें:आप शायद पहले से ही जानते हैं कि प्याज, लहसुन, पनीर, और कॉफी (या उन्हें खाने के बाद कम से कम अच्छे से ब्रश करें) जैसे बदबूदार खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।[५]

एक्‍ने त्‍वचा की समस्‍या है, इसके उपचार के लिए आयुर्वेद अपनाना फायदेमंद है। आयुर्वेद में कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स हैं जिनके उपयोग से एक्ने की समस्या से आसानी से निजात पाई जा सकती हैं। आइए जानें एक्ने के आयुर्वेदिक उपचार के बारे में।

नई दिल्ली: विवादों से घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के रिलीज डेट की घोषणा कर दी गई है। ये फिल्म सिनेमाघरों में 25 जनवरी को रिलीज होगी। फिल्म की सीधी टक्कर अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन’ के साथ [Read more…]

अंगूर और सेब दोनों में ही कई प्रकार के पोषक पदार्थ मौजूद होते हैं। इनकी मदद से आपकी त्वचा में गोरापन आता है। सेब का एक छोटा टुकड़ा लें और इसे पीसकर दो हरे अंगूरों के साथ मिश्रित करें। इनकी त्वचा को ना छीलें। इस पैक को अपनी त्वचा पर लगाएं और दाग धब्बों पर ध्यान केन्द्रित करें। आप इससे अपनी त्वचा की हलके से मालिश कर सकते हैं। इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। रोजाना इस पैक का प्रयोग करने से आपको 1 महीने में परिणाम दिखने शुरू हो जाएंगे।

One thought on ““आपकी त्वचा के नीचे मुँहासे की समुद्री मील से छुटकारा कैसे करें _किशोर मुँहासे””

  1. इस तरह मुंह की लार से हम मुफ्त में कई बीमारियों का इलाज कर सकते है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि इस लार में वो सभी 18 तत्‍व पाये जाते है जो मिट्टी में पाए जाते है। लेकिन बहुत अफसोस की बात हैं कि आज मनुष्य खुद ही अपना दुश्मन बनता जा रहा है। वह धूम्रपान और नशीले पदार्थों के चलते लार को खत्म करता जा रहा है और अपने लिए दुःख तकलीफो को न्योते पर न्योता दिए जा रहा है । धूम्रपान से लार दूषित हो जाती है और असर नहीं करती। जर्दा, पान अन्य पदार्थ से बार-बार थूकने से लार जरूरत से ज्यादा बाहर निकलती है। वहीं तीसरा ड्रग आदि के प्रयोग से मुंह सूख जाता है और लार नहीं रहती। इसलिए लार को बचाने के लिए आपको इन सब आदतों को भी छोड़ना होगा।ताकि लार हमारे शरीर को बीमारियों से बचा सके |
    पुदीने की चाय : इस चाय में बालों को प्राकृतिक दिखाने के सारे गुण मौजूद होते है तथा यही कारण है की आपको इसका सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए पुदीने की चाय का सेवन करके मूछो के बालों की असली रंगत वापिस मिलती है इससे भी आप मूछ और दाढ़ी के बालों को काला कर सकते है
    –> संतरे में मौजूद विटामिन सी पिपल्स को निकालने में मदद करता है | संतरे को मुहांसे पर इस्तेमाल करने से पूर्व त्वचा को भली – भांति गुनगुने पानी से धो ले ताकि त्वचा के पोर्स खुल सके | इसके बाद संतरे के छिलके को pimple पर लगाकर  एक घंटे तक छोड़ दे |
    Aditya, Pimple hone par aapko unhe chhuna nahi chhaiye, kitna chhedchad karoge utna hi daag hone ki sambhavna badhegi. Oily face par pimple jyada hote hain, isse bachne ke liye chehre ko baar baar dhote rahe aur uper likhe gharelu nuskhe kare.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *