“आवश्यक तेलों के साथ मुँहासे से मुक्ति -प्रभावी मुँहासे उपचार”

मुंह के छालों की समस्या जितनी सामान्य हैं उतनी ही बुरी भी। एक बार यह समस्या हो जाती हैं तो भोजन करना भी दूबर हो जाता हैं। यह समस्या कई कारणों से हो सकती हैं, जिसमें से मुख्य तीखा खाना या अपच होना हो सकता हैं। सामान्यत: छाले 5-7 दिन में ठीक हो जाते हैं। लेकिन इनको जल्दी समाप्त करने के लिए कुछ उपाय करने की आवश्यकता होती हैं। तो आइये जानते हैं उन उपायों के बारे में जिनकी सहायता से मुंह के छालों से निजात पायी जा सकें।

अच्छा लिखा हे !मैंने बहुत क्रीम का इस्तेमाल किया लेकिन मैं किसी भी क्रीम से कभी संतुष्ट नहीं थी, फिर मैंने मस्तानी फेस क्रीम की कोशिश की। मैं हमेशा अमृता फार्मा के उत्पादों को खरीदने का सुझाव देता हूं क्योंकि यह प्राकृतिक और बहुत प्रभावी है| आप यह मस्तानी फेसक्रीम जरूर इस्तेमाल करे और आपको १०० परसेंट रिजल्ट आएगा |

मुंह की बदबू का इलाज इन हिंदी: मुँह से दुर्गन्ध आने के कारण कई बार लोगों को शर्मिंदा होना पड़ता है। जिस व्यक्ति या महिला के मुंह से बदबू आती है अक्सर लोग उनसे दूर भागते है, उनकी पीठ पीछे उनका मजाक बनाते है और उनके साथ रहना पसंद नहीं करते। सांसो की बदबू रोकने के लिए आजकल बाजार में भी कुछ ऐसी चीजें और दवा आती है जिनके प्रयोग से कुछ देर के लिए मुंह से बदबू आना रुक जाती है, पर ये सब कुछ समय के लिए ही होते है और महंगे भी होते है। आप घर पर प्रयोग होने वाली कुछ चीजों को इस्तेमाल करके मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के उपाय कर सकते है, घर पर किये जाने वाले ये घरेलू नुस्खे सस्ते तो होते ही है और इन्हें करना भी आसान है। Treatment for permanent bad breath problem solution in hindi.

रोजाना सुबह खाली पेट दो से तीन लहसुन की कलियाँ खाएं। अगर खाने में परेशानी हो तो आप लहसुन के तेल से मसाज भी ले सकती हैं। अगर ये तेल आपको बाजार में मिलना मुश्किल हो तो घर पर मसाज ऑयल बनाएं। उसके लिए एक चम्मच नारियल तेल, एक चम्मच सरसों का तेल, एक चम्मच तिल का तेल लें और इन तीनों में 8 से 9 कलियाँ लहसुन की डालकर हल्का गुनगुना कर लें। फिर इस तेल से मसाज करें।

आंतरिक अंगों, अधिक कामकाज और रोगों के रोगतनाव, हार्मोनल विकार, एलर्जी प्रतिक्रियाओं त्वचा पर चकत्ते की उपस्थिति के आंतरिक कारण हैं। एलर्जी संबंधी प्रतिक्रियाएं चेहरे पर लाल मुँहासे की उपस्थिति से होती हैं, अधिकतर गालों पर। जीवों के नशे में, बैक्टीरिया या चेहरे पर शरीर और शरीर के कामों की गड़बड़ी के प्रभाव के कारण, मर्दों के धब्बे होते हैं। चेहरे पर गहरे चमड़े के नीचे मुँहासे अंतःस्रावी विकार का एक परिणाम हो सकता है। जब सफेद धब्बे चेहरे पर दिखाई देते हैं, तो यह आंतरिक परजीवी के लिए जांच करने के लिए आवश्यक नहीं होगा।

sir hamari skin teen layars se bna hota hai to chicken pox ke jo gadhe hote hai jo kis layars me hote hai jo bharte nhi ya ye teeno layars ko samapt kar deta hai jo gadhe par fir se cell nhi banta sir

मुंह की बदबू हटाने में खट्टे फल सबसे अधिक कारगर होते हैं। बता दें कि संतरा, नींबू, आंवला, अंगूर जैसे फलों में विटामिन सी की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। इनका सेवन करने से मुंह की बदबू से जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है।

दालचीनी में शक्तिशाली रोगाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, संक्रामक विरोधी और एंटी-क्लोटिंग गुण होते हैं। यह एंटी-ऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल और मैंगनीज, लोहा और आहार फाइबर जैसे खनिजों का भी एक अति उत्कृष्ट स्रोत है। यह सभी आवश्यक पोषक तत्व आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह शर्करा, कार्बोहाइड्रेट, फैटी एसिड और एमिनो एसिड का एक प्राकृतिक स्रोत है| तो आइये जानेते है दालचीनी के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में-

Yoghurt also works as an inflammation reducing agent and reduces the itchiness in the affected region. It can be applied directly on the pimple. It will reduce the temperature of that area and stop the growth of the bacteria in that region, thus helping to kill the pimple.

A) पंप या मुँहासे का कारण बनता है जब त्वचा ग्रंथियों के उत्पादन सेबम (त्वचा के तेल) के छिद्र भरा हो जाता है और इस प्रकार सेबम बच नहीं सकते वे हार्मोनल परिवर्तन, तनाव, पसीना, अत्यधिक नमी और स्टेरॉयड के उपयोग सहित कई कारकों से शुरू हो रहे हैं।

कभी-कभी हल्के-फुल्के बुखार के साथ भी छाले हो जाते हैं, वहीं कुछ स्त्रियों में महावारी आने से पहले ये हो जाते हैं। तनाव के कारण भी छाले हो सकते हैं। छालों होने का कारण दांतों की समस्या से भी जुड़ा हो सकता है। किसी दांत का तेज किनारा, ब्रश करते हुए या डेंचर पहनते व उतारते समय बने जख्म भी छाले बन परेशानी पैदा कर सकते हैं।

खीरा त्वचा को शीतलता, कसावट और कोमलता प्रदान करने वाले गुणों के कारण बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा, विटामिन ए, विटामिन ई, मैग्नीशियम और पोटेशियम सहित उच्च विटामिन और खनिज मौजूद होने के कारण ये ऑयली त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है।

रात को भोजन के बाद एक छोटी हरड़ चूसे। इस से आमाशय और आंतड़ियों के दोषो के कारण महीनो ठीक ना होने वाले मुंह व् जीभ के छाले ठीक हो जाते हैं। हरड़ को चूसते रहने से पाचक अंग शक्तिशाली बन जाते हैं, पेट के कीड़े भी नष्ट होते हैं।

सच में बर्फ लगाने के कई फायदे है त्वचा के लिए, जानिए कैसे ice cubes कई तरह के benefits देता है हमारे skin को in Hindi. बर्फ के टुकड़े लगाने भर से चेहरे के सुजन से ले कर फुंसी तक कम हो जाती है | गर्मियों के महीनों में भयानक गर्म होती है, इसमे बर्फ का cube हमे राहत प्रदान करता है | ice cube पूरी तरह से आपके शरीर और आत्मा को शांत करता है और आपको तेज गर्मी से बचाता है । अपने सामान्य juice में दो या तीन बर्फ के cubes को जोड़ना आपके पूरे सिस्टम को शांत करता है | आप इसे अतिरिक्त शीतलता के लिए अपने सामान्य पानी में भी इस्तेमाल कर सकते हैं । कार्यालय में काम करते वक्त मुश्किल दिन बिताने के बाद,बर्फ का एक टुकड़ा वास्तव में आपको relax महसूस कराता है |

शहद की एंटीबायोटिक गुण मुँहासे में सुधार करने में मदद कर सकते हैं प्रभावित क्षेत्रों में एक चम्मच को लागू करें, या 1 / 2 कप शहद को 1 कप सादे दलिया के साथ मिलाकर एक मुखौटा बनाएं और इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें। आप दालचीनी, हल्दी और शहद की एक पेस्ट भी बना सकते हैं, इसे 10 मिनट के लिए लागू करें और फिर से कुल्ला।

मेरी उम्र 25 साल की है पीईचले दो महीनो से अब मेरे चेहरे पर बहुत से दाने निकल रहे हैं मैं किया करूँ कोई जल्दी से कील मुहाँसो को मिटाने का आसान सा घरेलू तरीके और नुस्खे बताएँ जिससे मेरा चेहरा पहले की तरह सॉफ हो जाए|

शुद्ध टी ट्री आयल लगाना अगर त्वचा में जलन, लालिमा या ज़्यादा शुष्क त्वचा का कारण बनता है, तो टी ट्री आयल में पानी का उपयोग कर उसको पतला करें या एलोवेरा जैल के साथ यह मिश्रण बनाएं और फिर अपने चहरे पर लगाएं। (और पढ़ें – टी ट्री ऑयल के फायदे)

काले दाग (black spots) धब्बे होने के कई कारण है जिनमे से मुख्य कारण कील, मुहासे, काले सिरे (ब्लैक हेड्स), फुडिया होते है। मुहासे से छुटकारा, सूरज की तेज किरण के कारण चेहरे के गड्ढे, दाग धब्बे ओर भी बढ़ जाते है जो चेहरे के सावले होने का कारण बनती है। इसके लिए आप जब भी बाहर जाए तो सन क्रीम लगा कर जाए और नीचे कुछ विधिया दी गई है मुहांसे के कारण जो दाग धब्बे से निजात दिलाने मे आपकी मदद करेगे।

अमेरिकन केमिकल सोसायटी के जर्नल ऑफ नेचुरल प्रोडक्ट में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, मुलेठी की जड़ दांतों को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करती है। मुलेठी में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण बैक्‍टीरिया के कारण होने वाली कैविटी के विकास को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा यह जडी-बूटी प्‍लॉक को कम करने में भी मदद करती है। नियमित रूप से दांतों में ब्रश करने के लिए मुलेठी की जड़ के पाउडर का प्रयोग करें। इसके अलावा आप टूशब्रश करने के लिए मुलेठी की स्‍टीक का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

नई द‍िल्‍ली : सर्दियों में मूली के पराठे, मूली की सब्‍जी, मूली का अचार और सलाद हर घर के भोजन का अहम हिस्‍सा हैं. हालांकि ज्‍यादातर लोग ऐसे हैं जो मूली की शक्‍ल देखकर ही मुंह बनाने लगते हैं. अगर आप भी ऐसे ही लोगों में शामिल हैं तो आपके लिए मूली के फायदों को जानना बेहद जरूरी है. जी हां, मूली भले ही आपको मामूली सब्‍जी, लेकिन यह औषध‍िय गुणों से भरपूर है. अगर आप रोजाना इसे अपनी डाइट में शामिल करेंगे तो कैंसर, डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर समेत कई बीमारियों से कोसों दूर रहेंगे और आपकी लाइफस्‍टाइल हो जाएगी बेहद हेल्‍दी:

कोलकाता : मैंने क्लब के 100 दिनों के रिपोर्ट को देखा जिसमें यह पाया कि हिन्दुस्तान क्लब काफी बेहतर कार्य कर रहा है। यह उन्नति के मार्ग में अन्य क्लबों से काफी आगे हैं। उक्त बातें हिन्दुस्तान क्लब के स्थापना [Read more…]

hello sir mere face par forehead or bade bade or chin par chote 2 kaafi pimples ho gye h wo bhi meri engagement ke bad facial bhi kraya tha tab par ab wo kam nhi ho rhe plz koi upay btaye jisse jaldi unhe dur Kiya ja sake

1- अगर आपको सर्दी जुकाम की समस्या है तो इससे आराम पाने के लिए 10 ग्राम मुलेठी, 10 ग्राम काली मिर्च, 5 ग्राम लौंग, 5 ग्राम हरीतकी और 20 ग्राम मिश्री को एक साथ मिलाकर पीस लें. अब इसके पाउडर में 1 चम्मच शहद मिलाकर चाट लें. ऐसा करने से  कफ, सर्दी-खांसी और जुकाम समस्या दूर हो जाएगी.

अम्लिय पेय से बचें। यह आपकी सांस और दांत के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, क्योंकि अम्लिय पेय आपके दांतो के इनेमल को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। जितना हो सके अम्लिय पेय पीने से बचे और अगर पीना ही है तो ध्यान रखें कि आप स्ट्रा के जरिए या जल्दी से पीए, बिना मुंह में रखें। आप पानी का इस्तेमाल करके कुल्ला करके अपने खाने के अवशेष को दूर करें।

ऑइली त्वचा से पूरी तरह से छुटकारा पाना मुश्किल हो सकता है, लेकिन आप इस सामान्य समस्या को हल करने के लिए कई चीजें कर सकते हैं। महंगे और केमिकल युक्त उत्पादों का उपयोग करने की कोई आवश्यकता नहीं है। बहुत से लोगों ने घरेलू उपायों को इस समस्या के लिए मेहतर और प्रभावी पाया है। 

यदि आप अक्सर पेट की बीमारियों से पीड़ित होते हैं जैसे गैस, अपच, कब्ज, सूजन आदि। यह अक्सर तब होता है जब आपकी पाचन प्रणाली अच्छी तरह से काम नहीं कर रही होती है। इसे सुधारने के लिए आप और अजवाइन से बना काढ़े का सेवन कर सकते हैं। दोनों में कार्मिनटिव गुण होते हैं जो गैस को बनने से रोकते हैं और बेहतर पाचन में सहायता करते हैं।

For more articles on skincare, check out our skincare section. Follow us on Facebook and Twitter for all the latest updates! For daily free health tips, sign up for our newsletter. And to join discussions on health topics of your choice, visit our forum.

FROM WEB10 Indian divas who never got marriedCRITICSUNIONSend Money to India for $0 + Great Exchange RatesVianex10 best Mortgage Lenders of 2018.CRITICS UNIONFROM NAVBHARAT TIMESसर्जरी की वजह से श्रीदेवी का न‍िधन बताने वालों को एकता कपूर ने दिया जवाब पेश हुई एक मिसाल अमिताभ को पहले ही हो गया था श्रीदेवी की मौत का आभास? From The WebMore From NBT

Baking soda helps in reducing the inflammation in the pimple. You can use it by making a soft paste of baking soda with water. Spread this paste on the pimple and leave it for 5 minutes unless it dries. It has the property of drying out the pimple and helps in maintaining the pH level of the skin. But do not let it dry for longer time as it dries the skin. After drying clean the skin properly. It is one of the fastest methods to remove pimple.

नहाने के बाद एक टोपिकल मरहम (ointment) या लोशन (lotion) का प्रयोग करें: एक मरहम को खोजें जिसमें बेंजोईल पेरोक्साइड (benzoyl peroxide), सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) या अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (alpha hydroxy acid) हो। इनमें से ज्यादातर ब्राण्ड बिना पर्ची के मिल जाते हैं जैसे — क्लेअरसील (Clearasil) और प्रोएक्टिव (Proactive)। अगर आप एक लोशन का प्रयोग करना चाहते हैं जो वैज्ञानिक तौर पर, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए बनाया गया है कि वह कूल्हों पर होने वाले मुँहासों को ठीक करे — ग्रीन हार्ट लैब्स का बट एक्ने क्लीयरिंग लोशन (Butt Acne Clearing Lotion)। ज्यादातर टूथपेस्ट में कई प्रकार के पेरोक्साइड (peroxide) होते हैं, यदि आपको कुछ और न मिले तो ये मुँहासों के इलाज में प्रयोग में लाए जा सकते हैं।

How to Remove Pimples from Face in Hindi. Teji/tezi se muhase hatane ke liye gharelu nuskhe upchar/upay. Muhase hatane ke upay. Muhase ke liye gharelu upay. Pimple hatane ke tarike Hindi me. Pimple ke gharelu nuskhe. Muhase ka gharelu ilaj Hindi me. Muhase ka ilaj. मुँहासे हटाने के उपाय। मुहासे हटाने के लिए घरेलू उपचार। Pimples on face treatment at home in Hindi. Pimples problem solution in Hindi. Pimple and acne treatment in Hindi.

अगर आप भी दाग – धब्बो या कील मुहांसों से परेशान है तो यह Article आपको इनसे छुटकारा पाने में बहुत Help कर सकता है. आप इस आर्टिकल में बताये गये Tips को अपनाकर अपने चेहरे से कील – मुंहासो को बड़ी आसानी खत्म कर सकते है.

मुँह में दुर्गन्ध पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें:आप शायद पहले से ही जानते हैं कि प्याज, लहसुन, पनीर, और कॉफी (या उन्हें खाने के बाद कम से कम अच्छे से ब्रश करें) जैसे बदबूदार खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।[५]

One thought on ““आवश्यक तेलों के साथ मुँहासे से मुक्ति -प्रभावी मुँहासे उपचार””

  1. शरीर में जल का स्तर का संतुलन ही सिर्फ सांसों की ताजगी को बनाए रखा जा सकता है। जब हमारे शरीर में जल का स्तर कम हो जाता है तो मुंह में लार का बनना कम हो जाता है। जिससे सांसों में बदबू पनपती है। विटामिन सी- संतरा, निंबू या सभी खट्टे रस वाले फलों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है, ये सांसों की बदबू दूर करने में मददगार हैं। विटामिन सी को जीवाणुओं से लड़ने वाले पदार्थ के रूप में जाना जाता है।
    चेहरे पर कील मुहाँसो को मिटाने के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करें चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें पूरा नींद लें फल और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएँ तले हुए तथा मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ पानी अधिक मात्र में पिएं कास्मेटिक का उपयोग बिल्कुल ही न करें
    अगर आप अपने मुंह का स्वाद किसी कारण वश खराब महसूस करते हैं, जिसका स्वाद आपके भोजन से मेल नहीं खा रहा है, तो आपको अतिरिक्त चिकित्सा की जरूरत हो सकती है। ध्यान रखें कि, सांस की दुर्गंध, स्ट्रेप थ्रोट नामक गले का संक्रमण हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *