“कैसे मुँहासे और pimples से छुटकारा पाने के लिए तेजी से |कैसे सब मुँहासे रातोंरात से छुटकारा”

भेंट के अलावा एक टिप घर का सौंदर्य उपचार है कि कैसे मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए समझाने की मांग लोगों के लिए, इस पोस्ट के माध्यम से हम भी अनुशंसा करते हैं कि, जब यह ग्रेनाइट के लिए एक अंत डाल करने के लिए आता है, दैनिक त्वचा के अपने प्रकार के अनुसार उत्पादों के साथ अपने चेहरे को साफ करने के लिए याद रखें, आप exfolies सप्ताह में एक बार त्वचा, आप तनाव और तम्बाकू से दूर चलाने के लिए और एक स्वस्थ और संतुलित आहार संतृप्त वसा के नि: शुल्क ले लो.

विटामिन-डी से भरपूर आहार लें: विटामिन-डी आपके मुंह में बैक्टीरिया होने से रोकता है। विटामिन-डी का सेवन हम अपने आरक्षित आहार और पेय के रूप में कर सकते हैं, विटामिन-डी आम तौर पर और अधिक प्रभावशाली रूप में सूरज की रोशनी से मिलता है।

पिछले कई सालों से सिर दर्द, ठंड, खांसी, कंजस्टेड नाक, छाती और गले के कहर के इलाज के लिए विक्स वेपोरब का इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन यह इसका एकमात्र उपयोग नहीं है। आप इसे कई अन्य चीजों के लिए भी उपयोग कर सकते हैं

सूर्य किरणों: रोगियों के बहुमत आमतौर पर लगता है कि सूरज की रोशनी के लिए उनकी हालत अच्छी है। फिर भी, कुछ विचार बहुत अधिक सूरज की रोशनी अपने लक्षण बदतर बना देता है कि। धूप की कालिमा सोरायसिस एक बहुत बढ़ रहा है।

चेहरे के काले दाग धब्बे, प्याज मे क्रत्रिम प्रतिरोधक गुण होते है जो की मुहसो के दाग धब्बे दूर करने मे आपकी मदद करेगे। तो शांतीपूवर्क इस विधि का उपयोग करे। प्याज ले और उसका रस निकल कर चेहरे के संक्रमित स्थान पर लगाए और कुछ मिनिट तक रहने दे फिर साधारण पानी से धो दे।

यह उनमे से किसी के भी साथ हो सकता हैं जो लोग व्रत रखते हैं, चाहे वो धार्मिक कारणों के लिए, या जो खाने में रूचि नहीं लेते। यदि आप खाने में रूचि नहीं लेते हैं तो मुँह से दुर्गंध ही एक कारण हैं खुद को भूखा न रखने का।

दाल और आलू का पेस्ट : इस बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खे से आप मूछ के सफेद बालों से छुटकारा पा सकते है आलू और दाल से बना पेस्ट मूछ के सफेद बाल को हटाने में बहुत मदद आता है आलू में ब्लीचिंग के प्राकृतिक गुण होने के कारण आलू को दाल के साथ मिलाकर दाढ़ी व् मूछो का प्राकृतिक रंग वापिस आ जाता है।

एक बड़ी चम्मच दालचीनी पाउडर और शहद मिक्स करें जब तक आपको एक गाढ़ा पेस्ट ना मिल जाए। ज़ख्म क्षेत्र पर यह पेस्ट लगाएँ, 10 मिनट के बाद इसे धो लें। इसे दैनिक रूप से दोहराएँ जब तक आपको परिणाम नही मिल जाते हैं।

पीठ के मुहाँसे भी चेहरे के मुहंसों की तरह ही भयानक होते रिसर्च में ये पता चला है कि जिन लोगों को चेहरे के मुहांसों की समस्या ज़्यादा होती है, वही लोग पीठ के मुहांसों से भी उतने ही पीड़ित होते है। पीठ के मुहांसों का एक पहलू ये भी है कि इनके तक पहुँचना और इनका इलाज करना बहुत मुश्किल है क्योंकि इन तक पहुँचना और इनको देख पाना एक आसान नहीं है। मुहांसों का कहीं भी शरीर पर निकलना में मुख्य कारण हार्मोनल असंतुलन है। ये यौवन अवधि के दौरन एस्ट्रोजन (estrogen) और टेस्टास्टरोन (testosterone) हॉर्मोन (hormones) के अधिक स्राव के कारण होते है और जैसे ही कोई 20 साल की उम्र को पार करता है ये अपने आप चले जाते है। ये मुंहासे आपकी छाती, कंधे, पैर और हिप्स पर भी हो सकते हैं। बॉडी लोशन, मसाज ऑयल (massage oil) और सनस्क्रीन (sunscreen) आदि का इस्तेमाल करने से रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और मुंहासे हो जाते हैं। तनाव, अनियमित नींद, अस्वस्थ लाइफस्टाइल, खानपान की ग़लत आदतें और अधिक काम का बोझ भी कुछेक कारण है मुहाँसे निकालने का। यहाँ हम आज कुछ ऐसे ही घरेलू उपाय और घरेलू उपचारों की बात करेगें जिसकी मदद से आप पीठ के कील मुहांसों से निजात पा सकेगें।

त्वचा को लंबे समय तक खूबसूरत बनाए रखना है तो आपको उसका प्राकृतिक उपचार करने की जरूरत है।इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आप सिर्फ कुछ दिनों में पिम्पल्स की समस्या से छुटकारा पा सकती है।

एक बलगम निकालने वाली दवाई लें: यह ऐसी दवाईयाँ होती हैं जो आपके गले और नाक की बलगम को तोड़ती हैं और आसानी से इसे खाँसकर अपने शरीर से निकालने में आपकी मदद करती हैं। इनमें से बहुत सारी स्थानीय दवा की दुकानों पर ओवर-द-काउंटर उपलब्ध होती हैं, जबकि कुछ को डॉक्टर लिखकर देते हैं। खुराक निर्देशों का पालन करें और बलगम की वजह से हो रहे जमाव से आराम पाने के लिए दवाई को रोज़ लें।[३]

परेशान करने वाली चीज़ों से दूर रहें: घरेलू क्लीनर्स, एनैमल्स (enamels), रंग के धुएँ और अन्य रसायन रेस्पीरेटरी स्थिति को बिगाड़ते हैं और बलगम के स्तर को बढ़ाते हैं। अपने घर में ताजी हवा आने के लिए अपनी खिड़कियों को खुला रखें, अपनी बीमारी के दौरान परेशान करने वाली चीज़ों को अंदर रखें और ऐसी जगह जाने से बचें जहाँ ये सब होने की संभावना है (जैसे बार या एक पेंट की दुकान।[४]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *