“तुरंत मुँहासे को हटाने के लिए |घर पर मुँहासे की कोशिका से छुटकारा”

मुंह में छालों  का होना एक आम बात है. समस्या कभी भी किसी को भी हो सकती है. मुँह में छालों के होने पर हमे खाना खाने में काफी समस्या होती है और कभी कभी यही छाले इतने बढ़ जाते है कि व्यक्ति को बोलने में भी काफी तकलीफ होती है.

सामग्री: कैलेंडुला officinalis, आइरिस versicolor, आवश्यक तेल के मिश्रण (Cedrus एटलांटिका लकड़ी शेविंग्स, Melaleuca alternifolia पत्ता-शाखा, Melaleuca छोटी सी पत्ती), Persea gratissima फल तेल, Rosa mosqueta बीज का तेल, Simmondsia chinensis बीज का तेल, Triticum vulgare कर्नेल तेल)।

नहाने के बाद एक टोपिकल मरहम (ointment) या लोशन (lotion) का प्रयोग करें: एक मरहम को खोजें जिसमें बेंजोईल पेरोक्साइड (benzoyl peroxide), सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) या अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (alpha hydroxy acid) हो। इनमें से ज्यादातर ब्राण्ड बिना पर्ची के मिल जाते हैं जैसे — क्लेअरसील (Clearasil) और प्रोएक्टिव (Proactive)। अगर आप एक लोशन का प्रयोग करना चाहते हैं जो वैज्ञानिक तौर पर, इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए बनाया गया है कि वह कूल्हों पर होने वाले मुँहासों को ठीक करे — ग्रीन हार्ट लैब्स का बट एक्ने क्लीयरिंग लोशन (Butt Acne Clearing Lotion)। ज्यादातर टूथपेस्ट में कई प्रकार के पेरोक्साइड (peroxide) होते हैं, यदि आपको कुछ और न मिले तो ये मुँहासों के इलाज में प्रयोग में लाए जा सकते हैं।

March Masik HoroscopeNarendra ModiTripura Election Result LivePNB Fraud CaseShare MarketHoli 2018Weekly Horoscope in HindiMeghalaya Chunav Parinam 2018Aaj Ka RashifalTripura Chunav Result 2018Holi 2018 CelebrationTripura Chunav 2018Happy Holi 2018 WishesKiren RijijuTripura Elections 2018RRB Recruitment 20182018 RashifalNagaland Chunav 2018Nagaland Chunav 2018 ParinamSBI Interest RatesSensex Today LiveTripura Chunav Parinam 2018Share BazarAnshu Prakashहिंदी न्यूज़Meghalaya Chunav 2018Rajasthan Police admit CardAssembly Elections 2017Madhya Pradesh NewsChhattisgarh NewsTV News in HindiHimachal Pradesh NewsMaharashtra NewsPunjab NewsKashmir NewsEducation News in HindiVasthu Tips in HindiRajasthan NewsGujarat NewsBihar NewsHealth News in HindiMovie News in HindiSports News in HindiJokes in HindiHindi Headlines

कभी अल्सर फूट भी सकता है जिससे पूरे पेट में संक्रमण हो जाता है तथा पेट में तेज दर्द रहता है। लम्बे समय तक अल्सर रहने से केंसर होने का खतरा हो सकता है। इसके साथ ही आयुर्वेदिक नुस्खे से भी एसिडिटी का इलाज किया जा सकता हैं |

निखिल जी हमारा उत्साह बढ़ाने के लिए आपका बहुत धन्यवाद. निखिल जी आज जब मैं युवाओ को देखता हूँ तो तब उन्हें देखकर लगता ही की वे कितना खुबसूरत बनने की चाह रखते है. इसी चक्कर में वे कई गलतियाँ कर देते है. उन्ही में एक है कील – मुंहासे. उनकी त्वचा की समस्या को मैंने आज इस पोस्ट में तब विस्तार से लिखा. धन्यवाद

नीम एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसका उपयोग आप त्वचा की देखभाल के लिए कर सकते है। नीम का उपयोग त्वचा को साफ करने में मदद करता है। नीम पिम्पल, धब्बे और किसी भी प्रकार के स्किन इन्फेक्शन का इलाज कर सकता है। इसका इस्तेमाल भी आसान है जैसे नीम के पत्तों का पेस्ट बना लें और उसे 20 मिनट तक अपने चहरे पर लगा कर रखें। फिर इसे हल्के गर्म पानी से धो लें।

1- अगर आपको सर्दी जुकाम की समस्या है तो इससे आराम पाने के लिए 10 ग्राम मुलेठी, 10 ग्राम काली मिर्च, 5 ग्राम लौंग, 5 ग्राम हरीतकी और 20 ग्राम मिश्री को एक साथ मिलाकर पीस लें. अब इसके पाउडर में 1 चम्मच शहद मिलाकर चाट लें. ऐसा करने से  कफ, सर्दी-खांसी और जुकाम समस्या दूर हो जाएगी.

आज का दौर खुद को दूसरो से बेहतर साबित करने का दौर है. हर किसी की चाह अपनी अलग पहचान बनाने की है. लेकिन जब किसी भी Person के Face पर pimples हो जाते है तो यह उसके Confidence को बहुत Low कर देता है. उसके मन में खुद के लिए हीन – भावना आने लगती है. वह व्यक्ति लोगो से मिलने में कतराने लगता है.

अपने चेहरे की मांसपेशियों का प्रयोग करें: नाक के अंदर (cavity) मूवमेंट करना अटके हुए बलगम को निकाले में सहायक हो सकता है। गार्गलिंग और गुनगुनाने के बारे में तो पहले ही बता दिया गया है, आप इन सबका प्रयास भी कर सकते हैं:

झुर्रियाँ आप की उम्र के बड़ने के साथ आपके त्वचा में देखे जा सकते हैं | लेकिन आप निश्चित रूप से त्वचा को अच्छी तरह से hydrated रखकर उनकी उपस्थिति में देरी कर सकते हैं । बर्फ के क्यूब्स आपको quick facial देगा, यह आपके त्वचा को moisture locked प्रदान करते हैं |

धूप में कुछ नीम के पत्ते सुखाकर पीस लें। इस पाउडर को, हल्दी पाउडर और गुलाब जल में मिलाकर एक पेस्ट बनाएं और दानों पर लगाकर २० मिनट बाद धो लें। नीम के पाउडर की जगह आप चन्दन के पाउडर का भी प्रयोग कर सकते हैं जो मुँहासों को कम करने के लिए अच्छा उपाय है।

बालों में डेंड्रफ होना आम बात हैं। कई बार ये डेंड्रफ इतना ज्यादा बड़ जाता हैं जिससे दिनभर खुजली होती रहती हैं। खुजली की वजह से हम कई पर आसानी से बैठ भी नहीं पाते हैं। अगर आपको भी खुजली और डेंड्रफ हो रहा हैं तो हम आपको कुछ उपाए बता रहे हैं जिससे आपको खुजली से राहत मिलेगी।

इंंसान की अंतर आत्मा जितनी मायने रखती है उतना ही उसका चेहरा क्योंकि हमारा चेहरा हमारा आतमविशवास, हमारी खुशी, हमारा सुख- दुख, सब दर्शाता है। चाहे बडे़ हो या बच्चे या युवा सब ही चाहते है कि उनका चेहरा हमेशा तरोताजा, तनदरुस्त रहे। खास‌कर महिलाओं के चेहरे कि खूबसूरती बहुत मायाने रखती है। वो हमेशा अपने चहरे को सुंदर एवं रखना चाहतीं हैं ताकि उनकी खूबसूरती उन्हें एक अलग पहचान दे सके। सब चाहते हैं कि उनका चेहरा किल,  दाग-धब्बों से दूर रहे पर अफसोस कि उपाय न पता होने के कारण वो कुछ नहीं कर पाते अपने चेहरे के लिए लेकिन अब कोई चिंता की बात नहीं है क्योंकि इस लेख में दागों, घाव के निशानों और धब्बों को दूर करने के कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में बताया गया है। कुछ घरेलू नुस्खे ऐसे हैं जो इन दाग धब्बों पर धीरे-धीरे और काफी गहराई से प्रभाव छोड़ते हैं। 

तला हुआ खाना न खाएँ: बहुत ज़्यादा चिकना तला हुआ खाना आपके शरीर को बलगम तोड़ने में दिक्कत देता है जिससे आपका बलगम को सहने का समय बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए कुछ भी तला हुआ या बहुत सारे तेल में बना हुआ न खाएँ।

One thought on ““तुरंत मुँहासे को हटाने के लिए |घर पर मुँहासे की कोशिका से छुटकारा””

  1. अगर डायबिटीज के रोगियों को कहीं पर चोट लग जाती है तो उस जगह पर जहाँ चोट लगी है वहां सुबह मुँह की लार लगाये घाव भरने लगेगा। क्योकि मुंह की लार एंटीसेप्टिक होती है। वह रोगों की सबसे अच्‍छी दवा हैं, जो आपको फ्री में मिलती हैं। जिसके असंतुलन के कारण ही आज व्यक्ति कई रोगों से ग्रस्त है। जबकि किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के मुंह में प्रतिदिन 1000 से 1500 मिलीलीटर लार बनती है जो मुंह में मौजूद कैविटी, हानिकारक बैक्टीरिया और बारीक भोजन के कणों को साफ करने में मदद करती है। लार में ‘सलाइवा पैरोटिड ग्लैंड हार्मोन’ (एसपीजीएच) पाया जाता है जो त्वचा से उम्र के प्रभावों को कम करते है और आप लंबे समय तक युवा दिख सकते हैं। साथ ही लार में लाइसोजाइम नामक एंटी-बैक्टीरियल तत्व और इम्यून प्रोटीन ‘ए’ होते हैं जो मसूढ़ों और गले को कई प्रकार के हनिकारक इंफेक्‍शन से बचाते हैं।
    #health solution #health tips #www.onlyinayurveda.com #crazy india #ayurveda for healthy life Health website health article health news Ghrelu Nuskhe health remedy #how to cure health problems solution in ayurveda desi nuskhe #how to get rid from health problems solution in ayurveda top news ayurvedic medicine #astronomy ayurved tips news #how to cure health problems solution with home remedy only in ayurveda ayurveda health tips health solution with home remedy #vastu tips for wealth creation #vastu tips for money home remedies
    मुंह की बदबू हटाने में खट्टे फल सबसे अधिक कारगर होते हैं। बता दें कि संतरा, नींबू, आंवला, अंगूर जैसे फलों में विटामिन सी की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। इनका सेवन करने से मुंह की बदबू से जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *