“मुँहासे उपचार जो तेजी से काम करते हैं _मुँहासे के शाकाहारी से छुटकारा”

सच में बर्फ लगाने के कई फायदे है त्वचा के लिए, जानिए कैसे ice cubes कई तरह के benefits देता है हमारे skin को in Hindi. बर्फ के टुकड़े लगाने भर से चेहरे के सुजन से ले कर फुंसी तक कम हो जाती है | गर्मियों के महीनों में भयानक गर्म होती है, इसमे बर्फ का cube हमे राहत प्रदान करता है | ice cube पूरी तरह से आपके शरीर और आत्मा को शांत करता है और आपको तेज गर्मी से बचाता है । अपने सामान्य juice में दो या तीन बर्फ के cubes को जोड़ना आपके पूरे सिस्टम को शांत करता है | आप इसे अतिरिक्त शीतलता के लिए अपने सामान्य पानी में भी इस्तेमाल कर सकते हैं । कार्यालय में काम करते वक्त मुश्किल दिन बिताने के बाद,बर्फ का एक टुकड़ा वास्तव में आपको relax महसूस कराता है |

परेशान करने वाली चीज़ों से दूर रहें: घरेलू क्लीनर्स, एनैमल्स (enamels), रंग के धुएँ और अन्य रसायन रेस्पीरेटरी स्थिति को बिगाड़ते हैं और बलगम के स्तर को बढ़ाते हैं। अपने घर में ताजी हवा आने के लिए अपनी खिड़कियों को खुला रखें, अपनी बीमारी के दौरान परेशान करने वाली चीज़ों को अंदर रखें और ऐसी जगह जाने से बचें जहाँ ये सब होने की संभावना है (जैसे बार या एक पेंट की दुकान।[४]

Disclaimer: TheHealthSite.com does not guarantee any specific results as a result of the procedures mentioned here and the results may vary from person to person. The topics in these pages including text, graphics, videos and other material contained on this website are for informational purposes only and not to be substituted for professional medical advice.

दालचीनी के उपयोग से शरीर को ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद मिलती है, जिसमें कुल कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी कम हो जाता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी आंतरिक ऊतकों में सूजन को ठीक करने और दिल के दौरे और बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

चिकित्सा के लिए सबसे कठिन प्रकार की चकत्ते -सूजन मुँहासे यह बेहतर है यदि मवाद की सतह पर है, इसका मतलब यह है कि त्वचा स्वयं सफाई है लाल बड़े ट्यूबरल, पेल्पाशन की कोमलता से सूजन की सूक्ष्म त्वचा की प्रक्रिया, बैक्टीरिया का प्रजनन दर्शाता है।

रात को भोजन के बाद एक छोटी हरड़ चूसे। इस से आमाशय और आंतड़ियों के दोषो के कारण महीनो ठीक ना होने वाले मुंह व् जीभ के छाले ठीक हो जाते हैं। हरड़ को चूसते रहने से पाचक अंग शक्तिशाली बन जाते हैं, पेट के कीड़े भी नष्ट होते हैं।

Mere cheeks ke upr kuch hi pimples h but wo pichle 5 -6 mhine se h to kya kre btao neem face pack alloevara sb lga ke dekh liya .or jb inko pinch krte h tb ye jyada bde ho jaten h or drd hota h kya kre sir plz give me answer

मेरे फेस पर पिंपल बहुत हो रहे हैं और बड़ते ही जा रहे हैं स्किन भी लूज होती जा रही है यानी कि मुरझाती जा रही है मेरी आँखों के नीचे काले धबे और झुरियाँ भी पड़ती जा रही हैं मेरी हेल्प करें यह मेरी गुज़ारिश है

मुंह में बदबू आने का सबसे कारण है खराब पाचन तंत्र। जब किसी का पाचन ठीक नहीं होता है तो उसके मुंह से बदबू आती है। इसलिए खाना खाने के बाद सौंफ को अच्छी तरह चबाएं। इससे पाचन तो सही रहेगा ही साथ ही सांसों और मुंह से भी खुशबू आएगी।

चेहरे के पिंपल्ज़ किस प्रकार से मिटेंगे मेरे चेहरा पिंपल्ज़ से बहुत जाएदा भर गया है मेरा पूरा चेहरा इतना खराब हो गया है कि मुझे भी अच्छा नहीं लगता पता नहीं कि ठीक भी होंगे या नहीं बहुत ही परेशान हूँ मेरी परेशानी का हल ज़रूर बताएँ|

हमारा बाहरी स्वरूप हमारे लिए बहुत ज्यादा important है. जब हम किसी भी व्यक्ति से मिलते है तब वह पहले हमारा बाहरी स्वरूप ही देखता है. जब वह हमारे चेहरे पर दाग – धब्बे देखता है तो उस व्यक्ति पर हमारा Bad Imprassion पड़ता है.

धूम्रपान न करें: आप जो भी इन्हेल करते हैं वह आपके शरीर को प्रभावित करता है और हानिकारक चीजों ,जैसे की सिगरेट, सिगार या अन्य ड्रग्स, का धुआँ इन्हेल करने से आपके गले और फेफड़ों की हालत और खराब हो सकती है। इन चीज़ों का धुआँ आपके शरीर की जल्दी से ठीक होने की क्षमता में दखल देता है और साथ ही साथ आपके शरीर में बलगम के उत्पादन को बढ़ाता है। कम से कम बीमारी के दौरान अपनी जीवन शैली से धूम्रपान को हटाने की कोशिश करें।

अच्छी क्वालिटी के च्युंगम चबायें: जैसा कि पिछले चरण में उल्लेख किया है, कोई भी च्युंगम दुर्गंध हटाने में मदद करता है क्यूंकि चबाने के कार्य से लार का उत्पादन अधिक होता है। हालांकि, कुछ गम दूसरों की तुलना में बुरी सांस से लड़ने की बेहतर क्षमता रखते हैं:

–> संतरे में मौजूद विटामिन सी पिपल्स को निकालने में मदद करता है | संतरे को मुहांसे पर इस्तेमाल करने से पूर्व त्वचा को भली – भांति गुनगुने पानी से धो ले ताकि त्वचा के पोर्स खुल सके | इसके बाद संतरे के छिलके को pimple पर लगाकर  एक घंटे तक छोड़ दे |

#health solution #health tips #www.onlyinayurveda.com #crazy india #ayurveda for healthy life Health website health article health news Ghrelu Nuskhe health remedy #how to cure health problems solution in ayurveda desi nuskhe #how to get rid from health problems solution in ayurveda top news ayurvedic medicine #astronomy ayurved tips news #how to cure health problems solution with home remedy only in ayurveda ayurveda health tips health solution with home remedy #vastu tips for wealth creation #vastu tips for money home remedies

त्वचा पर मस्सों का होना काफी गंभीर समस्या है। यह ना केवल एक ही स्थान पर बल्कि हर स्थान पर होने लगते है। काले या भूरे रंग के ये मस्से त्वचा की अवांछित वृद्धि करते है, जिससे छुटकारा पाने के लिए लड़कियां शल्य चिकित्सा पद्धतियों का उपयोग कर, इसे हटाने का प्रयास करती हैं। लेकिन आज हम आपको बता रहें है सबसे आसान तरीका जिसे आप घर बैठे ही इसका उपचार कर सकती हैं।

इस तरह मुंह की लार से हम मुफ्त में कई बीमारियों का इलाज कर सकते है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि इस लार वो सभी 18 तत्‍व पाये जाते है जो मिट्टी में पाए जाते है। लेकिन बहुत अफसोस की बात हैं कि आज मनुष्य खुद ही अपना दुश्मन बनता जा रहा है। वह धूम्रपान और नशीले पदार्थों के चलते लार को खत्म करता जा रहा है और अपने लिए दुःख तकलीफो को न्योते पर न्योता दिए जा रहा है । धूम्रपान से लार दूषित हो जाती है और असर नहीं करती। जर्दा, पान अन्य पदार्थ से बार-बार थूकने से लार जरूरत से ज्यादा बाहर निकलती है। वहीं तीसरा ड्रग आदि के प्रयोग से मुंह सूख जाता है और लार नहीं रहती। इसलिए लार को बचाने के लिए आपको इन सब आदतों को भी छोड़ना होगा।ताकि लार हमारे शरीर को बीमारियों से बचा सके |

मुंह से निकलने वाली बदबू या सांसों की दुर्गन्ध आज के समय की सबसे ज्यादा जटिल समस्या है जो हर किसी के सामने शर्मिदा करने का अहसास कराती है। आज के समय में यह दिक्कत कई लोगों में पाई जाती है। इस समस्या से परेशान लोग अपने सहपाठी, पड़ोसी, सहकर्मी या अन्‍य किसी के साथ बात करने या नजदीक बैठने से भी कतराने लगते हैं। मुंह की दुर्गन्ध या सांस की बदबू के आने का सबसे बड़ा कारण मुंह में पाये जाने वाले बैक्टीरिया होते हैं जो ‘सल्फर कम्पाउंड’ बाहर निकालते हैं। जिसकी वजह से सांस की बदबू होती है।

दांतों में छेद होने को वैज्ञानिक भाषा में दन्त क्षय या कैविटी कहते है। मुंह में मौजूद एसिड के कारण दांतों के इनेमल खोखले होने लगते हैं जिसके कारण कैविटी का निर्माण होता है। मुंह में मौजूद बैक्‍टीरिया (लार, खाद्य कणों एवं अन्य पदार्थों के साथ) दांतों कि सतह पर जमा होने लगते हैं जिसे प्लॉक कहा जाता है। प्‍लॉक में मौजूद बैक्‍टीरिया आपके खाने में मौजूद शुगर एवं कार्बोहाइडेट को अम्ल में परिवर्तित कर देता है इसी अम्ल के कारण दांत खोखले होने लगते हैं, फलत: कैविटी का निर्माण होता है। लेकिन कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर दांतों में मजबूती बनाने के साथ प्राकृतिक रूप से कैविटी से लड़ा जा सकता है।

homeveda, ayurveda, home remedy, home remedies, natural remedies, natural cure, home cure symptoms, medicine, health, bad breath, bad breath causes, , bad breath disease, bad breath cures, halitosis causes, how to get rid of bad breath, rid, remedies, remedy, cure, cures, causes, cause, how, to, what, how to cure bad breath, home Stuart Edge , top video, must watch, video about bed breath, multi rose life, short films

अपने दांत अच्छे से साफ करें: मुंह कि दुर्गन्ध को दूर करने के लिए दांतो को अच्छी तरह से साफ करना एक अच्छा तरीका है, जो आप आसानी से कर सकते हैं। दिन में दो बार, कम से कम दो मिनट के लिए ब्रश करें और ध्यान रखें कि आप मुंह के अंदर सभी जगह अच्छी तरह से साफ कर रहे हैं। खास तौर पर जहां दांत और मसूड़े आपस में मिलते हैं वहां ध्यान केंद्रित करें।[१]

sir hamari skin teen layars se bna hota hai to chicken pox ke jo gadhe hote hai jo kis layars me hote hai jo bharte nhi ya ye teeno layars ko samapt kar deta hai jo gadhe par fir se cell nhi banta sir

1 मुहांसो से छुटाकारा पाने के लिए इंहे कभी भी ना फोड़े वरना इसका सीरम निकल कर पूरे चेहरे पर मुहांसे फैला देगा। मुहासों को तौलिए से ना रगड़े, ऐसे करने से आपके पूरे चेहरे पर मुहासे फैल सकते हैं। बेहतर होगा कि इसको अपने आप ही खत्‍म होने दें।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, story, essay या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:[email protected].पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

रात को सोते समय एक चम्मच मलाई में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिलाकर चेहरे पर लगाये । सुबह चेहरा धो लें। इससे चेहरे के दाग कम हो जाते हैं। यदि आपकी त्वचा तैलीय है, तो दिन में कई बार नींबू का पानी पियें, त्वचा का तैलीयपन कम हो जायेगा।

परीक्षण करें, अगर आपको सांस की दुर्गंध की समस्या है: यह बताना मुश्किल है कि कब आपकी सांस दूसरो को बदबूदार लगें। अगर आपकी सांस बदबूदार है, तो इन परीक्षण का इस्तेमाल करके, आप अपने मुंह में मौजूद सल्फर नमक को किसी और चीज़ में मिलाकर, सूंघ सकते हैं और स्वयं ही अपने सांस की दुर्गंध को पहचान सकते हैं।[१५]

पायरिया से परेशान लोग मूली के रस से दिन में 2-3 बार कुल्ले करें और इसका रस पिएं तो बहुत फायदा होगा. मूली के रस से कुल्ला करना, मसूड़ों-दांतों पर मलना और पीना दांतों के लिये बहुत लाभकारी है. मूली को चबा-चबा कर खाने से दांतों और मसूड़ों की बीमारियां दूर होती हैं.

छाछ मे लॅकटिक एसिड होता है जो की अल्फा हाइड्रॉक्सिल एसिड की तरह काम करता है। यह एक प्रकार का प्रकतिक एसिड है जो चेहरे की मृत त्वचा, धूल और तेल को निकालता है। एक कटोरी मे छाछ ले और रूई की मदद से दाग पर लगाए और अगर मुमकिन है तो आधी मात्रा मे नीबू का रस भी मिला कर मास्क की तरह भी उपयोग सकते है।

हल्के, जो सूखी और छोटी त्वचा पैच द्वारा विशेषता है, सोरायसिस होने पर रोगियों इस बीमारी के बारे में लगता है नहीं हो सकता है। जब व्यक्ति दरिद्र बड़ी और मोटी पैच के लाल रंग के साथ कवर किया गया है निश्चित रूप से, यह मामला नहीं है। Psoriasis के इस डिग्री गंभीर है, पैच पूरे शरीर को कवर कर सकते हैं और psoriasis के छुटकारा पाने के लिए कैसेजानने के लिए की आवश्यकता होती है।

एक अंडे के सफेद भाग फेटें फिर उसमें आधे नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए सूखने दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह त्वचा में कसाव लाता है और अतिरिक्त तेल को सोखता है।

One thought on ““मुँहासे उपचार जो तेजी से काम करते हैं _मुँहासे के शाकाहारी से छुटकारा””

  1. दाल और आलू का पेस्ट : इस बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खे से आप मूछ के सफेद बालों से छुटकारा पा सकते है आलू और दाल से बना पेस्ट मूछ के सफेद बाल को हटाने में बहुत मदद आता है आलू में ब्लीचिंग के प्राकृतिक गुण होने के कारण आलू को दाल के साथ मिलाकर दाढ़ी व् मूछो का प्राकृतिक रंग वापिस आ जाता है।
    डॉक्टरी पर्चे के बगैर, त्वचा के धब्बों को कम करने वाली क्रीम का उपयोग करें: इन क्रीम में कोजिक एसिड, अर्बुटिन, मलबरी (mulberry) का रस, लीकोरिस (licorice) का रस और विटामिन सी पाए जाते हैं | इससे त्वचा को बिना जलन या नुकसान पहुंचाए, दाग, धब्बे फीके पड़ जाते है |[४]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *