“मुँहासे के लिए बैंजोल पेरोक्साइड -मुँहासे के लिए मेकअप कैसे करें”

hello sir mere face par forehead or bade bade or chin par chote 2 kaafi pimples ho gye h wo bhi meri engagement ke bad facial bhi kraya tha tab par ab wo kam nhi ho rhe plz koi upay btaye jisse jaldi unhe dur Kiya ja sake

माथे पर मुँहासे हटाने के लिए कैसे? शायद, इस प्रश्न को प्रत्येक लड़की ने कम से कम एक बार खुद से पूछा, उसके प्रतिबिंब पर दर्पण की तलाश में। और, नींव लेते हुए और बैंग्स को कम करते हुए, उन्हें सार्वजनिक दृश्य से छिपाने की कोशिश की। हालांकि, मुँहासे से छुटकारा पाने का सही दृष्टिकोण थोड़ा अलग है: कारकों की पहचान, कॉस्मेटिक प्रक्रियाओं से गुजरना, त्वचा की देखभाल के लिए सही साधन चुनना।

4 – रात को सोने से पहले कच्चे दूध के साथ जायफल को घिसे और इसका लेप तैयार कर ले, और लेप को चेहरे पर लगा कर सो जाये. सुबह चेहरा साफ पानी से धो दे, कुछ दिन ऐसा लगातार करने से  चेहरे पर होने वाले मुहासों से छुटकारा मिलता हैं.

अगर मुँहासों में संक्रमण हो जाए तो इनमें दर्द, जलन और पस निकलने लगता है जो की एक अत्यधिक गंभीर समस्या बन सकता है | मुहाँसे अक्सर 15 से 25 साल की आयु में निकलते है पर यह तय नहीं है क्योंकि यह अन्य आयु वर्ग के लोगों को भी हो सकते है |

एक बलगम निकालने वाली दवाई लें: यह ऐसी दवाईयाँ होती हैं जो आपके गले और नाक की बलगम को तोड़ती हैं और आसानी से इसे खाँसकर अपने शरीर से निकालने में आपकी मदद करती हैं। इनमें से बहुत सारी स्थानीय दवा की दुकानों पर ओवर-द-काउंटर उपलब्ध होती हैं, जबकि कुछ को डॉक्टर लिखकर देते हैं। खुराक निर्देशों का पालन करें और बलगम की वजह से हो रहे जमाव से आराम पाने के लिए दवाई को रोज़ लें।[३]

यदि आप अक्सर बीमार पड़ जाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपका इम्युनिटी कमजोर है। आप इस हर्बल काढ़े की मदद से इसे मजबूत कर सकते हैं। इस काढ़े में कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का मिश्रण है। ये काढ़ा वात और कफ को शांत करता है, पाचन को उत्तेजित करता है, प्रतिरक्षा में वृद्धि करता है।

इंटरनेट डेस्क। खूबसूरत दिखना किसे अच्छा नहीं लगता। हर लड़की की चाहत होती है कि उनकी साफ और दमकती त्वचा रहे है लेकिन चेहरे पर होने वाले पिम्पल्स आजकल होना आम बात हो गई इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बहुत सारे तरीको को अपनाती हैकई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करती है। लेकिन ये उपाय कुछ देर तक ही प्रभावी रह पाते हैं।

– गर्मियों में हरा ताजा पुदीना पानी मेें उबाल कर छान लें। गुनगुने पानी से कुल्ला करने से भी आराम मिलता है। इसी प्रकार मेथी को पानी में उबालकर ठंडा कर छान लें और गुनगुने पानी से कुल्ला करें। मसूड़ों की सूजन भी दूर होगी और दुर्गन्ध भी।

सामग्री: कैलेंडुला officinalis, आइरिस versicolor, आवश्यक तेल के मिश्रण (Cedrus एटलांटिका लकड़ी शेविंग्स, Melaleuca alternifolia पत्ता-शाखा, Melaleuca छोटी सी पत्ती), Persea gratissima फल तेल, Rosa mosqueta बीज का तेल, Simmondsia chinensis बीज का तेल, Triticum vulgare कर्नेल तेल)।

डायबिटीज (71) डायरिया (25) डेंगू (7) डैंड्रफ (8) थकान (37) दमा (33) दांत दर्द (56) दांतों के लिए (71) दाद-खाज (23) दिल की बीमारी (43) दिल के दौरे (25) देशी नुस्खे (1642) नपुंसकता (11) नींद की समस्या (25) पथरी (42) पसीने की बदबू (9) पाइल्स (14) पाचन (136) पीरियड्स (23) पीलिया (18) पेट की चर्बी (38) पेट के लिए (118) पेट दर्द (83) पेशाब में जलन (9) पैरों की लिए (27) पैरों की बदबू (11) बच्चों के रोग (20) बवासीर (52) बालों के लिए (229) बुखार (66) ब्लड शुगर (16) मधुमेह (41) मधुमेह (शुगर) (91) माइग्रेन (35) माहवारी के (12) मुंह की दुर्गध (21) मुँहासे (17) मोटापा (141) योगा टिप्स (21) वजन कम (51) वजन घटाने (38) वज़न घटायें (15) विटामिन (1) शीघ्रपतन (9) सर्दी जुकाम (70) सिरदर्द (65) सीने में जलन (17) सेक्स पावर (12) सेहत के लिए (10) स्वस्थ जीवन का सूत्र (219) हार्ट अटैक (30) हार्ट ब्लॉकेज (11) हृदय रोग (7) हेयर लोस (4) हेल्थ टिप्स (8) Beauty Tips (5) Health Tips (162) Yoga Tips (8)

प्राकृतिक क्रीम और शैंपू में प्राकृतिक छालरोग उपचार के उद्देश्य से हर्बल घटक शामिल करना चाहिए। इस कुशल सूत्र आमतौर पर तेजी से अवशोषित है और कपड़े और त्वचा पर किसी भी निशान छोड़ नहीं करता है। प्राकृतिक छालरोग उपचार आम तौर पर हल्के moisturizers, emollients, आवश्यक तेलों, और आपकी त्वचा की हालत में सुधार और psoriasis के छुटकारा पाने के लिए PH कसरती शामिल हैं।

–> कील मुहाँसे का इलाज करने में जो सबसे असरकारक घरेलू फेस पैक (Homemade Face Pack) है उसे बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि दो चम्मच खीरे का रस, दो चम्मच गुलाबजल, एक चम्मच ब्रांडी, एक चम्मच अंडे की सफेदी और थोड़ा सा नीबू का रस आपस में मिलाकर लोशन तैयार कीजिए | इस लोशन को धीरे – धीरे मलते हुए चेहरे पर लगाइए और सूखने के उपरान्त गुनगुने पानी से धो लीजिए | इस उपाय को करने से न सिर्फ कील – मुंहासा दूर होते है बल्कि कील मुहासे के दाग – धब्बों से भी छुटकारा मिलता है | 

Streptococcal संक्रमण: कुछ सबूत से पता चला कि streptococcal संक्रमण पट्टिका छालरोग करना पड़ेगा यह था के लिए धन्यवाद। वे बैक्टीरिया guttate सोरायसिस के लिए ला सकता है। Psoriasis के इस तरह त्वचा पर होने वाली छोटी लाल धब्बे के माध्यम से प्रकट होता है।

दालचीनी में शक्तिशाली रोगाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, संक्रामक विरोधी और एंटी-क्लोटिंग गुण होते हैं। यह एंटी-ऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल और मैंगनीज, लोहा और आहार फाइबर जैसे खनिजों का भी एक अति उत्कृष्ट स्रोत है। यह सभी आवश्यक पोषक तत्व आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह शर्करा, कार्बोहाइड्रेट, फैटी एसिड और एमिनो एसिड का एक प्राकृतिक स्रोत है| तो आइये जानेते है दालचीनी के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में-

भारतीय घर आम तौर पर मसालों और जड़ी-बूटियों से भरे होते हैं जो रोजाना खाना पकाने में इस्तेमाल होते हैं। लेकिन आप इन मसालों और जड़ी-बूटियों को देसी काढ़े बनाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं जो न केवल रोगों का इलाज करते हैं बल्कि समग्र स्वास्थ्य में सुधार करते हैं। काढ़ा एक पेय है जिसमें जड़ी-बूटियों और मसालों को पानी में आम तौर पर लंबे समय के लिए उबाला जाता है। जड़ी बूटियों का चुनाव आप अपनी बीमारी के अनुसार कर सकते हैं। स्वाद भी उसी के अनुसार भिन्न होता है। एक बार जब काढ़ा तैयार हो जाता है तो आप दिन में कई बार काढ़े का सेवन कर सकते हैं। आप इसे स्टोर भी कर सकते हैं और फिर इसे पीने से पहले गर्म कर सकते हैं। यहां पांच ऐसे आयुर्वेदिक काढ़े बताये गए हैं जिनका आपको नीचे दी गई बीमारियों में इस्तेमाल करना चाहिए।

मेरे चेहरे पर बहुत सारे पिंपल्ज़ हैं यह बीच बीच में ठीक भी हो जाते हैं लेकिन फिर से वापस भी आ जाते हैं यदि मैं भाप वाला फार्मूला पर्योग करूँ तो क्या यह पिंपल्ज़ हमेशा के लिए ठीक हो सकते हैं? प्लीज़ रेप्लाई सर

* लहसुन : लहसुन की 2 कलियों का रस निकालकर 1 गिलास पानी में मिलाकर कुल्ला करें। रोजाना 4 से 5 दिन तक इसका प्रयोग करने से मुंह के छाले कम हो जाते हैं। लहसुन की कली को पानी के साथ पीसकर उसमें थोड़ा-सा देसी घी मिलाकर मलहम तैयार करें। इस मलहम को छालों पर लगाने से छाले खत्म हो जाते हैं।

यह आपके चेहरे पर कोई गलत परिणाम नहीं देते . मुहाँसे के लिए मेडिकल इलाज लेने से पहले हमेशा ही घरेलु इलाज लेना चाहिए क्यूंकि मेडिकल इलाज से चेहरे की प्राकृतिक सुन्दरता चली जाती हैं और चेहरा बेजान हो जाता हैं .अपने चेहरे से मुहाँसे हटाने के लिए पहले साधारण घरेलु इलाज करे जिससे चेहरे में और अधिक निखार आता हैं .

डेयरी उत्पाद न खाएँ: सारे डेयरी प्रोडक्टस में एक विशेष प्रोटीन, कैसिइन (casein), होता है जो ठंडा करता है और आपके शरीर में और बलगम बनाता है। अनावश्यक रूप से अधिक बलगम का निर्माण रोकने के लिए, दूध, चीज़, दही या आइसक्रीम जैसे डेयरी न खाएँ।

कोलकाता : मैंने क्लब के 100 दिनों के रिपोर्ट को देखा जिसमें यह पाया कि हिन्दुस्तान क्लब काफी बेहतर कार्य कर रहा है। यह उन्नति के मार्ग में अन्य क्लबों से काफी आगे हैं। उक्त बातें हिन्दुस्तान क्लब के स्थापना [Read more…]

3 – गुलाब जल में बराबर मात्रा में निम्बू का रस मिलाकर मिश्रण तैयार कर लीजिये और उस मिश्रण को चेहरे पर करीब आधे घंटे तक लगा कर रखे फिर ताजे पानी से चेहरा धो ले, इस प्रयोग को चेहरे पर करीब 15  दिन तक करें, जिससे आपके चेहरे के मुँहासे ठीक हो जायेंगे.

मूली में विटामिन C, जिंक, B कांप्‍लेक्‍स और फॉस्‍फोरस होता है. मुंहासों के लिए मूली का टुकड़ा गोल काट कर मुंहासों पर लगाएं और तब तक लगाए रखें जब तक यह खुश्क न हो जाए. थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें. कुछ ही दिनों में चेहरा साफ हो जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *