“मुँहासे छेद से छुटकारा पाने के लिए स्वाभाविक रूप से मुँहासे के लिए प्राकृतिक उपचार”

सामग्री: कैलेंडुला officinalis, आइरिस versicolor, आवश्यक तेल के मिश्रण (Cedrus एटलांटिका लकड़ी शेविंग्स, Melaleuca alternifolia पत्ता-शाखा, Melaleuca छोटी सी पत्ती), Persea gratissima फल तेल, Rosa mosqueta बीज का तेल, Simmondsia chinensis बीज का तेल, Triticum vulgare कर्नेल तेल)।

त्वचा के चकत्ते इलाज – (Freckles)- त्वचा पर जहाँ कहीं भी चकते हों, उन पर नींबू का टुकड़ा मसले। नींबू में फिटकरी का पाउडर भरकर धीरे धीरे लगाये। इससे चकते हल्के होते हैं और त्वचा में निखार आ जाता है। इसके अलावा हाथ धोकर नींबू का रस रगड़ने से हाथ नरम हो जाते हैं और नाखून सुंदर हो जाते है|

दोस्तो Bad Breathing के कारण अगर आप भी अपने साथियों के सामने शर्मिंदा नहीं होना चाहते तो आज इस लेख में बताए गये नुस्खे को जरुर आजमाए | इससे mouth bad smell से छुटकारा मिले गा और साँसों में फरेशनेश आएगी |

थकान मिटाने और नींद लाने में मूली बेहद फायदेमंद है. वहीं, अगर आपको मोटापे से छुटकारा पाना है तो मूली के रस में नींबू और नमक मिलाकर खाने से बहुत लाभ मिलता है. दरअसल, मूली खाने से आपकी भूख शांत होती है. 

फेसबुक के जरिए मारिया को जब यह पता लगा तो उसने सुरेश पर शादी करने का दबाव डाला, सुरेश ने उससे भी शादी कर ली। पुलिस को जब मारिया की लाश मिली तो वह सुरेश की तलाश में उसके गांव पहुंचे। सुरेश को इसकी जानकारी हो गई और वह नेपाल भाग गया। पुलिस ने उसे नेपाल से गिरफ्तार किया।

मुलेठी में भरपूर मात्रा में आयुर्वेदिक गुण मौजूद होते हैं. जिसके कारण ये हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. मुलेठी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा के गुण मौजूद होते हैं. इसके सेवन से सर्दी-खांसी, जुकाम, कफ, गले और यूरिन इंफैक्शन जैसी समस्याओं से आराम मिलता है. आज हम आपको मुलेठी के कुछ घरेलु नुस्खों के बारे में बताने जा रहें हैं.

आपको यह पता होगा की शराब और तम्बाकू हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही नुकसानदायक है. ये चीजे हमारे चेहरे के लिए भी सही नहीं होते. युवावस्था आने पर कई लड़के दूसरो की देखा – देखी में सिगरेट व तम्बाकू खाना लेना शुरू कर देता है. फलस्वरूप उनके face में कील – मुंहासे होने लगते है. आपको इन चीजो से बचना चाहिए.

मुंह में एक छोटा सा घाव होता है जिसे हम अल्‍सर बोलते हैं। अगर यह मुंह में छाला हो जाए तो खाने-पीने में बड़ी तकलीफ हो जाती है। इसमें काफी जलन और दर्द भी महसूस होती है। वैसे तो यह बीमारी कुछ ही दिनों के लिए होती है और हफ्ते भर में ठीक भी हो जाती है।

अधिक अपने आदि इस इस रोग इसके इससे इसे उपचार उसे एक ऐसे और कई कम कर करता है करते करना करें का का रस काली मिर्च किसी की की कमी कुछ के कारण के लिए के साथ कोई खाएं गरम ग्राम घी चम्मच चाहिए चूर्ण जब ज़रूरी जा जाए जाएगा जाती जाते जाना जाने जो ठीक डालकर तक तथा तरह तीन तेल तो दर्द दिन में दूध दें दो नमक नहीं नीबू पदार्थ पर पानी में पीने पूरी पेशाब प्याज प्रकार प्रतिदिन प्रोटीन फायदा बात बाद बार भी भोजन मात्रा मिलाकर यदि यह या ये रहता है रहती रहना रहे रोग रोगी को लक्षण लगता लहसुन लाभ ले लें वसा वह विटामिन व्यक्ति शरीर के शरीर में शहद सकता है सकते सभी समय सिर से से भी हम हमारे शरीर ही है कि हैं हो जाता है हो सकता होगा होता है होती होना होने

आप हल्दी पाउडर का भी उपयोग कर सकते हैं | यह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक है और इसके इस्तेमाल से आपके मुँहासे और धब्बे जल्दी ठीक हो जाते हैं | आप हल्दी को पानी या निम्बू के रस में भिगो सकते हैं | इसे 15 मिनट तक लगाकर ठंडे पानी से चेहरा धोलें | आप आलू के रस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं |

अधिकांश किशोरों के लिए, मुँहासे यौवन के दौरान अस्थिर हार्मोन के स्तर के वजह से होते हैं वसामय ग्रंथियों (सेबेसियस ग्लैंड्स) को ज़्यादा काम करने के लिए उत्तेजित करते हैं। यह अतिरिक्त त्वग्वसा (सीबम), त्वचा की सबसे बाहरी परत के मृत कोशिकाओं और छिद्र को रोकने वाले बैक्टीरिया के साथ जुड़ती हैं और मुँहासे पैदा करती हैं। यह चिकनी(ऑयली) त्वचा के परिणाम स्वरुप भी हो सकती हैं। दानों के खुजाने या फोड़ने से और चेहरे पर कुछ कृत्रिम सामग्री जिसके बारे में आपको ज्यादा नहीं पता हो का उपयोग करने से आप समस्या को बढ़ा देते हैं। बल्कि, आपकी त्वचा को स्वस्थ और मुँहासों से मुक्त रखने के लिए सरल हर्बल उपचारों का उपयोग करें।

Mera Chaharey per kafi kaala pen h or daag ho gye h mne niboo or namak Dino mila ker massage ki thi Sara chahara gharab ho gya h me .kiya karo.help ker saktey ho kiya aap mne apke sare nuksey apna liye h fark nahi pada .

अगर आपको बार-बार मुंह के छाले Muh ke chhale हो रहे हैं तो अपने मुंह की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। ज्यादा मसालेदार और गरिष्ठ भोजन करने से बचें। अगर फिर भी छाले ठीक न हो रहे हों तो जल्द चिकित्सक से सलाह व उपचार अवश्य लीजिए।

One thought on ““मुँहासे छेद से छुटकारा पाने के लिए स्वाभाविक रूप से मुँहासे के लिए प्राकृतिक उपचार””

  1. सेब के सिरके में महान स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह त्वचा के लिए भी अच्छा होता है। सेल्युलाईट से प्रभावित क्षेत्रों पर सेब के सिरके का उपयोग करने से त्वचा में फंसे विषाक्त पदार्थों को निकाला जा सकता है। यह सूजन को कम करने में भी मदद करता है। त्वचा में इसके प्रयोग से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। सेब के सिरके में पानी की बराबर मात्रा मिलाकर त्वचा पर लगा सकते हैं। वैकल्पिक रूप से, यह शहद या पानी के साथ मौखिक रूप से भी लिया जा सकता है। यह वजन घटाने और सेल्युलाईट को कम करने में मदद करता है। 
    आप एक पूरक के रूप में मौखिक रूप से ई पोषण भी ले सकते हैं, हालांकि असाधारण परिणामों के लिए, आप अपनी त्वचा पर तुरंत तेल लगाने की कोशिश कर सकते हैं। हालांकि, अगर आपको पियर्स और त्वचा गुस्से में आ जाती है तो आपको एक बार फिर से जला देना पड़ता है।     कोर्टिसोन इंजेक्शन ………..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *