“मुँहासे यूट्यूब से छुटकारा अपने मुँहासे से छुटकारा”

दांतों में छेद होने को वैज्ञानिक भाषा में दन्त क्षय या कैविटी कहते है। मुंह में मौजूद एसिड के कारण दांतों के इनेमल खोखले होने लगते हैं जिसके कारण कैविटी का निर्माण होता है। मुंह में मौजूद बैक्‍टीरिया (लार, खाद्य कणों एवं अन्य पदार्थों के साथ) दांतों कि सतह पर जमा होने लगते हैं जिसे प्लॉक कहा जाता है। प्‍लॉक में मौजूद बैक्‍टीरिया आपके खाने में मौजूद शुगर एवं कार्बोहाइडेट को अम्ल में परिवर्तित कर देता है इसी अम्ल के कारण दांत खोखले होने लगते हैं, फलत: कैविटी का निर्माण होता है। लेकिन कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर दांतों में मजबूती बनाने के साथ प्राकृतिक रूप से कैविटी से लड़ा जा सकता है।

sir hamari skin teen layars se bna hota hai to chicken pox ke jo gadhe hote hai jo kis layars me hote hai jo bharte nhi ya ye teeno layars ko samapt kar deta hai jo gadhe par fir se cell nhi banta sir

इसके कई गुण हैं – यह न केवल रक्त शर्करा के स्तर को कम रखता है बल्कि ब्लैकहैड हटाने और मुँहासों के पनपने को रोकता है। त्वचा पर लगाने के लिए मेथी के पत्तों का उपयोग करना बेहतर है न की उसके बीज का। मेथी के पत्तों को पीसकर उसमें पानी मिलाएं। इस पेस्ट को रात में मुँहासों पर लगाकर अगली सुबह गरम पानी से धो लें।

नींबू में विटामिन सी होता है और फीटोनुट्रिएंट्स जिन्हें फ्लेवनॉइड्स कहते हैं जिनमें मजबूत एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक असर होता है। शरीर के भीतर हो रहीं उपापचयी (मेटाबॉलिक) प्रतिक्रियाओं के दौरान उत्पन्न हुए मुक्त कण, शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं (सेल्स) को नुकसान पहुंचा सकते हैं। नींबू में एंटीऑक्सीडेंट इन मुक्त कण की कार्रवाई को प्रतिबंधित करते हैं और नींबू का रस मुँहासों के लिए एक शानदार उपाय है।

For more articles on skincare, check out our skincare section. Follow us on Facebook and Twitter for all the latest updates! For daily free health tips, sign up for our newsletter. And to join discussions on health topics of your choice, visit our forum.

जैसा कि आप जानते हैं, त्वचा हालत का एक संकेतक हैशरीर। चेहरे पर मुँहासे की उपस्थिति के कारण दोनों बाह्य और आंतरिक कारकों का असर हो सकता है। जलवायु की स्थिति, कॉस्मेटिक तैयारी का उपयोग, पर्यावरण की स्थिति बाह्य कारक हैं जो त्वचा की स्थिति को प्रभावित करते हैं। उदाहरण के लिए, गर्मी में मुंह का प्रकटन, पराबैंगनी प्रकाश या वृद्धि हुई पसीना आना के परिणामस्वरूप हो सकता है। त्वचा का संदूषण चेहरे पर छोटे खांघों की उपस्थिति की ओर जाता है

How to Remove Pimples from Face in Hindi. Teji/tezi se muhase hatane ke liye gharelu nuskhe upchar/upay. Muhase hatane ke upay. Muhase ke liye gharelu upay. Pimple hatane ke tarike Hindi me. Pimple ke gharelu nuskhe. Muhase ka gharelu ilaj Hindi me. Muhase ka ilaj. मुँहासे हटाने के उपाय। मुहासे हटाने के लिए घरेलू उपचार। Pimples on face treatment at home in Hindi. Pimples problem solution in Hindi. Pimple and acne treatment in Hindi.

पिम्पल्स हटाने के तरीके इन हिंदी: गोरे चेहरे पर कोई दाग धब्बा या निशान पड़ जाए तो चेहरे की सुंदरता फीकी पड़ने लगती है। चेहरे पर कील मुंहासे (acne) निकलना आजकल आम हो गया है। ऑयली स्किन पर पिम्पल्स निकलने की समस्या अधिक होती है। पिम्पल को अगर हाथ से फोड़ दे तो पिम्पल्स के दाग चेहरे पर रह जाते है। अक्सर कील मुंहासों के ज़रिए शरीर की गर्मी बाहर निकलती है जो खाने पिने की गलत आदतों से हो जाती है। अगर त्वचा को पोषण देने वाली चीज़े खाए और तले हुए फुड से दूर रहे तो बार बार पिम्पल का निकलना रोक सकते है। हरी सब्जियां, फल और पानी त्वचा को स्वस्थ रखने का उत्तम उपाय है। आज इस लेख में पिम्पल्स कील मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय और देसी नुस्खे जानेंगे, natural home remedies tips to remove pimples in hindi.

जानिये मुहासों के बारे में सभी बातें। मुहासों से जुड़े भ्रम और इसके कारणों को समझिये। आसान और प्राकृतिक टिप्स के साथ कैसे पा सकते हैं मुहासों से छुटकारा। मुहासों और इसके दाग को हटाने के विभिन्न तरीकों और इससे जुड़े आहार के बारे में भी जानिये।

–> मुहाँसे पर कच्चे दूध में जायफल घिसकर लगाने से भी मुहाँसे से छुटकारा मिलता है | जायफल घिसे कच्चे दूध को बीस मिनट तक त्वचा पर लगाकर रखने के बाद गुनगुने पानी से धो दें | इस उपाय से मुँहासों के साथ रंग साफ़ होगा और झाईयां भी दूर होती है |

#2 – H-सोरायसिस, 88 अंक हमारे 100 के। H-सोरायसिस सूत्र एक निर्णायक सामयिक होम्योपैथिक उत्पाद है। सूत्र भी शुद्ध प्राकृतिक आवश्यक तेलों शामिल हैं और सुरक्षित और कोई हानिकारक रसायन या additives के साथ प्रभावी है। यह एक गहरी मर्मज्ञ क्रिया है, आपकी त्वचा पर कोमल है, और जलन, खुजली, जलन या scarring का कारण नहीं करना चाहिए।

Hindi NewsNDTV India LiveWorld News in HindiSports News in HindiCricket News in HindiBollywood News in HindiArchivesAdvertiseAbout UsFeedbackDisclaimerInvestorComplaint RedressalCareersContact UsSitemap© Copyright NDTV Convergence Limited 2018. All rights reserved.

* तुलसी के पत्ते से उपचार : तुलसी के पत्ते का प्रयोग भी मुंह के छालों में बहुत फायदेमंद है, इससे जल्द ही छालो में राहत मिलती है। तुलसी के तीन से चार पत्तों को पीसकर इसका रस निकालकर छालों पर लगाने से बहुत फायदा होता है।

दलिया खाना जहाँ हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है वही यह हमें शारारिक मजबूती भी देता है. आप दलिये का इस्तेमाल अपने पिम्पल दूर करने के लिए करे. आप दलीये के साथ शहद मिला ले और फिर दोनों को अच्छी तरह मिक्स कर ले. इस पेस्ट को फिर अपने कील – मुंहासो में लगाये और 20 मिनट बाद इसे पानी से धो ले.

लहसुन खाएँ: अदरक की तरह, लहसुन बहुत शक्तिशाली होता है और जीवाणुओं को मारने और आपके गले को बलगम-मुक्त करने में अच्छा काम करता है। कच्चे लहसुन की कई कलियों को रोज़ खाएँ और अपने खाने में भी इसे घिसें। अगर आप कर सकते हैं, तो लहसुन को सुबह उठते ही खाएँ क्योंकि यह ढंग से बलगम बहने से पहले ही उसे मारने में मदद करता है।

यह शरीर की इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया को बढ़ावा देता है और इस प्रकार रक्त शर्करा के स्तर को सामान्य बनाये रखने में शरीर की सहायता करता है।दालचीनी के मधुमेह से सम्बंधित लाभ उठाने के लिए दालचीनी को अपने दैनिक आहार में शामिल करें। इसका उपभोग बहुत ही सरल है। आपको बस दालचीनी पाउडर को सुबह अपने दलिया या ओर कोई अन्य आहार पर कर खाना है या फिर अपनी शाम वाली चाय या कॉफी में इसकी एक चुटकी मिठास मिलानी है।

1 मुहांसो से छुटाकारा पाने के लिए इंहे कभी भी ना फोड़े वरना इसका सीरम निकल कर पूरे चेहरे पर मुहांसे फैला देगा। मुहासों को तौलिए से ना रगड़े, ऐसे करने से आपके पूरे चेहरे पर मुहासे फैल सकते हैं। बेहतर होगा कि इसको अपने आप ही खत्‍म होने दें।

चेहरे के किसी भी दाग धब्बे और अन्य किसी भी तरह के निशान को आसानी से घरेलू नुस्खों की मदद से ठीक किया जा सकता है, पर ये उपचार तभी प्रभाव दिखाते हैं जब इन्हें जल्दी शुरू किया जाए। अतः अगर आपके चेहरे पर हाल में ही मुहांसे के निशान आए हैं तो इसके सूखने के साथ ही ऊपर बतायी गयी घरेलू विधियों में से किसी एक का इस्तेमाल शुरू कर दें। इससे यह बात सुनिश्चित होगी कि आपको 1 हफ्ते के अंदर ही मुहांसों के दाग से छुटकारा प्राप्त हो जाएगा।

अगर आपको हमारी दी गई जानकारी अच्छी लगे तो जरूर इसे दूसरों के साथ भी सांझा करें हम हमेशा इसी बात के लिए तत्पर रहते हैं कि अपने पाठकों के लिए अच्छी से अच्छी जानकारी हम हमेशा लेकर आए जो कि आप के काम आए तो नीचे दी गई वीडियो को ध्यान से देखें!

लार में टायलिन नामक एंजाइम पाया जाता है जो हमारी पाचन क्रिया को दुरुस्‍त रखती है।कहते हैं सुबह की लार पेट के लिए बेहद लाभदायक होती है। जब आप पानी पीते हैं तो रात भर मुंह में जमा लार पानी के साथ आपके पेट के अंदर जाती है। जो पेट के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। इसलिए सुबह की लार बेहद कीमती है। इसे यूं ही बर्बाद न करें।

कैस्टर ऑयल के साथ टी-ट्री ऑयल को मिलाकर मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण को रूई की सहायता से मस्से के पर थपथपाते हुए रखें। इसके बाद रूई को उस क्षेत्र पर चिपका दें और इसे 3-4 घंटे के लिए छोड़ दें। इस प्रक्रिया को दिन में दो बार अवश्य रूप से दोहराएं।

Home remedies for acne on face: Almost everyone, in the age of puberty and adolescence, encounters pimples. This age is more prone to pimples because this is the growth age, where body undergoes so many physical, biological and hormonal changes. Pimple is a kind of skin inflammation in which a red swollen structure or lesion full of puss forms on the skin and irritates the  area by causing itching and pain.

 मस्सों से छुटाकारा पाने के लिए उपयोग में लाए जानें वाले घरेलू उपचारों का उपयोग करते समय आप डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले लें और अपने  मस्सों की जांच भी करवा लें कि ये कहीं किसी प्रकार के कैंसर के लक्षण तो नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *