“मुँहासे वापस छुटकारा _मुंहासे से छुटकारा 1 रात में”

ग्रीन या ब्लैक टी (चाय) पीएं: चाय में पॉलीफेनोल्स (polyphenols) मौजूद होता है, जो सल्फर को दूर करने में और मुंह के बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है। यह मुंह को हाइड्रेट (जलयोजित) करने में भी सहायता करता है। अच्छे नतीजे के लिए दिन में कई बार बिना मिठास वाली गर्म चाय को पीयें।[१४]

यदि आप एलर्जिक हैं तो उपयुक्त उत्पादों का प्रयोग न करें। यदि आप सुनिश्चित नहीं है कि आपको एलर्जी है या नहीं तो क्रीम को अपने शरीर के किसी बड़े हिस्से पर लगाने से पहले, आप अपने हाथ पर सैंपल टेस्ट कर सकती हैं।

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

आप अपना चेहरा भाप कर सकते हैं गर्म वाष्प में त्वचा को नरम करने की क्षमता होती है, साथ में मृत त्वचा कोशिकाओं, बाएं-पीछे के सौंदर्य प्रसाधन, तेल और बैक्टीरिया जो प्लग छिद्रता है। इस बैक्टीरिया, गंदगी और त्वचा के छिद्रों में फंसे तेलों को हल्का ढंग से चेहरे को साफ़ करने से हटा दिया जा सकता है।

अपनी त्वचा को धूप से बचाएं: सूर्य कि UV किरणे, त्वचा कि पिग्मेंट निर्माण करने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करती हुई आपके मुँहासों के धब्बों को ओर ज्यादा खराब कर सकती है |[१]अगर आप धूप में जा रहें हैं, तो सनस्क्रीन या चौड़ी टोपी पहने और जहाँ तक हो छाँव में चलें |

अच्छी क्वालिटी के च्युंगम चबायें: जैसा कि पिछले चरण में उल्लेख किया है, कोई भी च्युंगम दुर्गंध हटाने में मदद करता है क्यूंकि चबाने के कार्य से लार का उत्पादन अधिक होता है। हालांकि, कुछ गम दूसरों की तुलना में बुरी सांस से लड़ने की बेहतर क्षमता रखते हैं:

बर्फ की ठंडक पिम्पल के समय होने वाली सूजन और लालिमा को कम करती है। इसके साथ उस जगह पर खून का दौरा बेहतर बनके मुहासे जल्दी ठीक करने में मदद करता है। एक कपडे में बर्फ के टुकड़े रख कर उसे चेहरे पर पिम्पल वाली जगह पर रखे और हटाए।

माउथवॉश का इस्तेमाल करें: दुर्गंधयुक्त सांस पर शीघ्र प्रभाव करने के लिए माउथवॉश का इस्तेमाल करना एक उत्तम तरीका है। यह आपकी दुर्गंधित सांस को अस्थायी रूप से छिपा देता है, लेकिन यह काफी है अन्य लोगों को बुरा लगने से बचने के लिए।[७]

मुंह के छालो की समस्या दिखने में जितनी छोटी हैं उतनी ही अधिक कष्टदायी हैं। अक्सर तीखा और रुक्षण भोजन करने से या कब्ज की समस्या के कारण ये समस्या हो जाती हैं। अगर आपको कब्ज रहती हैं तो पहले अपनी कब्ज का इलाज कीजिये। क्यूंकि छालो को सही कर लोगे तो कब्ज के कारण ये समस्या फिर से उत्पन्न हो जाएगी।

अध्ययन में, दालचीनी ने गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स (cytokines) को कम करने के लिए सकरात्मक प्रभाव दिखाए हैं। मरीजों को सुबह-शाम शहद के एक चम्मच के साथ दालचीनी पाउडर का आधा चम्मच मिलाकर खाने से एक हफ्ते के बाद गठिया के दर्द में काफी राहत मिली और वे एक महीने के भीतर दर्द के बिना चल-फिर भी पा रहे थे।

शराब पीने के बाद मुंह से आने वाले बदबू को कम करने के लिए आपको पीने से पहले कुछ खाना चाहिए। चबाने वाला भोजन सलाइवा के उत्पादन को उत्तेजित करता है और आपके पेट में भोजन आपको पीने वाले कुछ एल्कोहल को अवशोषित करने में मदद करता है।

अमेरिकन केमिकल सोसायटी के जर्नल ऑफ नेचुरल प्रोडक्ट में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, मुलेठी की जड़ दांतों को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करती है। मुलेठी में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण बैक्‍टीरिया के कारण होने वाली कैविटी के विकास को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा यह जडी-बूटी प्‍लॉक को कम करने में भी मदद करती है। नियमित रूप से दांतों में ब्रश करने के लिए मुलेठी की जड़ के पाउडर का प्रयोग करें। इसके अलावा आप टूशब्रश करने के लिए मुलेठी की स्‍टीक का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

शहद और गिलेसरीन के प्रयोग से भी आप छालों की समस्या से छुटकारा पा सकते है.  मुंह में छाले होने पर शहद और गिलेसरीन का इस्तेमाल काफी अच्छा रहता है. शहद और गिलेसरीन को आपस में मिलाये और इस मिश्रण को कॉटन की मदद से लों में लगाए. इससे मुंह के छाले धीरे-धीरे कम होने लगेंगे.

वैकल्पिक रूप से, एक चम्मच मेथी के बीज को पीसें और उसका पाउडर बनाएं और एक पेस्ट बनाने के लिए थोड़ा सा गर्म पानी मिलाएं। प्रभावित क्षेत्र पर इस पेस्ट को लगाएं। 20 मिनट या रात भर लगाकर छोड़ दें और फिर धो लें, यह सप्ताह में दो या तीन बार कर सकते हैं।

फेसबुक के जरिए मारिया को जब यह पता लगा तो उसने सुरेश पर शादी करने का दबाव डाला, सुरेश ने उससे भी शादी कर ली। पुलिस को जब मारिया की लाश मिली तो वह सुरेश की तलाश में उसके गांव पहुंचे। सुरेश को इसकी जानकारी हो गई और वह नेपाल भाग गया। पुलिस ने उसे नेपाल से गिरफ्तार किया।

मुँह में दुर्गन्ध पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें:आप शायद पहले से ही जानते हैं कि प्याज, लहसुन, पनीर, और कॉफी (या उन्हें खाने के बाद कम से कम अच्छे से ब्रश करें) जैसे बदबूदार खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।[५]

अगर आप भी दाग – धब्बो या कील मुहांसों से परेशान है तो यह Article आपको इनसे छुटकारा पाने में बहुत Help कर सकता है. आप इस आर्टिकल में बताये गये Tips को अपनाकर अपने चेहरे से कील – मुंहासो को बड़ी आसानी खत्म कर सकते है.

धूप में संतरे के छिलके डालकर उनको पूरी तरह से सुखाएँ। सूखे छिलकों को पाउडर के रूप में पीसें और एक पेस्ट बनाने के लिए पानी मिलाएँ। प्रभावित क्षेत्र पर लगाएँ और 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। फिर गर्म पानी से अपना चेहरा धो लें।

नींबू निचोड़ने के बाद जो फाँकें (छिलका) बचता है, उसे इकट्ठी करके सूखा लें। सूखने पर पीस लें। इसकी दो चम्मच में एक चम्मच बेसन मिलाकर पानी डालकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाये । आधा घण्टे बाद चेहरा धोयें। मुँहासे, झाँइयाँ, धब्बे ठीक हो जायेंगे।

मुल्तानी मिट्टी में कई प्राकृतिक खनिज होते हैं और इसमें त्वचा का रंग साफ करने के भी गुण होते हैं। मुल्तानी मिट्टी और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

निखिल जी हमारा उत्साह बढ़ाने के लिए आपका बहुत धन्यवाद. निखिल जी आज जब मैं युवाओ को देखता हूँ तो तब उन्हें देखकर लगता ही की वे कितना खुबसूरत बनने की चाह रखते है. इसी चक्कर में वे कई गलतियाँ कर देते है. उन्ही में एक है कील – मुंहासे. उनकी त्वचा की समस्या को मैंने आज इस पोस्ट में तब विस्तार से लिखा. धन्यवाद

कई बार खूब साफ सुथरा रहने के बाद भी मुंह से बदबू आने की परेशानी हो जाती है। मुंह से आने वाली बदबू गलत छवि बनाती है। सार्वजनिक जगहों पर शर्मिंदा होना पड़ता है। सांसों की बदबू से बचने के लिए महंगे माउथवॉश जैसे प्रोडक्ट्स की नहीं, बल्कि शरीर में पानी की कमी न हो इसका ख्याल रखना होगा। मुंह से आने वाली बदबू से छुटकारा पाने चाहते हैं तो ये सब खाएं।

स्‍वाद और सुगंध से भरपूर दालचीनी को मसालों में अहम स्‍थान दिया गया है। दालचीनी का दोनों ही मसाले और दवा के रूप में उपयोग का लंबा इतिहास है। वास्तव में प्राचीन काल में, यह मसाला इतना बहुमूल्य खजाना माना जाता था कि इसकी कीमत सोने से भी ज्यादा थी।यह श्रीलंका एवं दक्षिण भारत में बहुतायत में मिलता है। यह एक वृक्ष की छाल होती है। यह गरम मसाला तो है ही यह पाचन, वातहर, स्तंभण, गर्भाशय उत्तेजक, गर्भाशय संकोचक एवं शरीर उत्तेजक है। चाय, काफी में दालचीनी डालकर पीने से मीठी हो जाती है तथा सर्दी भी ठीक हो जाता है।

शहद इस्तेमाल करें: शहद से ना सिर्फ मुँहासे साफ़ होंगे बल्कि जो लाल दाग पीछे रह जाते हैं, वे भी साफ़ हो जाएंगे | शहद में मौजूदा एंटी-बैक्टीरियल गुण से त्वचा कोमल और सूजन मुक्त बनेगी | किसी भी क्यू-टिप से इसे सीधे निशानों पर लगाया सकता है |

कोई फर्क नहीं पड़ता कि कारण क्या है, लगभग हर किसी के लिए चिंताओं का कारण हमेशा चिंतन होता है हालांकि, यदि आप मुँहासे से ग्रस्त हैं तो त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श करना एक अच्छा विचार है, लेकिन आप इन उपायों से छुटकारा पाने के लिए इन घरेलू उपचारों की कोशिश कर सकते हैं:

One thought on ““मुँहासे वापस छुटकारा _मुंहासे से छुटकारा 1 रात में””

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *