“मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए -कैसे हटाने और pimples को रोकने के लिए”

यदि आप एलर्जिक हैं तो उपयुक्त उत्पादों का प्रयोग न करें। यदि आप सुनिश्चित नहीं है कि आपको एलर्जी है या नहीं तो क्रीम को अपने शरीर के किसी बड़े हिस्से पर लगाने से पहले, आप अपने हाथ पर सैंपल टेस्ट कर सकती हैं।

मैं बड़े उम्र के लडको से इसके बारे में पूछता रहता था. वे बस यही कहते की यह सब उम्र के कारण हो जाते है. पहले 6 महीने तक मेरे चेहरे से पिम्पल गये ही नहीं लेकिन फिर मैंने इन कील – मुंहासो को दूर करने के लिए कुछ नए तरीके अपनाये जो मैं आपके साथ इस आर्टिकल में शेयर कर रहा हूँ. ये टिप्स आपको निश्चित तौर पर फायदा पहुंचाएंगे.

कॉफी और शराब का सेवन न करें। यह दोनो ही पेय आपके मुंह में बैक्टीरीया को बढ़ाते है, जो सांस की दुर्गंध का मुख्य कारण होते हैं। यह आपके मुंह को भी सूखाते है, जिस वजह से बैक्टीरिया दीर्घ काल तक मुंह में ही रहते हैं।

अम्लिय पेय से बचें। यह आपकी सांस और दांत के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, क्योंकि अम्लिय पेय आपके दांतो के इनेमल को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। जितना हो सके अम्लिय पेय पीने से बचे और अगर पीना ही है तो ध्यान रखें कि आप स्ट्रा के जरिए या जल्दी से पीए, बिना मुंह में रखें। आप पानी का इस्तेमाल करके कुल्ला करके अपने खाने के अवशेष को दूर करें।

अध्ययन में, दालचीनी ने गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स (cytokines) को कम करने के लिए सकरात्मक प्रभाव दिखाए हैं। मरीजों को सुबह-शाम शहद के एक चम्मच के साथ दालचीनी पाउडर का आधा चम्मच मिलाकर खाने से एक हफ्ते के बाद गठिया के दर्द में काफी राहत मिली और वे एक महीने के भीतर दर्द के बिना चल-फिर भी पा रहे थे।

लौंग कैविटी के साथ-साथ किसी भी प्रकार की दांतों से जुडी समस्‍याओं के लिए रामबाण होता है। एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एनाल्‍जेसिक और एंटी-बैक्‍ट‍ीरियल गुणों के कारण लौंग दर्द को कम करने और कैविटी को फैलने से रोकता है। समस्‍या होने पर 1/4 चम्‍मच तिल के तेल में 2 से 3 बूंदें लौंग के तेल की मिलाकर लें। इस मिश्रण को रात को सोने से पहले कॉटन बॉल में लेकर प्रभावित दांत में लगाये।   

Baking soda helps in reducing the inflammation in the pimple. You can use it by making a soft paste of baking soda with water. Spread this paste on the pimple and leave it for 5 minutes unless it dries. It has the property of drying out the pimple and helps in maintaining the pH level of the skin. But do not let it dry for longer time as it dries the skin. After drying clean the skin properly. It is one of the fastest methods to remove pimple.

रूई को नींबू के रस में अच्छे से डुबोएं। लगभग 10 मिनट के लिए अपनी त्वचा के प्रभावित क्षेत्र पर रूई को लगा कर रखें और फिर रात भर नींबू के रस को लगा छोड़ दें। सुबह में, गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें।

जब भी आप अपने डेस्क तथा कंप्यूटर पर लम्बे समय तक बैठते हैं तो बीच-बीच में खड़े हों और एक ब्रिस्क वॉक (brisk walk) लें। यहाँ तक कि अपनी डेस्क पर ही कूल्हों या पैरों की कसरत करें जिससे खून के प्रवाह में मदद मिलेगी।

इपोह: सुल्तान अजलान शाह कप के दूसरे मुकाबले में भारत जीत की ओर अग्रसर थी। टीम ने गत चैंपियन इंग्लैंड के खिलाफ 52वें मिनट तक एक गोल की बढ़त थी लेकिन उसने बार बार मौके गंवाते हुए 27वें सुल्तान अजलान [Read more…]

एक प्राकृतिक तेल का प्रयोग करें: टी ट्री (Tea tree ) तथा नारियल का तेल बहुत उत्तम एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल तेल है जो कि परेशानी वाली जगह पर लगाए जा सकते हैं ताकि उन मुँहासों के उपचार में मदद मिल सके।

lifestyle news bollywood news in hindi fashion fashion news love Cricket fashion_traind entertainment latest news beauty tips bollywood news bollywood lifestyle Entertainment_news entertainment news latest latest fashion trends lifestyle_news health news bollywood_actress

यह सबसे आसान तरीका है जिससे हमारे शरीर को थकान से छुटकारा मिलता है। टूटते बालों के पीछे का सबसे प्रमुख कारण थकान है। इस आसन को करने से मासिक धर्म में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है। इससे पाचन तंत्र भी सही रहता है।

डॉक्टरी पर्चे के बगैर, त्वचा के धब्बों को कम करने वाली क्रीम का उपयोग करें: इन क्रीम में कोजिक एसिड, अर्बुटिन, मलबरी (mulberry) का रस, लीकोरिस (licorice) का रस और विटामिन सी पाए जाते हैं | इससे त्वचा को बिना जलन या नुकसान पहुंचाए, दाग, धब्बे फीके पड़ जाते है |[४]

ऑइली त्वचा से पूरी तरह से छुटकारा पाना मुश्किल हो सकता है, लेकिन आप इस सामान्य समस्या को हल करने के लिए कई चीजें कर सकते हैं। महंगे और केमिकल युक्त उत्पादों का उपयोग करने की कोई आवश्यकता नहीं है। बहुत से लोगों ने घरेलू उपायों को इस समस्या के लिए मेहतर और प्रभावी पाया है। 

नींबू का रस, सिट्रिक एसिड (Citric acid) का अच्छा स्रोत है जो त्वचा में कसाव लाने का काम करता है। इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं जो त्वचा के गहरे रंग को हल्का करते हैं और त्वचा का पीएच स्तर भी संतुलित रखते हैं।

इसके अलावा महत्वपूर्ण त्वचा का प्रकार है – तेल में तेल के साथ लोगों मेंमुंह से त्वचा की समस्या अधिक बार होती है यही कारण है कि “चेहरे पर मुँहासे का इलाज कैसे करें” सवाल के साथ- एक विशेषज्ञ से संपर्क करना बेहतर होगा जो समस्या के कारण सभी कारकों को ध्यान में रखे।

कील मुहांसों को दूर करने के लिए चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रहें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रहें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करें फल और सब्जी ज्यादा अधिक मात्रा में खाएँ साबुन से चेहरा न धोएँ सिर्फ बेसन, चावल का आटा और हल्दी का प्रयोग करेंतले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ पानी अधिक मात्रा में पिएं पूरा नींद लें|

    मुंहासों के इलाज के लिए एलोवेरा बहुत ही कारगर प्राकृतिक उपाय हैं। इसके अलावा सौंदर्य से संबंधित बहुत से समस्याओं का सामाधान एलोवेरा से किया जा सकता है। यह एक पूर्णरूप प्राकृतिक क्रीम होने के साथ यह एक प्राकृतिक कंडीशनर भी है। जिसका गूदा चेहरे पर नियमित रूप से लगाने पर चेहरा खूबसुरत, मुलायम एवं चमकदार बन जाता है। एलोवेरा चेहरे के दाने (Pimple) एवं मुँहासे (Acne) को भी हटा देता है। यदि सुबह – शाम चेहरे पर आप अपने मुंहासों पर एलोवेरा का इस्तेमाल करते हैं तो जल्दी ही आपको इसका परिणाम नजर आएगा।

यह आपको जमे हुए फैट से लड़ने, सेल्युलाईट और खिंचाव के निशान हटाकर त्वचा के टिश्यू फर्म बनाने में सहायता कर सकता है। आपको सिर्फ विक्स वेपोरब, कपूर, बेकिंग सोडा और थोड़े से अल्कोहल के साथ एक क्रीम तैयार करने की ज़रूरत है। समस्याग्रस्त क्षेत्रों में परिणामस्वरूप क्रीम लगाएं और काले प्लास्टिक या एक क्लैंपिंग स्ट्रिप के साथ कवर करें। यह आप घर पर, ऑफिस में या व्यायाम करने से पहले कर सकते हैं।

पूरा नींद लें चेहरे की त्वचा को बार बार धोते रहें और बिलकुल स्वच्छ रखें चेहरे के त्वचा के छिद्र को खुल्ला और साफ़ रखें उस के लिए आप हर रोज रात को और सवेरे उठ के भाप से त्वचा साफ़ करेंपानी अधिक मात्र में पिएं कास्मेटिक का उपयोग ही न करें फल और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएँ तले हुए, मसालेदार आहार को कम मात्रा में खाएँ|

मुलैठी त्वचा से मेलेनिन करने की अपनी खूबी की वजह से जानी जाती है। मुलैठी की जडें किसी भी काले धब्बे को दूर करने में काफी कारगर साबित होती हैं। मुलैठी की जड़ों का एक पेस्ट तैयार करें और इसमें शहद की कुछ बूँदें मिश्रित करें। इस पेस्ट को चेहरे के काले धब्बों पर लगाएं और 15 मिनट रखने के बाद पानी से धो लें। रोजाना इस विधि का प्रयोग करने पर आपको 1 से 2 हफ़्तों में अच्छे परिणाम मिलने शुरू हो जाएंगे। चेहरे पर मुलैठी का प्रयोग करने से पहले एक पैच टेस्ट (patch test) करवा लें।

ऑयल पुलिंग बहुत ही पुराना नुस्‍खा है जो कैविटी को कम करने के साथ-साथ मसूढ़ों से खून बहना और सांस की बदबू को भी दूर करता है। साथ ही यह दंत समस्याओं के विभिन्न प्रकारों के लिए जिम्मेदार हानिकारक बैक्‍टीरिया को मुंह से साफ करने में मदद करता है। इसके लिए तिल के तेल की एक चम्‍मच को मुंह में रखें। फिर इससे 20 मिनट तक मुंह में रखकर थूक दें। लेकिन इसे निगलने से बचें। फिर अपने मुंह को गुनगुने पानी से धो लें। रोगाणुरोधी लाभ पाने के लिए नमक के पानी का प्रयोग करें। फिर हमेशा की तरह अपने दांतों को ब्रश करें। इस उपाय को रोजाना सुबह खाली पेट करें। यह उपाय सूरजमुखी या नारियल के तेल के साथ भी किया जा सकता है।

Pimples ko medicaly muhase kaha jata hai. Aajkal pimples hona aam samsya ho gayi hai. Pimples purusho or mahilao dono ko prbhawit karta hai or ye kisi bhi umar me ho sakta hai, or pimples koi chetawani dekkar nahi aata kabhi bhi ho sakta hai. Tamam kosiso ke bawjud kai bar chehre par pimples yani muhase ho jate hai. Khaskar teenage me yah samsya jayada hoti hai. Muhase chehre par kai karno se ho sakte hai, jaise chehre par jami gandagi ko saaf na karna ya chehre ka atyadhik tailiy hona aadi, muhase hone par hame coffee ya msaledar bhojan ka upyog kam karna chahiye or falo ka sewan adhik se adhik karna chahiye, pimples ko dur karne ka sabse aasan tarika aap ghar par rahkar aajma sakte hai.

मुंह की बदबू हटाने में खट्टे फल सबसे अधिक कारगर होते हैं। बता दें कि संतरा, नींबू, आंवला, अंगूर जैसे फलों में विटामिन सी की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। इनका सेवन करने से मुंह की बदबू से जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है।

एक्‍ने खूबसूरत त्‍वचा चहरे को भी बदरंग बना सकते हैं। इस लिए इसके संभावित कारणों को जानना चाहिए ताकि इससे बचाव किया जा सके। थोड़ी सावधानी बरतकर आप मुहांसो से छुटकारा और खूबसूरत व बेदाग त्‍वचा पा सकते हैं।

यदि आप अक्सर बीमार पड़ जाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपका इम्युनिटी कमजोर है। आप इस हर्बल काढ़े की मदद से इसे मजबूत कर सकते हैं। इस काढ़े में कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का मिश्रण है। ये काढ़ा वात और कफ को शांत करता है, पाचन को उत्तेजित करता है, प्रतिरक्षा में वृद्धि करता है।

आप हल्दी पाउडर का भी उपयोग कर सकते हैं | यह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक है और इसके इस्तेमाल से आपके मुँहासे और धब्बे जल्दी ठीक हो जाते हैं | आप हल्दी को पानी या निम्बू के रस में भिगो सकते हैं | इसे 15 मिनट तक लगाकर ठंडे पानी से चेहरा धोलें | आप आलू के रस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं |

हर्बल चाय पिएँ: गरम चाय खिजे हुए गले को आराम पहुँचाने और तनाव कम करने के लिए एक सामान्य सहायता है। अपने पसंदीदा हर्बल चाय के एक कप को शहद के साथ बनाएँ और धीरे धीरे पिएँ। गर्माहट आपके गले में बलगम को तोड़ने में मदद करेगी और पानी व शहद की नमी खिजी हुई अन्नप्रणाली (esophagus) को आराम देगी। अदरक, कैमोमाइल (chamomile) और नींबू की चाय बलगम से छुटकारा पाने के लिए विशेष रूप से उपयोगी हैं।

यदि आप लोकलाइज़्ड फैट को कम करना चाहते हैं और वांछित फिगर चाहते हैं, तो विक्स वेपोरब का उपयोग करें क्योंकि यह आपकी सहायता कर सकता है। हालांकि, यह चमत्कार नहीं कर सकता, लेकिन समस्याग्रस्त इलाके में फैट के पिघलने को उत्तेजित कर सकता है, जैसे पैर या पेट।

आज के समय में बहुत से लड़के – लड़कियां एक बात से बहुत परेशान होते है और वह है चेहरे पर कील – मुंहासो का होना. किसी के भी चेहरे पर दाग – धब्बे अच्छे नहीं लगते और इससे एक खुबसूरत चेहरा भी बदसूरत नजर आने लग जाता है.

वास्तव में, दालचीनी का अधिक मात्रा में सेवन से स्वस्थ को खतरा हो सकता है और आपके लिवर को नुकसान पहुंच सकता है। दालचीनी या उसका तेल का अधिक उपयोग समय से पूर्व दर्द को उत्पन्न कर सकता है या फिर गर्भाशय के संकुचन को भी प्रेरित कर सकता है।

डायबिटिक कीटोएसिडोसिस (diabetic ketoacidosis): यदि आपको मधुमेह हैं जिसके कारण आपका शरीर ग्लूकोस के जगह वसा को जलाये, और कीटोन सांस पैदा करें जैसा की पिछले चरण में बताया । यह एक गंभीर स्थिति हैं जिसका जल्द से जल्द इलाज होना चाहिये ।

निखिल जी हमारा उत्साह बढ़ाने के लिए आपका बहुत धन्यवाद. निखिल जी आज जब मैं युवाओ को देखता हूँ तो तब उन्हें देखकर लगता ही की वे कितना खुबसूरत बनने की चाह रखते है. इसी चक्कर में वे कई गलतियाँ कर देते है. उन्ही में एक है कील – मुंहासे. उनकी त्वचा की समस्या को मैंने आज इस पोस्ट में तब विस्तार से लिखा. धन्यवाद

One thought on ““मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए -कैसे हटाने और pimples को रोकने के लिए””

  1. यदि आप बड़े पैमाने पर होनिंग ज़िट के साथ प्रोम के दिन को जगाना चाहते हैं, तो आपका दस्तावेज़ सहायता में सक्षम हो सकता है। यदि आप इसे स्विंग कर सकते हैं, तो आपकी महान शर्त त्वचाविज्ञानशास्री पर जाना है कनेक्टिकट के सोको स्कर्मटालॉजिस्ट में एक त्वचा विशेषज्ञ डॉ। रॉबिन इवांस कहते हैं, “एक लगभग तत्काल पुनर्स्थापना है, और यह आपके त्वचा विशेषज्ञ की सहायता से समाप्त होकर कॉर्टिसोन की पतली बिजली के साथ एक इंजेक्शन है”। “यह कम और चिकनी है, न्यूनतम दर्द के साथ, और यह सामान्य रूप से दोपहर अंतराल पर जा रहा है।” यह एक साफ या उचित कीमत वाला विकल्प नहीं है, हालांकि, हालांकि यह एक आपातकालीन स्थिति है – जैसे, आपको सीनियर तस्वीरों की तुलना में पहले दिन अपनी नाक की नोक पर एक बड़ा श्वेत पत्र दिया गया है – यह संभवतः इसके लायक है।     चाय के पेड़ की तेल……
    भारतीय बकाइन को नीम के रूप में भी जाना जाता है, इसे विभिन्न त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटीसेप्टिक और रोगाणुरोधी गुण हैं जो कि मुँहासो को बनाने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं। इसके अलावा, नीम लालिमा और त्वचा की सूजन में आराम देता है। (और पढ़ें – नीम के फायदे इन हिंदी)
    How to get rid of acne and pimples, how to remove acne, how to stop acne by simple beauty secrets. Remove acne scars, remove acne over night, remove acne at home, acne treatment, how to get rid of acne scars, how to get rid of acne naturally,
    समुद्री नमक के इलाज से वास्तव में आपको मुँहासे से मुक्ति मिल सकती है। जिन जिन लोगों ने पीठ के मुँहासे के इलाज के लिए इस उपाय का इस्तेमाल किया है, उन्होनें इसके तुरंत और प्रभावी समाधान की हमेशा प्रशंसा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *