“मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छा सामान -मुँहासे के सिर से छुटकारा पाने”

मुँहासे त्वचा कि हालत को दर्दभरा और बदरंग बना सकते हैं। इनके द्वारा छोड़े गए दाग, हमेशा इनकी अप्रिय याद दिलाते हैं। कई मुँहासों के दाग, अपने आप ही कुछ महीनों में साफ़ हो जाते है, लेकिन इन्हे जल्दी साफ़ करने के लिए आप कुछ उपाय करके, मुँहासों को आने से रोक सकते हैं | वैसे तो मुँहासों के दाग एक रात में नहीं जाएँगे, लेकिन कुछ नुस्खे, उपचारों, उत्पादनों को प्रयोग करने से कम समय में काफी फर्क पड़ेगा | आपकी त्वचा अनुसार सही नुस्खे को ढूंढें |

शराब मुंह को सूखा कर देता है क्योंकि उसमें ड्यूरेटिक इफेक्ट होता है। मुंह के सुखापन के कारण बैक्टीरिया जमा हो जाता है जिसकी वजह से मुंह से बदबू आती है। पानी शरीर को हाइड्रेटेड रखता है और शरीर से टॉक्सिंस को बाहर कर देता है। [ये भी पढ़ें: पैरों के कॉर्न को ठीक करने के घरेलू उपाय]

कील मुंहासे हाथ से फोड़ने पर इसके दाग धब्बे त्वचा पर रह जाते है। पिम्पल्स के दाग और निशान हटाने के लिए पुदीने को पीस कर एक पेस्ट बना ले और चेहरे पर लगाए। एक महीने तक इस उपाय को करने से चेहरा सुंदर और साफ़ होता है।

पुलिस ने बताया कि जब मामले की जानकारी हुई तो केस दर्ज कर सुरेश को पकड़ने की तैयारी की गई। उसमान ने बताया कि उसकी और मारिया की 2005 में शादी हुई थी और वह 2012 में आपसी सहमति से अलग हो गए थे। सुरेश की मारिया से मुलाकात फेसबुक के जरिए हुई थी और दोनों में जल्द ही प्यार हो गया और दोनों साथ में रहने लगे। इस बीच सुरेश अपने घर गया जहां उसके परिवार ने उसकी शादी लता से करा दी।

भोजन में दालचीनी पाउडर का 1 चम्‍मच रक्‍त में शर्करा का स्‍तर कम करता है। इसके प्रयोग से टाइप टू डायबीटिज में रक्‍त शर्करा 18 से 24 फीसदी तक कम हो सकती है। टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों के लिए दालचीनी एक वरदान से कम नहीं है। दालचीनी टाइप-2 मधुमेह पर सकरात्मक प्रभाव डालता है और मधुमेह रोगी को एक स्वस्थ और साधारण जीवन व्यतीत करने में मदद करता है।

लहसुन खाएँ: अदरक की तरह, लहसुन बहुत शक्तिशाली होता है और जीवाणुओं को मारने और आपके गले को बलगम-मुक्त करने में अच्छा काम करता है। कच्चे लहसुन की कई कलियों को रोज़ खाएँ और अपने खाने में भी इसे घिसें। अगर आप कर सकते हैं, तो लहसुन को सुबह उठते ही खाएँ क्योंकि यह ढंग से बलगम बहने से पहले ही उसे मारने में मदद करता है।

विभिन्न छालरोग उपचार के विकल्प और कभी-कभी उनमें से प्रत्येक के लिए अलग-अलग विशेषताओं के साथ विभिन्न प्रकार के psoriasis के हैं। एक नियम के रूप में, एक व्यक्ति सोरायसिस के कुछ प्रकार है। जब एक तरह स्पष्ट है, अलग रूप पैदा कर सकते हैं:

मुंह की दुर्गंध (Mouth Smell) की समस्या अक्सर दूसरों के सामने शर्मिंदगी का कारण बन सकती है। जिसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। जैसे ब्रेकफास्ट न करना, मुंह की सफाई न करना, खराब डाइजेशन (Digestion Problem ) और सलाइवा की कमी जैसी कई समस्याएं होती हैं। इसे खान-पान में सुधार करके काफी हद तक कम किया जा सकता है|

मुंह की दुर्गंध (Mouth Bad Smell) की समस्या अक्सर दूसरों के सामने शर्मिंदगी का कारण बन सकती है। जिसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। जैसे ब्रेकफास्ट न करना, मुंह की सफाई न करना, खराब डाइजेशन और सलाइवा की कमी जैसी कई समस्याएं होती हैं। इसे खान-पान में सुधार करके काफी हद तक कम किया जा सकता है। आइए जानेंगे इनके बारे में— सबसे पहले तो दांतों और मुंह से बदबू आने के कारण जानते हैं।

सेब- सेब को काटकर खाने से मुंह में लार का स्राव तेजी से होता है। इससेमुंह की सफाई हो जाती है, सारे जिवाणु निकल जाते हैं। फिर सांसों में बदबू पैदा नहीं होती। पानी-शरीर में पानी की कमी न होने दें। पानी की कमी हो तो लिक्विड ज्यादा मात्रा में लें। मुंह में थोड़ा पानी लेकर हल्के-हल्के कुल्ला करें। खड़े गरम मसालों में शुमार दालचीनी की चाय पीने से मुंह से आने वाली बदबू से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता है।

Posted in Face, Skin    Tagged acne home remedies, acne problems, dermatologist in ghaziabad, dermatologist in greater noida, home remedies, pimple problems, skin doctor in ghaziabad, skin doctor in greater noida, skin problems, skin tips skin tips    Leave a comment   

तमाम कोशिशों के बावजूद कई बार चेहरे पर पिंपल्स यानी मुंहासे हो जाते हैं। खासकर टीनएज में यह समस्या ज्यादा होती है. मुँहासे चेहरे पर कई कारणों से हो सकते हैं , जैसे चेहरे पर जमी गन्दगी को ठीक से साफ न करना या चेहरे का अत्यधिक तैलीय होना आदि , मुँहासे होने पर हमें काफी या मसालेदार भोजन का उपयोग कम करना चाहिए और फलों का सेवन अधिक से अधिक करना पिम्पल्स को दूर करने का सबसे आसान तरीका आप घर पर रह कर आजमा सकते हैं.

बर्फ के प्रयोग से भी आप जल्द ही मुँह के छालों से छुटकारा पा सकते है. मुंह में छाले होने पर बर्फ के एक टुकड़े को लेकर छाले वाले जगह पर सिकाई करें. इससे छालो के दर्द से काफी राहत मिलती है और इसके कुछ समय के प्रयोग से छाले जल्दी सही हो जाती है.

Disclaimer: TheHealthSite.com does not guarantee any specific results as a result of the procedures mentioned here and the results may vary from person to person. The topics in these pages including text, graphics, videos and other material contained on this website are for informational purposes only and not to be substituted for professional medical advice.

योगासन के अलावा आपको कुछ पैसे आयुर्वेदिक उत्पादों पर भी लगाने चाहिए, जिनकी मदद से आपके बालों में मौजदू गंदगी और जमा हुआ मैल बाहर निकल आएगा। इसके अलावा यह आपके बालों को झड़ने से भी बचाता है। क्योंकि हम सब इस बात को जानते हैं कि रोकथाम इलाज से बेहतर है।

Ice cubes are easily available in each home. Gently rubbing an ice cube on the pimple reduces the temperature of the affected area and kills the bacteria. You can repeat this process often at home for quick heal.

वैकल्पिक रूप से, एक चम्मच मेथी के बीज को पीसें और उसका पाउडर बनाएं और एक पेस्ट बनाने के लिए थोड़ा सा गर्म पानी मिलाएं। प्रभावित क्षेत्र पर इस पेस्ट को लगाएं। 20 मिनट या रात भर लगाकर छोड़ दें और फिर धो लें, यह सप्ताह में दो या तीन बार कर सकते हैं।

मुँहासे को बंद करने का एक और छोटा तरीका नींबू का रस का उपयोग कर रहा है, यह आहार में समृद्ध है। नींबू का रस पंपों को तेजी से सुखा देता है चमकदार नींबू के रस का उपयोग करने के लिए सकारात्मक रहें और अब बोतलबंद रस नहीं है, जो संरक्षक हैं। इस उपचार को लागू करने के लिए कई दृष्टिकोण हैं     टूथपेस्ट को छोड़ दें ……….

hi nihal.. pimple ko khtm karne ka best tarika hai ki pimple hone ka kaara. aap dekho ki aapki kis bad habits ke kaaran pimples ho rahe hai. kai baar galat daily routine and other bad habis ke kaaran pimple aa jaate hai. if you quit root of couse you can end pimples on your face. aap hamari yah post padhe and then usme batayi gai couse and solution achchi tarah se read kare aur apne pimples ke saath use samjhe.. aapko problems and solution mil jayega. all the best.. visit this post : http://www.nayichetana.com/2017/02/pimple-dark-spot-kaise-door-kare-5-best-tips-in-hindi.html

अधिकतर लोगों को खुद भी नहीं मालूम होता की उनके मुँह से दुर्गन्ध आती है, ये जानने के लिए की आप की मुंह से सांस की बदबू आती है की नहीं, आप मुंह के आगे हाथ रखे और ज़ोर से साँस छोड़े और अपने हाथ को सूँघे, अब अगर हाथ से बदबू आये तो आपको मुंह से बदबू आने की समस्या है। मुंह और जीभ के छाले, मसूड़ो में इन्फेक्शन और बार बार मुंह में लार बनना मुंह की बदबू के कुछ लक्षण है।

पुनरुज्जीवित करने वाले गुण होते है। यह फंगल संक्रमण वाले कीटाणुओं को मारता है, घावों और निशानों को भरता है, त्वचा को चिकना कर देता है और नरम बनाता है, और प्रभावित क्षेत्र में नई कोशिकाओं के विकास को प्रोत्साहित करता है।

यदि आपको मिल गया है तो एक दाना दिया गया है जो वास्तव में दूर नहीं जा सकता है, विटामिन ई की गोली को ख़त्म कर दें (या कुछ आहार ई तेल खरीद लें) और अपने दोष को रगड़ें। आप इसे 10 मिनट या एक ही दिन में छोड़ सकते हैं, हालांकि खाद्य आहार उसी समय मॉइस्चराइज रखता है जैसे कि किसी भी लाली और दूषित घटते समय (जो वास्तव में आप की तलाश में हैं)। यह पिलकों को खोलने में मदद कर सकता है और आपको ब्रेकआउट्स बचा सकता है अगर आप इसे नियमित आधार पर उपयोग करते हैं।

धूम्रपान करने से और तम्बाकू चबाने से बचें: वैसे तो कई सारी वजह है धूम्रपान और तम्बाकू को छोड़ने के लिए (जैसे कैंसर), परंतु सांस की दुर्गंध होना भी एक कारण है। धूम्रपान करने से व्यक्ति की सांस की गंध बासी तम्बाकू जैसी लगती है, जिसे कई बार “ऐश ट्रे की गंध” आना कहा जाता है। इस गंध को रोकने का सबसे आसान तरीका, धूम्रपान छोड़ना ही है।[१०]

All the tips mentioned here are strictly informational. This site does not provide any medical or health or beauty advice. Consult with your doctor or other health care provider before using any of these tips or treatments. Copyright 2014 Gharelu Nuskhe

मुंह से आने वाली शराब की बदबू से बहुत से लोग परेशान रहते हैं और इसे दूर करने के उपाय के बारे में जानने की कोशिश करते हैं। मुंह में कुछ वोलेटाइल मॉलिक्युल्स होते हैं जिसकी वजह से मुंह से बदबू आती है। शराब भी एक वोलेटाइल मॉलिक्युल्स है जिसकी वजह से बदबू की समस्या होती है। शराब आसानी से पचाने में परेशानी होती है क्योंकि शरीर इसे टॉक्सिन के रूप में देखता है। हमारा लीवन एक ड्रिंक को पचाने में एक घंटा लेता है। इस धीमे प्रोसेस की वजह से एल्कोहल आपकी रक्त कोशिकाओं में इकट्ठा हो जाता है जिस कारण बदबू आती है। आइए जानते हैं मुंह से शराब की बदबू कैसे दूर करें। [ये भी पढ़ें: शहद और नींबू के रस की मदद से करें खांसी का इलाज]

नींबू का रस, सिट्रिक एसिड (Citric acid) का अच्छा स्रोत है जो त्वचा में कसाव लाने का काम करता है। इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं जो त्वचा के गहरे रंग को हल्का करते हैं और त्वचा का पीएच स्तर भी संतुलित रखते हैं।

आप बाजार से एलोवेरा जैल खरीद सकते हैं या एक एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काटें और बीच में से उसको दबाएं, इसके द्वारा आप शुद्ध एलोवेरा जैल प्राप्त कर सकते हैं। दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जैल का उपयोग करें। (और पढ़ें – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

एलोविरा का प्रयोग करें: एलोविरा का रस एक ऐसा प्राकृतिक पदार्थ है जो कई प्रकार कि बिमारियों, चोट लगना, जल जाना, या मुँहासों को दूर करता है | यह त्वचा को फिर से नया बनाकर नमी प्रदान करता है | एलोविरा को किसी भी दुकान में पाया जा सकता है, लेकिन एलोविरा के पत्तियों का रस सब से ज्यादा उपयोगी माना गया है | इसके जैल को धब्बों पर लगाकर छोड़ दें | धोने की भी जरुरत नहीं है |

क्या आपको याद है आपकी दादी आपके घावों पर हल्दी छिड़कने के लिए कहती थीं? खैर, चिकित्सा शोधकर्ताओं ने अब पता किया है कि हल्दी में ऐसी सामग्री शामिल होती हैं जो उसे एक शक्तिशाली रोगाणुरोधी बनाती हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि भारत में महिलाओं ने अब तक अपनी त्वचा को स्वस्थ और दमकती रखने के लिए हल्दी के उबटन का उपयोग किया है। आप सीधे त्वचा पर हल्दी का पेस्ट लगा सकते हैं, गर्म दूध के साथ लेने से भी आप साफ़ त्वचा पा सकते हैं।

–> अगर आपके घर में बर्फ का एक टुकड़ा भी मौजूद है तो समझिए पिंपल रफूचक्कर हो गया क्योंकि असल में बर्फ पिंपल की लालिमा को कम करती है और उसके इर्द – गिर्द जमा गंदगी और तेल को निकाल देती है | आप को केवल इतना करना है कि एक कपड़े में बर्फ के टुकड़े को लपेटकर उसे कुछ सेकेण्ड के लिए त्वचा पर फेरना है |

अधिक अपने आदि इस इस रोग इसके इससे इसे उपचार उसे एक ऐसे और कई कम कर करता है करते करना करें का का रस काली मिर्च किसी की की कमी कुछ के कारण के लिए के साथ कोई खाएं गरम ग्राम घी चम्मच चाहिए चूर्ण जब ज़रूरी जा जाए जाएगा जाती जाते जाना जाने जो ठीक डालकर तक तथा तरह तीन तेल तो दर्द दिन में दूध दें दो नमक नहीं नीबू पदार्थ पर पानी में पीने पूरी पेशाब प्याज प्रकार प्रतिदिन प्रोटीन फायदा बात बाद बार भी भोजन मात्रा मिलाकर यदि यह या ये रहता है रहती रहना रहे रोग रोगी को लक्षण लगता लहसुन लाभ ले लें वसा वह विटामिन व्यक्ति शरीर के शरीर में शहद सकता है सकते सभी समय सिर से से भी हम हमारे शरीर ही है कि हैं हो जाता है हो सकता होगा होता है होती होना होने

एलोवेरा में रोगाणुरोधी (Antimicrobial) गुण होते हैं, जो मुँहासे का कारण बनने वाली तेलीय त्वचा के उपचार के लिए आदर्श होते हैं। इसके अलावा, एलोवेरा आपकी त्वचा की सतह से अतिरिक्त तेल को अवशोषित करने में भी मदद करता है। 

One thought on ““मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छा सामान -मुँहासे के सिर से छुटकारा पाने””

  1. केसर के कुछ दानों को 2 चम्मच दूध में रातभर भिगोकर रख दें। इस पात्र को फ्रिज (fridge) में रखें, जिससे कि ये खराब ना हो जाए। सुबह केसर के दानों को दूध में मसल लें और इसका प्रयोग चेहरे पर करें। खासकर काले धब्बों और एक्ने (acne) के निशानों पर इसे लगाएं। इसे पूरी तरह सूखने दें और फिर सादे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग रोजाना करने से आपको 1 हफ्ते में फर्क दिखने लगेगा।
    बेकिंग सोड़ा से साफ़ करें: बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल से त्वचा के दाग धब्बों को कम किया जा सकता है | 1 छोटा चमच्च बेकिंग सोड़ा को 1 छोटे चमच्च पानी में मिलाकर घोल तैयार करें | इसे अपने चेहरे पर गोलाकार में रगड़ते हुए 2 मिनट तक लगाएं | गुनगुने पानी से चेहरे को धोलें और अच्छे से पोंछ लें | “यह एक जाना माना नुस्खा है, लेकिन इसे पहले थोड़े समय के लिए प्रयोग करें और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाएं। बेकिंग सोड़ा में 7.0 PH होता है जो त्वचा के PH से बहुत ज्यादा है | अगर PH की मात्रा को बढ़ा दी जाएगी, तो लम्बे समय तक मुँहासे नहीं जाएंगे और अधिक संक्रमण और सूजन का भी डर रहेगा |”[२]
    विटामिन-डी से भरपूर आहार लें: विटामिन-डी आपके मुंह में बैक्टीरिया होने से रोकता है। विटामिन-डी का सेवन हम अपने आरक्षित आहार और पेय के रूप में कर सकते हैं, विटामिन-डी आम तौर पर और अधिक प्रभावशाली रूप में सूरज की रोशनी से मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *