“मुँहासे से मुँहासे से छुटकारा पायें |तेजी से स्पॉट से छुटकारा”

मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन, इसका इलाज आपके आसपास ही मौजूद है। मुंह के छाले गालों के अंदर और जीभ पर होते हैं। असंतुलित आहार, पेट में दिक्कत, पान-मसालों का सेवन छाले का प्रमुख कारण है। छाले होने पर बहुत तेज दर्द होता है। आइए हम आपको मुंह के छालों से बचने के लिए घरेलू उपचार बताते हैं।

मुल्तानी मिट्टी और पानी को करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

फेस के बाल हटाने के उपाय – नींबू का रस, बेसन, मैदा एवं शहद चारों एक-एक चम्मच यानि बराबर मात्रा में लेकर थोड़े-से पानी के साथ फेंटकर लेप बना लें और चेहरे पर कुछ देर तक खूब अच्छी तरह मसले। फिर ठंडे साफ़ पानी से धो लें। लगातार कुछ दिनों तक ऐसा करने से चेहरे के अनचाहे बाल हट जाते हैं।

पैर पर इस तकनीक को अप्लाई करने के लिए एंकल प्वांइट मतलब एड़ी के ऊपर वाले हिस्से की हड्डी के पीछे की ओर यहां पर खत्म होती है। उसे अपने हाथ की उंगली और अंगूठे से दबाने से भूख पर कंट्रोल होगा जिससे वजन भी कम होगा।

अध्ययन में, दालचीनी ने गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स (cytokines) को कम करने के लिए सकरात्मक प्रभाव दिखाए हैं। मरीजों को सुबह-शाम शहद के एक चम्मच के साथ दालचीनी पाउडर का आधा चम्मच मिलाकर खाने से एक हफ्ते के बाद गठिया के दर्द में काफी राहत मिली और वे एक महीने के भीतर दर्द के बिना चल-फिर भी पा रहे थे।

यदि आप जोखिम के समूह हैं और यह आपको एक जीन वाहक के रूप में विकसित कर सकते हैं तो कोई अपने परिवार में इस रोग से ग्रस्त है। उसके बाद में 50% मामलों की वे भी इस रोग से ग्रस्त बच्चों मामले में दोनों भागीदारों के एक जोड़े में सोरायसिस है है। किसी परिवार से यह रूप में अच्छी तरह से था, क्योंकि 30% psoriasis के साथ मरीजों की समस्या प्राप्त किया।

Ice cubes are easily available in each home. Gently rubbing an ice cube on the pimple reduces the temperature of the affected area and kills the bacteria. You can repeat this process often at home for quick heal.

ज्यादा अदरक खाएँ: अदरक के प्राकृतिक जीवाणुरोधी गुणों की वजह से, इसका सदियों से कोल्ड और साइनस (sinus) के लक्षणों के उपचार के लिए इस्तेमाल किया गया है। अदरक ऐसे गुणों के लिए भी जाना जाता है जो बलगम को तोड़ते हैं। अगर आप स्वाद को बर्दाशत कर सकते हैं, तो इसे कच्चा खाएँ या हल्के कैन्डीड फॉर्म (candied form) में खाएँ। आप अदरक को उबलते पानी में घिसकर एक चाय भी बना सकते हैं जो आपके गले को बलगम मुक्त करने के लिए दोगुना काम करेगी।

Muhase (pimples) hatane ke gharelu upay (Home remedies) in hindi आज कल लड़का हो या लड़की सभी अपने चेहरे पर होने वाले मुहांसों से परेशान  रहते हैं और जिसके लिए डॉक्टर्स को दिखाते हैं और महंगे- महंगे ट्रीटमेंट करवाते हैं कई बार इन ट्रीटमेंट्स के गलत परिणाम भी भुगतने पड़ते हैं . जिससे रोग कम नहीं होता बल्कि अन्य गलत परिणाम सामने आ जाते हैं . इसलिए  मुहांसे की परेशानी से निजात पाने के लिए मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय करें .

–> कील मुहाँसे का इलाज करने में जो सबसे असरकारक घरेलू फेस पैक (Homemade Face Pack) है उसे बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि दो चम्मच खीरे का रस, दो चम्मच गुलाबजल, एक चम्मच ब्रांडी, एक चम्मच अंडे की सफेदी और थोड़ा सा नीबू का रस आपस में मिलाकर लोशन तैयार कीजिए | इस लोशन को धीरे – धीरे मलते हुए चेहरे पर लगाइए और सूखने के उपरान्त गुनगुने पानी से धो लीजिए | इस उपाय को करने से न सिर्फ कील – मुंहासा दूर होते है बल्कि कील मुहासे के दाग – धब्बों से भी छुटकारा मिलता है | 

हर हफ्ते कम-से-कम एक बार कूल्हों की त्वचा की पपड़ी उतारें: मुँहासे रोकने वाली एक्सफ़ोलिएटिंग क्रीम (exfoliating cream) और लूफ़्हा (loofah) का प्रयोग करें। यह एक्सफोलिएशन मृत त्वचा के सेल हटा देगा ताकि आपके रोम छिद्र बंद न हों।

गुलाबजल का रोजाना इस्तेमाल भी दाग-धब्बों को कम करता है क्योंकि गुलाबजल हमारी त्वचा से धूल-मिट्टी को हटाता है तथा त्वचा का सौंदर्य निखरने में अहम भूमिका निभाता है। आप डाबर गुलाबरी का प्रयोग कर सकते हैं।

यदि आप लोकलाइज़्ड फैट को कम करना चाहते हैं और वांछित फिगर चाहते हैं, तो विक्स वेपोरब का उपयोग करें क्योंकि यह आपकी सहायता कर सकता है। हालांकि, यह चमत्कार नहीं कर सकता, लेकिन समस्याग्रस्त इलाके में फैट के पिघलने को उत्तेजित कर सकता है, जैसे पैर या पेट।

दलिया तेल, गंदगी और अन्य टॉक्सिन्स को बाहर निकल देता है। शहद में जीवाणुरोधी गुण होता है जो बैक्टीरिया से मुकाबला करता है और एक्ने (acne) बनाने के कारण को रोकती है और इसका ठंडक देने वाला गुण प्रभावित क्षेत्र को ठीक करने में मदद करता है और लाली और सूजन को रोकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *