“मुंह को दूर करने के लिए क्या करना है _मुँहासे के निशान से छुटकारा पाने के निशान”

मुंह के छालो की समस्या दिखने में जितनी छोटी हैं उतनी ही अधिक कष्टदायी हैं। अक्सर तीखा और रुक्षण भोजन करने से या कब्ज की समस्या के कारण ये समस्या हो जाती हैं। अगर आपको कब्ज रहती हैं तो पहले अपनी कब्ज का इलाज कीजिये। क्यूंकि छालो को सही कर लोगे तो कब्ज के कारण ये समस्या फिर से उत्पन्न हो जाएगी।

वज्रासन को डायमंड पोज के नाम से भी जाना जाता है। इस आसन को आप खाना खाने के बाद भी कर सकती हैं। ऐसा नहीं है कि खाना खाने के बाद इसे करने से आपको किसी तरह का कोई नुकसान होगा । यह आसन उनके लिए काफी फायदेमंद होता है जो कि अपना वजन कम करना चाहते हैं। इतना ही नहीं इस आसन को करने से सूजन से भी छुटकारा मिलता है, साथ ही पाचन संबंधित परेशानियों से बालों का झड़ना भी बढ़ जाता है।

मारिया के गायब होने पर उसके पूर्व पति उसमान ने मारिया की बहन से बात की। उसमान मारिया के घर गया जहां ताला लगा हुआ था। उसमान ने जब सुरेश को कॉल किया तो उसने भी फोन नहीं उठाया, सुरेश ने मेसेज कर कहा कि वह और मारिया बाहर हैं और बात नहीं कर सकते। उसमान को शक हुआ तो उसने कुछ लोगों की मदद से तुगलकाबाद वाले घर का गेट तोड़ अंदर घुसा, और मौत का खुलासा हुआ।

अब आपको भी अपने Pimple और Acne हटाने के लिए थोड़ा Serious हो जाना चाहिए और इन्हें हटाने के लिए गंभीरता से सोचना चाहिए. अपने कील – मुंहासो को दूर करने के लिए आप ऊपर बताये गये, सभी टिप्स और उपायों को अपनी दिनचर्या में शामिल करे.

नींबू के अम्लीय गुण मुँहासे के उपचार में बहुत उपयोगी हो सकते हैं। नींबू गंदगी को साफ कर बाहर करता है, जो रोम छिद्र में जमा हो जाती है। आप दैनिक रूप से अपनी त्वचा पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन अगर यह त्वचा को अधिक शुष्क कर रहा है तो हर दो या तीन दिन में उपयोग करें।

अधिक तरलदार और कम वसा वाला पौष्टिक भोजन भी सेल्युलाइट को कम करने में मदद कर सकता है। प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थ सेल्युलाइट की मात्रा को घटाते हैं। नियमित रूप से एक्‍सरसाइज करने से फैट जलता है और सेल्‍युलाइट में कमी आती है। इसके अलावा एक अच्छी मात्रा में पानी पीने और एक्‍सरसाइज के दौरान पसीना आने से शरीर के विषाक्‍त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं जिससे त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है।

यदि आप एलर्जिक हैं तो उपयुक्त उत्पादों का प्रयोग न करें। यदि आप सुनिश्चित नहीं है कि आपको एलर्जी है या नहीं तो क्रीम को अपने शरीर के किसी बड़े हिस्से पर लगाने से पहले, आप अपने हाथ पर सैंपल टेस्ट कर सकती हैं।

All the information, content and live chat provided on the site is intended to be for informational purposes only, and not a substitute for professional or medical advice. You should always speak with your doctor before you follow anything that you read on this website. Any health question asked on this site will be visible to the people who browse this site. Hence, the user assumes the responsibility not to divulge any personally identifiable information in the question. Use of this site is subject to our Terms & Conditions

हर हफ्ते कम-से-कम एक बार कूल्हों की त्वचा की पपड़ी उतारें: मुँहासे रोकने वाली एक्सफ़ोलिएटिंग क्रीम (exfoliating cream) और लूफ़्हा (loofah) का प्रयोग करें। यह एक्सफोलिएशन मृत त्वचा के सेल हटा देगा ताकि आपके रोम छिद्र बंद न हों।

अगर आपको बार-बार मुंह के छाले Muh ke chhale हो रहे हैं तो अपने मुंह की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। ज्यादा मसालेदार और गरिष्ठ भोजन करने से बचें। अगर फिर भी छाले ठीक न हो रहे हों तो जल्द चिकित्सक से सलाह व उपचार अवश्य लीजिए।

मैने आप की साइट पर कील मुहांसों के ज़ल्दी ठीक करने का लेख पड़ा मुझे बहुत ही लाभ हुआ तथा जिनसे भी शेयर किया उनेहें भी लाभ हुआ इसलिए वो भी आप को धन्यवाद दे रहे हैं प्लीज़ हम सब की गुड विश एक्सेपट करें वेरी नाइस आर्टिकल्स

यह सोचा है कि सोरायसिस ठीक नहीं किया जा सकता है और त्वचा की यह स्थिति पुरानी है। जब आप छालरोग उपचार दवा लेने या समय-समय खराब अस्थिर होने के नाते, यह सुधार कर सकते हैं। समय पर सोरायसिस साल छूट अवस्था में रहने के लिए प्रकट नहीं होता है। सर्दियों की अवधि समय जबकि गर्मियों के महीनों, इसके विपरीत, धूप में घूमना – एक असली प्राकृतिक छालरोग उपचार के लिए धन्यवाद त्वचा में सुधार जब हालत, खराब कर सकते हैं हो सकता है।

मुंह की बदबू को भगाने का सबसे अचूक उपाय है पानी। आप जितना ज्यादा पानी पिएंगे उतना ही आपको आराम मिलेगा। पानी मुंह के अंदर क्लींजर जैसा काम करता है। दिन भर हम कुछ न कुछ खाते रहते हैं, जिसकी वजह से हमारे मुंह में पहले से ही जो बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। इसलिए हमें पानी पीते रहना चाहिए और सुबह-सुबह ज्यादा पानी पीना चाहिए।

पिम्पल का देसी इलाज नीम है नीम के पत्ते को पीस दें और साथ में हल्दी मिला के चेहरे पर लगाएँ तो पिम्पल्स गायब हो जायेंगे पिंपल्स हटाने के लिए आप एलोवेरा का रस, मुल्तानी मिटटी और हल्दी का मिश्रण पिम्पल्स पर लगाएँ गुलाब की पंखुड़ी को पीस दें और निम्बू के रस के साथ अपने चेहरे पर घिसें और 30 मिनट के बाद धो दें पिंपल्स हटाने के लिए आप हल्दी और बेसन का निम्बू के रस के साथ उबटन बना के चेहरे पर अच्छी तरह से पांच मिनट तक घिसें केटली में पानी उबालें और भाप को त्वचा पर लगाएँ और साथ में रुई या कपड़े से चेहरा घिसते जाइए ताकि मैल, मृत कोशिका और तेल सभी कुछ निकल जाए|

जानिये मुहासों के बारे में सभी बातें। मुहासों से जुड़े भ्रम और इसके कारणों को समझिये। आसान और प्राकृतिक टिप्स के साथ कैसे पा सकते हैं मुहासों से छुटकारा। मुहासों और इसके दाग को हटाने के विभिन्न तरीकों और इससे जुड़े आहार के बारे में भी जानिये।

सोरायसिस में अलग अलग तरीकों से पता चला है। कभी कभी छोटी bumps चपटा कर रहे हैं, कई बार बड़े सजीले टुकड़े के साथ उठाया त्वचा मोटी कर रहे हैं। बढिया, लाल रंग के धब्बे विशिष्ट सोरायसिस, के साथ ही सूखी त्वचा गुलाबी रंग के होते हैं।

पिछले कई सालों से सिर दर्द, ठंड, खांसी, कंजस्टेड नाक, छाती और गले के कहर के इलाज के लिए विक्स वेपोरब का इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन यह इसका एकमात्र उपयोग नहीं है। आप इसे कई अन्य चीजों के लिए भी उपयोग कर सकते हैं

रेडकरंट आंवला परिवार का सदस्य है और यह काले धब्बों पर जमे मेलेनिन (melanin) को हल्का करता है। कुछ रेडकरंट लें और इन्हें पीसकर 1 चम्मच शहद के साथ मिश्रित करें। इस पैक को अपने चेहरे पर लाएं और काले धब्बों पर ध्यान केन्द्रित करें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़कर पानी से धो लें। अच्छे परिणामों के लिए इस उपचार का प्रयोग रोजाना करें।

This is a health and medical awareness book. It helps to easily identify diseases and explains the symptoms. It also indicates that in the daily routine what precautions are taken, cause of diseases, measures to avoid, things to consider, have been well contained. Moreover, “e;How to change the life style”e;, etc. have also been scientifically detailed in the book.

Masur ki dal 2 chmmach lekar mahin pis le. Isme thoda sa ghee or dudh milakar patla – patla lep bana le. Is lep ko muhaso par lgaye or sukhne de, sukhne ke bad chehra saf pani se dho de. Pimples thik hone lagenge

अपनी त्वचा पर तेल ना जमने दें तली और मसालेदार चीज़ें खानी बंद कर दें जंक फूड को तो अपनी लाइफ में कभी भी शामिल हि ना करें त्वचा को हमेशा सॉफ रखें पूरी नींद लें पानी अधिक पिएं सुभय और रात को भाप लें फल और हरी पतेदार सब्जी खूब खाएँ साबुन कि जगह बेसन,चावल के आटे में हल्दी मिलाकर उसी मिश्रण से तव्चा को धोएँ

One thought on ““मुंह को दूर करने के लिए क्या करना है _मुँहासे के निशान से छुटकारा पाने के निशान””

  1. छाछ मे लॅकटिक एसिड होता है जो की अल्फा हाइड्रॉक्सिल एसिड की तरह काम करता है। यह एक प्रकार का प्रकतिक एसिड है जो चेहरे की मृत त्वचा, धूल और तेल को निकालता है। एक कटोरी मे छाछ ले और रूई की मदद से दाग पर लगाए और अगर मुमकिन है तो आधी मात्रा मे नीबू का रस भी मिला कर मास्क की तरह भी उपयोग सकते है।
    अपने चेहरे की मांसपेशियों का प्रयोग करें: नाक के अंदर (cavity) मूवमेंट करना अटके हुए बलगम को निकाले में सहायक हो सकता है। गार्गलिंग और गुनगुनाने के बारे में तो पहले ही बता दिया गया है, आप इन सबका प्रयास भी कर सकते हैं:
    अध्ययन में, दालचीनी ने गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स (cytokines) को कम करने के लिए सकरात्मक प्रभाव दिखाए हैं। मरीजों को सुबह-शाम शहद के एक चम्मच के साथ दालचीनी पाउडर का आधा चम्मच मिलाकर खाने से एक हफ्ते के बाद गठिया के दर्द में काफी राहत मिली और वे एक महीने के भीतर दर्द के बिना चल-फिर भी पा रहे थे।

Leave a Reply to Sonja Richmond Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *